home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

महिलाओं में सेक्स एंजायटी, जानें इसके कारण और उपचार

महिलाओं में सेक्स एंजायटी, जानें इसके कारण और उपचार

एंग्जायटी और सेक्स के बीच संबंध (Anxiety And Sex)

एंग्जायटी डिसऑर्डर (Anxiety Disorder) आज के समय का सबसे सामान्य मानसिक विकार है। यदि आपको लगता है कि आपका कोई दोस्त या परिवार का सदस्य चिंतित है तो ऐसा तभी हो सकता है जब उनको कोई बात अंदर ही अंदर अवसाद की ओर ले जा रही हो।

जब कोई व्यक्ति आशंकाजनक स्थिति महसूस करता है तो उसकी बॉडी फाइट या फ्लाइट मोड में चली जाती है। यानि की या तो वह स्थिति से लड़ने की कोशिश करता है या फिर शांत हो जाता है।

इस परिस्थिति में रिलीज होने वाले रसायन बॉडी की सेक्शुअल डिजायर (यौन इच्छा) को प्रभावित नहीं करते हैं। बल्कि वह इस पर रोक लगा देते हैं ताकि व्यक्ति अपना पूरा ध्यान स्थिति पर केंद्रित कर दे।

सामान्य रूप से जिन लोगों को जीवनभर एंग्जायटी डिसऑर्डर (Anxiety Disorder) का सामना करना पड़ता है उनमें अक्सर सेक्शुअल डिसफंक्शन होने की आशंका अधिक होती है।

किसी ट्रामा जैसे सेक्शुअल असाल्ट (यौन मार-पीट) या सेक्शुअल एब्यूज (Sexual Abuse) के कारण भी व्यक्ति का सेक्स को लेकर चिंतित होना संभावित हो जाता है।

इसके अलावा क्रोनिक पेन, हॉर्मोन में बदलाव (जैसे बच्चे को जन्म देना या मेनोपॉज से गुजरना) और सेक्स के बारे में अधिक ज्ञान न होने के कारण भी महिलाओं को सेक्शुअल एंग्जायटी का सामना करना पड़ सकता है।

कई लोगों में सेक्शुअल एंग्जायटी का कारण सेक्स को लेकर अवास्तविक अपेक्षाएं होती हैं। कुछ व्यक्तियों को सेक्स से बेहद अलग उम्मीदें होती हैं जबकि वास्तविकता में वह एहसास विभिन्न होता है। इसके चलते महिलाओं में लो सेल्फ एस्टीम उतपन्न होने लगती है जिसका सीधा असर उनकी सेक्शुअल परफॉरमेंस पर पड़ता है।

कुछ लोग पॉर्न और मूवीज में होने वाले सेक्स को देख कर अपनी अपेक्षाओं को बढ़ा लेते हैं जिसके कारण भी उनके लिए रियलिटी को फेस करना मुश्किल हो जाता है। कई लोग यह भी सोचने लगते हैं कि उन्हें सेक्स के दौरान कितना आनंद आना चाहिए जिसकी वजह से कई बार सेक्स करते समय अपेक्षाएं पूरी न होने पर एंग्जायटी होने लगती है।

सेक्स एंग्जायटी से ग्रसित लोगों को लगता है कि बाकि सभी लोग हर समय सेक्स करते हैं और वो बेहद अच्छा होता है। उनके अलावा और किसी को भी सेक्स में समस्या नहीं होती है। जबकि असल में ऐसा कुछ भी नहीं है। किसी भी व्यक्ति को सेक्शुअल प्रोब्लम्स का सामने करना पड़ सकता है।

महिलाओं में सेक्स एंजायटी

और पढ़ें: परफॉरमेंस एंग्जायटी और इरेक्टाइल डिसफंक्शन के बारे में यह बातें जानना न भूलें!

महिलाओं में सेक्स एंजायटी (Sex Anxiety In Women) क्या है?

सेक्स एंजायटी, यह किसी भी उम्र के पुरुष या महिला को हो सकती है। आपके सेक्स अनुभवी होने के बावजूद भी यह आपको हो सकती है। ज्यादातर महिलाओं में सेक्स एंजायटी देखी जाती है। जब कोई भी व्यक्ति अपने ऊपर एंजायटी को इतना हावी कर लेता है कि वह अपनी सेक्स लाइफ से दूर होने लगता है और सेक्शुअल प्लेजर को महसूस नहीं कर पाता तो उसे सेक्शुअल एंजायटी कहते हैं। सेक्शुअल एंजायटी एक व्यक्ति को अपने पार्टनर के समक्ष खुलने नहीं देती। वह अपने रूप, शरीर जैसी बातों को लेकेर कॉन्शियस हो जाता है। जिसका प्रभाव उसकी सेक्स लाइफ पर पड़ता है।

और पढ़ें – क्या ओरल सेक्स से एचआईवी का खतरा बढ़ जाता है? सुरक्षित ओरल सेक्स के टिप्स

महिलाओं में सेक्स एंजायटी के कारण (Sex Anxiety Causes In Women)

हमेशा यह पाया गया है कि औसतन महिलाएं सेक्स एंजायटी का शिकार होती हैं। वह अपने शरीर को लेकर बहुत कॉन्शियस होती हैं जैसे कि कहीं उनका पेट बाहर तो नहीं, उनके स्तन का आकार, उनका रंग और भी बहुत सी बातें जिनका सेक्स से कोई नाता नहीं। और यही बातें उन्हें स्ट्रेस में डाल देती हैं जिसकी वजह से वह अपने पार्टनर के समक्ष वस्त्रहीन होने से कतराती हैं। और अंततः वे सेक्स लाइफ से दूर होने लगती हैं उसके प्रति उनकी रुचि समाप्त होने लगती है। महिलाओं में सेक्स एंजायटी की वजह से कई दिक्कतें होती है जैसे कि सेक्स के लिए रुचि या सेक्स उत्तेजना का समाप्त होना या ऑर्गेज्म तक ना पहुंचना।

और पढ़ें – आखिर क्यों मार्केट में आए फ्लेवर कॉन्डम? जानें पूरी कहानी

महिलाओं में सेक्स एंजायटी (Women Sex Anxiety) का एक कारण यह भी

कई मामलों में महिलाओं में सेक्स एंजायटी होना उसके पूर्व कड़वे अनुभव की भी वजह से होता है। किसी महिला के साथ यदि जोर जबरदस्ती के साथ सेक्स किया गया हो तो, वह उसके लिए मानसिक और शारीरिक प्रताड़ना होती है जिसका प्रभाव उसके जीवन में लंबे समय तक रहता है और आगे जब भी वह सेक्स करने की सोचती है तो उसका पूर्व अनुभव उसे उसी डर और स्ट्रेस में डाल देता। वह अपने आप को अपने पार्टनर के समक्ष वस्त्रहीन करने से कतराती है।

संशोधन में पाया गया है कि जो महिलाएं अपने शरीर को लेकर कॉन्शियस होती हैं, वह अपने शरीर के प्रति असुरक्षित महसूस करती हैं खासकर अपने लुक को लेकर साथ ही साथ उनके दिमाग में यह सवाल होता है कि क्या वो अपने पार्टनर को आकर्षित लगती है या नहीं। ऐसी सोच रखने वाली महिलाएं इतने स्ट्रेस में होती है कि वह अपने सेक्शुअल लाइफ का रोमांच महसूस ही नहीं कर पाती।

यह कुछ निम्न कारण थे जिन की वजह से महिलाएं सेक्शुअल एंजायटी का शिकार होती हैं। समय रहते इन कारणों को समझना और निदान करना बहुत जरूरी है ताकि आप उनका उचित उपाय कर सकें।

और पढ़ें – पल में खुशी पल में गम, इशारा है बाइपोलर विकार का (बाइपोलर डिसऑर्डर)

निदान (डायग्नोसिस) (Sex Anxiety Diagnosis)

महिलाओं में सेक्स एंजायटी के निदान के लिए डॉक्टर कई तरह के जांच करते हैं। जो उन्हें इस एंजायटी का कारण बताते हैं जिसके बाद वे इसका उचित उपाय करते हैं। यहां पर कुछ निम्न निदान दिए गए हैं जिन्हें पढ़कर आप इनके बारे में समझ सकते हैं:

सबसे पहले डॉक्टरों द्वारा ब्लड टेस्ट करवाया जाता है जो आपके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी देता है। अच्छा स्वास्थ्य अच्छी सेक्सुअल लाइफ की निशानी होता है। यदि आप खुद को स्वस्थ महसूस नहीं करते तो अपका मन और दिमाग दोनों ही सुस्त रहता है और आपको सेक्स करने का मन नहीं करता

[mc4wp_form id=”183492″]

अगला एग्जाम जो डॉक्टर करते है वह है पेल्विक की जांच, जिससे आपके पेल्विक में होने वाली दिक्कतों पता चलता है । जैसे कि जेनाइटल टिश्यू का पतला होना, सेक्स करते वक्त दर्द और रोमांच का महसूस ना होना, किसी प्रकार की पेल्विक में लगी चोट। यह सभी बातें आपके शारीरिक बदलाव को दर्शाती हैं जो आपको सेक्शुअल रोमांच महसूस करने से रोकती हैं।

डॉक्टर आपकी प्रॉब्लम को समझने के लिए आपकी सेक्सुअल लाइफ के बारे में व्यक्तिगत सवाल भी पूछते हैं जिनका जवाब आपको बिना झिझक के देना होता है। जिससे उन्हें आपकी सेक्शुअल प्रॉब्लम का पाता चलता है। यह ध्यान में रहे कि आप जितना सही और सटीक जवाब देंगे वह उतने ही बेहतर तरीके से आपकी दिकत को समझ पाएंगे।

यह थे निदान करने के तरीके जिनसे आप महिलाओं में सेक्स एंजायटी के होने का पता लगा सकते हैं। क्यूंकि सेक्शुअल एंजायटी का उपचार करने के लिए उसका निदान होना बहुत जरूरी है।

और पढ़ें – आखिर क्यों साथी से साथ सेक्स के बाद अटैचमेंट बढ़ने लगता है?

उपचार (Sex Anxiety Treatment)

हमेशा इस बात को ध्यान में रखे कि जब तक आपको सेक्शुअल एंजायटी से किसी प्रकार की तकलीफ ना हो रही हो तब तक उसके बारे में परेशान होने कि जरूरत नहीं है और ना ही किसी इलाज की जरूरत है।

महिला सेक्सुअल एंजायटी का ट्रीटमेंट या उपचार दो तरह से हो सकता है पहला गैर चिकित्सक और दूसरा चिकित्सक रूप से। इस एंजायटी के कई अलग कारण हैं इसलिए उसका इलाज भी उसी पर निर्भर करता है।

और पढ़ें – क्यों सेक्स करने का मन करता है, जानें पुरुषों-महिलाओं में आखिर क्यों जगती है यह फीलिंग्स

गैर चिकित्सकीय उपचार

डॉक्टर सबसे पहले इसी उपचार की सलाह देते हैं। शुरुआती वक्त में डॉक्टर बिना दावा के महिलाओं में सेक्स एंजायटी को ठीक करने की कोशिश करते हैं। और इस उपचार को करने के लिए वे निम्न सलाह देते हैं :

  • अपने पार्टनर से आप खुल के अपनी सेक्स संबंधित अच्छी और बुरी सोच को शेयर करेंं। उन्हें बताएं कि आपको सेक्स करते वक्त किन बातों से डर लगता है और भी वे बातें जो आपको परेशान करती हैं। खुलकर बात करने से आप स्ट्रेस मुक्त हो जाती हैं और अपने पार्टनर के और करीब हो जाती हैं।
  • व्यायाम, अच्छा और स्वस्थ खाना और एक अच्छी दिनचर्या आपको चुस्त और तंदरुस्त रखती है जिसका प्रभाव आपकी सेक्शुअल लाइफ पर पड़ता है। यदि आप चुस्त होंगे तो आपकी स्टेमिना बढ़ेगी, आपका मन खुश रहेगा, आप रोमांचित महसूस करेगें और आपका स्ट्रेस घटेगा।
  • जरूरत पड़ने पर आप सेक्स संबंधित सलाहकार से सलाह भी ले सकते हैं। जो आपको सेक्स संबंधित जानकारी प्रदान करते हैं। आप उनसे सेक्स को लेकर होने वाली परेशानियों के बारे में सवाल पूछ सकते हैं। वह आपको कई ऐसे तरीके भी बताते हैं जो आपको और आपके पार्टनर को करीब लाने में मददगार साबित होंगे।
  • यदि आपको योनि में सूखेपन की शिकायत है तो आप लुब्रिकेंट ऑयल का इस्तेमाल भी कर सकती हैं।

यह थे कुछ गैर चिकित्सक उपाय, लेकिन यदि आपको इस उपचार से कोई अंतर नजर नहीं आ रहा है, तो आपको मेडिकल हेल्प की जरूरत है।

महिलाओं में सेक्शुअल एंजायटी (Sexual Anxiety In Women) का चिकित्सकीय उपचार

किसी भी यौन रोग के उपचार के लिए उसके पीछे के कारण को जानना बहुत आवश्यक है और ज्यादतर इन रोगों की वजह हॉर्मोनल इम्बैलेंस या कोई मेडिकल बैकग्राउंड होता है। ऐसे में डॉक्टर आपको दवा बताते हैं या आपकी दिनचर्या में कुछ बदलाव करने को कहते हैं।

महिलाओं में सेक्शुअल एंजायटी यदि हाॅर्मोन्स के असंतुलन की वजह से है तो फिर उपचार इस प्रकार होंगे :

  • एस्ट्रोजेन थेरिपी, यह थेरिपी महिलाओं के लिए योनि की, क्रीम या टैबलेट के रूप में आती है। जो योनि में रक्त प्रवाह की वृद्धि, योनि की लोच और टोन में सुधार और योनि की लुब्रिकेशन को बढ़ाती है।
  • ऑस्पेमीफेन (ओस्फेना) यह महिलाओं में सेक्स के दौरान दर्द को कम करने में मदद करता है।
  • एंड्रोजन थेरेपी, इस थेरेपी में टेस्टोस्टेरोन मौजूद है। हांलाकि,अध्ययन के अनुसार महिलाओं में पुरुषों के मुकाबले कम मात्रा में टेस्टोस्टेरोन पाए जाते हैं। यह स्वस्थ यौन क्रिया के लिए आवश्यक है। यह थेरेपी विवादास्पद है। किंतु यह उन महिलाओं के लिए लाभदायक साबित हुई है जिनका टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम और यौन रोग विकसित पाया गया है।
  • फ्लिबनसेरिन, मूल रूप से एक एंटीडिप्रेसेंट के रूप में विकसित किया गया है, फ्लेबिनसेरिन को खाद्य और औषधि प्रशासन द्वारा प्रीमेनोपॉजल महिलाओं में कम यौन इच्छा के उपचार के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इस इलाज में महिला को रोजाना एक गोली लेनी होती है जो उसके सेक्स ड्राइव को बढ़ावा देती है। किंतु इसके साइडइफेक्ट्स भी हैं जैसे कि नींद आना, मतली, रक्तचाप, चक्कर आना और बेहोशी आना। यदि आप इस दावा को लेने के बाद भी कोई सुधार नहीं देखते तो इसे तुरंत बंद कर दें और अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से सलाह लें।

और पढ़ें – कॉन्डोमलेस सेक्स के क्या होते हैं रिस्क, बीमारियों से बचाव के लिए यह जानना है जरूरी

यह थे मेडिकल उपाय किंतु इन्हें बिना डॉक्टर की सलाह के ना इस्तेमाल करें। यदि आपको इनमें से कोई भी दिक्कत या तकलीफ है तो तुरंत अपने डॉक्टर से मिलें। यहां दी गए जानकारी सिर्फ आपकी जानकारी को बढ़ने के लिए है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

The impact of anxiety on sexual arousal in women/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2857771/Accessed on 10/09/2020

Stress, anxiety, depression, and sexual dysfunction among postmenopausal women in Shiraz, Iran, 2015/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5958528/Accessed on 10/09/2020

Anxiety disorders/https://www.womenshealth.gov/mental-health/mental-health-conditions/anxiety-disorders/Accessed on 10/09/2020

Sexual Problems in Women/https://medlineplus.gov/sexualproblemsinwomen.html/Accessed on 10/09/2020
लेखक की तस्वीर badge
Smrit Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 24/04/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड