home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Ash : राख क्या है?

Ash : राख क्या है?
परिचय|उपयोग|सावधानियां और चेतावनियां|साइड इफेक्ट्स|प्रभाव|डोसेज

परिचय

एश या राख क्या है?

एश को हिंदी में राख या भभूत कहते हैं। राख का इस्तेमाल दवाओं में किया जाता है। राख को पेड़ों की छाल, लकड़ियों और पत्तियों को जला कर बनाया जाता है। सामान्य भाषा में ये कहा जा सकता है कि पेड़ के हिस्सों को जलाने के बाद जो मुलायम ठोस बचता है उसे राख या एश कह सकते हैं। राख का इस्तेमाल दवाओं में होता है इसलिए हमें कभी भी इसमें भ्रमित नहीं होना चाहिए। इसका इस्तेमाल बुखार, गठिया, वात रोग, कब्ज, फ्ल्यूड रिटेंशन आदि में किया जाता है। इसका उपयोग टॉनिक्स में भी किया जाता है।

ये काम कैसे करता है?

राख मानव शरीर में काम कैसे करता है, इसका अभी तक कोई वैज्ञानिक साक्ष्य नहीं है। जोड़ों के दर्द में कभी-कभी गर्म राख को दर्द वाली जगह पर लगाने से राहत मिलती है।

उपयोग

इसका उपयोग किस लिए किया जाता है?

राख का उपयोग कई तरह की बीमारियों में इलाज के लिए किया जाता है :

  • वात रोग (Gout) : वात रोग में शरीर में यूरिक एसिड का जमाव अधिक हो जाता है। जिससे जोड़ों या मांसपेशियों में दर्द होता है। राख को सर्सापैरिल्ला के जड़ों के साथ मिला कर खाने से खून में यूरिक एसिड की मात्रा कम होती है। राख के साथ का ये कॉम्बिनेशन डाइक्लोफेनाक की तुलना में ज्यादा सुरक्षित है। इसके अलावा अन्य कई समस्याओं में राख को इस्तेमाल करते हैं।
  • खांसी के कारण गले के दर्द में : कभी-कभी खांसी के कारण गले में दर्द हो जाता है तो गर्म राख को गले पर बांधने से या उससे सिकाईं करने से राहत मिलती है।

यह भी पढ़ें : Hawthorn: हॉथॉन क्या है?

सावधानियां और चेतावनियां

एश का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

अगर आप गर्भवती हैं या स्तनपान कराती हैं तो एश का इस्तेमाल करना आपके लिए सही नहीं हो सकता है। इसके अलावा अगर आप किसी भी तरह के दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो भी इसका सेवन करने से बचे। इसके लिए आप जब भी एश का सेवन करें तो अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से परामर्श जरूर ले लें।

इसका प्रयोग कितना सुरक्षित है?

एश के उपयोग से अभी तक किसी भी तरह का कोई साइड इफेक्ट सामने नहीं आया है। इसलिए आपके लिए सुरक्षित कहा जा सकता है। लेकिन, जब भी इसका सेवन करें तो अपने डॉक्टर की राय ले लें।

साइड इफेक्ट्स

इससे मुझे क्या साइड इफेक्ट हो सकते हैं?

अभी तक एश से किसी भी तरह के साइड इफेक्ट की पुष्टि नहीं हुई है। ये पूरी तरह से प्राकृतिक है, लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि ज्यादा से ज्यादा इसका सेवन किया जाए। किसी भी चीज का ज्यादा सेवन करने से नुकसान होना लाजमी हैं।

यह भी पढ़ें : Guava: अमरूद क्या है?

प्रभाव

इसके साथ मुझ पर क्या प्रभाव पड़ सकता है?

अभी तक किसी भी दवा के इसका विपरीत प्रभाव नहीं देखा गया है। इसलिए डॉक्टर के निर्देशन में आप इसका सेवन कर सकते हैं।

डोसेज

एश की सही खुराक क्या है?

राख की कितनी खुराक लेनी चाहिए, इसकी पुष्टि हैलो स्वास्थ्य नहीं करता है। लेकिन, आप इसे उम्र, स्वास्थ्य और अन्य जरूरी स्थितिओं के आधार पर ले सकते हैं। अभी तक इसकी खुराक पर किसी भी तरह की वैज्ञानिक पुष्टि नहीं हुई है। इसलिए अपने फार्मासिस्ट से एक बार जरूर पूछ लें।

उपलब्ध

ये किन रूपों में उपलब्ध है?

  • पाउडर
  • टैबलेट
  • टॉनिक

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Ash https://en.wikipedia.org/wiki/Ash/ Accessed on 22/12/2019

Ash (analytical chemistry) https://en.wikipedia.org/wiki/Ash_(analytical_chemistry)/ Accessed on 22/12/2019

Ash https://www.webmd.com/vitamins/ai/ingredientmono-285/ash/ Accessed on 22/12/2019

Inorganic ventures https://www.inorganicventures.com/trace-analysis-guide/ashing-procedures Accessed on 22/12/2019

Ash in Organic Compounds https://pubs.acs.org/doi/abs/10.1021/ac50142a025 Accessed on 22/12/2019

 

लेखक की तस्वीर
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Shayali Rekha द्वारा लिखित
अपडेटेड 02/10/2019
x