फिर बढ़ रहा है कोरोना का संक्रमण, सोशल गेदरिंग के दौरान इन बातों का रखें ध्यान!

    फिर बढ़ रहा है कोरोना का संक्रमण, सोशल गेदरिंग के दौरान इन बातों का रखें ध्यान!

    भारत में कोरोना महामारी आई तो लगा था कि टीकाकरण के बाद ये महामारी चली जाएगी। वैक्सीन के दो डोज लगने के बाद फिर से इस महामारी के नए वेरिएंट ने दस्तक दे दी है। भारत में अब तक कोरोना महामारी की दो लहरें आ चुकी हैं। अब देश तीसरी लहर की ओर बढ़ रहा है। इंफेक्शन तेजी से फैल रहा है। इस बार ओमिक्रॉन वेरिएंट लोगों को अपना शिकार बना रहा है। फिलहाल लोगों को बूस्टर डोज देने की तैयारी हो चुकी है। वही बच्चों को भी वैक्सीन लगना शुरू हो गया है। अगर ऐसे में आपको जरूरत पड़ने पर बाहर निकलना पड़े या फिर किसी गैदरिंग में शामिल होना पड़े, तो ऐसे में किन बातों का खास ख्याल रखने की जरूरत होती है, इस बारे में आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताएंगे। जानिए कोविड-19 के समय गैदरिंग और संबंधित सावधानियां (Covid-19 related precautions at the time of gathering) क्या होना चाहिए।

    और पढ़ें: कोरोना वायरस के ट्रांसमिशन फैक्टर: मास्क पहनने के साथ, इन छोटी-छाेटी बातों की तरफ भी गौर करें!

    ओमिक्रॉन वेरिएंट का प्रकोप (Omicron Variants outbreak)

    डेल्टा वेरिएंट (Delta variant), आईएचयू वेरिएंट (IHU variant), फ्लूरोना वेरिएंट (Flurona variant) के बाद आपने ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron variant) तेजी से फैल रहा है। ओमिक्रॉन वेरिएंट तेजी से फैलने वाला वेरिएंट है। ओमिक्रॉन वेरिएंट पहला केस तंजानिया में मिला था। धीरे-धीरे पूरी दुनिया में फैल गया। डेल्टा वेरिएंट की तुलना में यह बहुत तेजी से फैलता है। यह भारत के साथी पूरे विश्व में तेजी से फैल रहा है और लोगों को अपनी गिरफ्त में ले रहा है। वायरस से बचने के लिए सावधानी बहुत जरूरी है। अगर आप घर से बाहर जा रहे हैं, तो आपको कुछ बातों का ध्यान जरूर रखना होगा क्योंकि वेरिएंट तेजी से फैलता है इसलिए आपकी जरासी जो आपको संक्रमण का शिकार बना सकते हैं, आइए जानते हैं कि कोविड-19 के समय गैदरिंग और संबंधित सावधानियां (Covid-19 related precautions at the time of gathering) क्या होनी चाहिए।

    और पढ़ें: कोरोना वायरस के ट्रांसमिशन फैक्टर: मास्क पहनने के साथ, इन छोटी-छाेटी बातों की तरफ भी गौर करें!

    कोविड-19 के समय गैदरिंग और संबंधित सावधानियां (Covid-19 related precautions at the time of gathering)

    कोविड-19 के समय गैदरिंग और संबंधित सावधानियां (Covid-19 related precautions at the time of gathering)

    • अगर आपके घर में पहले से ही कोई व्यक्ति वायरस से संक्रमित है तो बेहतर होगा कि आप भी घर से बाहर ना निकले आपको घर में ही खुद को अलग कर लेना चाहिए।
    • अगर आपको घर के बाहर जाना पड़ रहा है तो बेहद सावधानी से घर के बाहर निकले घर से बाहर निकलते समय आपको N95 मास्क जरूर लगाना चाहिए।
    • अगर आपको घर के बाहर जाना पड़ रहा है तो बेहद सावधानी से घर के बाहर निकले घर से बाहर निकलते समय आपको N95 मास्क जरूर लगाना चाहिए।
    • कोविड-19 के समय गैदरिंग और संबंधित सावधानियां के दौरान इस बात का भी ख्याल रखें कि बाहर जा रहे हैं, तो किसी अन्य का सामान जैसे कि मोबाइल, पर्स, रूमाल आदि को टच न करें। हो सके तो बाहर का टायलेट यूज करने से बचें।
    • कोविड-19 के समय गैदरिंग और संबंधित सावधानियां में बच्चों को डोज लगवाना न भूलें। भारत में 15 से 18 साल के बच्चों को डोज लगना शुरू हो गई है। ये बात ध्यान रखें कि कोरोना से बचने के लिए बाहर निकलते समय सावधानी और वैक्सीन बहुत जरूरी है।

    और पढ़ें: कोरोना में सेल्फ मेडिकेशन हो सकता है खतरनाक, सलाह के बाद ही करें इनका इस्तेमाल!

    • ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस के डायरेक्टर डॉक्टर रणदीप गुलेरिया की मानें तो जुकाम या खांसी होने की अवस्था में सर्जिकल मास्क (Surgical mask) का इस्तेमाल करें। अगर आपको जरूरत पड़ने पर हॉस्पिटल जाना पड़ रहा है, तो ऐसे में N95 मास्क लगाया जा सकता है।
    • अगर आपकी दोनो वैक्सीन डोज लग चुकी हैं तो अपनी हॉस्पिटल में बूस्टर डोज के बारे में जानकारी लें। कोरोना महामारी को फैले हुए दो साल से ज्यादा का समय हो गया है। ऐसे में लोगों के लिए घर के अंदर बैठना मुमकिन नहीं है। घर से बाहर जाने पर सुरक्षा ही एकमात्र उपाय है।
    • अगर आप किसी पार्टी या फेस्टिवल में जा रहे हैं, तो ध्यान रखें कि वहां सीमित लोग हो न कि बहुत भीड़। भीड़ वाले स्थान में जाने से संक्रमण से सुरक्षित रह पाना मुश्किल हो जाता है।
    • बाहर से आने के बाद दोनों हाथों को अच्छी तरह से 20 सेकेंड तक साफ करें।
    • अगर आप कोरोना कि दोनों ही वैक्सीन में लगवा चुके हैं तो यह बिल्कुल ना समझे कि आपको वायरस का खतरा नहीं है ऐसे कई के साथ चुके हैं जिनमें दोनों दोस्त ले चुके व्यक्ति को भी संक्रमण हो गया है बेहतर होगा कि सावधानी बनाए रखें।
    • ओमिक्रॉन बड़ी संख्या में म्यूटेशन कर रहा है, जिसमें कुछ चिंता का विषय हैं। दुनिया भर के शोधकर्ता ओमिक्रॉन की ट्रांसमिसिबिलिटी (Transmissibility), इसकी गंभीरता और इससे बचने की क्षमता के बारे में स्टडी कर रहे हैं।
    • अगर आपको प्लेन में सफर करना पड़ रहा है, तो एक बार सभी नियमों को सावधानी से पढ़ लें। अगर आपकी तबीयत खराब है तो बेहतर होगा कि आप ट्रेवल ना करें।

    और पढ़ें: कैसे पता लगाया जाए कि डेंगू का बुखार है या कोरोना इंफेक्शन?

    कोविड-19 के समय गैदरिंग और संबंधित सावधानियां: न भूलें सोशल डिस्टेंसिंग

    कोरोना की दूसरी लहर की पीक के बाद लोगों को कुछ राहत मिली थी। ज्यादातर लोगों ने मास्क लगाना छोड़ दिया था और सोशल डिस्टेंसिंग भी भूल गए थे। लेकिन आपको सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान रखना ही पड़ेगा। मास्क लगाना, भीड़ से बचना, हाथों को बार-बार धोना, सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखना आदि नियम आपको नए वेरिएंट से बचाने में मदद कर सकते हैं। बेहतर होगा कि नियमों की अनदेखी न करें। अगर आपको पहले से ही फेफड़ो, हार्ट, किडनी या फिर कोई क्रॉनिक डिजीज (Chronic disease) है, तो आपको अधिक सावधानी की जरूरत है। हो सकता है कि भविष्य में नए वेरिएंट का सामना भी करना पड़े। ऐसे में इम्यूनिटी को बढ़ाकर और कुछ बातों को ध्यान रख ही आप कोरोना महामारी के दौरान खुद को स्वस्थ्य रख सकते हैं।

    और पढ़ें: क्यों कोरोना वायरस वैक्सीनेशन हर एक व्यक्ति के लिए है जरूरी और कैसे करें रजिस्ट्रेशन?

    इस आर्टिकल में हमने आपको कोविड-19 के समय गैदरिंग और संबंधित सावधानियां (Covid-19 related precautions at the time of gathering) लेकर जानकारी दी है। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको इस संबंध में अधिक जानकारी चाहिए, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्स्पर्ट्स द्वारा दिलाने की कोशिश करेंगे।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 11/01/2022 को
    Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड