backup og meta

Senna: सेन्ना क्या है?

के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड डॉ. पूजा दाफळ · Hello Swasthya


lipi trivedi द्वारा लिखित · अपडेटेड 24/12/2021

Senna: सेन्ना क्या है?

परिचय

सेन्ना(Senna) क्या है?

सेन्ना (Senna) एक पौधा है, जिसमें सफेद, गुलाबी और पीले रंग का फूल होता है। इसके पौधे उत्तरी अफ्रीका मध्य पूर्व और एशिया जैसे देशों में खूब विकसित होते हैं। रिसर्च के अनुसार इस पौधें में एंथ्राक्विनोन की मौजूदगी इसे अत्यधिक लाभकारी बनाता है। सेन्ना बिना प्रिस्क्रिप्शन के उपलब्ध होने वाला लैक्सेटिव है।कब्ज की परेशानी कम करने के लिए और कोलोनोस्कोपी जैसी  निदान तपास के पहले,आंत को साफ करने के लिए सेन्ना का उपयोग होता है।

सेन्ना का उपयोग (Uses of Senna) किस लिए किया जाता है?

सेन्ना का सेवन निम्नलिखित शारीरिक परेशानियों को दूर करने के किया जाता है। इन शारीरिक परेशानियों में शामिल है:

कब्ज- कब्ज की परेशानी को दूर करने के लिए सेन्ना लाभकारी माना जाता है। दरअसल इसमें स्टीमुलेंट लैक्सटिव उपस्थित होता है जो पेट को क्लीन करने में मददगार होता है। यह इंटेस्टाइन को एक्टिव रखने में मदद करता है। वहीं अगर कोई व्यक्ति बवासीर की समस्या से पीड़ित है तो उनके लिए भी सेन्ना लाभकारी होता है। कब्ज या बवासीर की समस्या होने पर इसे नजरअंदाज न करें या लापरवाही न बरतें। क्योंकि यह एक शारीरिक परेशानी कई अन्य शारीरिक परेशानियों की शुरुआत कर सकता है।

बाउल सिंड्रोम- सेन्ना में लैक्सटिव की मौजूदगी इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम को ठीक करने में मददगार होता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार इसके सेवन से आंतों में मौजूद विषाक्त पदार्थों को दूर किया जाता है और इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम की परेशानी भी धीरे-धीरे दूर हो जाती है।

वजन संतुलित करना- नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन (NCBI) के अनुसार सेन्ना का सेवन घरेलू उपचार में किया जाता है। सेन्ना के पत्ते से चाय बनाकर सेवन करने से वजन संतुलित हो सकता है। हालांकि रिसर्च के अनुसार अभी भी इससे जुड़े रिसर्च किये जा रहें हैं और सेन्ना के पत्तियों के चाय के साथ-साथ हेल्दी डायट और वर्कआउट करने की भी सलाह दी जाती है। अगर आप बढ़ते वजन से परेशान हैं तो इसका सेवन कर सकते हैं। लेकिन, इसके सेवन से कोई परेशानी होती है तो इसका सेवन तत्काल बंद कर दें।

हेल्दी हेयर- हेल्दी एंड शाइनी हेयर कौन नहीं चाहता। बाल बड़े हों या छोटे दोनों ही हेल्दी अच्छे लगते हैं। इसलिए सेन्ना के पत्ते बालों को घना और मजबूत बनाने के लिए बेहद फायदेमंद माने जाते हैं। हर्बल से जुड़े जानकारों की मानें तो सेन्ना के पत्ते का पाउडर बनाकर बालों में लगाने से लाभ मिलता है। इसके पत्ते को पीसकर इसके पेस्ट को सिर पर लगाने से बालों में शाइन आती है और बाल झड़ना भी ठीक हो सकता है।

सेन्ना कैसे काम करता है?

सेन्ना में ग्लाइकोसाइड नाम के केमिकल भरपूर मात्रा में होते हैं।जब खाना हजम होने के बाद आंतों में पहुंचता है ,तब ग्लाइकोसाइड मांसपेशियों को मुलायम होने में मदद करता है।इससे स्टूल की मात्रा बढती है और पेट साफ होने में मदद मिलती है।

ज्यादा जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या हेर्बलिस्ट से बात करें।

और पढ़ें: Buchu: बुचु क्या है?

उपयोग

कितना सुरक्षित है सेन्ना का उपयोग ?

गर्भावस्था और स्तनपान:

सेन्ना यदि थोडे समय के लिए खाने के तौर पर लिया जाता है तो प्रेगनेंसी और ब्रैस्ट फीडिंग के दौरान सुरक्षित है।अगर यह लम्बे समय तक और ज्यादा मात्रा में लिया जाए तो प्रेगनेंसी और ब्रैस्ट फीडिंग दोनों में असलामत है। इस दौरान,ज्यादा मात्रा में और बार बार सेन्ना का उपयोग करने से लैक्सटिव डिपेंडेंस और लिवर को हानि होना-जैसी कई गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकती है।

हालांकि, सेन्ना का थोड़ा प्रमाण दूध में जाने से ब्रेस्ट फीडिंग शिशु के उपर कोई गंभीर असर नहीं होती है। माता अगर सेन्ना का उपयोग निर्धारित मात्रा में करें,तो ब्रेस्ट फीडिंग शिशु के स्टूल पर भी कोई असर नहीं होती है।

सेन्ना के सेवन से इलेक्ट्रोलाइट डिस्टर्बेंस होने के साथ ही पोटैशियम डिफिसियेंसी की समस्या हो सकती है। इलेक्ट्रोलाइट डिस्टर्बेंस की वजह से हृदय से जुड़ी परेशानी हो सकती है।

सेन्ना के सेवन से डायरिया या लूज मोशन होने की भी संभावना बनी रहती है। डायरिया या लूज मोशन की वजह से डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है।

[mc4wp_form id=’183492″]

गेस्ट्रोइंटेस्टाइनल कंडीशन (GI) होने की स्थिति में सेन्ना का सेवन करना नुकसानदायक हो सकता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार इंटेस्टाइनल ब्लॉकेज, क्रोनस डिजीज, अल्सरेटिव कोलाइटिस, अपेंडिसाइटिस, स्टमक इंफ्लेमेशन, एनल प्रोलेप्स या हेमरॉइड्स की परेशानी और बढ़ सकती है।

और पढ़ें: Aloe Vera : एलोवेरा क्या है?

साइड इफेक्ट्स

सेन्ना से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

  • एब्डोमिनल डिस्कम्फर्ट
  • इसकी अधिक मात्रा में सेवन से बेचैनी की समस्या हो सकती है।
  • अधिक मात्रा में सेन्ना का सेवन करने से धीमा दर्द भी महसूस हो सकता है।
  • मरोड़ जैसी तकलीफ
  • बेहोशी व ग्लानि

हालांकि हर किसी को ये साइड इफेक्ट हो ऐसा जरुरी नहीं है, कुछ ऐसे भी साइड इफेक्ट हो सकते हैं, जो ऊपर बताए नहीं गए हैं। अगर आपको इनमें से कोई भी साइड इफेक्ट महसूस हो या आप इनके बारे में और जानना चाहते हैं तो नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें: Ashwagandha : अश्वगंधा क्या है?

डोसेज

सेन्ना को लेने की सही खुराक क्या है ?

यहां दी गई माहिती किसी भी डॉक्टर की सलाह का विकल्प नहीं है। सेन्ना का प्रयोग करने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें।

एडल्ट्स और १२ साल से ऊपर के बच्चों में कब्ज :

प्रतिदिन १७.२ एम जी -यह इसकी निर्धारित मात्रा है।किसी भी संजोग में ३४ से ज्यादा मात्रा में सेन्ना ना लें।

बुजुर्गो में कब्ज :

रोजाना 17 एम जी

प्रेगनेंसी में कब्ज :

दिन में दो बार १४ एम जी।कुल मिला कर 28 एम जी|

सेन्ना की खुराक हर किसी के लिए अलग-अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और शरीर की कई अन्य स्थितियों पर निर्भर करती है। सेन्ना हमेशा सुरक्षित नहीं होता है।  कृपया उचित खुराक के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

और पढ़ें: चकोतरा क्या है?

उपलब्ध

किन रूपों में उपलब्ध है?

कई अलग-अलग पौधे, फूलों, पत्ते की तरह सेन्ना के पत्ते भी अत्यधिक गुणकारी होते हैं। इसलिए सेन्ना के पत्ते को भी औषधियों की श्रेणी में रखा गया है। हालांकि अगर इसके सेवन से कोई परेशानी या एलर्जी होती है तो इसका सेवन न करें।

अगर आप सेन्ना से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड

डॉ. पूजा दाफळ

· Hello Swasthya


lipi trivedi द्वारा लिखित · अपडेटेड 24/12/2021

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement