आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Broken Nose : नाक में फ्रैक्चर क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और उपचार

परिभाषा|लक्षण|कब जाएं डॉक्टर के पास|निदान|उपचार
    Broken Nose : नाक में फ्रैक्चर क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और उपचार

    परिभाषा

    शरीर के बाकी हिस्सों की तरह ही दुर्घटना या चोट के कारण नाक में फ्रैक्चर हो सकता है जिसे नाक की हड्डी का टूटना कहा जाता है। अक्सर यह नाक ऊपर की हड्डी होती है। नाक में फ्रैक्चर के लक्षण और उपचार क्या हैं? जानिए इस आर्टिकल ।

    नाक में फ्रैक्चर (Broken nose) का क्या मतलब है?

    नाक में फ्रैक्चर या नाक टूटने का मतलब है नाक की हड्डी को जोड़ने वाले कार्टिलेज में दरार या उसका टूटना। नाक में फ्रैक्चर खेल, लड़ाई, गिरने या गाड़ी से एक्सिडेंट होने पर हो सकता है। नाक टूटने पर नाक और आंख के नीचे सूजन, नील पड़ने के साथ ही दर्द भी होता है। आपकी नाक टेढ़ी हो जाती है और आपको सांस लेने में दिक्कत होती है। नाक में फ्रैक्चर के उपचार के लिए हमेशा सर्जरी की जररूत नहीं पड़ती है।

    और पढ़ें: Encephalitis : इंसेफेलाइटिस क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

    लक्षण

    नाक में फ्रैक्चर के लक्षण

    नाक में फ्रैक्चर होने पर आपको कुछ इस तरह के लक्षण दिखते हैः

    नाक में चोट लगने या नाक में फ्रैक्चर होने पर आपकी पहली प्राथमिकता होनी चाहिए नाक से आ रहे खून को बंद करना और सूजन कम करना।

    कब जाएं डॉक्टर के पास

    कब जाएं डॉक्टर के पास?

    आपको इमरजेंसी मेडिकल सेवा की जरूरत है यदिः

    और पढ़ें : Tonsillitis: टॉन्सिलाइटिस क्या है ? जाने इसके कारण लक्षण और उपाय

    निदान

    नाक में फ्रैक्चर का निदान

    नाक में फ्रैक्चर के आपके लक्षणों की जांच के बाद डॉक्टर आपसे पूछेगा कि आपको चोट कैसे लगी और क्या पहले भी आपकी नाक टूट चुकी है या गंभीर चोट लगी है, क्या कभी नाक की सर्जरी हुई है आदि।

    इसके बाद डॉक्टर आपके नाक की जांच करता है जिसमें नाक का शेप, हड्डियों की स्थिति, क्षतिग्रस्त हिस्से की कोमलता और विकृति, नाक के परदे की जांच की जाती है। लाइट और एक उपकरण की मदद से डॉक्टर आपकी नाक के अंदरुनी हिस्से की जांच करता है कि कहीं कोई ब्लड क्लॉट, नील आदि तो नहीं है। अधिकांश मामलों में निदान के लिए और किसी टेस्ट की जरूरत नहीं पड़ती है। एक्स-रे करना हमेशा आवश्यक नहीं होता है।

    यदि नाक में फ्रैक्चर के कारण नाक में कोई विकृति आती है, नाक से हवा निकलने में बाधा आती है या ऐसे कोई लक्षण दिखते हैं जिसमें स्पेशलिस्ट की जरूरत पड़े, तो आपका डॉक्टर आपको otolaryngologist (ईयर, नोज, थ्रोट स्पेशलिस्ट) या प्लास्टिक सर्जन के पास भेज सकता है। स्पेशलिस्ट डॉक्टर उपचार से पहले कुछ टेस्ट करते हैं।

    और पढ़ें : Endometriosis: एंडोमेट्रियोसिस क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

    उपचार

    नाक में फ्रैक्चर का उपचार

    नाक में फ्रैक्चर होने पर सेल्फ केयर

    नाक में फ्रैक्चर की वजह से यदि नाक से खून आ रहा है तो आगे की तरफ झुक जाएं, इससे ब्लीडिंग रुक सकती है। यदि नाक में फ्रैक्चर मामूली है और इससे कोई दूसरी समस्या नहीं हो रही है तो आमतौर पर नाक टूटने का इलाज घर पर ही किया जा सकता है, लेकिन यदि नाक में विकृति आई है इसका शेप बदल गया है तो, घर पर उपचार करने की गलती न करें। सामान्य स्थितियों में यह उपचार घर पर किया जा सकता है जैसेः

    • नाक से खून आने पर आगे की तरफ झुक जाएं इससे खून गले में नहीं जाएगा।
    • चोट लगे हुए स्थान पर 15-20 मिनट तक आइस पैक लगाएं, ऐसा दिन में कई बार करें।
    • दर्द और सूजन कम करने के लिए मेडिकल से एसिटामिनोफेन या आइबुप्रोफेन जैसे पेन किलर ले सकते हैं।
    • छोटा घाव होने पर उसे साफ करके ड्रेसिंग कर लें।
    • सूजन कम करने के लिए सोते समय सिर को ऊपर रखें।
    • नाक को ऊपर करने से बचें।

    मेडिकल ट्रीटमेंट

    चेहरे या नाक पर बड़े घाव या कटे हुए स्थान के उपचार के लिए डॉक्टर के पास जाएं। इसे टांके और मेडिकल ड्रेसिंग से ठीक किया जाता है।

    • यदि दर्द और सूजन बहुत अधिक है तो डॉक्टर अधिक पावर वाली दर्दनिवारक दवाएं देगा।
    • जिन लोगों को गंभीर चोट या क्षति पहुंची है उन्हें मैन्युल रिआलाइन्मेंट (manual realignment) या सर्जरी की जरूरत होती है।

    मैन्युल रिआलाइन्मेंट (Manual realignment)

    क्रूक्ड नोज या नाक के फ्रैक्चर की वजह से इसका शेप बिगड़ने पर डॉक्टर हड्डियों को मैन्युली फिर से पहले वाली स्थिति में लाता है। इस प्रक्रिया से नाक पहले वाली स्थिति में आ जाती है और सांस लेने में किसी तरह की परेशानी नहीं होती। मैन्युल रिआलाइन्मेंट के दौरान डॉक्टर इनका इस्तेमाल कर सकता हैः

    • नाक के फ्रैक्चर वाले हिस्से को सुन्न करने के लिए एन्सथेटिक नेजल स्प्रे या इंजेक्शन लगाता
    • स्पेकुलम और अन्य उपकरण की मदद से टूटी हड्डियों और क्षतिग्रस्त कार्टिलेज को फिर से ठीक करता है।
    • नाक को ड्रेसिंग के जरिए पैक कर देता है ताकि हड्डियां और कार्टिलेज पुनः पहले वाली स्थिति में सेट हो जाएं।
    • संक्रमण से बचाव के लिए एंटीबायोटिक दे सकता है

    यदि नाक में फ्रैक्चर हुए 2 हफ्ते या उससे अधिक समय हो गया है तो मैनुअल रिआलाइन्मेंट नहीं किया जा सकता है। इस स्थिति में नाक को ठीक करने के लिए सर्जरी का विकल्प बचता है।

    सर्जरी

    नाक में फ्रैक्चर होने पर डॉक्टर सर्जरी की सलाह देता है यदिः

    नाक की विकृत हड्डी और टेढ़ी हुई नाक को मैनुअल रिआलाइन्मेंट से ठीक किया जा सकता है, लेकिन ऐसा सिर्फ चोट लगने के 2 हफ्ते के अंदर ही किया जा सकता है। अधिक समय होने पर सर्जरी करनी पड़ती है और कुछ मामलों में आपको सर्जरी के लिए 2-3 महीने इंतजार करना पड़ सकता है। ऐसा इसलिए ताकि इस दौरान सूजन और चोट ठीक हो जाए ताकि बाद में सर्जन हड्डियों को पुनः स्थापित कर सके।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Kanchan Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 28/07/2020 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: