home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

ब्रेस्ट में जमे हुए दूध को ठीक करने के लिए 5 प्राकृतिक उपाय

ब्रेस्ट में जमे हुए दूध को ठीक करने के लिए 5 प्राकृतिक उपाय

स्तनपान कराने वाली मांओं को कई तरह की समस्याओं से गुजरना पड़ता है, जिसमें से एक है स्तनों में दूध का जमना (Clogged Milk Duct)। गौरतलब है कि स्तनों में दुग्ध ग्रंथियों (Mammary Glands) से नलियों (Duct) के द्वारा दूध निप्पल तक पहुंचता है। इन्हीं नलियों में दूध का जमना ही क्लॉग्ड मिल्क डक्ट है। हैलो स्वास्थ्य ने ब्रेस्ट में दूध जमना के संबंध में वाराणसी के सर सुंदरलाल अस्पताल (BHU) की स्त्री रोग एवं प्रसूति विशेषज्ञ डॉ. शालिनी टंडन से बाद की। उन्होनें बताया कि “स्तनपान कराने वाली ज्यादातर महिलाओं के ब्रेस्ट में दूध जमना जैसी समस्या आती है। ऐसा बच्चे को दूध न पिलाने के कारण होता है। इसके अलावा, जब बच्चा स्तन का पूरा दूध नहीं पी पाता है तो भी ऐसी समस्या आती है। क्लॉग्ड मिल्क डक्ट के कारण स्तनों से जुड़ी मैस्टाइटिस जैसी समस्या भी हो सकती है।” इस आर्टिकल के माध्यम से जानिए क्लॉग्ड मिल्क डक्ट से जुड़ी समस्या के बारे में।

और पढ़ें : स्तनपान करवाते समय न करें यह गलतियां

क्या है क्लॉग्ड मिल्क डक्ट घ(Clogged milk duct) यानी ब्रेस्ट में दूध जमना?

क्लॉग्ड (Clogged) शब्द का मतलब होता है – थक्का जमना। स्तनों की नलियों में दूध का थक्के जमने से होने वाली समस्या को क्लॉग्ड मिल्क डक्ट कहते हैं। ज्यादातर महिलाओं को यह समस्या होती है। स्तनों में दूध जमने से महिला को स्तनों में असहनीय दर्द, स्तनों में सूजन और बुखार जैसी दिक्कतें होती हैं।

क्लॉग्ड मिल्क डक्ट यानी ब्रेस्ट में दूध जमना के लक्षण क्या है?

ब्रेस्ट में दूध जमना के लक्षण नीचे बताए गए हो सकते हैं :

  • स्तनों में दूध जमने पर एक विशेष स्थान पर दर्द होना
  • स्तनों में गांठों की सूजन का पाया जाना
  • स्तनों में सूजन होना
  • स्तनों का गर्म होना
  • स्तनों से दूध का रिसना
  • निप्पल पर छोटा सफेद बिंदू दिखाई देना

इन लक्षणों से पता लगाया जा सकता है कि मां को क्लॉग्ड मिल्क डक्ट (ब्रेस्ट में दूध जमना) की समस्या है। जिसकी वजह से अन्य कई समस्याएं होती हैं।

  • स्तनों में संक्रमण के कारण बुखार आना
  • थकान होना
  • शरीर में दर्द होना
  • स्तनों में खुजली होना
  • लिम्फ नोड्स में सूजन आना

और पढ़ें : स्तनपान के दौरान वजन कम करने के हेल्दी तरीके

क्लॉग्ड मिल्क डक्ट (ब्रेस्ट में दूध जमना) होने का कारण क्या है?

क्लॉग्ड मिल्क डक्ट (ब्रेस्ट में दूध जमना) एक सामान्य समस्या है, जो स्तनपान कराने वाली ज्यादातर मांओं को होती है। ऐसा इसलिए होता है कि स्तनों से दूध पूरी तरह से निकल नहीं पाता है। जब दूध स्तनों में बच जाता है तो दुग्ध नलियों (Milk Duct) में रूक के जम जाता है। स्तनपान कराने में दिक्कत होती है और बच्चा सही से दूध पी नहीं पाता है, अधिक मात्रा में दूध का बनना आदि क्लॉग्ड मिल्क डक्ट होने के कारण हैं। इसके और भी कई कारण हैं-

  • स्तनपान कराने के समय में बदलाव करने के कारण
  • बच्चे द्वारा सही से स्तनों को न लैच करने के कारण
  • दो स्तनपान के बीच दो घंटे से ज्यादा समय का अंतराल करने के कारण
  • टाइट फिटिंग ब्रा और कपड़े पहनने के कारण भी स्तनों में दूध जमने की समस्या होती है।

और पढ़ें : कहीं स्तनपान के बाद भी बच्चा भूखा तो नहीं?

क्लॉग्ड मिल्क डक्ट के लिए घरेलू इलाज

क्लॉग्ड मिल्क डक्ट (ब्रेस्ट में दूध जमना) का इलाज खुद मां के पास है। अमूमन महिलाओं में क्लॉग्ड मिल्क डक्ट (ब्रेस्ट में दूध जमना) एक या दो दिन में घरेलू इलाज या बिना इलाज के भी ठीक हो जाता है। लेकिन, अगर स्तनों में होने वाला दर्द लगातार बना रहे तो डॉक्टर से जरूर मिलें। क्लॉग्ड मिल्क डक्ट से निजात पाने के लिए आप इन घरेलू नुस्खों को अपना सकती हैं।

  • स्तनों की सिकाई सेंधा नमक मिले गर्म पानी से लगभग 20 मिनट तक करें। आराम न होने पर इस प्रक्रिया को दोहराएं।
  • गर्म पैड्स से स्तनों की 20 मिनट तक सिकाई करें।
  • बच्चे को स्तनपान कराने की पुजिशन में बदलाव करें। बच्चे को स्तनपान ऐसे कराएं कि उसकी नाक या ठुड्डी क्लॉग्ड मिल्क डक्ट द्वारा दर्द कर रहे स्थान की तरफ हो। इससे दूध जल्दी निकलने से आपको आराम हो जाएगा।
  • बच्चे को स्तनपान आप ऐसे भी करा सकती हैं कि आपके स्तनों की पुजिशन गुरुत्वाकर्षण की तरफ हो। जिससे स्तनों में जमा दूध तेजी से और आसानी से निकल सके।
  • स्तन के जिस हिस्से में दर्द हो रहा है, वहां पर मालिश करें। मालिश अंदर से बाहर की तरफ निप्पल की तरफ करें। ऐसा करने से आपको दर्द से राहत मिलेगी।
  • स्तनों को दबा कर दूध निकालने की कोशिश बिल्कुल न करें। अगर स्तन से दूध नहीं आ रहा है, तो आप डॉक्टर से भी संपर्क कर सकती हैं।
  • आरामदायक फिटिंग की नर्सिंग ब्रा पहनें। अंडरवायर ब्रा का इस्तेमाल बिल्कुल न करें।
  • अगर स्तनों में जलन हो रही है तो ये संक्रमण हो सकता है। आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए।

क्लॉग्ड मिल्क डक्ट (ब्रेस्ट में दूध जमना) से बचाव कैसे करें?

आपके स्तनों में किस तरह का बदलाव हो रहा है, इसकी जानकारी आपको जरूर होनी चाहिए। अगर आपको स्तनों में हल्कापन या फिर भारीपन महसूस होता है, तो आपको डॉक्टर से इस बारे में परामर्श करना चाहिए। यहां हम आपको कुछ स्तनों में दूध न जमने यानी इससे संबंधित बचाव के बारे में बता रहे हैं।

  • क्लॉग्ड मिल्क डक्ट से बचाव का तरीका आपकी जागरूकता है। इसलिए आप स्तनपान कराने के लिए जागरूक रहें।
  • बच्चे को हर दो घंटों पर स्तनपान कराते रहें, जिससे स्तनों में दूध जमा होने का रिस्क ना के बराबर रहेगा।
  • दोनों स्तनों से बारी-बारी से स्तनपान कराते रहें।
  • नवजात शिशु को स्तनपान करने में 20 से 30 मिनट लग सकते हैं। इसलिए धैर्य बनाकर रखें।
  • कोशिश करें कि बच्चे को जल्दबाजी में स्तनपान न कराएं, बल्कि स्तनों के खाली होने तक दूध पिलाते रहें।

कैसे पता करें स्तनों में दूध खत्म हो गया?

आमतौर पर आपको स्तनों में भारीपन या फिर हल्कापन महसूस नहीं होता होगा। जब स्तनों में दूध जमने लगता है, तो समस्या हो सकती है। बच्चा भी सही से दूध का सेवन नहीं कर पाता है। आपको इस तरह से पता चल सकता है कि स्तनों में दूध जमा है या फिर नहीं।

  • आपको स्तन हल्के लगने लगेंगे।
  • बच्चे के दूध निगलने की आवाज सुननी बंद हो जाती है।
  • स्तन छूने में मुलायम लगने लगते हैं और उनमें दर्द भी नहीं रहता है।

क्लॉग्ड मिल्क डक्ट: डॉक्टर के पास कब जाएं?

यूं तो क्लॉग्ड मिल्क डक्ट घरेलू इलाज से ठीक हो जाता है लेकिन, ज्यादा समस्या होने पर डॉक्टर से जरूर मिलना चाहिए। जब आपको स्तनों में लगातार दर्द हो, बुखार आए, स्तनों में लालिमा और सूजन हो, दोबारा क्लॉग्ड मिल्क डक्ट की शिकायत हो तो डॉक्टर से जरूर मिलें।

क्लॉग्ड मिल्क डक्ट से बचने के लिए डिलिवरी के तुरंत बाद डॉक्टर या लेक्टेशन कंसलटेंट से स्तनपान कराने के तरीकों की जानकारी ले लें। इसके अलावा, घर में अनुभवी महिला परिजनों की भी मदद ले सकती हैं।

उम्मीद है ब्रेस्ट में दूध जमना के विषय पर लिखा गया ये आर्टिकल आपके काम आएगा। अगर आपको या आपकी किसी परिचित महिला के साथ ऐसी कोई समस्या होती है, तो आप उनके साथ इस जानकारी को शेयर कर सकते हैं, ताकि वो भी सही जानकारी पा कर सही उपचार कर सकें। आपको हमारा ये लेख कैसा लगा, हमें जरूर बताएं। इसके अलावा, अगर आपको कोई और जानकारी चाहिए तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके बाकी के सवालों के जवाब देने की भी पूरी कोशिश करेंगे।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Shayali Rekha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 20/05/2021 को
Dr. Shruthi Shridhar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x