home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

महिलाओं और पुरुषों को आखिर क्यों होता है सेक्स के दौरान दर्द?

महिलाओं और पुरुषों को आखिर क्यों होता है सेक्स के दौरान दर्द?

सेक्स कुछ लोगों के लिए जहां रोमांचक है तो कभी-कभी कुछ लोगों के लिए यह दर्द भरा एहसास भी हो सकता है। संभोग के दौरान दर्द सामान्य बात है। लेकिन इसका कतई अर्थ नहीं हुआ कि आपको उम्र भर सेक्स के दौरान दर्द झेलना पड़े। कई बार गायनकोलॉजिकल कारणों की वजह से तो कई बार बीमारी, इमोशनल फैक्टर व अन्य कारणों से भी सेक्स के दौरान दर्द का एहसास होता है, खासतौर पर महिलाओं को। आइए इस आर्टिकल में हम पुरुषों और महिलाओं को लेकर सेक्स के दौरान दर्द के कारण और उसके निदान संबंधी विषयों पर चर्चा करेंगे। पुरुषों को भी सेक्स के दौरान दर्द का एहसास हो सकता है। खैर दोनों ही मामलों में सेक्स के दौरान दर्द को कंट्रोल किया जा सकता है। इसलिए जरूरी है कि यदि आप भी इस प्रकार की समस्या से जूझ रहे हैं तो आप समय रहते डॉक्टरी सलाह लें। ताकि इसका निदान पाकर सेक्स को इंज्वाय करें न कि शारिरिक संबंध के दौरान दर्द से परेशान रहें।

सेक्स के दौरान दर्द का यह हो सकता है कारण

फिजिकल इंटरकोर्स की बात करें तो सेक्स के दौरान दर्द के कई कारण हो सकते हैं, यह इस बात पर निर्भर करता है कि दर्द हो कहां रहा है, एंट्री प्वांइट या फिर आंतरिक तौर पर दर्द हो रहा है। इमोशनल फैक्टर के कारण भी शारिरिक संबंध के दौरान दर्द का एहसास हो सकता है।

क्यों होता है एंट्री पेन, जानें कारण

एंट्री पेन इन कारणों से हो सकते हैं

  • पर्याप्त लूब्रिकेशन न होने के कारण : शिशु के जन्म के बाद या फिर मासिक के बाद एस्ट्रोजन लेवल के कम होने की वजह से भी पर्याप्त मात्रा में लूब्रिकेशन नहीं बन पाता है इस कारण सेक्स के दौरान दर्द होता है।
  • कंजीनाइटल एब्नॉर्मेलिटी : जन्मजात समस्या के कारण भी संभोग के दौरान दर्द का एहसास हो सकता है। इसमें वजाइना पर्याप्त रूप से विकसित नहीं होने के कारण, मेंब्रेन के विकसित न होने के कारण वजाइना की ओपनिंग बंद होने की वजह से भी सेक्स के दौरान दर्द हो सकता है।
  • इंज्युरी, ट्रामा या इरीटेशन की वजह से : इंज्युरी या एक्सीडेंट के कारण, पेल्विक सर्जरी या फिर जन्म के बाद महिलाओं का खतना करने के कारण भी संभोग के दौरान दर्द हो सकता है।
  • स्किन डिसऑर्डर के साथ जलन और इंफेक्शन के कारण : वजाइना या फिर जेनाइटल एरिया में किसी प्रकार का इंफेक्शन होने के कारण संभोग के दौरान दर्द का एहसास हो सकता है। एक्जिमा या जेनाइटल एरिया के पास स्किन प्रॉब्लम के कारण दर्द हो सकता है।
  • योनि का संकुचन होने के कारण

और पढ़ें : लॉकडाउन में बढ़ी सेक्स टॉय की बिक्री, एक सर्वे में सामने आई कई चौंकाने वाली बातें

क्यों होता है सेक्स के दौरान डीप पेन

  • सर्जरी और मेडिकल ट्रीटमेंट : पेल्विक सर्जरी से डर की वजह से सेक्स के दौरान दर्द का एहसास हो सकता है। वहीं कैंसर के इलाज के लिए रेडिएशन और कीमोथैरेपी के कारण भी सेक्स के दौरान दर्द का एहसास हो सकता है।
  • कुछ बीमारियों व हेल्थ कंडीशन के कारण : एंडोमेट्रियोसिस, पेल्विक इन्फ्लेमेटरी डिजीज, यूट्राइन प्रोलैप्स, रेट्रोवर्टेड यूट्रस, यूटेराइन फाइब्रॉइड्स, सिस्टिटिस, इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम, पेल्विक फ्लोर डिसफंक्शन, एडिनोमायोसिस, हेमोरॉयड्स और ओवेरियन सिस्ट की वजह से सेक्स के दौरान दर्द का एहसास हो सकता है।

इमोशनल फैक्टर भी है बड़ी वजह

संभोग के दौरान दर्द की बड़ी वजह इमोशनल फैक्टर भी है, इसके कारण भी पेनफुल इंटरकोर्स का एहसास हो सकता है। वहीं अन्य कारणों की वजह से भी हो सकता है, जैसे

  • स्ट्रेस : जीवन में तनाव लेने के कारण पेल्विक फ्लोर मसल्स के टाइट होने के कारण संभोग के दौरान दर्द हो सकता है।
  • साइकोलॉजिकल इशू के कारण : एंजाइटी, डिप्रेशन, इंटीमेसी से डर, रिलेशनशिप प्रॉब्लम के कारण सेक्स के दौरान दर्द हो सकता है।
  • सेक्सुअली एब्युस होने की वजह से : कुछ मामलों में पूर्व में यदि कोई सेक्सुअली तौर पर प्रताड़ित हुआ हो तो ऐसे में उसे सेक्स के दौरान दर्द का एहसास हो सकता है।

और पढ़ें : बढ़ती उम्र और सेक्स में क्या है संबंध, जानें बुजुर्गों को सेक्स के दौरान किन-किन बातों का रखना चाहिए ख्याल

पुरुषों में इन कारणों से होता है सेक्स के दौरान दर्द

पुरुषों में कई वजहों से सेक्स के दौरान दर्द हो सकता है। कई बार पुरुषों को उनके रिप्रोडक्टिव सिस्टम की वजह से दर्द होता है।

पुरुषों में दर्द की प्रोस्टेट है बड़ी वजह

पुरुषों में संभोग के दौरान दर्द प्रोस्टेट के कारण हो सकता है। पुरुषों के शरीर में प्रोस्टेट अखरोट के आकार का मस्कुलर ग्लैंड होता है, जो ब्लैडर के नीचे होता है। यही सीमन प्रोड्यूस करता है और शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है।

प्रोस्टेट एक्युट और क्रॉनिक हो सकता है, क्रोनिक बैक्टीरियल प्रोस्टेटाइटिस पुरुषों में होने वाली सामान्य बीमारी है, जो 50 साल से अधिक उम्र के लोगों को होती है। लोअर एब्डॉमिन पेन और बैक पेन इस बीमारी के मुख्य लक्षणों में से एक हैं। कुछ लोगों को स्पर्म निकलने के दौरान या फिर स्पर्म निकलने के बाद दर्द हो सकता है, बीमारी के कारण होने वाले अन्य लक्षण-

इस बीमारी के कारण लोगों को अन्य लक्षण महसूस हो सकते हैं, जैसे

  • पेशाब करने में दर्द
  • योनिमुख के बीच के भाग में दर्द होना
  • पेशाब की कम धारा का निकलना
  • पेशाब करने के बाद भी लिंग से पेशाब का टपकना

और पढ़ें : सेक्स को लेकर हमेशा रहे जागरूक, ताकि सुरक्षित सेक्स कर बीमारियों से कर सकें बचाव

पुरुषों और महिलाओं में अन्य इंफेक्शन की वजह से सेक्स के दौरान दर्द

सेक्सुअली ट्रांसमिटेड के अलावा अन्य इंफेक्शन के कारण सेक्स के दौरान एब्डॉमिन पेन हो सकता है। वहीं लोअर एब्डॉमिन पेन हो सकता है। इसकी मुख्य वजह पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज (Pelvic inflammatory disease (PID) और यूरिनरी ट्रैक इंफेक्शन (urinary tract infections (UTIs) के कारण ऐसा होता है।

पीआईडी होने के मुख्य लक्षणों में 
  • सेक्स के दौरान पेल्विक का दर्द करना
  • पेशाब करने में जलन
  • सेक्स करने के दौरान ब्लीडिंग या पीरियड्स के बीच ब्लीडिंग

यूटीआई बैक्टीरियल इंफेक्शन के कारण होती है, यह हमारे शरीर के यूरिनरी ट्रैक को प्रभावित करता है। महिलाओं में यह काफी सामान्य है, ऐसा इसलिए है क्योंकि उनमें यूरेथ्रा काफी शॉर्ट होता है, ऐसे में बैक्टीरिया उसमें आसानी से चले जाते हैं। वहीं पुरुषों के मामले में उन्हें इस प्रकार के लक्षण दिखाई देते हैं, जैसे-

और पढ़ें : सेक्स कब और कितनी बार करें, जानें बेस्ट सेक्स टाइम

महिलाओं में इन कारणों से होता है सेक्स के दौरान दर्द

महिलाओं की बात करें तो उन्हें संभोग के दौरान दर्द कई बार पोजिशन को लेकर तो कई बार यूट्रस की पोजिशन के कारण होता है।

पोजिशन हो सकती है वजह

कुछ सेक्सुअल पोजिशन ऐसी होती है जिससे लिंग, वजायन या फिर एनल के अंदर तक जाता है। संभोग के दौरान दर्द का यह भी बड़ा कारण है। ऐसे में इसका समाधान यही है कि वैसे सेक्स पोजिशन को न अपनाकर दूसरे पोजिशन ट्राय किया जाए ताकि आपके पार्टनर को दर्द न हो। कई मामलो में डीप पेंटरेशन के कारण कामोत्तेजना बढ़ती भी है।

और पढ़ें : सेक्स स्टैमिना बढ़ाने के इन उपायों को आजमाएं और सेक्स-लाइ‍व को रिजूवनेट करें

फाइब्रोसिस भी है बड़ा कारण

फाइब्रोसिस एक प्रकार का नॉन कैंसरस ग्रोथ है, जो महिलाओं के यूट्रस में डेवलप होता है। हर तीन में से एक महिला में फाइब्रोसिस के लक्षण देखने को मिलते हैं। महिलाओं को होने वाले लक्षणों में उन्हें यह हो सकता है एहसास

आपकी खुशियों का रास्ता है योग, वीडियो देख एक्सपर्ट से जानें क्या करें और क्या नहीं

एशरमैन सिंड्रोम (Asherman syndrome) के कारण दर्द

एशरमैन सिंड्रोम (Asherman syndrome) सर्विक्स और यूट्रस में स्कार टिशू को बनाने का काम करता है। इस कारण अन्य समस्याएं होती हैं।

डाइलेशन और क्यूरेटेज (dilatation and curettage) के साथ ऐसा ज्यादातर यूट्राइन की सर्जरी के कारण होती है, वहीं सी सेक्शन सर्जरी, रेडिएशन थेरेपी, एंडोमेट्रियोसिस और अन्य इंफेक्शन की वजह से भी होती है।

सेक्स के दौरान दर्द के साथ आप इस प्रकार के अनुभव महसूस कर सकते हैं, जैसे

सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन के कारण सेक्स के दौरान दर्द

कई सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन जैसे क्लैमिडिया, गोनोरिया जैसी बीमारी के कोई लक्षण नहीं होते, वहीं अलग-अलग लोगों पर इसके अलग-अलग लक्षण देखने को मिल सकते हैं।

  • असामान्य वजाइनल डिजीज
  • फाल स्मेल डिस्चार्ज
  • पेशाब करने में जलन और दर्द
  • लोअर एब्डॉमिनल और पेल्विक पेन
  • सेक्स करने के दौरान दर्द और खून का निकलना

टिल्टेड यूट्रस (Tilted uterus) की वजह से दर्द का होना

संभोग के दौरान दर्द की वजह टिल्टेड यूट्रस और झुका हुआ यूट्रस हो सकता है। इस केस में यूट्रस आगे की ओर होने की बजाय सर्विक्स की ओर झुका होता है। यह समस्या चार में से एक महिलाओं को होती है। ऐसा होना कोई समस्या नहीं है, इस कंडीशन में कुछ पोजिशन में सेक्स करने के दौरान दर्द होती है।

इसके लिए आप गायनोकोलॉजिस्ट से सलाह ले सकती हैं कि आपका यूट्रस झुका हुआ है या फिर सामान्य है। वहीं संभोग के दौरान दर्द से निजात पाने के लिए आप दूसरे पोजिशन को ट्राय कर सकती हैं।

अन्य कारणों को भी जानें

कुछ कारणों में संभोग के दौरान दर्द के केस में पेट के निचले हिस्से में दर्द होता है। इसके कुछ कारण हो सकते हैं, जैसे-

एंडोमेट्रिओसिस (Endometriosis)

एंडोमेट्रिओसिस होने के कारण यूट्रस की लाइन अपनी सही जगह पर न होकर अन्य जगह ग्रो होती है। कई बार पेल्विक के बाहरी छोर में। इस कारण यह समस्या होती है। एंडोमेट्रिओसिस टिशू का असामान्य विकास के कारण ही पेट के निचले हिस्से में, पीछे व पेल्विक में दर्द का एहसास होता है।

आप इस प्रकार के अनुभव कर सकती हैं महसूस

कोरोना और सेक्स लाइफ के बीच कनेक्शन को जानने के लिए पढ़ें : क्या कोरोना वायरस और सेक्स लाइफ के बीच कनेक्शन है? अगर जानते हैं इस बारे में तो खेलें क्विज

ओवेरियन सिस्ट भी है जिम्मेदार

ओवेरियन सिस्ट फ्लूइड से भरे होते हैं, यह कई बार ओवरी के अंदर तो कई बार उसकी सतह पर उभर आते हैं। सामान्य तौर पर इनसे दर्द नहीं होता। लेकिन अत्यधिक बढ़े हुए सिस्ट के कारण लोअर एब्डॉमिनल पेन हो सकता है। संभोग के दौरान दर्द के साथ सेक्स के बाद दर्द होता है। आप इस प्रकार के अनुभव भी कर सकती हैं महसूस

  • पीठ के पीठे व जांघ में दर्द का एहसास होना
  • आपके पेट में भारीपन की भावना
  • सूजन

इंटरस्टिशियल सिस्टिटिस (Interstitial cystitis)

इंटरस्टिशियल सिस्टिटिस को ब्लैडर पेन सिंड्रोम भी कहते हैं, यह किसी को भी हो सकता है। इस बीमारी के होने की वजह से मरीज के ब्लैडर एरिया व आसपास प्रेशर होने के साथ दर्द होता है, जिसके कारण ब्लैडर भरने से परेशानी होती है। इसके कारण भी संभोग के दौरान दर्द हो सकता है।

इसके कारण आप यह अनुभव कर सकते हैं, जैसे

  • बार-बार पेशाब आना, पेशान को न रोक पाना
  • ब्लॉडर खाली होने के बाद भी पेशाब की इच्छा करना
  • वजाइना और वॉल्वा में दर्द

कब लेनी चाहिए डॉक्टरी सलाह

संभोग के दौरान लोअर एब्डॉमिन पेन होने से लोग सेक्स पोजिशन में बदलाव कर दर्द से निजात पा सकते हैं, आमतौर पर इन मामलों में डॉक्टर के पास तक जाने की जरूरत नहीं पड़ती है। लेकिन जब आप गंभीर रूप से दर्द महसूस करें, जब भी सेक्स करें उस दौरान दर्द हो तो ऐसी स्थिति में डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए। वहीं जब आपको संभोग के दौरान ब्लीडिंग या फिर किसी भी प्रकार का इंफेक्शन दिखे तो डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए। उचित यही होगा कि आप डॉक्टरी सलाह लेकर बीमारी से निजात पाएं। वहीं इस प्रकार की समस्या को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। इसके कारण कई गंभीर समस्या भी हो सकती है।

 

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

When Sex Is Painful/ https://www.acog.org/patient-resources/faqs/gynecologic-problems/when-sex-is-painful /Accessed on 27 July 2020

Tilted uterus: Can it lead to infertility?/ https://www.mayoclinic.org/tilted-uterus/expert-answers/faq-20058485 / Accessed on 27 July 2020

Painful intercourse (dyspareunia)/ https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/painful-intercourse/symptoms-causes/syc-20375967 / Accessed on 27 July 2020

Male chronic pelvic pain: An update/ http://www.indianjurol.com/article.asp?issn=0970-1591;year=2016;volume=32;issue=1;spage=34;epage=39;aulast=Smith / Accessed on 27 July 2020

Fibroids/ https://www.nhs.uk/conditions/fibroids/ / Accessed on 27 July 2020

Asherman’s Syndrome/ https://my.clevelandclinic.org/health/diseases/16561-ashermans-syndrome / Accessed on 27 July 2020

Dyspareunia/ https://www.merckmanuals.com/professional/gynecology-and-obstetrics/sexual-dysfunction-in-women/dyspareunia?qt=dyspareunia&alt=sh.%20Accessed%20Oct.%2029,%202019. / Accessed on 27 July 2020

Efficacy of intravaginal dehydroepiandrosterone (DHEA) for symptomatic women in the peri- or postmenopausal phase/ https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/30244783/ / Accessed on 27 July 2020

लेखक की तस्वीर badge
Satish singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 26/08/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x