Cashew : काजू क्या है?

By Medically reviewed by Dr. Radhika apte

उपयोग (Cashew Uses In Hindi)

इन मेडिकल कंडिशंस में काजू (Cashew) का इस्तेमाल किया जाता है :

  • जठरांत्र संबंधी रोग (Gastrointestinal disorders)
  • कोरोनरी हार्ट डिजीज
  • त्वचा के अल्सर, मस्से के इलाज के लिए काजू को स्कीन पर लगाया जाता है।

काजू का इस्तेमाल और भी कई चीजों में किया जा सकता है। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट या हर्बलिस्ट से पूछें।

यह कैसे काम करता है? (how does Cashew work)

काजू (Cashew) कैसे काम करता है, इस बारे में अभी और अध्ययन की जरूरत है। अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से बात करें।

सावधानियां और चेतावनियां (Cashew Precautions And Warnings In Hindi)

काजू का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट या हर्बलिस्ट से परामर्श करें, अगर :

  • आप प्रेग्नेंट हैं या फिर बच्चे को दूध पिलाती हैं, तो इस दौरान आपको डॉक्टर से बात करनी चाहिए। क्योंकि, इस अवस्था मे आपको डॉक्टर की बताई दवाओं का ही सेवन करना चाहिए।
  • आप बिना प्रिस्क्रिप्शन के कोई दवा ले रहे हैं।
  • आपको काजू से कोई एलर्जी तो नहीं।
  • आपको किसी दूसरी चीजों से एलर्जी तो नहीं जैसे, खाने, रंग, खाने को सुरक्षित रखने वाले पदार्थ या जानवरों से।

किसी भी हर्बल सप्लिमेंट के सेवन करने के नियम उतने ही सख्त होते हैं, जितने कि अंग्रेजी दावा के। सुरक्षा के लिहाज से, अभी इसमें और अध्ययन की जरूरत है। हर्बल सप्लिमेंट के सेवन से होने वाले फायदे से पहले आपको इसके खतरों को समझ लेना चाहिए। ज्यादा जानकारी के लिए अपने हर्बल एक्सपर्ट से बात करें।

काजू कितना सुरक्षित है?

गर्भावस्था और स्तनपान:

अभी इस बारे में जानकारी कम है कि गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान काजू का प्रयोग कितना सुरक्षित है। काजू के इस्तेमाल से पहले उसके संभावित लाभ और खतरों को अच्छी तरह से समझ लें और इसके बारे में हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

सर्जरी:

सर्जरी होन से कम से कम दो सप्ताह पहले काजू लेना बंद कर दें।

काजू के नुकसान (Cashew Side Effect In Hindi)

काजू से मुझे किस तरह के साइड इफेक्ट हो सकते हैं?

काजू के कारण त्वचा पर लाल निशान और छाले जैसे साइड इफेक्ट हो सकते हैं।

हालांकि, हर कोई इन साइड इफेक्ट का सामना नहीं करता है। कुछ साइड इफेक्ट दूसरे तरह के भी हो सकते हैं जो लिस्टेड नहीं हैं। अगर आपके मन में साइड इफेक्ट को लेकर कोई चिंता है, तो कृपया अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

इंटरेक्शन (Cashew Interaction In Hindi)

काजू के साथ मेरे  क्या इंटरेक्शन हो सकते हैं?

यह हर्बल सप्लीमेंट आपकी मौजूदा दवाओं या मेडिकल कंडिशंस पर विपरीत असर डाल सकता है। इस्तेमाल करने से पहले अपने हर्बल एक्सपर्ट, वैद या डॉक्टर से सलाह करें।

कुछ दवाएं, जो काजू के साथ इंटरेक्ट कर सकती हैं, उनमें शामिल हैं :

  • डाइबिटीज की दवाएं
  • एंजियोटेंसिन 2 रिसेप्टर अंटागोनिस्ट, कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स, दिल की दवाएं
  • एंटीबायोटिक्स, एंटीफंगल, एंटीवायरल
  • फैट कम करने वाली दवाएं
  • एंटीकैंसर एजेंट
  • मारक औषधि
  • एंटीइंफ्लामेटरी

इम्यून सिस्टम को प्रभावित करने वाली दवाएं

मात्रा/डोज (Cashew Serving Quantity In Hindi)

दी गई जानकारी को चिकित्सा सलाह के रूप में न देखें। हमेशा इस दवा का उपयोग करने से पहले अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

काजू की सामान्य खुराक क्या है?

दस्त के लिए:

काजू के पत्तों और टहनियों का मानक काढ़ा रोजाना 2-3 बार से लिया जाता है।

मेटाबोलिज्म सिंड्रोम (कोरोनरी हार्ट डिसीज) के लिए :

अनसाल्टेड काजू नट आठ सप्ताह के लिए सेवन किया जा सकता है।

इस हर्बल सप्लिमेंट की खुराक हर मरीज के लिए अलग-अलग हो सकती है। इसकी खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और कई अन्य स्थितियों पर निर्भर करती है। हर्बल सप्लिमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। कृपया अपनी सही खुराक के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से बात करें।

काजू किस रूप में आता है? 

यह हर्बल सप्लिमेंट नीचे बताई गई खुराक के रूप में उपलब्ध हो सकता है:

  • काजू के प्रोडक्ट

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

सूत्र

रिव्यू की तारीख जुलाई 4, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया सितम्बर 20, 2019