home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

हर पेरेंट्स को अपने बच्चों को सिखानी चाहिए ये अच्छी आदतें

हर पेरेंट्स को अपने बच्चों को सिखानी चाहिए ये अच्छी आदतें

आपके बच्चों में अच्छी आदतों का होना उनके भविष्य को सही रास्ते पर लाता है। बच्चों में अच्छी आदतें न सिर्फ उन्हें एक अच्छा इंसान बनाएगा बल्कि, सेहत भरी जिंदगी जीने में भी मदद करता है। समय पर भोजन करना, व्यायाम करना आदि भी अच्छी आदतों में शामिल है क्योंकि यह हमें सेहतमंद रखती है। अपने बच्चों में नीचे दिए गए आठ आंदतों को जरूर डालें।

बच्चों में अच्छी आदतें: सुबह जल्दी जगने की आदत लगाएं

सुबह जल्दी उठना अधिकतर बच्चों को पसंद नहीं होता है और वे नखरे भी करते हैं, लेकिन बचपन से ही बच्चे में सुबह जल्दी उठने की आदत डाल दी जाए तो वे बड़े होकर परेशान नहीं करते हैं। सुबह उठने पर उनका दिमाग फ्रेश बना रहता है। कई शोध में ये बात भी सामने आई है कि सुबह जल्दी उठने से ​तनाव का खतरा काफी कम होता है। बच्चों को तनाव-मुक्त जीवन के लिए यह आदत ​सिखाएं। बच्चों में अच्छी आदतें (Good habits in children) अगर आप शुरू से डालेंगे, तो अच्छी आदतें डलनी शुरू हो जाएंगी

और पढ़ें : बच्चे के शरीर में प्रोटीन की कमी पर सकती है भारी, ना करें इन संकेतों को अनदेखा…

जानवरों के प्रति दयावान होना सिखाएं

उन्हें शिक्षित किया जाना चाहिए कि पशु और पक्षी जीवित प्राणी हैं जो अपने तरीके से बातें करते हैं और स्नेहशील हो सकते हैं। उन्हें उन प्राणियों के बीच अंतर करना सीखना चाहिए जो हानिकारक हैं और जो हानिकारक नहीं हैं। उन्हें हानिकारक पशुओं से दूर रहने और पालतू जानवरों के प्रति दयावान और स्नेहशील रहने सिखाएं। उन्हें इसके बारे में सिखाने के लिए टीवी पर वृत्तचित्र और पशुओं के शो दिखाएं।

समय का महत्व समझाएं

जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए समय का महत्व समझना बहुत जरूरी है। अपने बच्चे को सिखाएं कि समय का सदुपयोग कैसे करें, जैसे कि समय पर जगना, स्कूल जाना, सही समय पर खाना, अपना सभी होमवर्क समय से पूरा करना तथा समय पर सोना आदि का महत्व उन्हें समझा सकते हैं। बच्चों में अच्छी आदतें तभी शामिल होंगी, जब आप भी उनके सामने समय की बर्बादी नहीं करेंगे।

बच्चों में अच्छी आदतें: पैसों की जिम्मेदारी सिखाएं

जैसे ही आपके बच्चे इतने ज़िम्मेदार बन जाएं कि वह जाकर सामान खरीदने के लिए रुपये-पैसे का उपयोग कर सकें, तब आप उन्हें कड़ी मेहनत की कमाई के मूल्य के बारे में शिक्षित करना शुरू करें। आप अपने बच्चों को पैसे बचाने की आदत डालने के लिए उन्हें कभीकभी पॉकेट मनी दे सकते हैं या उनके साथ मिलकर गुल्लक में पैसे रख सकते हैं।

और पढ़ें : टोडलर ग्रोथ स्पर्ट्स : बच्चे की ग्रोथ के महत्वपूर्ण चरण, जानिए विस्तार से!

बच्चों में अच्छी आदत डालें, हाइजीन का महत्व सिखाएं

बच्चों में यह आदत डालें कि वह शरीर की सफाई खुद करे। दांतों की सफाई, नाखून को काटना, टॉयलेट के बाद हाथ धोना, कुछ भी खाने से पहले हैंडवाश करना, अपने कपड़ों को गन्दा ना करना जैसी कामों से आप अपने बच्चों में साफ-सफाई बनाए रखने की प्रवृति लगा सकते हैं।

बच्चों में अच्छी आदत डालें, एक-दूसरे की मदद करना

एक-दूसरे की मदद करना हमेशा हमारे लिए अच्छा होता है। बच्चों को बताएं कि दूसरे का किया मदद हमेशा किसी-न-किसी रूप में हम तक वापस पहुँचती है। इससे बच्चे के मन में दूसरों के प्रति और अपनत्व भाव होना बढ़ेगा। दूसरों के लिए सहयोग की भावना उसके जीवन के लिए महत्त्वपूर्ण साबित होगा।

बच्चों में अच्छी आदत डालें, मेडिटेशन और ध्यान करना

बच्चों को बचपन से ही मेडिटेशन की आदत लगाएं। भगवान और अध्यात्म के विषय में का ज्ञान दें। इससे बच्चे को मन और मस्तिष्क शांत रखने में मदद मिलेगी। ध्यान लगाने से एकाग्रता बढ़ेगी और बच्चों के अंदर सकारात्मक ऊर्जा संचालित होता है।

और पढ़ें : बच्चे के शरीर में प्रोटीन की कमी पर सकती है भारी, ना करें इन संकेतों को अनदेखा…

बच्चों में अच्छी आदतें: खाने के बीच में पानी ना पिएं

बच्चों की आदत होती है खाना खाते समय बीच-बीच में पानी पीने की। अगर आपके बच्चे में भी है यह आदत तो उसे ऐसा करने से रोकें। इससे पाचन क्रिया बिगड़ती है, जिससे पेट में अपच होना, गैस का बनना और ब्लड-शुगर लेवल बढ़ने जैसी समस्याएं सामने आने लगती हैं।

दीया जलाएं और प्रार्थना करें

हर दिन प्रार्थना करने की आदत डालने से बच्चों का दिमाग शांत रहता है। इसके अलाव प्रार्थना करने से बच्चों में सीखने की शक्ति, पॉजिटीव थिकिंग और एकाग्रता में सुधार होता है। इसके अलावा इससे बच्चे दिल और डिप्रेशन जैसी बीमारियों (Diseases like depression) से भी दूर रहते हैं।

बच्चों में अच्छी आदत डालें, सही गलत के बीच अंतर समझना

अपने बच्चों में उनके बचपन से ही सही और गलत को पहचानने की कला का सीख दें। सही और गलत के बीच का अंतर समझने से व्यक्ति सही निर्णय ले पाता है और खुद निर्भर रहने लगता है। बच्चों में अच्छी आदतें (Good habits in children) डालते समय खुद कभी उनके सामने गलती करने का प्रयास न करें।

जमीन पर बैठकर खाना

बच्चों में अच्छी आदतें (Good habits in children) प्रकृति से भी जुड़ी हुई हैं। मार्डेन लाइफस्टाइल के कारण आजकल ज्यादा लोग डायनिंग टेबल पर बैठकर भोजन करना पसंद करते हैं लेकिन यह सेहत के लिए उतना फायदेमंद नहीं है। जमीन पर बैठकर खाना बच्चों और बड़ों की सेहत के लिए फायदेमंद है। इसलिए अपने बच्चों को जमीन पर बैठकर भोजन करना सिखाएं। इससे डाइजेशन सिस्टम ठीक रहता है और ब्लड सर्कुलेशन भी बेहतर होता है।

और पढ़ें : बच्चे को घर पर अकेला छोड़ने से पहले उसे सिखाएं सेफ्टी टिप्स

बच्चों में अच्छी आदतें: साफ सफाई सिखाएं बच्चों को

बच्चों में अच्छी आदतें (Good habits in children) या बच्चों में गुड हैबिट एक दिन में नहीं डलती हैं। बच्चों को बचपन से ही स्वच्छता जरूर सिखाई जानी चाहिए। बच्चों के आसपास चीजों को ठीक से व्यवस्थित करके स्वच्छता सिखाना शुरू करें। जब वे चीजों को व्यवस्थित देखने के आदी हो जाएंगे, तो वे उन्हें भी उसी तरह रखना चाहेंगे। जब वे थोड़े बड़े हो जाए, तो आप उनकी सहायता कर सकते हैं और गंदगी को साफ करने और उन्हें सही तरीके से व्यवस्तित करने के लिए समय निर्धारित करें। नियमित रूप से ऐसा करने से, वह जल्द ही सीख जाएंगे और अपनी चीजों को स्वयं व्यवस्थित करने का प्रयास करेंगे।

टाइम पर खाएं खाना

बच्चों को 8 बजे खाना खिलाने के बाद जल्दी सोने के लिए कहें। आयुर्वेद के अनुसार, हर किसी को रात 8 बजे तक भोजन कर लेना चाहिए। इससे आप बच्चों को मोटापे और पाचनतंत्र से जुड़ी समस्याओं से बचा सकते हैं। इसके साथ ही इससे बच्चों को नींद भी अच्छी आती है और अगले दिन वह तरोताजा महसूस करते हैं।

बड़ों से बात करते समय गलत न बोलें

बच्चों को आपको ये बताने की जरूरत है कि बोलते समय गलत भाषा का इस्तेमाल न करें। बच्चे टीवी या फिर मोबाइल के माध्यम से कई बार गलत भाषा सीख जाते हैं और फिर वहीं भाषा दूसरों के साथ भी इस्तेमाल करते हैं। आप उन्हें बताएं कि ऐसा बोलना गंदा होता है।

सभी पेरेंट्स को अपने बच्चों में अच्छी आदतें (Good habits in children) या बच्चों में गुड हैबिट सिखानी चाहिए। अच्छी आदतों से उनमें पॉजिटिव एनर्जी बनी रहती है। बच्चों के विकास में अच्छी आदतों का बड़ा योगदान होता है।

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार उपलब्ध नहीं कराता। इस आर्टिकल में हमने आपको बच्चों में अच्छी आदतें (Good habits in children) क्या होती है, इस संबंध में जानकारी दी है। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको इस संबंध में अधिक जानकारी चाहिए, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्सर्ट्स द्वारा दिलाने की कोशिश करेंगे।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Nikhil Kumar द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 28/06/2021 को
डॉ. अभिषेक कानडे के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x