आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

क्या आप भी है स्टेशनरी एडिक्टिव....?

    क्या आप भी है स्टेशनरी एडिक्टिव....?

    स्टेशनरी एडिक्टिव का नाम सुनते ही आपके मन में बहुत से सवाल आ रहे होंगे। अगर आप ये आर्टिकल इस वक्त पढ़ रहे हैं तो जरूर आपके पास हजारों पेन, पेंसिल, नोटबुक्स और कलर्स होंगें। भले ही आप क्रेयॉन, वाटर कलर और लिफाफों का इस्तेमाल न करते हो, लेकिन इन्हें सहेज कर आपने जरूर रखा होगा। आखिर ऐसा क्या है इन चीजों में जो आपको इन्हें खरीदने पर मजबूर कर देता है।

    दरअसल बढ़ते हुए स्टेशनरी के क्रेज को देखते हुए कई स्टेशनरी बनाने वाले हर स्टेशनरी आइटम को इच्छानुसार बनाकर भी देते हैं। अगर आप किसी स्टेशनरी की दुकान में घुसते हैं तो आप रंग -बिरंगे कलर, पेन, अलग -अलग तरह के पेपर, ग्रीटिंग्स और डायरीज का अनोखा कलेक्शन देख पाएंगें। पहले के जमाने में स्टेशनरी का उपयोग केवल ऑफिस और छात्रों के बीच प्रचलित था, लेकिन आजकल दुकानों में हर उम्र के लोगों के लिए स्टेशनरी की दुकान पर कुछ न कुछ तो जरूर मिल जाएगा। बढ़ते हुए कमर्शियलाइजेशन के दौर में स्टेशनरी के बाजार में बहुत से रूप देखने को मिलते हैं। यदि कोई स्टेशनरी एडिक्टिव होता है तो यह उसके लिए आम बात जैसी होगी, लेकिन कभी-कभी स्टेशनरी एडिक्टिव नेचर आपके लिए नुकसानदायक भी हो सकता है।

    स्टेशनरी एडिक्टिविटी

    • रंग बिरंगे कलर पेपर, स्टाइलिश पेन और पेंसिल, डायरीज और नोट पैड्स हर किसी को लुभाने के लिए काफी हैं, लेकिन आखिर क्यों आप ऐसी चीजें खरीद रहें हैं जिन्हें शायद आप कभी इस्तमाल भी न करें। अक्सर जब आप शॉपिंग के लिए जाते हैं तो हम शौक के हिसाब से कई बार अनचाही चीजें भी खरीद लेते हैं।
    • अगर आप स्टेशनरी के दीवाने लोगों को इंस्टाग्राम पर ढूंढेंगे तो संभव है आपको झटका लगेगा। इंस्टाग्राम पर #stationary addict को सर्च करने पर आपको 1,318,521 स्टेशनरी के दीवाने मिल जाएंगें। दुनिया में पाए जाने वाले कई अजीब शौक में से पेन इक्कठा करना और उसका कलेक्शन बनाना भी है।

    स्टेशनरी एडिक्टिव के लक्षण

    • कई साल से आप लगातार स्टेशनरी खरीद रहे हैं। तो अभी आपको उन्हें उपयोग करने कि जरूरत है। अभी आपको कुछ खरीदने कि जरूरत अभी नहीं है।
    • इंस्टाग्राम के माध्यम से रैंडमली स्क्रॉल करना, कुछ खूबसूरत स्टेशनरी देखना, फिर उसी के लिए घंटों खोज करना है ताकि आप इसे खरीद सकें।
    • यदि आप एक नया सुंदर पेन लाएं हैं और आप इसका उपयोग नहीं कर सकते क्योंकि यह लिखने में बहुत अच्छा नहीं है, लेकिन आप इसे फेंक भी नहीं सकते हैं क्योंकि आपको यह बेहद पसंद हैं।
    • जब आप एक नई परियोजना शुरू कर रहे हैं तो बाहर जाने और नई स्टेशनरी खरीदने की आवश्यकता है। ऐसा नहीं है कि आप पहले से ही पर्याप्त सामान अपने पास रखें हुए हैं।
    • जब आपको दूसरों के लिए स्टेशनरी उपहार खरीदने की बात आती है, तो आप इसे पसंद करते हैं, आपको 2 सेट खरीदने की आवश्यकता है क्योंकि आपको इसे भी खुद करना होगा।

    और पढ़ें: Drug addiction : ड्रग एडिक्शन क्या है?

    क्या स्टेशनरी एडिक्टिव होना दर्शाता है कोई बड़ी बीमारी है…

    सबसे पहले तो आप घबराइए मत ये कोई बीमारी नहीं है। ये स्टेशनरी दिखती ही इतनी खूबसूरत है कि कोई भी इन्हें बिना किसी कारण के खरीद लेगा, लेकिन यह कहना गलत नहीं होगा की ये एक आदत होती है, लेकिन कभी-कभी ये आदत एक गंभीर रूप ले लेती है। जिसके कुछ जोखिम आपके सामने बाद में आ सकते हैं। उदाहरण के लिए आपको समझाएं तो,मान लीजिए आप स्टेशनरी एडिक्टिव हैं। आप एक सुंदर सी स्टेशनरी देखते ही कुछ न कुछ खरीदने की लालसा में बढ़ जाते हैं, लेकिन कभी आपको किसी आर्थिक स्थिति की समस्या हो गई, लेकिन आप अपने स्टेशनरी एडिक्टिव व्यक्तिव के चलते अपने आप पर कंट्रोल नहीं कर पा रहें है तो ऐसे में आप या तो कोई गलत कदम उठाएंगे या अपने पास जो कुछ बचा हुआ है उसको भी अपने स्टेशनरी एडिक्टिव नेचर के चलते गंवा देगें।

    नोट: आपको यह समझाने का केवल इतना तर्क है कि कोई भी आदत यदि गंभीर हो जाती है तो वो आपके लिए मुश्किल पैदा कर सकती है। इसलिए ध्यान रखें अपने स्टेशनरी एडिक्टिव की आदत को कम करने की कोशिश करें, केवल जरूरत पड़ने पर अधिक सामान खरीदें।

    और पढ़ें: कहीं आपके शरीर के साथ सेहत को भी न बिगाड़ दे खाने की लत

    स्टेशनरी एडिक्टिव: क्या करें अगर आप अच्छी स्टेशनरी खरीदने के बाद सोच रहें हैं कि उसका क्या करें?

    यदि आपने बहुत सारी मंहगी स्टेशनरी खरीद ली है लेकिन अब ये समझ नहीं पा रहें हैं की उसका क्या करें, तो आपके पास कुछ ऑप्शन हैं जिससे आप आसानी से यह तय कर सकते हैं कि इन स्टाइलिश और मंहगी स्टेशनरी का आप क्या करें? सबसे पहले तो आप इस स्टाइलिश स्टेशनरी को किसी गिफ्टिंग आइटम के तौर पर उपयोग कर सकते हैं। अपने किसी खास व्यक्ति को आप इसे तोहफे के रूप में दे सकते हैं। सुंदर स्टेशनरी काफी इलीट (elite) और आकर्षक तोहफे का काम कर सकती है, लेकिन यदि आप इसे किसी को देना नहीं चाहते और अपने पास रखना नहीं चाहते तो आप इसे थोड़े कम दाम पर बेच सकते हैं।

    स्टेशनरी एडिक्टिव: क्या आईपैड और किंडल के जमाने में नोटबुक्स और डायरीज का महत्व है?

    यह कहना गलत नहीं होगा कि जमाना कितना भी बदल जाए पन्नों की महक अलग ही होती है। उनकी जगह कोई भी नया उपकरण नहीं ले सकता है। किताब पढ़नी हो या फिर कही पर कुछ लिखना हो पेन और कागज की जगह कुछ भी नहीं ले सकता। अगर प्रक्टिकली सोचा जाए तो एक सत्य ये भी है कि आई पैड और नोटपैड में से इन्फॉर्मेशन डिलीट हो सकती है, लेकिन कागज पर लिखा हुआ डाटा कभी डिलीट नहीं होगा। इसलिए अगर आप स्टेशनरी में इंवेस्ट कर रहे हैं तो आपको निराश होने की जरूरत नहीं है। ये एक समझदार और क्रिएटिव इंवेस्टमेंट है।

    स्टेशनरी एडिक्टिव: क्या स्टेशनरी एडिक्शन एक क्रोनिक विकार है?

    नहीं, यह एडिक्शन क्रोनिक विकार जैसा नहीं है। आपको बता दें कि क्रोनिक विकार एक पुरानी बीमारी, लंबे समय तक चलने वाली स्थिति है जिसे नियंत्रित किया जा सकता है, लेकिन पूरी तरह से ठीक नहीं किया जाता है। कुछ लोगों के लिए लत एक बीमारी है जिसे गहन उपचार की आवश्यकता होती है और इसके लिए लगातार देखभाल, निगरानी और परिवार या सहकर्मी की आवश्यकता पड़ती है। आपके लिए अच्छी बात ये है कि विकार का सबसे गंभीर, पुराना रूप भी मैनेज किया जा सकता है, आमतौर पर विकार के दीर्घकालिक उपचार में अधिक देखभाल की जरूरत पड़ती है।

    और पढ़ें: क्या है मानसिक बीमारी और व्यक्तित्व विकार? जानें इसके कारण

    क्या स्टेशनरी एडिक्शन ड्रग, एल्कोहॉल जैसा एडिक्शन है?

    यदि आपको किसी ने यह बात कही होगी तो संभवता वह आपको डराने की कोशिश में होगा। दरअसल स्टेशनरी एडिक्शन आपकी एक आदत या लगातार अपनाई जाने वाली आदत का हिस्सा होता है। जो आपको शारीरिक रूप से कोई नुकसान नहीं पहुंचाता है, लेकिन अगर बात करें ड्रग, एल्कोहॉल, धुम्रपान इसका एडिक्शन आपके जीवन के लिए जोखिम पैदा करता है। इसलिए दोनों में बहुत अधिक अंतर स्पष्ट किए गए हैं। यदि आप ड्रग, एल्कोहॉल, धुम्रपान जैसे किसी नशे के लत का शिकार हैं तो एक बार इससे छुटकारा पाने की कोशिश जरूर करें। यदि आप नशे की लत से आजाद होना चाहते हैं, लेकिन ये आपके लिए मुश्किल हो रहा है तो आप नशा मुक्ति केंद्र में जाकर अपनी मदद कर सकते हैं।

    अब तो आप समझ गए होंगे कि स्टेशनरी एडिक्टिव होना क्या है? अगर खुद में ऐसी आदतें विकसित होता देख रहे हैं तो सर्तक हो जाइए और इस पर नियंत्रण करने की कोशिश कीजिए। हमें उम्मीद है कि स्टेशनरी एडिक्टिव विषय पर लिखा यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। इस बारे में अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    ADDICTION AS A DISEASE

    https://www.centeronaddiction.org/what-addiction/addiction-disease

    Accessed on 20-04-2020

    Addictive personality and maladaptive eating behaviors in adults seeking bariatric surgery

    https://pubag.nal.usda.gov/catalog/868791

    Accessed on 20-04-2020

    What Is an Addictive Personality?

    drugabuse.gov/publications/drugs-brains-behavior-science-addiction/drug-misuse-addiction

    Accessed on 20-04-2020

    addiction?
    psychiatry.org/patients-families/addiction/what-is-addiction

    Accessed on 20-04-2020

    Do You Have an Addictive Personality?

    https://www.webmd.com/mental-health/addiction/features/do-you-have-addictive-personality#1

    Accessed on 20-04-2020

    Accessed on 20-04-2020

    NATIONAL DRUG HELPLINE

    http://drughelpline.org/

    Accessed on 20-04-2020

    What Is Addiction?

    https://www.psychiatry.org/patients-families/addiction/what-is-addiction

    Accessed on 20-04-2020

     

     

    लेखक की तस्वीर
    shalu द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/01/2022 को
    Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
    Next article: