शुगर लेवल को ऐसे कंट्रोल करता है नाशपाती

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जुलाई 20, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

एक रिसर्च के अनुसार डायबिटीज (मधुमेह) के मरीज नाशपाती का सेवन करके ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रख सकते हैं। नाशपाती को इंग्लिश में पेर (Pear) और बब्बूगोशा भी कहते हैं। ऊपर से हरा और अंदर से सफेद यह फल सेहत के लिए कई तरह से लाभदायक होता है। आइए जानते हैं डायबिटीज के लिए नाशपाती के फायदों के बारे में…

डायबिटीज के लिए नाशपाती कितनी फायदेमंद है?

नाशपाती में मौजूद विटामिन-सी, विटामिन-के, फाइबर, मैग्नीशियम, पोटैशियम और मिनरल प्रचुर मात्रा में होते हैं। इसके सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है साथ ही यह डायबिटीज के मरीजों के लिए भी अत्यधिक लाभकारी होता है। डायबिटीज पीड़ित के लिए सामान्य जीवन जीना मुश्किल हो जाता है। डायबिटीज के कारण ब्लड शुगर लेवल शरीर के विभिन्न अंगों को नुकसान पहुंचा सकता है। जिस कारण हार्ट अटैक, कम दिखाई देना या घाव का जल्दी न ठीक होना जैसी और भी शारीरिक समस्या शुरू हो सकती है।

डायबिटीज के मरीजों के लिए नाशपाती एक स्वस्थ स्नैक का विकल्प हो सकता है, जो स्वाद में मीठा होते हुए भी आपको नुकसान नहीं पहुंचाएगा। एक्सपर्ट्स के अनुसार आप एक दिन में एक से दो नाशपाती खा सकते हैं। नाशपाती शुगर के मरीजों के लिए कम्प्लीट नाश्ते की तरह है। शुगर लेवल को कंट्रोल रखने के साथ-साथ शरीर में होने वाले सूजन से भी आपको बचा सकता है। यहीं कारण है कि डायबिटीज के लिए नाशपाती को बेहद फायदेमंद माना जाता है।

और पढ़ें: स्किन से लेकर डायबिटीज तक के उपचार में लाभकारी है हींग

नाशपाती से कैसे नियंत्रित रहता है शुगर लेवल?

नाशपाती में मौजूद निम्नलिखित खनिज तत्व सेहत के लिए खास कर डायबिटीज के मरीज के लिए फायदेमंद होते हैं

विटामिन- इसमें मौजूद विटामिन-सी में मौजूद एंटी-ऑक्सिडेंट रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। इससे दिल की बीमारी खतरा कम हो जाता है। बैड कोलेस्ट्रॉल को भी बढ़ने से रोकता है। वहीं विटामिन-के की मदद से शरीर में इंसुलिन को ठीक रखने में मदद मिलती है।

फाइबर- फाइबर युक्त भोजन शरीर के लिए बेहद जरूरी है। इससे कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित रहता है। यह ब्लड शुगर लेवल को भी कंट्रोल रखता है। इसलिए इसे डायबिटीज के मरीजों के लिए सुपर फूड भी कहा जाता है। इससे डायजेशन (पाचन) भी बेहतर रहता है और कब्ज की शिकायत भी नहीं होती है। यही नहीं वजन कम करने में भी यह सहायक होता है, क्योंकि इसके सेवन से पेट भरा हुआ महसूस होता है और आपको बार-बार खाने की इच्छा नहीं होती है।

मैग्नीशियम- शरीर में मैग्नीशियम की कमी की वजह से कमजोरी, थकावट और तनाव महसूस होता है और इसके कमी से ब्लड शुगर लेवल भी बिगड़ सकता है। इसलिए नाशपाती में मौजूद प्रचुर मात्रा में मैग्नीशियम डायबिटीज जैसी गंभीर बीमारी से भी बचा कर रख सकता है आपको।

पोटैशियम- शरीर में पोटैशियम की कमी की वजह से कई परेशानी हो सकती है, जैसे थका हुआ महसूस होना या तनाव में रहना, ब्लड प्रेशर नियंत्रित न रहना आदि। ये सभी लक्षण डायबिटीज के होते हैं। इसलिए नाशपाती इन लक्षणों को भी दूर रखने में आपकी मदद करता है।

डायबिटीज के लिए नाशपाती के अलावा इन फलों का सेवन भी है फायदेमंद

सेब (Apple): डायबिटीज में सेब खाना भी उपयोगी है। अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन (ADA) के अनुसार, सेब में शुगर, फाइबर और कार्बोहाइड्रेट होते हैं जो डायबिटीज को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।

स्ट्रॉबेरी (Strawberry): स्ट्रॉबेरी बहुत सारे लोगों को पसंद होती है। इसके फल और पत्तियों का इस्तेमाल दवा बनाने के लिए किया जाता है। मिनिरल्स से भरपूर स्ट्रॉबेरी में प्रोटीन, नियासिन और खनिज होते हैं। डायबिटीज के नियंत्रण में स्ट्रॉबेरी बेहद उपयोगी फल है।

तरबूज (Watermelon): डायबीटिज पेशेंट्स के लिए तरबूज बेहद फायदेमंद है। यूनाइटेड स्टेट्स डिपार्टमेंट ऑफ एग्रीकल्चर (USDA) के अनुसार तरबूज में विटामिन ए, विटामिन बी 1 और विटामिन बी 6, विटामिन सी, पोटैशियम, मैग्नीशियम, फाइबर, आयरन, कैल्शियम और लाइकोपीन शामिल होता है।

अनार (Pomegranate): अनार में कई एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो शरीर को फ्री रेडिकल्स और क्रोनिक डिजीज से सुरक्षा प्रदान करते हैं। इसमें मौजूद फाइटोकेमिकल कंपाउंड हमारे स्वास्थ्य को कई बीमारियों से सुरक्षा कवच प्रदान करता है।

अंगूर (Grapes): अंगूर में रेस्वेराट्रोल नामक फाइटोकेमिकल होता है जो ब्लड शुगर को नियंत्रित करता है। इसलिए अंगूर को डायबिटीज पेशेंट्स के लिए एक अच्छा विकल्प माना जाता है।

और पढ़ें: बच्चों में डायबिटीज के लक्षण से प्रभावित होती है उसकी सोशल लाइफ

स्ट्रॉबेरी (Strawberries): स्ट्रॉबेरी में ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है। यह प्रतिरक्षा में सुधार करता है। इसमें कैंसर से लड़ने की क्षमता होती है। इसका सेवन करने से मेटाबॉलिज्म बढ़ता है, जिससे वजन कम करने में मदद मिलती है।

ब्लूबेरी (Blueberries): ब्लूबेरी विशेष रूप से मधुमेह के जोखिम को कम करने के लिए जाना जाता है। इसमें मौजूद फ्लेवोनॉइड और एंथोसायनिन डायबिटीज के रिस्क को कम करते हैं।

अमरूद (Guava): डायबिटीज पेशेंट्स के लिए अमरूद वरदान समान माना जाता है। इसमें भी ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है। अमरूद में उच्च मात्रा में डायटरी फाइबर होता है जो कब्ज से निजात दिलाने में मदद करता है। साथ ही टाइप-2 डायबिटीज के होने की संभावना को भी कम करता है।

और पढ़ें: डबल डायबिटीज की समस्या के बारे में जानकारी होना है जरूरी, जानिए क्या रखनी चाहिए सावधानी

चेरी (Cherries): चेरी में एंथोसायनिन होते हैं, जो कोशिकाओं के इंसुलिन उत्पादन को 50% तक पंप करते हैं। डायबिटीज पेशेंट्स को अपनी डायट में चेरी को जरूर शामिल करना चाहिए। यह आपके लिए गुणकारी साबित होगा।

पीता (Papaya): पपीते को भी मधुमेह रोगियों के लिए बेहद फायदेमंद फल माना जाता है। पपीते में नैचुरल एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। डायबिटीज पेशेंट्स को कई दूसरी बीमारी होने का खतरा होता है। पपीते को डायट में शामिल कर दूसरे रोगों से बचा जा सकता है।

संतरा (Orange): संतरे में पाए जाने वाले फ्लेवोनोल्स, फ्लेवानोन्स और फेनोलिक एसिड, डायबिटीज पेशेंट्स की हेल्थ के लिए फायदेमंद होते हैं। जब बात ग्लूकोज मेटाबॉलिज्म की हो तो खट्टे फल न केवल ग्लूकोज अपडेट को स्लो करते हैं साथ ही इंटेस्टाइन और लिवर के माध्यम से ग्लूकोज के संचलन या परिवहन को भी रोकते हैं।

और पढ़ें: ब्लड शुगर कैसे डायबिटीज को प्रभावित करती है? जानिए क्या हैं इसे संतुलित रखने के तरीके

डायबिटीज के मरीज अपना ख्याल तो रखते हैं लेकिन, जब फल खाने की इच्छा होती है तो ऐसे में मन में दुविधा भी शुरू हो जाती है। इसलिए नाशपाती स्वाद में मीठेपन का एहसास करवाने के साथ-साथ लाभकारी भी होगा। डायबिटीज के लिए नाशपाती का सेवन किया जा सकता है। अपने आहार और शुगर लेवल का ध्यान रखकर आप इस बीमारी से भी लड़ सकते हैं और स्वस्थ रह सकते हैं।

हमें उम्मीद है आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में डायबिटीज के लिए नाशपाती के सेवन से जुड़ी जानकारी दी गई है। यदि आप इससे जुड़ी अन्य कोई जानकारी पाना चाहते हैं तो बेहतर होगा कि आप अपने चिकित्सक से कंसल्ट करें। आपको अपने डॉक्टर द्वारा दी गई सलाह और बताई गई सावधानियों का पालन अवश्य करना चाहिए। आंख बंद कर किसी भी उपाय का पालन न करें। अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं तो आपको डॉक्टर से सलाह लेकर खाद्य पदार्थों का चयन करना चाहिए।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

डायबिटीज होने पर कैसे करें अपने पैरों की देखभाल

डायबिटीज की स्थिति में फुट केयर कैसे करें, कैसे रखें डायबिटीज में अपने पैरों को स्वस्थ, डायबिटीज में पाएं फुट केयर की पूरी जानकारी, Foot care in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu Sharma
हेल्थ सेंटर्स, डायबिटीज अगस्त 4, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

डायबिटिक फूड लिस्ट के तहत डायबिटीज से ग्रसित मरीज कौन सी डाइट करें फॉलो तो किसे कहे ना, जानें

डायबिटिक फूड लिस्ट क्या है, इसमें किन खाद्य पदार्थों को कर सकते हैं शामिल, क्या खाना चाहिए और क्या नहीं जानने के लिए पढ़ें यह आर्टिकल।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Satish Singh
हेल्थ सेंटर्स, डायबिटीज जुलाई 28, 2020 . 8 मिनट में पढ़ें

Tonact Tablet : टोनैक्ट टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

टोनैक्ट टैबलेट जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, टोनैक्ट टैबलेट का उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Tonact Tablet डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जुलाई 28, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

क्या डायबिटीज का उपचार संभव है?

डायबिटीज का उपचार संभव है?, डायबिटीज का उपचार कैसे करें, जानिए इसके उपचार के कुछ आसान तरीको के बारे में, how to cure diabetes in hindi, diabetes

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu Sharma
हेल्थ सेंटर्स, डायबिटीज जुलाई 27, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

डायबिटिक रेटिनोपैथी स्टेजेस कौन सी हैं

डायबिटिक रेटिनोपैथी: आंखों की इस समस्या की स्टेजेस कौन-सी हैं? कैसे करें इसे नियंत्रित

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu Sharma
प्रकाशित हुआ अगस्त 13, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
मधुमेह से होने वाली जटिलताएं कौन सी हैं

डायबिटीज होने पर शरीर में कौन-सी परेशानियाँ होती हैं?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu Sharma
प्रकाशित हुआ अगस्त 10, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
मधुमेह के लिए मेडिकल टेस्ट

मधुमेह के रोगियों को कौन-से मेडिकल टेस्ट करवाने चाहिए?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu Sharma
प्रकाशित हुआ अगस्त 6, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
ग्लूकोर्ड टैबलेट Glucored Tablet

Glucored Tablet : ग्लूकोर्ड टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ अगस्त 5, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें