home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Mad Cow Disease: मैड काऊ डिजीज क्या है?

परिचय |लक्षण |कारण |उपचार |जोखिम |घरेलू इलाज
Mad Cow Disease: मैड काऊ डिजीज क्या है?

परिचय

मैड काऊ डिजीज क्या है?

मैड कॉव डिसीज, या बोविन स्पोन्जिफोर्म एन्सिफेलोपेथी (बीएसई), एक संक्रामक, धीरे-धीरे बढ़ने वाली घातक बीमारी है जो वयस्क मवेशियों की सेंट्रल नर्वस सिस्टम को प्रभावित करती है। यूएस डिपार्टमेंट ऑफ़ एग्रीकल्चर (यूएसडीए) ने बीएसई के लिए 100 से हज़ारों मवेशियों को टेस्ट किया था। रिसर्चर का मानना है कि संक्रमित मरीज जो मैड काऊ डिजीज बीमारी का कारण बनते हैं, उनकी कोशिकाओं की परत में आमतौर पर असामान्य प्रोटीन का हिस्सा पाया जाता है, जिसे प्रायोन कहते हैं। कुछ कारण अभी भी पता नहीं चल पाएं हैं, ये प्रोटीन बंट जाता है और तंत्रिका प्रणाली ऊतक को खत्म कर देता है – जिसमें मस्तिष्क और स्पाइनल कॉर्ड शामिल है।

कितना सामान्य है मैड काऊ डिजीज होना?

मैड काऊ डिजीज का पहला मामला 1996 में देखा गया था। तब से, दुनिया में मैड काऊ डिजीज के कुछ मामले देखने को मिले हैं। अधिकांश मामले उन देशों में हुए हैं जो यूनाइटेड किंगडम (इंग्लैंड, स्कॉटलैंड, वेल्स और उत्तरी आयरलैंड) का हिस्सा हैं।

दिसंबर 2003 में, संयुक्त राज्य अमेरिका में एक गाय में मैड काऊ डिजीज का पता चला था। इससे पहले कि गाय को बीमारी होने का पता चलता, गाय को मार दिया गया और उसके मांस को किराने की दुकानों में बेचने के लिए भेज दिया गया। लेकिन इसके अंगों और तंत्रिका ऊतक का उपयोग मानव भोजन के लिए नहीं किया गया था।

हालांकि मैड काऊ डिजीज को मांसाहार के माध्यम से नहीं फैलाया जा सकता है, यूनाइटेड स्टेट्स डिपार्टमेंट ऑफ एग्रीकल्चर (यूएसडीए) ने जल्दी से मांस का पता लगाया और इसे किराने की दुकानों से हटा दिया।

2004 के बाद से, संयुक्त राज्य अमेरिका में केवल तीन और गायों में मैड काऊ डिजीज पाया गया है। बीएसई का सबसे ताजा मामला अप्रैल 2012 में कैलिफोर्निया की एक गाय में पाया गया था।

ये भी पढ़ें : Hepatitis-B : हेपेटाइटिस-बी क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

लक्षण

मैड काऊ डिजीज के क्या लक्षण है?

समय के साथ-साथ मैड काऊ डिजीज मस्तिष्क को नुकसान पहुंचाने का कारण बनती है। यह घातक है। मैड काऊ डिजीज के लक्षणों में शामिल हैं:

  • झनझनाहट, जलन और चेहरे, हाथ, पैर और पैरों में झुनझुनी। लेकिन इससे भी कुछ आम बीमारियां हैं जो इन लक्षणों का कारण बनती हैं। शरीर के इन हिस्सों में झनझनाहट होने का मतलब ये नहीं है कि आपको मैड काऊ डिजीज है।
  • डिमेंशिया
  • पगलपन जैसा व्यवाहर
  • शरीर के हिस्सों को हिलाने में समस्या। इससे बीमारी बिगड़ सकती है, व्यक्ति चल नहीं पाता है।
  • कोमा
  • अगर व्यक्ति संक्रमित गाय से नर्व टिश्यू का सेवन करता है, तो इससे वो तभी बीमार पड़ सकता है। शुरू होने वाले लक्षणों से होने वाली बीमारी का पता अभी नहीं चल पाया है।

ये भी पढ़ें : Stomach Tumor: पेट में ट्यूमर होना कितना खतरनाक है? जानें इसके लक्षण

कारण

मैड काऊ डिजीज होने के कारण क्या है?

एक्सपर्ट्स को अभी पता नहीं चल पाया है कि मैड काऊ डिजीज का क्या कारण है। ये बीमारी संक्रमित प्रोटीन के कारण होती है जिसे प्रायोन्स कहते हैं। प्रभावित गायों में, ये प्रोटीन मस्तिष्क, रीढ़ की हड्डी और छोटी आंत में पाया जाता है। कुछ ऐसा सबूत नहीं है कि प्रायोन्स मीट की मांसपेशियों (जैसे स्टीक) या दूध में मिलता है।

जब गाय का मीट तैयार किया जाता है, तो उसके कुछ हिस्सों का उपयोग मानव भोजन के लिए किया जाता है और अन्य भागों का उपयोग पशु आहार में किया जाता है। यदि एक संक्रमित गाय का मीट तैयार किया जाता है और उसके तंत्रिका ऊतक का उपयोग पशु आहार में किया जाता है, तो दूसरी गाय संक्रमित हो सकती हैं। अगर व्यक्ति मस्तिष्क या स्पाइनल कॉर्ड के टिश्यू का सेवन कर लेते हैं तो उसे मैड काऊ डिजीज हो सकता है।

ये भी पढ़ें : जानें ऑटोइम्यून बीमारी क्या है और इससे होने वाली 7 खतरनाक लाइलाज बीमारियां

उपचार

यहां प्रदान की गई जानकारी को किसी भी मेडिकल सलाह के रूप ना समझें। अधिक जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

मैड काऊ डिजीज का निदान कैसे किया जाता है?

ऐसा कोई टेस्ट नहीं है जिसमें मैड काऊ डिजीज का पता लगाया जा सके। डॉक्टर इस चीज से पता लगा सकता है कि व्यक्ति कहा रहता है और व्यक्ति के लक्षण क्या हैं और उसे पहले कोई रोग तो नहीं था। इमेजिंग टेस्ट, जैसे एमआरआई, से डॉक्टर व्यक्ति के मस्तिष्क में मैड काऊ डिजीज से आये बदलाव को देख सकता है। रिसर्चर मैड काऊ डिजीज की जांच करने के लिए ब्लड टेस्ट को जारी करने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन कोई ब्लड टेस्ट अभी उपलब्ध नहीं हैं। मैड काऊ डिजीज जांचने का एक ही तरीका है ब्रेन बायोप्सी।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है, अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

World Crosswords And Puzzles Day : जानिए किस तरह क्रॉसवर्ड पजल मेंटल हेल्थ के लिए फायदेमंद है

Alzheimer : अल्जाइमर क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

जोखिम

मैड काऊ डिजीज के साथ मुझे क्या समस्याएं हो सकती हैं?

  • परिवार में पहले कभी किसी को सीजेडी (Creutzfeldt–Jakob disease) होना।
  • कॉर्नियल ट्रांसप्लांटेशन कराने से ये रोग व्यक्ति में जा सकता है, ह्यूमन पिट्यूटरी डिराएवेड हॉर्मोन का एडमिनिस्ट्रेशन और सर्जिकल उपकरणों का संक्रमित होने से उसका इस्तेमाल मरीज पर करने से।
  • संक्रमित गोमांस का संग्रह जिसमें बोवनी स्पॉन्जिफॉर्म एन्सेफैलोपैथी का कारण बनता है।

ये भी पढ़ें : इन असरदार टिप्स को अपनाने के बाद दूर रहेंगी मौसमी बीमारी

घरेलू इलाज

जीवनशैली में होने वाले वदलाव क्या हैं, जो मुझे मैड काऊ डिजीज को ठीक करने में मदद कर सकते हैं?

मैड काऊ डिजीज के लिए कोई घरेलू इलाज नहीं है।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है, अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Anoop Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 28/05/2020 को
डॉ. पूजा दाफळ के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x