home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Palm Oil : ताड़ का तेल क्या है ?

परिचय|उपयोग|साइड इफेक्ट्स|प्रभाव|डोजेज|उपलब्ध
Palm Oil : ताड़ का तेल क्या है ?

परिचय

पाम ऑयल (Palm Oil) क्या है?

ताड़ का तेल यानी पाम ऑयल (Palm Oil) खाने योग्य वनस्पति तेल है। ताड़ की गरी का तेल आयल पाम के फल की गरी (बीज) से निकाला जाता है। ताड़ के तेल का रंग स्वाभाविक रूप से लाल होता है, क्योंकि इसमें बीटा कैरोटीन का एक उच्च परिमाण शामिल रहता है। यह नारियल के तेल और ताड़ के पेड़ों के फल से निकाला जाता है। इसका तेल एलएईस गुइनीन्सिस के फल की लुगदी से निकाला जाता है। यह तेल अफ्रीका, दक्षिणपूर्व एशिया और ब्राजील के कुछ भागों की मुख्य रूप से खाना पकाने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है।

यह भी पढ़ें : Aloe Vera : एलोवेरा क्या है?

कैसे काम करता है पाम ऑयल ?

यह हर्बल पूरक कैसे काम करता है, इस बारे में पर्याप्त अध्ययन नहीं किए गए हैं। अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें। हालांकि, यह ज्ञात है कि पाम ऑयल में संतृप्त और असंतृप्त वसा, विटामिन-ई और बीटा-कैरोटीन होता है। इसमें एंटी-ऑक्सिडेंट की अच्छी मात्रा पाई जाती है।

यह भी पढ़ें : Makhana : मखाना क्या है?

उपयोग

पाम ऑयल का उपयोग किस लिए किया जाता है ?

1. कैंसर के उपचार के लिए

कैंसर के उपचार में पाम ऑयल की भूमिका होती है। इसमें टेकोफेरोल नाम का एक तत्त्व पाया जाता है। ये विटामिन-ई का ही एक रूप है। पाम ऑयल प्राकृतिक एंटी-ऑक्सिडेंट के रूप में काम करता है। इससे कैंसर की कोशिकाओं को रोकने में मदद मिलती है । पाम ऑयल का नियमित सेवन आपको कैंसर के खतरे से बचा सकता है।

2. आंखों के लिए

पाम ऑयल में बहुत एंटी-ऑक्सिडेंट्स पाए जाते हैं। ये आंखों के स्वास्थ्य के लिए बेहद आवश्यक होते हैं। एंटी-ऑक्सिडेंट्स कोशिकाओं के उपापचय के लिए बेहद आवश्यक हैं। इसके अलावा एंटी-ऑक्सिडेंट्स मुक्त कणों को नष्ट करके भी आंखों से संबंधित समस्याओं का निजात करते हैं। ये मोतियाबिंद की समस्या को रोकने में भी सक्षम होते हैं।

3. गर्भावस्था के दौरान

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को पोषक तत्वों की बेहद आवश्यकता होती है। इस दौरान जच्चा-बच्चा को विटामिन की भी आवश्यकता होती है। पाम ऑयल में विटामिन ए, डी, और ई पाया जाता है। इसलिए गर्भावस्था के दौरान इसका इस्तेमाल करना चाहिए ।

4. ऊर्जा बढ़ाने में

पाम ऑयल में पाया जाने वाले पोषक तत्वों में से एक बीटा कैरोटिन भी है। पाम ऑयल का रंग लाल या नारंगी इसके कारण ही होता है। ये शरीर के ऊर्जा स्तर को सुधारने और हार्मोनल संतुलन बढ़ाने में सहायक होता है।

5. दिल के लिए है बेहद जरूरी

ह्रदय के लिए भी इसका इस्तेमाल काफी फायदेमंद होता है। क्योंकि इसमें अच्छा कोलेस्ट्रोल और खराब कोलेस्ट्रोल उच्च मात्रा में पाया जाता है। पाम ऑयल कोलेस्ट्रोल में संतुलन बनाकर ह्रदय से संबंधित समस्याओं को रोकता है।

कितना सुरक्षित है पाम ऑयल का उपयोग ?

हर्बल सप्लिमेंट के नियम एक दवा के नियमों से कम सख्त नहीं हैं। इसकी सुरक्षा का निर्धारण करने के लिए अधिक अध्ययन की आवश्यकता है। इस हर्बल सप्लीमेंट को लेने से होने वाले लाभों को उपयोग करने से पहले जोखिमों से दूर होना चाहिए। अधिक जानकारी के लिए अपने हर्बलिस्ट या चिकित्सक से परामर्श करें।खाद्य पदार्थों में पाए जाने वाले मात्रा में सेवन करने पर पाम ऑयल सुरक्षित होने की संभावना है। यह संभवतः सुरक्षित ही है जब 6 महीने तक बच्चे या वयस्कों द्वारा पाम ऑयल का दवा के रूप में इस्तेमाल लिया जाता है।

यह भी पढ़ें : मखाना खाने के फायदे, शायद नहीं होगा पता

विशेष सावधानी और चेतावनी

गर्भावस्था और स्तनपान : 6 महीने तक गर्भावस्था के दौरान दवा के रूप में लेने पर पाम ऑयल संभवतः सुरक्षित है।

साइड इफेक्ट्स

पाम ऑयल से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

भोजन की मात्रा में मुंह से लेने पर पाम ऑयल अक्सर सेफ होता है। लेकिन पाम ऑयल में एक प्रकार का वसा होता है। जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ा सकता है। इसलिए लोगों को ताड़ के तेल को अधिक मात्रा में खाने से बचना चाहिए। जब एक दवा, अल्पकालिक के रूप में इस्तेमाल किया जाता है तो पाम ऑयल संभवतः सुरक्षित होता है। 6 महीने तक रोजाना 9-12 ग्राम लेना सुरक्षित लगता है।

हर कोई इन दुष्प्रभावों का अनुभव नहीं करता है। ऊपर सूचीबद्ध नहीं होने के कुछ दुष्प्रभाव हो सकते हैं। यदि आपको साइड इफेक्ट के बारे में कोई चिंता है, तो कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

प्रभाव

यह हर्बल सप्लिमेंट आपकी वर्तमान दवाओं या चिकित्सा स्थितियों के साथ इंटरैक्ट कर सकता है। उपयोग करने से पहले अपने हर्बलिस्ट या चिकित्सक से परामर्श करें।

पाम ऑयल के साथ इंटरैक्ट करने वाले उत्पादों में शामिल हैं:

  • दवाएं जो रक्त के थक्के को धीमा करती हैं (Anticoagulant / Antiplatelet drugs)
  • पाम तेल रक्त के थक्के (Clotting) को बढ़ा सकता है। दवाओं के साथ ताड़ का तेल लेना जो कि थक्के को धीमा कर सकता है, इन दवाओं की प्रभावशीलता को कम कर सकता है।
  • कुछ दवाएं जो रक्त के थक्के को धीमा करती हैं उनमें एस्पिरिन (Aspirin), क्लोपिडोग्रेल (Clopidogrel), डिक्लोफिनेक (Diclofenac), आइबुप्रोफेन (Ibuprofen), नेप्रोक्सन और अन्य।

डोजेज

पाम ऑयल को लेने की सही खुराक क्या है?

वयस्क के लिए

विटामिन-ए की कमी को रोकने या उसका इलाज करने के लिए :

कुछ शोधों में प्रतिदिन लगभग 7-12 ग्राम लाल ताड़ के तेल का उपयोग किया गया है। कुछ सबूत बताते हैं कि प्रति दिन 8 ग्राम लाल पाम ऑयल या उससे कम का उपयोग करना सबसे अधिक फायदेमंद है।

बच्चे के लिए:

विटामिन-ए की कमी को रोकने या इलाज करने के लिए :

  • 5 साल या उससे कम उम्र के बच्चों में प्रति दिन 6 ग्राम लाल ताड़ का तेल,
  • 5 साल से अधिक उम्र के बच्चों में प्रति दिन 9 ग्राम तक का उपयोग 6 महीने तक किया गया है।
  • इसके अलावा, लगभग 9 सप्ताह के लिए प्रति सप्ताह तीन बार लाल पाम ऑयल का 14 ग्राम उपयोग किया गया है। कुछ सबूत बताते हैं कि प्रति दिन 8 ग्राम लाल पाम ऑयल या उससे कम का उपयोग करना सबसे अधिक फायदेमंद है।

यह भी पढ़ें: Vitamin O: विटामिन-ओ क्या है?

उपलब्ध

किन रूपों में उपलब्ध है?

पाम तेल निम्नलिखित खुराक रूपों में उपलब्ध हो सकता है :

  • सॉफ्टजेल 250 मिलीग्राम, 1000 मिलीग्राम
  • दूसरे सप्लिममेंट खुराक के साथ संयुक्त कैप्सूल

और पढ़ेंः-

Ashwagandha : अश्वगंधा क्या है?

चमकदार त्वचा चाहते हैं तो जरूर करें ये योग

शिशु की त्वचा से बालों को निकालना कितना सही, जानें क्या कहते हैं डॉक्टर?

कौन-से ब्यूटी प्रोडक्ट्स त्वचा को एलर्जी दे सकते हैं? जानें यहां

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Nikhil Kumar द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 16/03/2020 को
डॉ. अभिषेक कानडे के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x