home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

स्तनपान करवाते समय न करें यह गलतियां

स्तनपान करवाते समय न करें यह गलतियां

स्तनपान (Breastfeeding) कराते समय मां बच्चे को बहुत संभाल कर पकड़ती है। बच्चे को जरा भी तकलीफ न हो मां इन सभी बातों का ध्यान रखती है। लेकिन, स्तनपान कराते समय कई बार कुछ मां गलती (Mistake) कर देती हैं, जिसका असर शिशु के स्वास्थ्य पर पड़ता है। कभी-कभी स्तनपान कराने से बच्चे को खांसी आती है, तो मां उसे थपकी देने लगती है। आखिर ऐसा क्यों हुआ, इस पर मां का ध्यान नहीं जा पाता है। स्तनपान के दौरान (During Breastfeeding) मां कई ऐसी गलतियां करती हैं, जो उन्हें पता भी नहीं होता है। आइए हम आपको बताते हैं कि स्तनपान के दौरान मां अमूमन क्या गलतियां करती हैं, जो बच्चे की सेहत पर भारी पड़ सकती है।

स्तनपान के दौरान क्या आप भी करती हैं ये गलतियां? (Mistakes during Breastfeeding)

  • स्तनों को साफ नहीं करती हैं?
  • स्तनपान कराते समय सो जाती हैं?
  • क्या आप एक ही स्तन से दूध पिलाती हैं?
  • टाइट ब्रा पहनती हैं?
  • शोर शराबे वाले स्थान पर कराती हैं स्तनपान?
  • बच्चे को सीधा लेटा कर कराती हैं स्तनपान?

यह कुछ गलतियां हैं, जो स्तनपान करवाने वाली मां अक्सर कर बैठती है।। कहते हैं न कि हर गलती का सुधार होता है। उसी तरह इन गलतियों को सुधारने के भी तरीके हैं। जिन्हें अपनाकर आप अपने बच्चे को अच्छा स्वास्थ्य दे सकती हैं।

और पढ़ें : स्तनपान से जुड़ी समस्याएं और रीलैक्टेशन इंड्यूस्ड लैक्टेशन

स्तनपान के दौरान होने वाली गलतियां और उन्हें सुधारने के टिप्स (Tips for Breastfeeding)

क्या साफ हैं आपके स्तन? (Is your Breast clean?)

वाराणसी के सर सुंदर लाल हॉस्पिटल की स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. शालिनी टंडन ने हैलो स्वास्थ्य को बताया कि “बच्चे के अच्छे स्वास्थ के लिए मां का साफ स्तन बहुत मायने रखता है। ये आम गलती लगभग सभी मां करती हैं। मां हर बार स्तनपान कराने से पहले अपने स्तनों को साफ नहीं करती है। जिससे बच्चे को संक्रमण (Infection) होने का खतरा रहता है। इसका उपाय है कि मां हर बार स्तनपान कराने से पहले अपने स्तनों को पोछ कर साफ कर लें। फिर शिशु को स्तनपान कराए।”

और पढ़ें : ब्रेस्टफीडिंग के दौरान ब्रेस्ट में दर्द से इस तरह पाएं राहत

स्तनों के साथ निप्पल का भी रखती हैं ख्याल ?

अक्सर स्तनपान कराने के दौरान मां के निप्पल बच्चे के मसूड़ों के दबाव के कारण फट (Crack) जाते हैं। जिस पर मां ध्यान नहीं देती है और स्तनपान कराना जारी रखती है। यह करना सरासर गलत है। मां के फटे निप्पल बच्चे को बीमार करने के लिए काफी होते हैं। इसका इलाज मां को तुरंत करना चाहिए। इसके लिए वाराणसी के ओपल हॉस्पिटल की प्रसूति विशेषज्ञ डॉ. पूनम राय ने हैलो स्वास्थ्य से हुई बातचीत में बताया कि “फटे हुए स्तनों के लिए मां को तत्परता से इलाज करना चाहिए। अगर निप्पल फटने की शुरुआत है तो मां को नॉन मेडिकेटिड मॉस्चराइजर का इस्तेमाल करना चाहिए। यह बच्चे के लिए पूरी तरह से सेफ होता है। निप्पल के ज्यादा फटने पर मां को डॉक्टर से मिलना चाहिए।”

स्तनपान के दौरान झपकी आती है?

डिलिवरी (Delivery) के बाद मां के शरीर को आराम की जरूरत होती है। ऐसे में थकान के कारण नींद आना लाजमी है। कभी-कभी मां बच्चे को स्तनपान कराते हुए सो जाती है। मां को ऐसा बिल्कुल नहीं करना चाहिए। मां को स्तनपान के दौरान सजग रहना चाहिए। अगर मां को स्तनपान के दौरान नींद आ जाती है तो मां के स्तन से बच्चे की नाक दब सकती है, जिससे बच्चे को सांस लेने में परेशानी हो सकती है।

क्या बच्चे को सही तरीके से स्तनपान करवातीं हैं?

बच्चे को स्तनपान कराने का एक सही तरीका होता है। आप उस तरीके को अपनाती हैं या नहीं? बच्चे को लेट के दूध पिलाने से अच्छा है कि आप उसे बैठ कर स्तनपान कराने को प्राथमिकता दें। साथ ही अनुभवी महिलाओं से बात कर के बच्चे को सही तरीके से लैच (Latch) कराएं। अगर आप बच्चे को सही तरीके से स्तनपान नहीं कराएंगी तो बच्चे को स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।

क्या आप एक ही स्तन से बार-बार दूध पिलाती हैं?

कुछ मां अपने बच्चे को एक ही स्तन से दूध पिलाती रहती हैं। ऐसा करना गलत है। इससे मां के स्तनों में ही दिक्कतें आएंगी। दूध का निर्माण दोनों स्तनों में हो रहा है। इसलिए दोनों स्तनों से स्तनपान कराना जरूरी है। हर बार के स्तनपान (Breastfeeding) में मां को दोनों स्तनों से दूध पिलाना चाहिए। ऐसा करने से मां के स्तनों में होने वाली दर्द भी नहीं होगा और बच्चे का पेट भी भरता रहेगा।

क्या आप भी पहनती हैं टाइट ब्रा?

डिलिवरी के बाद मां के स्तन भारी हो जाते हैं। ऐसी परिस्थिति में मां को टाइट ब्रा (Tight Bra) नहीं पहननी चाहिए। टाइट ब्रा पहनने से मां के स्तनों में दूध जम जाने का जोखिम रहता है। जिससे स्तनों में दर्द भी हो सकता है। स्तन कड़े भी हो सकते हैं जिससे बच्चे को दूध पिलाने में मां को तकलीफ होगी। इसलिए टाइट ब्रा पहनने से बचे। अगर जरूरी हो तो आप ढ़ीली ढ़ाली ब्रा पहन सकती हैं, जो आपके और स्तनपान के लिए सही रहेगी। स्तनपान कराने वाली मां को मेटरनिटी नर्सिंग ब्रा की सलाह दी जाती है।

स्तनपान के लिए चुनती हैं कैसी जगह?

बच्चे को स्तनपान (Breastfeeding) कराने में जगह भी काफी मायने रखती है। बच्चों की एक फितरत होती है कि उनका ध्यान शोर और रोशनी के कारण भटकता है। ऐसे में स्तनपान कराते समय बच्चे को रोशनी और शोर शराबे वाले स्थान पर न ले कर बैठें। बच्चे का ध्यान भटक जाएगा और वह सही तरीके से स्तनपान नहीं करेगा। जिससे वह जल्द ही भूखा हो जाएगा और चिड़चिड़ा भी हो सकता है। इसलिए हमेशा कम रोशनी और शांत स्थान पर ही बच्चे को स्तनपान कराएं।

और पढ़ें : कई महीनों और हफ्तों तक सही से दूध पीने वाला बच्चा आखिर क्यों अचानक से करता है स्तनपान से इंकार

बच्चे को सीधा लेटाकर न कराएं स्तनपान?

स्तनपान कराते समय मां द्वारा बच्चे को सही से थामना चाहिए। बच्चे को सीधा लेटा कर कभी भी स्तनपान नहीं कराना चाहिए। ऐसा करने से बच्चे के सांस की नली में दूध चला जाता है और उसे खांसी (Cough) आने लगती है। ये बच्चे के लिए घातक भी हो सकता है। इसलिए आप बैठ कर बच्चे को गोंद में लें और बच्चे के सिर के नीचे हाथ लगा कर उसे थोड़ा उठा कर स्तन से लगाएं फिर स्तनपान कराना शुरू करें। ये स्तनपान कराने का सही तरीका है।

ब्रेस्टफीडिंग की जानकारी आपके पास कितनी है? जानने के लिए खेलें यह क्विज

खान पान में करती हैं लापरवाही ?

अक्सर स्तनपान कराने वाली मां शिकायत करती हैं कि बच्चे को पेट में दर्द (Stomach pain) है। बच्चे को स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हैं। ऐसी परिस्थिति में मां से लोग एक सवाल करते हैं कि कल क्या खाया था? मां जो भी खाती है वह बच्चे के शरीर में दूध के द्वारा जाता है। इसलिए मां को अपने खानपान में लापरवाही नहीं करनी चाहिए। डिलिवरी (Delivery) के 40 दिनों तक मसालेदार खाने का परहेज करना चाहिए। इससे जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ्य रहते हैं।

और पढ़ें : कामुक स्तनपान (Lactophilia) से क्या सेक्स की इच्छा प्रबल होती है? जानें इसके कारण

स्तनपान में कितनी घंटों का अंतर रखते हैं ?

अक्सर मां काम के चक्कर में बच्चे को घंटों तक दूध नहीं पिलाती है। जिससे बच्चे को सही पोषण (Nutrition) नहीं मिल पाता है। इसलिए मां को स्तनपान (Breastfeeding) कराने में बिल्कुल भी लापरवाही नहीं करनी चाहिए। बच्चे को हर दो घंटों पर स्तनपान कराते रहना चाहिए।

किसी भी मां को ये गलतियां भूल कर भी नहीं करनी चाहिए। जिससे आपके और बच्चे के स्वास्थ्य पर असर पड़ता है। मां को इन सभी गलतियों को न दोहरा कर उन्हें करने से बचना चाहिए। अगर आप चाहें तो इन समस्याओं के लिए अपने डॉक्टर से भी बात कर सकते हैं।

ब्रेस्टफीडिंग को कठिन ना समझें। हेल्थ एक्सपर्ट द्वारा नीचे दिए इस वीडियो लिंक पर क्लिक कर जानिए कैसे आप अपने शिशु को आसानी से स्तनपान करवा सकती हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Breastfeeding/https://www.healthychildren.org/English/ages-stages/baby/breastfeeding/Pages/default.aspx/Accessed on 18/03/2021

Breastfeeding/https://www.who.int/health-topics/breastfeeding#tab=tab_1/Accessed on 18/03/2021

Breastfeeding https://www.womenshealth.gov/breastfeeding/ Accessed on Accessed  on 30/11/ 2019

Stop Breastfeeding https://www.womenshealth.gov/breastfeeding/breastfeeding-home-work-and-public/weaning-your-baby/ Accessed  on 30/11/ 2019

Your Guide to Breastfeeding https://www.womenshealth.gov/files/documents/your-guide-to-breastfeeding.pdf Accessed on Accessed  on 30/11/ 2019

 

लेखक की तस्वीर
Shayali Rekha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 18/03/2021 को
Dr. Shruthi Shridhar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड