home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

जानिए कंडोम के फायदे, सेफ सेक्स से अनचाही प्रेग्नेंसी तक

जानिए कंडोम के फायदे, सेफ सेक्स से अनचाही प्रेग्नेंसी तक

अगर बात आए सेफ सेक्स की, अगर बात आए अनचाही प्रेग्नेंसी से बचने की, तो सबसे पहले नाम आता है कंडोम का। कंडोम के फायदे अनेक हैं, जिनके बारे में काफी लोग जानते होंगे। लेकिन, फिर भी कुछ लोगों को कुछ ही कंडोम के फायदे जानते होंगे। हैलो स्वास्थ्य का ये आर्टिकल उन्हीं लोगों के लिए है जिन्हें कंडोम के फायदे नहीं पता है। इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कंडोम के फायदे और जानेंगे कि कंडोम के फायदे पाने के लिए इसका इस्तेमाल क्यों करना चाहिए।

और पढ़ें : बेडरूम रोमांस टिप्स : रोमांस करने से पहले अपने बेडरूम को इस तरह दें नया लुक

क्यों करें कंडोम का इस्तेमाल?

कंडोम का इस्तेमाल कई समस्याओं से बचने के लिए किया जाता है। यह न सिर्फ सुरक्षित सेक्स को बढ़ावा देता है, बल्कि आबादी कंट्रोल करने में भी मददगार होता है। साथ ही, यह सुरक्षित यौन संबंधों को भी बढ़ावा देता है। यह दोनों ही साथी के लिए बहुत जरूरी होता है।

कंडोम के फायदे

1.अनचाही प्रेग्नेंसी से बचाए

कंडोम आपको किसी भी तरह की अनचाही प्रग्नेंसी से बचा कर रखता है। यह न सिर्फ हर अनमैरिड कपल्स के लिए जरूरी होता है, बल्कि शादी-शुदा लोगों के लिए भी यह उतना ही मायने रखता है। क्योंकि अनचाही प्रेग्नेंसी किसी को भी मुसबीत में डाल सकती है, जो न सिर्फ सामाजिक स्तर को प्रभावित करेगी, बल्कि आर्थिक स्थिति पर भी प्रभाव डाल सकती है।

2.यौन जनित रोगों से बचाए

साल 2016 के आंकड़ों के अनुसार, लगभग दो लाख से ज्यादा भारतीयों में एड्स की बीमारी पाई गई थी, जिसका सबसे बड़ा कारण सेक्स था। क्योंकि, एड्स एक संक्रामक बीमारी है, जो अधिकतर यौन मार्ग के जरिए ही फैलती है। अगर किसी भी साथी को एड्स की बीमारी है, तो इसकी पूरी संभावना रहती है कि यह दूसरे साथी को भी अपना शिकार बना ले। साथ ही, यह सूजाक, क्लैमाइडिया और ट्राइकोमोनिएसिस के खिलाफ भी प्रभावी है।

और पढ़ें : क्या वाकई में घर से ज्यादा होटल में सेक्स एंजॉय करते हैं कपल?

3.आसानी से उपलब्ध

कंडोम के फायदे अनेक हैं। अक्सर फायदों से भरी वस्तुएं महंगी होती है लेकिन, कंडोम पॉकेट फ्रेंडली है। आप इसे किसी भी साधारण जगह से खरीद सकते हैं। साथ ही, यह कई तरह के फ्लेवर में आता है, जिनके इस्तेमाल से आप अपने साथी के साथ अपने खास पलों को और भी ज्यादा आनंदमय और यादगार बना सकते हैं। इसकी मदद से आप साथी के मन की बात भी जान सकते हैं। आपके साथी को किस तरह का सेक्स पसंद आता है यह कौन सा फ्लेवर उनका पसंदीदा है इसके बारे मे साथी के साथ बातचीत करना आपके लिए खास हो सकता है।

4.साइड इफ्केट्स के खतरे कम

अगर कंडोम के फायदे उठाने हैं, तो इसके इस्तेमाल का सही तरीका जानना जरूरी है। क्योंकि, आपकी अपनी गलती से आप इससे जुड़े खतरे का शिकार भी हो सकते हैं। लेकिन यह बहुत ही कम देखा जाता है। अधिकतर लोग बिना किसी समस्या के कंडोम का उपयोग कर सकते हैं। हालांकि कभी-कभी लेटेक्स कंडोम से एलर्जी होने का खतरा बना रहता है। अगर आपको लेटेक्स से एलर्जी है, तो आपने कंडोम का ब्रांड बदल सकते हैं।

और पढ़ें : अगर चाहते हैं सस्ती और बेस्ट डेट पर जाना, तो अपनाएं ये टिप्स

5.पुरुष या महिला दोनों ही कर सकते हैं इस्तेमाल

सेक्स सुरक्षित रहे और मजेदार भी इसके लिए दोनो साथी कंडोम का इस्तेमाल अलग-अलग समय पर कर सकते हैं। यह सिर्फ पुरुष साथी या सिर्फ महिला साथी के इस्तेमाल पर ही निर्भर नहीं है।

6.दाम में सस्ती, लेकिन काम में सबसे अच्छी

कंडोम छोटी-छोटी से छोटी दुकान पर बड़ी ही आसानी से बेहद कम दामों में उपलब्ध है। आप चाहें तो इसे ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं। कंडोम इस्तेमाल करने के लिए आपको किसी डॉक्टर की सलाह या डॉक्टर की पर्ची या आईडी की जरूरत भी नहीं होती है। इनकी कीमत भी बहुत कम होती है। इसके अलावा भारत सरकार सामुदायिक केन्द्रो के माध्यम से और अन्य माध्यमों से मुफ्त में भी कंडोम उपलब्ध करवाती रहती है।

और पढ़ें : कोरी सेक्स लाइफ में फिर स रंग भरने के लिए 7 टिप्स

7.कंडोम के फायदे से मिले संतुष्टि और सुरक्षा दोनों ही

कंडोम कई अलग-अलग प्राकर, आकृतियों और फ्लेवर में आते हैं। जिसकी वजह से हर कोई अपनी पसंद और साथी के पसंद का भी ध्यान बड़ी ही आसानी से रख सकता है। इसके साथ ही, कंडोम के फायदे के साथ-साथ आप इसके अलग-अलग फ्लेवर और प्राकर का भी लुप्त ले सकते हैं। इसका इस्तेमाल योनि और गुदा सेक्स के साथ-साथ फोरप्ले और ओरल सेक्स के दौरान भी किया जा सकता है। जो सेक्स के आनंद को बढ़ाता ही है, साथ ही सुरक्षा का भी पूरा ख्याल रखता है।

8.जन्म नियंत्रण के अन्य तरीकों से कई गुना बेहतर है कंडोम

अनचाही प्रेग्नेंसी को रोकने या जन्म नियंत्रण करने के लिए अन्य विकल्प भी मौजूद हैं। हालांकि, इनमें से कुछ की प्रक्रिया लंबी तो कुछ खर्चीली भी हो सकती है। साथी ही, अन्य प्रक्रियाओं के दौरान कई तरह की सावधानियों का भी ध्यान रखना पड़ सकता है। लेकिन, सेक्स के दौरान कंडोम का इस्तेमाल करना सबसे आसान और सुरक्षित होता है। यह सस्ता भी होता है साथ ही इसके इस्तेमाल में अधिक समय भी नहीं लगता है और न इसे लेकर किसी तरह की कोई खास सावधानी का ध्यान रखना होता है।

और पढ़ें : क्या कंडोम (Condom) के इस्तेमाल के बाद प्रेग्नेंट होती हैं महिलाएं?

क्यों करना चाहिए कंडोम का इस्तेमाल?

आमतौर पर ज्यादातर लोग सेक्‍स के दौरान अनचाही प्रेग्नेंसी से बचाव करने के लिए कंडोम का इस्‍तेमाल किया करते हैं। लेकिन, इसके अलावा अभी भी ग्रामीण या निचले ऐसे कई इलाके हैं जहां पर लोगों को कंडोम के फायदे बहुत ही कम पता है, जैसे कंडोम के इस्‍तेमाल से यौन संचारित रोगों जैसे कि एड्स, सिफिलिस, गोनोरिया के खतरे से बचाव भी किया जाता है। साल 2016 के आंकड़ों के अनुसार भारत में लगभग 216 लाख लोग एड्स जैसी गंभीर बीमारी की चपेट में थे। बता दें कि, एड्स एक संक्रामक बीमारी है जिसका सबसे बड़ा कारण असुरक्षित सेक्स होता है। अधिकतर यौन मार्ग से फैलती है। एड्स को खत्‍म करने का अब तक कोई उपचार या दवा नहीं आई है इसलिए इस बीमारी से बचने के लिए बहुत जरूरी है कि सेक्‍स के दौरान कंडोम का इस्‍तेमाल किया जाए।

अपने मन से चुनें अपना पसंदीदा फ्लेवर

कंडोम के फ्लेवर और प्रकार कंडोम के फायदे को सबसे ज्यादा बढ़ा देते हैं। आप अपनी पसंद के अनुसार किसी भी प्रकार या फ्लेवर का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा, आए दिनों मार्केट में कंडोम के अलग-अलग फ्लेवर और प्रकार भी आते रहते हैं।

अनफ्लेवर्ड कंडोम

यह साधारण कंडोम होता है। इसमें किसी तरह का फ्लेवर नहीं होता है, लेकिन आप इसे सुरक्षित सेक्स के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

रिब्ड कंडोम

इस कंडोम में महिला साथी की सेक्स के लिए एक्साइटमेंट बढ़ाने के लिए इसकी बाहरी सतह पर उभरी हुई धारियां होती हैं।

डॉटेड कंडोम

इस तरह के कंडोम के बाहरी सतह पर डॉट्स होते हैं। इस तरह के अधिकांश कंडोम चिकनाई से युक्त होते हैं और कंडोम पर डॉट्स को जोड़ने से यह अधिकतम संतुष्टि की गारंटी भी देता है।

तो अब अगली बार से सेक्स के दौरान कंडोम का इस्तेमाल न भूलेँ। कंडोम के फायदे के बारे में आप अपने साथी से भी बात करें और ऊपर बताई गईं समस्या से बचने के लिए उन्हें भी इसका इस्तेमाल करने के लिए प्रोत्साहित करें।

अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो रही है, तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

What are the benefits of condoms?. https://www.plannedparenthood.org/learn/birth-control/condom/what-are-the-benefits-of-condoms. Accessed on 05 February, 2020.

Condoms. https://www.nhs.uk/conditions/contraception/male-condoms/. Accessed on 05 February, 2020.

Condom Effectiveness. https://www.cdc.gov/condomeffectiveness/index.html. Accessed on 05 February, 2020.

Safe sex. https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/healthyliving/safe-sex. Accessed On 25 September, 2020.

Stop STIs: Six Steps to Safer Sex. https://www.womenshealth.gov/blog/6-steps-safer-sex. Accessed On 25 September, 2020.

लेखक की तस्वीर
Dr. Hemakshi J के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Ankita mishra द्वारा लिखित
अपडेटेड 17/08/2019
x