Coconut Oil : नारियल तेल क्या है?

By Medically reviewed by Dr. Pooja Bhardwaj

नारियल का तेल किसलिए इस्तेमाल किया जाता है? (Uses of Coconut Oil In Hindi)

नारियल के तेल का इस्तेमाल निम्नलिखित बीमारियों में किया जा सकता है।

इसके अलावा यह इम्युनिटी को बढ़ाने, वजन घटाने और कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी इस्तेमाल होता है।

निम्नलिखित समस्याओं में आप नारियल तेल को त्वचा और बालों में लगाकर मॉइस्चराइजर की तरह कर सकते हैं,

  • नवजात शिशुओं के स्वास्थ्य में
  • एक्जिमा (Eczema)
  • त्वचा संबंधी समस्या सोरायसिस में
  • बालों के झड़ने में

इस तेल को और भी दूसरी तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है लेकिन इस बारे में ज्यादा जानकारी के लिए आप डॉक्टर या हर्बल विशेषज्ञ से संपर्क करें।

नारियल का तेल कैसे काम करता है?

नारियल तेल शरीर मे कैसे काम करता है इसको लेकर अभी ज्यादा जानकारी मौजूद नहीं है। इस बारे में ज्यादा जानकारी के लिए आप डॉक्टर या हर्बल विशेषज्ञ से संपर्क करें। हालांकि कुछ शोध यह मानते हैं कि नारियल तेल में मीडियम चेन ट्राइग्लिसराइड्स होते हैं जो शरीर मे मौजूद सैचुरेटेड फैट (Saturated Fat) की तुलना में अलग तरीके से काम करते हैं।

नारियल तेल से जुड़ी सावधानियां और चेतावनी (Caution and Warning using Coconut Oil In Hindi)

नारियल तेल के इस्तेमाल से पहले मुझे क्या जानकारी होनी चाहिए?

इस तेल का इस्तेमाल करने से पहले आपको डॉक्टर या फार्मासिस्ट या फिर हर्बल विशेषज्ञ से सलाह लेनी चाहिए, यदि

    • आप गर्भवती हैं या स्तनपान कराती हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि जब आप बच्चे को फीडिंग कराती हैं तो अपने डॉक्टर के मुताबिक़ ही आपको दवाओं का सेवन करना चाहिए।
    • अगर आप कोई स्वास्थ्य संबंधी दवाई का सेवन कर रहे हैं तो इसका सेवन करने से बचें।
    • अगर आपको नारियल तेल और उसके दूसरे पदार्थों से या फिर किसी और दूसरे हर्ब्स (HERBS) से एलर्जी हो।
    • आप पहले से किसी तरह की बीमारी आदि से ग्रसित हैं।
    •  यदि आपको किसी तरह के खाने, जानवर या सामान से एलर्जी है तो गार्सिनिया का सेवन करने से बचना चाहिए।

हर्बल सप्लीमेंट के उपयोग से जुड़े नियम दवाओं के नियमों जितने सख्त नहीं होते हैं। इनकी उपयोगिता और सुरक्षा से जुड़े नियमों के लिए अभी और शोध की ज़रुरत है। इस हर्बल सप्लीमेंट के इस्तेमाल से पहले इसके फायदे और नुकसान की तुलना करना ज़रुरी है। इस बारे में और अधिक जानकारी के लिए किसी हर्बल विशेषज्ञ या आयुर्वेदिक डॉक्टर से संपर्क करें।

कितना सुरक्षित है नारियल तेल का उपयोग?

प्रेगनेंसी और स्तनपान के दौरान

प्रेगनेंसी और स्तनपान के दौरान इस हर्बल सप्लीमेंट को लेकर ज्यादा जानकारी मौजूद नहीं है। इसको इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर संपर्क करें।

नारियल तेल के साइड इफेक्ट्स (Side effect of Coconut Oil In Hindi)

नारियल तेल के इस्तेमाल से क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

नारियल तेल के इस्तेमाल से निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं,

हालांकि हर किसी को ये साइड इफ़ेक्ट हों ऐसा ज़रुरी नहीं है। कुछ ऐसे भी साइड इफ़ेक्ट हो सकते हैं जो ऊपर बताए नहीं गए हैं। अगर आपको इनमें से कोई भी साइड इफ़ेक्ट महसूस हो या आप इनके बारे में और जानना चाहते हैं तो नज़दीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

नारियल तेल के इस्तेमाल से अन्य किन चीजों पर प्रभाव पड़ सकता है? (Interaction Of Coconut Oil In Hindi)

इस तेल के इस्तेमाल से आपकी बीमारी या आप जो वतर्मान में दवाइयां खा रहे हैं उनके असर पर प्रभाव पड़ सकता है। इसलिए सेवन से पहले डॉक्टर से इस विषय पर बात करें।

खासतौर पर अगर आप हाई कोलेस्ट्रॉल के मरीज हैं तो उपयोग से पहले डॉक्टर की राय लें।

नारियल तेल की खुराक (Coconut Oil Doses In Hindi)

यहां पर दी गई जानकारी को डॉक्टर की सलाह का विकल्प ना मानें। किसी भी दवा या सप्लीमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह ज़रुर लें।

आमतौर पर कितनी मात्रा में नारियल तेल का इस्तेमाल करना चाहिए?

रोजाना दिन में दो बार 10 मिली कोकोनट आयल को आठ हफ्तों तक प्रभावित जगह पर इस्तेमाल करना चाहिए।

इस हर्बल सप्लीमेंट की खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और कई चीजों पर निर्भर करती है। हर्बल सप्लीमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

नारियल तेल किन रूपों में उपलब्ध है?

नारियल तेल निम्नलिखित रूपों में उपलब्ध है

  • सॉफ्टजेल
  • लिक्विड
सूत्र

रिव्यू की तारीख जुलाई 9, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया सितम्बर 19, 2019

शायद आपको यह भी अच्छा लगे