home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

बच्चों के लिए सावधानियां: घर पर अकेला छोड़ने से पहले सिखाएं सेफ्टी टिप्स

बच्चों के लिए सावधानियां: घर पर अकेला छोड़ने से पहले सिखाएं सेफ्टी टिप्स

नौकरी, पेशा और बिजनेस की वजह से लोग अपनी जड़ों को छोड़कर दूर-दूर और एक-दूसरे से भिन्न शहरों में जीवन बिताने को मजबूर हैं। इसने समाज में एकल परिवार को फैमिली का नया प्रारूप बना दिया है। कई बार इस तरह की एकल फैमिली से कई तरह की छोटी बड़ी दिक्कतों का सामना भी करना पड़ जाता है। ऐसे में जब आप घर से दूर जा रहे हों, बच्चों के लिए सावधानियां (Safety tips for children) बरतना बहुत जरूरी होता है।

दो दशक पहले परिवार का प्रारूप आज से भिन्न था। पहले जहां कई जनरेशन एक साथ एक छत के नीचे रहते हुए जीवन यापन करती थी, पेट ने इन छतों की दीवारों को दूर कर दिया। वर्तमान समय में संयुक्त परिवार (Joint Family) बहुत कम ही देखने को मिलते हैं। जो संयुक्त परिवार हैं भी, उनकी जड़ें गांवों में ही ज्यादा देखने को मिलती है, ऐसा कहने में भी कोई अतिशयोक्ति नहीं। अपनी जड़ों से दूर, परिवार से दूर सबसे अधिक परेशानी तो बच्चों को ही होती है।

और पढ़ें: पालन-पोषण के दौरान पेरेंट्स से होने वाली 4 सामान्य गलतियां

बच्चे को ये सेफ्टी टिप्स सिखाना न भूलें (Safety tips for children)

कई बच्चों के माता-पिता दोनों नौकरीपेशा में होते हैं। ऐसी स्थिति में तो कठिनाइयों की लाइन लग जाती है। बच्चों की परवरिश पर भी इससे खासा प्रभाव पड़ता है। बच्चों को बहुत कुछ सीखने का अवसर नहीं मिल पाता है। माता-पिता चिंतित होते हैं, कि कहीं उन्हें शहर से बाहर जाना हो, तो छोटे बच्चों का ख्याल कौन रखेगा?

बच्चों के लिए सावधानियां (Safety tips for children) क्या हो जो बच्चों का सुरक्षा सुनिश्चित कर सके। कई बार बच्चों को अकेले घर पर छोड़ कर जाना पड़ जाता है। यही सवाल बहुतेरे पेरेंट्स को सताते हैं। पेरेंटिंग एक्सपर्ट लीना आशेर (Lina Asher) से बातचीत पर आधारित हैलो स्वास्थ्य का यह आर्टिकल पढ़ कर आप जान पाएंगे कि बच्चों को अकेले घर पर छोड़ने के दौरान कैसी सावधानियां बरतनी चाहिए।

बच्चों के लिए सावधानियां (Safety tips for children)– कुंडी खोलना और बंद करना सिखाएं

जब आप घर में नहीं हों और बच्चे अकेले हों। तो किसी इमरजेंसी को ध्यान में रखते हुए उन्हें घर के दरवाजों की लॉक खोलना और बंद करना जरूर सिखाना चाहिए। जब पेरेंट्स घर पर नहीं होते तब ऐसी ही छोटी-छोटी बातें बच्चों के लिए बड़ी सीख दे जाती है। बच्चों के लिए सावधानियां (Safety tips for children) बरतना जरूरी है ताकि वे सुरक्षित रह सकें।

गैस के नॉब को बंद या ऑन करना सिखाएं (Teach the gas knob to turn on or off)

बच्चों के लिए सावधानियां (Safety tips for children) जरूर रखें। परिवार चाहे एकल हो या संयुक्त, खाना पकाने के बाद किचन में गैस के सभी नॉब को बंद करें। यह बच्चों के सामने करते हुए उन्हें सिखाएं। अगर बच्चा किचन में खुद से मैगी या कुछ बना लेता है, तो उसे बताएं कि खाने की चीज बनने के बाद गैस के नॉब को चेक कर लेना चाहिए। अपनी आदत में इसे शुमार कर लें और सिलेंडर की नॉब भी नीचे से बंद करें, इससे बच्चों को समझने में आसानी होगी, कि यह सुरक्षा के लिहाज से जरुरी है।

कैसे करें योग की शुरुआत, वीडियो देख लें एक्सपर्ट की राय

धारदार चीजों को नहीं छूने की हिदायत (Instruction not to touch sharp things)

घर से बाहर जाने वाले हैं और बच्चे घर मे ही रहेंगे, तो उन्हें धारदार चीजों से दूर रहना सिखाएं। जैसे: कैंची, सुई, चाकू आदि। बच्चों के लिए सावधानियां (Safety tips for children) रखना उन्हें कई बार पसंद नहीं आता, लेकिन यह जरूरी है। इलेक्ट्रॉनिक सामान को भी बच्चों की पहुंच से दूर कर रखें। किसी अलमारी में इन्हें बंद कर दें तो बेहतर रहेगा।

और पढ़ें : खतरनाक हो सकते हैं डिस्पोजेबल डायपर से होने वाले रैशेस ?

इमरजेंसी प्लान पहले से बताकर रखें (Have an emergency plan in advance)

बच्चों को घर में अकेले रहने से डर लगना आम बात है। घर पर बच्चों को अकेला छोड़ने से पहले उन्हें बताएं कि यदि उन्हें डर लगे तो क्या करना चाहिए। करीब के पड़ोसी और इमरजेंसी नंबर की जानकारी उन्हें पहले ही दे दें। उन्हें वो नंबर याद करा दें या फिर फ्रिज या किसी कमरे के दरवाजे पर पेपर पर लिखकर चिपका दें। उन्हें यह भी समझाएं कि अकेले रहने पर उन्हें स्थिति को कैसे संभालना चाहिए। बच्चों के लिए सावधानियां (Safety tips for children) बरतना उन्हें खतरों से बचाएगा।

पालतू जानवर से दूरी रखना समझा दें (Safety tips for children)

बच्चों के लिए सावधानियां (Safety tips for children) बरतने के लिए आप उन्हें बताएं कि, यदि घर में आपने पालतू जानवर जैसे कुत्ते, बिल्ली आदि रखा हो, तो बच्चे को अकेले रहने की स्थिति में उनसे सतर्क रहें। बच्चे को सिखाएं कि आपकी गैर-मौजूदगी में वे उन पालतू जानवरों को परेशान ना करें, नहीं तो अपने बचाव के लिए उनपर आक्रमण कर सकता है।

कार में बच्चों के लिए सावधानियां (Precautions for children in the car)

  • जब भी कार से शिशु को बाहर घुमाने ले जा रहे हो तो सेफ्टी सीट का जरूर ध्यान रखें।
  • सीट सेफ्टी के बारे में चाहे तो पहले से जानकारी लें, फिर बच्चे को सीट पर बिठाएं।
  • बच्चे को कार में घुमाते समय ये ध्यान रखें कि उन्हें कभी भी अपनी गोद में न बिठाएं।
  • कार में शिशुओं की सुरक्षा के लिए हमेशा ध्यान रखें कि उन्हें बैक सीट पर मिडिल में बिठाएं।
  • बच्चों की सुरक्षा के तहत उन्हें कभी भी फ्रंट पैसेंजर सीट पर न बिठाएं।
  • अगर आपको सेफ्टी सीट के लेकर कोई भी प्रश्न है तो ऑटो सेफ्टी हॉटलाइन से संपर्क कर सकते हैं।

और पढ़ें :शिशु की मालिश से हो सकते हैं इतने फायदे, जान लें इसका सही तरीका

बच्चे के पीछे बैठने पर दें ध्यान

  • बच्चा पीछे बैठा है और आप आगे तो इस बात का ध्यान रखें कि कार से उतरते वक्त उसे भी साथ में लें। कई बार पेरेंट्स बच्चों को कार से लेना भूल जाते हैं।
  • आप अपने शिशु को कार में न भूले, इसके लिए बैक सीट में पर्स, मोबाइल फोन व अन्य जरूरी सामान रख सकते हैं। ऐसा करने से आपका ध्यान बच्चे पर भी रहेगा।
  • शिशुओं की सुरक्षा के तहत कार की चाबियां या अन्य छोटा सामान उनकी पहुंच से दूर रखें। कई बार शिशु कार की चाभी को मुंह में डाल लेते हैं। बच्चे को कहीं पर भी अकेले छोड़ने की भूल न करें। बच्चे अकेले में कुछ भी काम कर सकते हैं जो उनके लिए खतरनाक साबित हो सकता है।

बच्चों को दें सही जानकारी : इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपका शिशु कितने नियमों को मानता है, लेकिन उसे अपने हेल्थ को लेकर सुरक्षित रहना जरूर आना चाहिए। इन आदतों को सिखाने के लिए बच्चों को यदि घर पर छोड़ कर जाएं तो इन बातों का ध्यान रखें,

  • आसपास शराब न हो
  • दवा आदि न हो, ताकि वो इसका सेवन न कर सकें
  • ओवर द काउंटर से दवा आदि खरीदकर सेवन न कर सकें
  • जहां बच्चे हैं वहां आसपास बंदूक आदि न हो, बच्चे चंचल होते हैं ऐसे में उसे चलाने को लेकर उनके मन में जिज्ञासा जगती है, ऐसी वस्तुओं को बच्चों की नजर से बचाकर सुरक्षित रखें
  • तंबाकू जैसे पदार्थ बच्चों की पहुंच से दूर हों
  • कार की चाबी बच्चों की पहुंच से दूर हो
  • लाइटर और माचिस बच्चों की पहुंच से दूर हो

आपको यह नहीं भूलना चाहिए कि यदि बच्चे घर पर अकेले हैं तो उनका विश्वसीय साथी आपका पालतू जानवर हो सकता है। यदि घर में आसपास पालतू जानवर है तो इससे बच्चे अपने आप को सुरक्षित महसूस करते हैं। ऐसा कर आप बच्चों को अच्छी शिक्षा दे सकते हैं।

हम उम्मीद करते हैं कि बच्चों के लिए सावधानियों (Safety tips for children) पर आधारित यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। बच्चे छोटे हो या बड़े पेरेंट्स को उनके लिए विशेष सावधानियां बरतनी चाहिए। बच्चों की सुरक्षा के बारे में अधिक जानकारी के लिए किसी चाइल्ड काउंसलर से चर्चा करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Safety Steps to Follow if Kids are Home Alone/https://www.redcross.org/about-us/news-and-events/news/Red-Cross-Offers-Safety-Tips-For-When-the-Kids-Are-Home-Alone.html/Accessed on 13/12/2019

Leaving Your Child Home Alone/https://kidshealth.org/en/parents/home-alone.html/Accessed on 13/12/2019

Protect the Ones You Love: Child Injuries are Preventable/https://www.cdc.gov/safechild/index.html/Accessed on 13/12/2019

Babies and safety/https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/healthyliving/babies-and-safety/Accessed on 13/12/2019

Safety at Home Alone: Information for Parents/
https://www.healthychildren.org/English/safety-prevention/at-home/Pages/Safe-at-Home-Alone.aspx/Accessed on 13/12/2019

लेखक की तस्वीर badge
Nikhil Kumar द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 30/06/2021 को
डॉ. अभिषेक कानडे के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x