आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

null

कैसे पता लगाया जाए कि डेंगू का बुखार है या कोरोना इंफेक्शन?

    कैसे पता लगाया जाए कि डेंगू का बुखार है या कोरोना इंफेक्शन?

    देश में कोरोना वायरस का कहर थमता नजर नहीं आ रहा और जो बीमारियां पहले से दस्तक दे बैठीं हैं, उनसे भी लोग परेशान हैं। अब ऐसी स्थिति में सबसे गंभीर समस्या ये है कि डेंगू और कोरोना वायरस के लक्षण भी मिलते जुलते हैं। हाल ही में सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (Centers for Disease Control and Prevention) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार डेंगू और कोरोना वायरस में अंतर (Difference between Dengue and Coronavirus) एवं डेंगू और कोरोना वायरस के लक्षणों को समझना जरूरी है, लेकिन सबसे पहले जानलेते हैं डेंगू और कोरोना वायरस क्या है?

    और पढ़ें : कोरोना की दूसरी लहर: बढ़ रहा है खतरा लेकिन सावधानियां भी हैं जरूरी

    डेंगू (Dengue) और कोरोना वायरस (Coronavirus) क्या है?

    डेंगू (Dengue)-

    डेंगू और कोरोना वायरस में अंतर (Difference between Dengue and Coronavirus)

    डेंगू वायरल डिजीज की लिस्ट में शामिल है। मॉनसून के वक्त में डेंगू के मच्छर जन्म लेते हैं। मॉनसून के वक्त में कई बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है और डेंगू की समस्या भी शुरू हो जाती है। डेंगू एडीज मच्छरों के काटने से होने वाली बीमारी है और ऐसे वक्त में ही डेंगू की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है। डेंगू की वजह से बॉडी की इम्यून पावर कमजोर हो जाती है। नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन (NCBI) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार डेंगू बुखार के वायरस प्रायः येलो फीवर या वेस्ट नील वायरस इंफेक्शन से ही जुड़े होते हैं।

    कोरोना वायरस (Coronavirus) –

    डेंगू और कोरोना वायरस में अंतर (Difference between Dengue and Coronavirus)

    कोरोना वायरस संक्रमित नए मरीजों और मृत्यु की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। इस गंभीर स्थिति में सभी देश के वैज्ञानिक कोरोना वायरस की दवा या वैक्सीन की मदद से कंट्रोल करने की कोशिश जारी है। कोरोना वायरस की वजह से बुखार, बदन दर्द एवं कमजोरी जैसी अन्य शारीरिक परेशानी शुरू हो जाती है। कोरोना वायरस की स्थिति और डेंगू की स्थिति एक जैसी लगती है। इसलिए डेंगू और कोरोना वायरस में अंतर (Difference between Dengue and Coronavirus) समझना आवश्यक है।

    और पढ़ें : क्या कोरोना वायरस म्यूटेशन बन रहा है भारत में होने वाली मौतों की वजह?

    डेंगू और कोरोना वायरस में अंतर समझने के लिए इनके लक्षणों को समझें (Difference between Dengue and Coronavirus)

    डेंगू के लक्षण (Symptoms of Dengue)-

    • सिरदर्द होना
    • बुखार होना।
    • मांसपेशियों में दर्द या ऐंठन महसूस होना।
    • हड्डियों में दर्द होना।
    • जोड़ों में तेज दर्द होना।
    • मितली आना।
    • उल्टी होना।
    • शरीर पर चकत्ते का निशान पड़ना।
    • ब्लड प्रेशर कम होना
    • ब्लड वेसल्स से फ्लुइड लीक होना।
    • हायपोटेंशन की समस्या।
    • खून में प्लेटलेट्स कम होना।
    • नसों का कमजोर होना।

    ये लक्षण डेंगू होने पर नजर आते हैं या महसूस किये जा सकते हैं।

    और पढ़ें : डबल और ट्रिपल म्यूटेंट्स क्या हैं, क्या आरटी पीसीआर (RT-PCR) टेस्ट नहीं कर पा रहा इनकी पहचान?

    कोरोना वायरस के लक्षण (Symptoms of Coronavirus)-

    • बुखार (Fever) आना।
    • खांसी होना।
    • ठंड लगना।
    • नाक बहना (Running nose) की समस्या।
    • गले में दर्द होना।
    • गले में खराश (Throat problem) होना।
    • बॉडी और मसल्स में दर्द होना।
    • स्वाद नहीं आना (Loss of test)।
    • स्मेल नहीं आना (Loss of smell)।
    • आंखों का लाल या गुलाबी होना (Conjunctivitis)।
    • कानों में अलग तरह के आवाज आना (ऐसा एक या दोनों कानों से हो महसूस किया जा सकता है)।
    • सुनाई कम देना (Loss of Hearing)।
    • पेट से संबंधित परेशानी या गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल प्रॉब्लम।

    ये लक्षण कोरोना वायरस के हैं, जो कुछ हद तक डेंगू के लक्षणों से मिलते हैं। ऐसे में डेंगू और कोरोना वायरस में अंतर समझने के लिए आर्टिकल में आगे पढ़ें।

    और पढ़ें : जानलेवा हो सकता है डेंगू हेमरेज फीवर, जानें इसके कारण, लक्षण और उपचार

    सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (Centers for Disease Control and Prevention) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार डेंगू और कोरोना वायरस में अंतर इस प्रकार हैं –

    डेंगू और कोरोना वायरस में अंतर 1: डेंगू गंदी या पानी स्टोर होने वाली जगहों पर एडीज मच्छरों के काटने की वजह से होने वाली बीमारी है, बल्कि कोविड-19 का खतरा एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में वायरस SARS-CoV-2 (virus SARS-CoV-2) की वजह से होता है।

    डेंगू और कोरोना वायरस में अंतर 2: डेंगू का बुखार 5 से 7 दिनों में ठीक हो जाता है, लेकिन कोविड-19 से इंफेक्टेड व्यक्ति को 14 दिनों से ज्यादा वक्त ठीक होने में लगता है और इसके बाद कमजोरी अत्यधिक होती है।

    डेंगू और कोरोना वायरस में अंतर 3: डेंगू होने पर सांस लेने में परेशानी महसूस नहीं होती है, लेकिन कोरोना संक्रमित मरीजों को सांस लेने में कठिनाई होती है।

    डेंगू और कोरोना वायरस में अंतर 4: डेंगू की गंभीर स्थिति होने पर नाक, मसूड़े, स्टूल या उल्टी के दौरान खून आने लगता है, वहीं कोरोना संक्रमित मरीजों में ब्लीडिंग की समस्या नहीं होती है।

    डेंगू और कोरोना वायरस में अंतर 5: डेंगू के मरीजों का चेहरा सुस्त पड़ने लगता है, जबकि कोविड-19 इंफेक्टेड व्यक्ति का चेहरा सुस्त पड़ने के साथ-साथ पीला पड़ने लगता है।

    डेंगू और कोरोना वायरस में अंतर 6: डेंगू के मरीजों का बॉडी टेम्प्रेचर बढ़ता है यानी तेज बुखार होता है, लेकिन कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति को तेज बुखार के साथ-साथ ठंड भी लगती है।

    डेंगू और कोरोना वायरस में अंतर 7: डेंगू पेशेंट्स को सिरदर्द के साथ-साथ आंखों में भी दर्द होता है, लेकिन कोरोना के मरीजों में सर्फ सिरदर्द की परेशानी होती है।

    डेंगू और कोरोना वायरस में अंतर 8: डेंगू पेशेंट्स को खाना अच्छा नहीं लगता है, लेकिन उन्हें स्वाद का अंदाजा रहता है। वहीं कोरोना के मरीजों को स्वाद नहीं आना (Loss of test) या स्मेल नहीं आने जैसी परेशानी होती है।

    डेंगू और कोरोना वायरस में अंतर 9: कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों में सांस लेने में परेशानी बढ़ती जाती है और ऑक्सिजन लेवल कम होता जाता है। वहीं डेंगू के मरीजों में ऐसी समस्या नहीं देखी जाती है।

    और पढ़ें : आपकी लापरवाही बन सकती है वायरल इंफेक्शन का कारण! जरूरी है ये खास जानकारी

    डेंगू (Dengue), कोरोना वायरस (Coronavirus) या किसी भी अन्य बीमारी के दौरान पैनिक की स्थिति ना बनायें और अभी की स्थिति में बिल्कुल भी पैनिक ना हों। अस्पताल की स्थितियों से हमसभी वाहकीफ हैं कि कोरोना वायरस से संक्रमित पेशेंट्स को हॉस्पिटल में एडमिशन मिलने में भी परेशानी हो रही है, क्योंकि मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। वहीं डॉक्टर्स भी लोगों से यही अपील कर रहें हैं कि जितना संभव हो घर पर ही रहें। इसलिए अगर ऐसी स्थिति में आपको बुखार होता है या ऐसी ही कोई अन्य शारीरिक परेशानी होती है, तो सबसे पहले डॉक्टर से ऑनलाइन या फोन पर बात करें। अपने लक्षणों को बताएं और उनके द्वारा प्रिस्क्राइब की गई दवाओं का सेवन करें।

    कहते हैं जल्दबाजी का काम ठीक नहीं होता है। वैसे ही अगर महामारी के वक्त में आप परेशान होंगे, तो आपकी शारीरिक परेशानी और मानसिक परेशानी दोनों ही बढ़ेगी। इसलिए डॉक्टर से कंसल्ट करें और डॉक्टर द्वारा बताये गए निर्देशों का पालन करें और बीमारी कोई भी हो लापरवाही थोड़ी सी भी ना करें।

    नोट: अगर आपको डॉक्टर डेंगू टेस्ट (Dengue Test) या कोविड-19 टेस्ट (Coronavirus Test) करवाने की सलाह देते हैं, तो इसे टाले नहीं और जल्द से जल्द टेस्ट करवाएं। ध्यान रखें डेंगू एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलने वाली बीमारी नहीं है, बल्कि कोरोना वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्तियों में तेजी से फैलता है।

    डेंगू से जुड़ी जानकारियों के लिए नीचे दिए इस क्विज को खेलें और अपनी नॉलेज बढ़ाएं।

    और पढ़ें : Airborne infections: खुली हवा में सांस लेना आपको कर सकता है बीमार!

    अगर आप डेंगू और कोरोना वायरस में अंतर (Difference between Dengue and Coronavirus) से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। हालांकि अगर आप डेंगू या कोरोना वायरस से संक्रमित हैं, तो डरे नहीं, बल्कि जल्द से जल्द विशेषज्ञों से समझें। क्योंकि समझदारी से किसी भी बीमारी को आसानी से मात दी जा सकती है।

    स्वस्थ रहने के लिए अपने वातावरण को साफ रखें और नियमित योगासन करें। नीचे दिए इस वीडियो लिंक पर क्लिक करें और योगासन को समझें।

     

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Is it Dengue or is it COVID-19?/https://www.cdc.gov/dengue/healthcare-providers/dengue-or-covid.html#:~:text=Most%20people%20with%20dengue%20and,that%20can%20result%20in%20death/Accessed on 11/05/2021

    Simultaneous dengue and COVID-19 epidemics: Difficult days ahead?/https://journals.plos.org/plosntds/article?id=10.1371/journal.pntd.0008426/Accessed on 11/05/2021

    Dengue and severe dengue/https://www.who.int/news-room/fact-sheets/detail/dengue-and-severe-dengue/Accessed on 11/05/2021

    COVID-19 and dengue fever: A dangerous combination for the health system in Brazil/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7144614/Accessed on 11/05/2021

     

    लेखक की तस्वीर badge
    Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 12/05/2021 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड