home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

क्या आपका सेक्स करने का मन नहीं करता है? तो आप हो सकते हैं, असेक्शुआलिटी के शिकार

क्या आपका सेक्स करने का मन नहीं करता है? तो आप हो सकते हैं, असेक्शुआलिटी के शिकार

जब किसी व्यक्ति को सेक्स करने की इच्छा न हो या सेक्स करने का मन न करे, तो ऐसे व्यक्ति को असेक्शुअल प्रॉब्ल्म कहते हैं इस स्थिति को असेक्शुआलिटी कहते हैं। दरअसल कुछ लोगों में सेक्स की रुचि नहीं होती है और वे न ही इस ओर आकर्षित होते हैं। सेक्स की ओर आकर्षण न होने के साथ-साथ वे निम्नलिखित चीजें महसूस कर सकते हैं। जैसे:

असेक्शुआलिटी का सामना करने वाले व्यक्ति सेक्स में रुचि न रखते हुए भी ऊपर बताए गए पॉइंट्स अवश्य महसूस कर सकते हैं।

पूरे विश्व में प्रत्येक वर्ष 22 से 28 अक्तूबर तक असेक्शुआलिटी अवेयरनेस वीक मनाया जाता है, जिससे असेक्शुआलिटी के बारे में लोग समझें। लोगों को यह भी समझना जरूरी है कि असेक्शुएलिटी कोई बीमारी नहीं है और न ही कोई डिसऑडर है। यह सामान्य है और ऐसा किसी भी व्यक्ति के साथ हो सकता है फिर वह चाहे महिला हो या पुरुष।

असेक्शुआलिटी से जुड़े एक्सपर्ट्स मानते हैं कि जिस तरह से कुछ लोग समान सेक्स की ओर आकर्षित होते जिन्हें होमोसेक्शुअल कहते हैं। ठीक इसी तरह से कुछ अपोजिट सेक्स की ओर आकर्षित होते हैं उन्हें हेट्रोसेक्शुअल कहते हैं। ऐसे व्यक्ति जो महिला या पुरुष दोनों में से किसी भी सेक्स की ओर फिजिकली अट्रैक्ट न हों उन्हें असेक्शुआलिटी के अंतर्गत रखा जाता है।

और पढ़ें: होमोफोबिया जिसमें पीड़ित को होमोसेक्शुअल्स को देखकर लगता है डर

सेक्शुअल हेल्थ, sexual health

क्या असेक्शुआलिटी का अर्थ शारीरिक कमजोरी (Asexuality means physical weakness) है?

रिसर्च के अनुसार एसेक्शुअल व्यक्ति के बारे में यह सोचना कि वह शारीरिक संबंध नहीं बना सकते हैं, तो यह कहना गलत होगा। ऐसे व्यक्ति शारीरिक रूप से पूरी तरह से फिट होते हैं सिर्फ इन्हें सेक्स में दिलचस्पी नहीं होती है।

असेक्शुआलिटी की समस्या (Asexuality Problem) क्यों होती है?

इससे जुड़े स्वास्थय विशेषज्ञों की माने तो एसेक्शुएलिटी कई कारणों जैसे बदलती लाइफ स्टाइल, हॉर्मोन में बदलाव होना, थायरॉइड की समस्या होना, डायबिटीज या फिर स्पर्म काउंट कम होने की वजह से भी ऐसा हो सकता है। ऐसी स्थिति में अपनी परेशानी छुपाए नहीं बल्कि बेहतर होगा की किसी यूरोलॉजिस्ट से जल्द से जल्द संपर्क करें। यूरोलॉजिस्ट एसेक्शुएलिटी फेस कर रहे व्यक्ति को पर्सनैलिटी टेस्ट करवाने की सलाह देते हैं। ऐसे वक्त में व्यक्ति को अपने पार्टनर का सहयोग मिलना आवश्यक होता है।
और पढ़ें: स्मोकिंग और सेक्स में है गहरा संबंध, कहीं आप अपनी सेक्स लाइफ खराब तो नहीं कर रहे?

असेक्शुआलिटी फेस कर रहे व्यक्ति की कैसे मदद करें?

ऐसे लोगों को निम्नलिखित तरह से मदद की जा सकती है। जैसे-
  • असेक्शुएल व्यक्ति के साथ गलत शब्दों का इस्तेमाल न करें और न ही इनके साथ मारपीट करें।
  • ऐसे लोगों का मनोबल न तोड़ें बल्कि उनमें आत्मविश्वास बढ़ाएं
  • ऐसे लोगों का मजाक न उड़ाएं और न ही किसी अन्य लोगों को ऐसा करने दें।
  • उनकी स्थिति को समझें और व्यक्ति में हीन भावना घर न करने दें।
  • अगर असेक्शुएलिटी की वजह से व्यक्ति डिप्रेशन या बाय-पोलर डिसऑर्डर जैसी समस्याओं से झूझ रहा है, तो उनका पूरा-पूरा साथ दें।

और पढ़ें: सोशल मीडिया से डिप्रेशन शिकार हो रहे हैं बच्चे, ऐसे करें उनकी मदद

असेक्शुआलिटी से जुड़े सवाल और उसके जवाब (QNA Related to Asexuality)

सवाल: मेरा एक दोस्त है हर वक्त सेक्स से जुड़ी बातें करता है, लेकिन मेरा इस ओर कोई ध्यान नहीं होता और मैं इस बारे में बात करना नहीं चाहता हूं। ऐसी स्थिति में अलग-अलग शब्दों जैसे असेक्शुएलिटी से मेरी तुलना कर देते हैं। क्या मेरे इस स्वभाव से असेक्शुआलिटी की जानकारी मिलती है?

उत्तर: नहीं, यह असेक्शुएलिटी नहीं दर्शाता है। आप हर जगह या हर वक्त सेक्शुअलिटी के बारे में नहीं सोच सकते हैं। हो सकता है आप किसी और व्यक्ति से आकर्षित हों और किसी और व्यक्ति के बारे कल्पना नहीं कर सकते हैं।

सवाल: मैं मेल और फीमेल दोनों ही लोगों के ओर आकर्षित होता हूं, लेकिन मैं फिजिकली आकर्षित नहीं होता हूं। क्या बायसेक्शुअल या असेक्शुएल हूं।

उत्तर: अगर कोई भी व्यक्ति ऐसा महसूस करता है, तो उसकी दो स्थिति होती हैं। अगर आप लड़के या लड़की दोनों की ओर आकर्षित होते हैं, तो यह बायसेक्शुअलिटी हो सकता है। वहीं अगर आप किसी से शारीरिक संबंध नहीं बनाने चाहते हैं लेकिन, रोमेंटिकली अगर आप अट्रैक्ट होते हैं तो इस स्थिति को पैनरोमेंटिक कहते हैं। जो किसी भी सेक्स की ओर आकर्षित तो होते हैं लेकिन, फिजिकली अट्रैक्ट नहीं होते हैं।

सवाल: मैंने पहली बार अपने बॉयफ्रेंड को किस किया, लेकिन मैं इस ओर ज्यादा आकर्षित नहीं हुई। क्या यह असेक्शुएलिटी दर्शाता है?

उत्तर: ऐसा जरूरी नहीं की आप असेक्शुएलिटी की समस्या फेस कर रही हो, लेकिन अगर आप आगे भी अपने पार्टनर या किसी चाहने वाले की ओर फिजिकली अट्रैक्ट नहीं होती हैं तो आपकी परेशानी बढ़ सकती है।

सवाल: अपने पार्टनर को कैसे बताएं अपनी असेक्शुएलिटी की समस्या?

उत्तर: असेक्शुआलिटी की जानकारी अपने पार्टनर को बताने में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए। कई बार फिजिकली अपने पार्टनर के साथ अट्रैक्ट नहीं हो पाते हैं, लेकिन इमोशनली अट्रैक्ट हो सकते हैं।

सवाल: क्या असेक्शुआलिटी के बारे में समझ पाना कठिन है, क्योंकि असेक्शुआलिटी के बारे में लोग सुनकर भरोसा नहीं करते हैं और ऐसा मानते हैं की असेक्शुएलिटी जैसे शब्दों की कोई जरूरत नहीं होती है?

उत्तर: अगर कोई वयक्ति अपनी असेक्शुआलिटी की बात किसी सामने वाले व्यक्ति से बेहिचक शेयर करता है, तो इसमें कोई बुराई नहीं और और वह असेक्शुएलिटी को छुपा नहीं रहा है। हालांकि, अगर कोई इसे मानने को तैयार नहीं है, तो सामने वाले व्यक्ति पर समझने का दवाब न डालें और आप खुश रहें।

सवाल: क्या असेक्शुअल लोगों को शादी की सलाह दी जा सकती है?

उत्तर: असेक्शुआलिटी की स्थिति किसी कारण से शुरू होती है। अब वो कोई सदमा हो या कोई अन्य परेशानी।असेक्शुआलिटी को लेकर लोगों को जागरूक होने की जरूरत है ना की इसके बारे में नकारात्मक बातें फैलाने की। इसलिए ऐसे व्यक्ति को उनके स्वभाव के अनुसार रहने देना चाहिए।

और पढ़ें: बच्चों के अंदर पनप रही नेगेटिविटी को कैसें करें हैंडल

आपको बता दें कि एक सर्वे के अनुसार पुरुषों की तुलना में महिलाओं में सेक्स की इच्छा कम होती है। ऐसे इसलिए होता है क्योंकि ज्यादातर महिलाओं का कहना है की घर में बच्चे होते हैं। वहीं कुछ महिलाएं मेनोपॉज की वजह से इस ओर अपना ध्यान नहीं देती हैं।

अगर आप असेक्शुआलिटी से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

What Does It Mean to Be Asexual?/https://www.healthline.com/health/what-is-asexual/Accessed on 20/03/2020

What does it mean to be asexual?/https://www.medicalnewstoday.com/articles/327272/Accessed on 20/03/2020

10 Things you need to know about Asexuality/https://lgbt.williams.edu/homepage/10-things-you-need-to-know-about-asexuality/Accessed on 20/03/2020

ASEXUAL/https://www.thetrevorproject.org/trvr_support_center/asexual/Accessed on 20/03/2020

What Is Asexuality?/http://www.whatisasexuality.com/intro/Accessed on 20/03/2020

“I’m an asexual woman, and this is what it’s like not to feel sexual attraction”/https://www.cosmopolitan.com/uk/reports/a9088917/womankind-asexual-woman-sexual-attraction/

Accessed on 23/03/2020

What Does It Mean to Be on the Asexual Spectrum?/https://www.verywellhealth.com/what-does-it-mean-to-be-asexual-4584349

Accessed on 23/03/2020

5 Things You Need to Know About Being Asexual/https://www.health.com/condition/sexual-health/what-is-asexual

Accessed on 23/03/2020

 

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 24/03/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x