backup og meta

Plantar Fasciitis : प्लांटर फेशिआइटिस क्या है? जानें इसके लक्षण, कारण और इलाज

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Dr. Pooja Bhardwaj


Shikha Patel द्वारा लिखित · अपडेटेड 01/07/2020

Plantar Fasciitis : प्लांटर फेशिआइटिस क्या है? जानें इसके लक्षण, कारण और इलाज

प्लांटर फेशिआइटिस क्या है?

प्लांटर फेशिआइटिस एक ऐसी स्थिति है, जिसमें पैर में सूजन आने की वजह से एड़ी में दर्द होता है। बता दें कि प्लांटर फेशिया पैर की हड्डी के नीचे पाया जाने वाला टिशू का एक बैंड है, जो रबर बैंड की तरह होता है। यह दर्द जब आप सुबह उठते हैं और काम करते हैं तब खासतौर पर महसूस किया जाता है।

और पढ़ेंः Bedwetting : बिस्तर गीला करना (बेड वेटिंग) क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

प्लांटर फेशिआइटिस कितना सामान्य है?

40 और 60 वर्ष की आयु के पुरुषों में प्लांटर फेशिआइटिस आम है। यह बीमारी अक्सर एथलीट्स में पाई जाती है या फिर जो बहुत दौड़ते हैं। इसके अलावा, ज्यादा वजन वाले लोगों में भी इस बीमारी के होने की संभावना अधिक होती है। इसके रिस्क ‌फैक्टर्स को कम करके इस पर नियंत्रण किया जा सकता है। अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने डॉक्टर से सलाह लें।

प्लांटर फैसीआइटिस के लक्षण क्या हैं?

 सुबह उठने के बाद जब आप चलते हैं, तब एड़ी में काफी तेज दर्द होता है जो धीरे-धीरे कम होता जाता है। अधिक गंभीर मामलों में, आपको चलते समय हमेशा दर्द होता है। कभी-कभी दर्द एड़ी से पैर की अंगुली तक फैल जाता है और एड़ी सूज जाती है।

इसके कुछ और लक्षण भी हो सकते हैं। यदि आपके पास इन संकेतों के बारे में कोई प्रश्न हैं, तो कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

और पढ़ेंः Spondylosis : स्पोंडिलोसिस क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

मुझे डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

यदि आपको ऊपर बताए गए कोई भी लक्षण दिखाई दे रहे हैं या आपका इससे जुड़ा कोई प्रश्न हैं, तो कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श करें। हर किसी का शरीर अलग तरह से कार्य करता है। अपने डॉक्टर से सलाह लेना हमेशा सबसे अच्छा होता है।

प्लांटर फेशिआइटिस के कारण क्या हैं?

प्लांटर फेशिआइटिस का कारण पैर की मांसपेशियों में आई चोट है। लंबे समय तक चलने, दौड़ने या खड़े रहने से आए खिंचाव की वजह से भी दर्द हो सकता है। इसके अलावा, लंबे समय तक अनकंफर्टेबल साइज या शेप के जूते पहनना भी प्लांटर फेशिआइटिस का कारण बन सकता है।

और पढ़ेंः Viral Fever : वायरल फीवर क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

किन कारणों से प्लांटर फेशिआइटिस का खतरा बढ़ जाता है?

  • कुछ फिजिकल एक्टिविटीज एड़ी और टिशूज पर बहुत अधिक दबाव डालती हैं, जिससे प्लांटर फेशिआइटिस का खतरा बढ़ जाता है जैसे कि दौड़ना, लंबी वॉक, बैले और एरोबिक्स।
  •  गलत तरीके से चलना भी पैरों को प्रभावित करता है और प्लांटर फेशिआइटिस का कारण बनता है।
  •  अधिक वजन पैरों की मांसपेशियों के तलवों पर अधिक दबाव डालता, इससे भी बीमारी की संभावना बढ़ जाती है।
  • फैक्ट्री में काम करने वाले लोग, अध्यापक या ऐसी ही कई और जॉब जिसमें ज्यादा देर तक खड़े रहना पड़ता है या  पर चलने की आवश्यकता होती है। ऐसे में पैर की मांसपेशियों को चोट पहुंच सकती है।

अधिक जानकारी के लिए विशेषज्ञ से परामर्श करना चाहिए।

और पढ़ेंः Knee Pain : घुटनों में दर्द क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

[mc4wp_form id=’183492″]

 प्लांटर फेशिआइटिस का पता कैसे लगाएं?

डॉक्टर शारीरिक परीक्षण करते हैं और व्यक्ति से दर्द के बारे में प्रश्न पूछते हैं। इसके अलावा, पैरों को भी चेक करते हैं। आम तौर पर इन सभी उपायों से निदान के लिए निष्कर्ष निकाल लिए जाते हैं। कुछ मामलों में अन्य परीक्षणों की भी आवश्यकता होती है, जैसे-

प्लांटर फेशिआइटिस का इलाज कैसे किया जाता है?

प्लांटर फेशिआइटिस के सामान्य उपचार में शामिल है:

  • लंबे समय तक खड़े न रहकर एड़ी पर दबाव कम करें और पैर को आराम दें।
  • वजन कम करने से भी एड़ी पर बोझ कम होता है
  • एसिटामिनोफेन और नॉन-इंफ्लेमेंटरी ड्रग्स जैसी दर्द निवारक दवाएं लक्षणों को कम करती हैं।

यदि ये उपचार काम नहीं करते हैं, तो आपको प्लास्टिक सर्जन, फिजियोथेरेपिस्ट या हड्डी रोग विशेषज्ञ को दिखाना चाहिए। आपका फिजियोथेरेपिस्ट आपको स्ट्रेन एक्सरसाइज या सिंपल मसाज के लिए गाइड कर सकता है। चिरोप्रेक्टर की मदद से एड़ी और पैर को मोड़ते समय दर्द को कम किया जा सकता है।

  • नाइट स्प्लिंट पैर को आराम देने में मदद कर सकता है।
  • एड़ी में स्टेरॉयड इंजेक्शन दर्द से राहत देने में मदद कर सकते हैं।
  • यदि दर्द लंबे समय तक रहता है, तो डॉक्टर एक्यूपंक्चर जैसे उपायों की मदद ले सकते हैं। इसके बाद भी अगर दर्द से राहत नहीं मिलती, तो डॉक्टर सर्जरी के लिए कह सकते हैं।
  • और पढ़ें : Kidney Stones : गुर्दे की पथरी क्या है?जाने इसके कारण लक्षण और उपाय

    जीवनशैली में बदलाव और घरेलू उपचार

    जीवनशैली में बदलाव और घरेलू उपचार

    निम्नलिखित जीवनशैली और घरेलू उपचार आपको प्लांटर फेशिआइटिस से निपटने में मदद कर सकते हैं:

    • अपने पैरों को आराम दें, वजन कम करें
    • जब तक आप पूरी तरह से ठीक नहीं हो जाते, तब तक कुछ समय के लिए व्यायाम करना छोड़ दें।
    • उपचार के बावजूद लक्षणों से राहत न मिलने पर अपने डॉक्टर से संपर्क करें।
    • ऐसे जूते पहनें जो आरामदायक हों आपके पैर में फिट आते हों
    • खेल खेलने या चहलने के दौरान स्पोर्ट शूज ही पहनें
    • शारीरिक गतिविधि के दौरान अपने आप को पेस करें
    • स्वस्थ आहार खाएं
    • थका हुआ महसूस करने पर आराम करें
    • प्लांटर फेशिआइटिस से प्रभावित स्थान पर बर्फ की सिंकाई कर सकते हैं, इससे दर्द में आपको काफी आराम मिलेगा। इसी तरह हीटिंग पैड से सिंकाई करने पर भी दर्द में राहत मिलती है। लेकिन, इसका इस्तेमाल करने से पहले उस पर दिए गए निर्देशों को ठीक से पढ़ें। इसे ज्यादा गर्म इस्तेमाल न करें, नहीं तो जलने का खतरा रहता है।
    • बाजार में आपको आसानी से मांसपेशियों में लगाने वाले पेन रिलीफ ऑइंटमेंट और स्प्रे मिल जाएंगे। अगर ज्यादा दर्द हो, तो इनका इस्तेमाल करें। इससे कुछ समय के लिए आपको आराम मिलेगा। लेकिन, कोशिश करें कि आप डॉक्टर के परामर्श पर ही पेन रिलीफ ऑइंटमेंट और स्प्रे का इस्तेमाल करें। 

    इस आर्टिकल में हमने आपको प्लांटर फेशिआइटिस से संबंधित जरूरी बातों को बताने की कोशिश की है। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको इस बीमारी से जुड़े किसी अन्य सवाल का जवाब जानना है, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्सर्ट्स द्वारा दिलाने की कोशिश करेंगे। अपना ध्यान रखिए और स्वस्थ रहिए।

    डिस्क्लेमर

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    Dr. Pooja Bhardwaj


    Shikha Patel द्वारा लिखित · अपडेटेड 01/07/2020

    advertisement iconadvertisement

    Was this article helpful?

    advertisement iconadvertisement
    advertisement iconadvertisement