home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

डेंगू बुखार होने पर कौन-से घरेलू उपाय अपनाना सुरक्षित है?

डेंगू बुखार होने पर कौन-से घरेलू उपाय अपनाना सुरक्षित है?

डेंगू बुखार मच्छर के कारण होने वाला रोग है, जो बेहद दर्दनाक होता है। इस रोग का शिकार हर साल लाखों लोग होते हैं। डेंगू बुखार डेंगू वायरस से संक्रमित एडीज मच्छर के काटने से फैलता है। यह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक सीधे तौर नहीं फैलाया जा सकता है। डेंगू के इलाज के लिए कोई दवा नहीं है। डेंगू बुखार के घरेलू उपाय, लक्षणों आदि के बारे में आपको पता होना चाहिए ,ताकि सही समय पर इसका उपचार हो सके। इस रोग के अधिकतर मामले दुनिया के उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों से आते हैं जैसे:

  • भारतीय उपमहाद्वीप
  • दक्षिण – पूर्व एशिया
  • दक्षिणी चीन
  • ताइवान
  • प्रशांत द्वीप समूह
  • कैरिबियन (क्यूबा और केमैन द्वीप को छोड़कर)
  • मेक्सिको
  • अफ्रीका
  • मध्य और दक्षिण अमेरिका (चिली, पैराग्वे और अर्जेंटीना को छोड़कर)

और पढ़ें : Dengue fever : डेंगू बुखार क्या है?

डेंगू बुखार के लक्षण

डेंगू के लक्षण हल्के या गंभीर हो सकते हैं। हल्के लक्षणों का इलाज घर पर किया जा सकता है। डेंगू बुखार के घरेलू उपाय के बारे में जानने से पहले आपको इसके लक्षणों के बारे में पता होना चाहिए। इसके लक्षण इस प्रकार हैं:

  • डेंगू बुखार एकदम से अधिक हो जाता है। डेंगू के लक्षण हल्के या गंभीर हो सकते हैं। हल्के लक्षणों का इलाज घर पर किया जा सकता है। यह 105°F तक हो सकता है और इंफेक्शन के होने के चार से सात दिनों तक रह सकता है।
  • डेंगू बुखार के शुरू होने से दो से पांच दिनों के बाद शरीर में लाल दानें दिखाई देने शुरू हो जाते हैं। यह दाने चेचक के दागों जैसे लगते हैं। संक्रमित लोगों की त्वचा की संवेदनशीलता बढ़ सकती है।

इसके अन्य लक्षण कुछ इस प्रकार हैं:

  • थकावट
  • सिरदर्द (खासतौर पर आंखों के पीछे)
  • जोड़ों में दर्द
  • मांसपेशियों में दर्द
  • मतली और उल्टी
  • सूजी हुई लिम्फ नोड्स
  • खांसी
  • गले में खराश

[mc4wp_form id=”183492″]

डेंगू बुखार के घरेलू उपाय

डेंगू बुखार के घरेलू उपाय में सबसे पहला और जरूरी उपाय है रोगी का सही आहार। डेंगू में रोगी का खानपान कैसा होना चाहिए, इस बात का खास ध्यान रखना चाहिए। सही आहार से डेंगू और डेंगू बुखार के उपचार में मदद मिलती है। डेंगू के मरीजों को इन चीजों को खाना या पीना चाहिए:

पपीते के पत्तों का जूस

डेंगू की स्थिति में रोगी के प्लेटलेट कम हो जाते हैं। ऐसे में प्लेटलेट काउंट बढ़ाने के लिए पपीते के पत्तों का जूस एक बेहतरीन औषधि है। पपीते के पत्तों का जूस इम्युनिटी को बढ़ाने में सहायक है। जिससे डेंगू भी जल्दी ठीक होता है। इस औषधि को बनाने के लिए पपीते के पत्तों को पीस कर उनमें से रस निकाल लें। अच्छे परिणामों के लिए पपीते के पत्तों के जूस का कम मात्रा में दिन में दो बार प्रयोग करें।

और पढ़ें : जानें बच्चों में डेंगू (Dengue) बुखार के लक्षण और उपाय

मेथी के दाने

डेंगू बुखार के घरेलू उपाय में मेथी के दाने मुख्य है। मेथी में कई न्यूट्रिएंट्स होते हैं, जो डेंगू बुखार को कम करने में प्रभावी है। आप गर्म पानी में मेथी के दानों को थोड़ी देर भिगो कर रखें। इसके बाद इस पानी को ठंडा होने दें। अब इस पानी को दिन में दो बार लें। मेथी के पानी में विटामिन C , K और फाइबर भी होते हैं, जिनसे अन्य कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। मेथी के दाने बुखार कम करने और इम्युनिटी बढ़ाने में भी सहायक है

अमरूद का जूस

अमरूद के जूस में भी कई न्यूट्रिएंट्स होते हैं। इसके साथ ही इसमें विटामिन C भी होता है, जिससे इम्युनिटी बढ़ती है। इसलिए डेंगू बुखार के उपचार के लिए अमरुद का जूस भी शामिल करें। जूस की जगह आप फ्रेश अमरुद भी खा सकते हैं।

गिलोय

गिलोय डेंगू बुखार को दूर करने में एक अच्छी औषधि है। इससे मेटाबोलिज्म और इम्युनिटी दोनों बढ़ते हैं। अगर आपकी इम्युनिटी मजबूत है तो उससे डेंगू से लड़ने में मदद मिलती है। इसके साथ ही इससे प्लेटलेट काउंट भी बढ़ते हैं। गिलोय के पौधे की जड़ को पानी में उबालें और उसके बाद इस पानी को रोगी को पीने को दें।

हल्दी

हल्दी एक ऐसा मसाला है जिसमें एंटीसेप्टिक, रोगाणुरोधी और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। अर्थात, हल्दी मेटाबोलिज्म को बढ़ाने में लाभदायक है। डेंगू में फायदे के लिए दूध में थोड़ी सी हल्दी मिला कर रोगी को रोजाना पीने को दें।

तुलसी

तुलसी भी इम्युनिटी बढ़ाने के लिए बेहतरीन औषधि है। पानी में तुलसी के पत्ते और काली मिर्च ड़ाल कर उबालें और इस पानी का सेवन करें। इससे डेंगू के मरीज की इम्युनिटी को बढ़ाने और इंफेक्शन से लड़ने में मदद मिलेगी।

योग से दर्द नियंत्रण के बारे में जानें इस वीडियो के माध्यम से

अधिक पानी पीएं

डेंगू बुखार में शरीर में पानी की कमी हो जाती है। ऐसे में हाइड्रेट रहने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीएं। इससे न केवल आपके शरीर से दूषित और हानिकारक तत्व बाहर निकल जायेंगे बल्कि इससे सिरदर्द और मांसपेशियों में अकड़न भी दूर होती है। पानी के साथ अगर ओआरएस (ORS) का घोल भी दिया जाए तो यह भी फायदेमंद हो सकता है। नारियल पानी भी डेंगू बुखार में लाभदायक है।

नीम के पत्ते

डेंगू बुखार के घरेलू उपाय में अगला है नीम के पत्ते का सेवन। नीम के पत्ते से ब्लड प्लेटलेट और वाइट ब्लड सेल काउंट बढ़ते हैं। नीम के पत्ते को पानी में उबाल कर पानी को रोजाना पीएं। नीम के सूखे पत्तों को जलाने से मच्छर भी दूर होते हैं

खट्टे फल

खट्टे फल डेंगू के रोगियों के लिए लाभदायक है। इन फलों में मौजूद विटामिन C से इम्युनिटी बढ़ती है और शरीर से हानिकारक तत्व बाहर निकल जाते हैं। ऐसे में संतरा, नींबू आदि का सेवन करना न भूलें।

और पढ़ें: Dengue : डेंगू क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और इलाज

पालक

पालक जैसी हरी सब्जियां भी डेंगू बुखार में लाभदायक है। पालक में आयरन होता है जो डेंगू के बुखार को ठीक करने और प्लेटलेट को दूर करने में प्रभावी है। इसके साथ ही ब्रोकली में विटामिन होता है जिससे प्लेटलेट काउंट में सुधार होता है।

कीवी

कीवी फल में मिनरल,विटामिन, आयरन और एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जिनसे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और प्लाज्मा भी सुधरता है। डेंगू बुखार के घरेलू उपाय में कीवी को भी महत्वपूर्ण माना जाता है।

इम्युनिटी बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ

डेंगू बुखार के घरेलू उपाय ऐसे चीजों का सेवन बहुत महत्वपूर्ण है जिनसे इम्युनिटी बढ़ती है इसलिए अपने आहार में लहसुन, बादाम आदि को भी शामिल करें। डेंगू के रोगी को हमेशा उबला हुआ या हल्का पका हुआ भोजन ही खाना चाहिए।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

क्या न खाएं

डेंगू बुखार में कुछ चीजों का सेवन बिलकुल भी नही करना चाहिए जैसे:

तला हुआ और मसालेदार आहार: अगर आप डेंगू बुखार से पीड़ित हैं तो आपको ऐसी चीजें नहीं खानी चाहिए, जिनमें अधिक घी-तेल हो या जो तली-भुनी हुई हो। अधिक मसाले वाली चीजें भी इम्युनिटी पर बुरा प्रभाव डाल सकती हैं। डेंगू होने पर कोई भी चीज जल्दी नहीं पचती। ऐसे में अगर आप अधिक तेल या मसालेदार भोजन करेंगे तो आपको एसिडिटी,गैस आदि समस्याएं भी हो सकती हैं

चाय, कॉफी: डेंगू होने पर आपको कैफीन युक्त चीजें जैसे चाय, कॉफी आदि का सेवन करने से भी बचना चाहिए।

और पढ़ें: Scarlet fever: स्कारलेट फीवर क्या है?

अन्य उपाय

डेंगू बुखार के घरेलू उपाय केवल इस दौरान क्या खाना-पीना चाहिए, इससे ही जुड़े हुए नहीं होते। जैसा की आप जानते हैं कि डेंगू मच्छरों के कारण फैलता है। ऐसे में अगर आप मच्छरों से बचेंगे, तो आप डेंगू से भी बच सकेंगे। डेंगू बुखार के घरेलू उपाय में मच्छरों से बचाव भी शामिल है। जानिए, कैसे आप मच्छरों से बच सकते हैं:

  • मच्छरों से बचने के लिए रेपेलेंटस का प्रयोग करें, खासतौर पर जब भी घर से बाहर जाएं।
  • घर से बाहर जाने पर लंबी बाजू की टी-शर्ट और फुल पैंटस पहनें। बच्चों को भी पूरे कपड़े पहनाएं।
  • घर में एयर कंडीशन का प्रयोग करें।
  • इस बात का ध्यान रखें, कि आपके दरवाजे और खिड़कियों में कोई छेद या दरार न हो ताकि मच्छर आपके घर के अंदर न आ पाएं
  • सोते हुए नेट कर प्रयोग करें।
  • अपने घर के आसपास पानी को न जमा होने दें। अगर आपके घर में या आसपास पुरानी चीजों जैसे पुराने टायर, कैन या गमलों में पानी भरा है, तो उन्हें तुरंत वहां से हटा दें।

अगर आपको डेंगू के लक्षण नजर आएं ,तो तुरंत डॉक्टर से बात करें।

ऊपर दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। इसलिए किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Dengue fever.https://medlineplus.gov/ency/article/001374.htm. Accessed on 11.08.20

Dengue fever treatment with Carica papaya leaves extracts.https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3614241/Accessed on 11.08.20

Dengue fever.https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/dengue-fever/diagnosis-treatment/drc-20353084.Accessed on 11.08.20

Herbal remedies, vaccines and drugs for dengue fever: Emerging prevention and treatment strategies.http://www.apjtm.org/article.asp?issn=1995-7645;year=2019;volume=12;issue=4;spage=147;epage=152;aulast=Rozera.Accessed on 11.08.20

Symptoms and Treatment.https://www.cdc.gov/dengue/symptoms/index.html.Accessed on 11.08.20

Dengue home remedies:https://www.breakdengue.org/dengue-home-remedies-dont-work/.Accessed on 11.08.20

लेखक की तस्वीर badge
Anu sharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 22/08/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड