आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

ब्लोटिंग के लिए सप्लिमेंट्स (Supplements for bloating) : जान लीजिए 9 में से आपके लिए कौन सा है सुटेबल

    ब्लोटिंग के लिए सप्लिमेंट्स (Supplements for bloating) : जान लीजिए 9 में से आपके लिए कौन सा है सुटेबल

    कई लोग समय-समय पर ब्लोटिंग का अनुभव करते हैं, लेकिन लगातार ब्लोटिंग का अनुभव असुविधाजनक हो सकता है। ब्लोटिंग सामान्य तौर पर गैस बिल्डअप के कारण होता है। कई बार यह अन्य कारणों से भी हो सकता है जिसमें कब्ज (Constipation), अपच (Indigestion) और इर्रिटेबल बॉवेल सिंड्रोम (Irritable bowel syndrome) शामिल हैं। ब्लोटिंग के कई इलाज है, जिसमें एक ब्लोटिंग के लिए सप्लिमेंट्स (Supplements for bloating) भी हैं। यहां हम ऐसे 9 सप्लिमेंट्स के बारे में जानकारी दे रहे हैं जो ब्लोटिंग को दूर करने में मददगार हो सकते हैं।

    ब्लोटिंग के लिए सप्लिमेंट्स (Supplements for bloating)

    1. प्रोबायोटिक्स (Probiotics)

    प्रोबायोटिक्स लाभदायक बैक्टीरिया हैं जो गट में पाए जाते हैं। इनके कई फायदे हैं। यह फूड सोर्स और सप्लिमेंट्स दोनों के रूप में मौजूद हैं। कई स्टडीज में यह सामने आया है कि प्रोबायोटिक्स इंटेक बढ़ाने से यह गट हेल्थ को सपोर्ट करता है। एनसीबीआई (NCBI) में छपी 70 स्टडीज के अनुसार प्रोबायोटिक्स ब्लोटिंग और आईबीएस से राहत प्रदान करते हैं। ध्यान रखें ब्लोटिंग के लिए सप्लिमेंट्स चाहे वह प्रोबायोटिक हो या अन्य इसका उपयोग डॉक्टर की सलाह पर ही करें। प्रोबायोटिक्स फूड जैसे कि दही या इससे बनी चीजों का सेवन डॉक्टर की सलाह बिना भी किया जा सकता है।

    2.अदरक (Ginger)

    अदरक एक जड़ी-बूटी है जिसका उपयोग डायजेशन से जुड़ी परेशानियों के इलाज में किया जाता है। ये जी मिचलाना, उल्टी और मॉर्निंग सिकनेस के उपचार में प्रभावी है। एनसीबीआई की स्टडी के अनुसार अपच का अनुभव करने वाले लोगों में अदरक ने पेट खाली करने की दर बढ़ा दी, और यह प्रभाव ब्लोटिंग को कम करने में मदद कर सकता है। अदरक ने आंत में सूजन को कम करके IBS के लक्षणों में काफी सुधार किया है। ब्लोटिंग के लिए सप्लिमेंट्स (Supplements for bloating) की लिस्ट में इसे भी शामिल किया जा सकता है।

    और पढ़ें: Bloating And Gas: ब्लोटिंग और गैस से छुटकारा पाने के लिए क्या करें?

    3.पेपरमिंट ऑयल (Peppermint oil)

    ब्लोटिंग के लिए सप्लिमेंट्स में पेपरमिंट ऑयल का उपयोग भी किया जा सकता है। पेपरमिंट ऑयल एक हर्बल सप्लिमेंट है जो अपनी एंटीऑक्सिडेंट और एंटी इंफ्लामेटरी प्रॉपर्टीज के लिए जाना जाता है। इसमें एल मेंथॉल भी पाया जाता है जो इंटेस्टाइन्स में मसल स्पाज्म को कम करने में मदद करता है जिससे डायजेस्टिव परेशानियों का इलाज करने में मदद मिलती है। एनसीबीआई में छपी कई स्टडीज में पेपरमिंट ऑयल को आईबीएस के कई लक्षणों को कम करने के लिए उपयोगी दिखाया गया है, जिसमें ब्लोटिंग और पेट दर्द शामिल है। यह स्पष्ट नहीं है कि पेपरमिंट ऑयल उन लोगों में ब्लोटिंग को कम करता है या नहीं जिनको आईबीएस नहीं है।

    ब्लोटिंग के लिए सप्लिमेंट्स

    4.दालचीनी का तेल (Cinnamon oil)

    दालचीनी के तेल का व्यापक रूप से पारंपरिक चिकित्सा में उपयोग किया जाता है, जिसमें ब्लोटिंग सहित विभिन्न प्रकार की पाचन बीमारियों का इलाज किया जाता है। ब्लोटिंग के लिए सप्लिमेंट्स (Supplements for bloating) में सिनामन ऑयल प्रमुख है। एक एनसीबीआई के एक हालिया अध्ययन से पता चला है कि दालचीनी के तेल का कैप्सूल लेने से प्लेसीबो की तुलना में 6 सप्ताह के बाद अपच के लक्षणों में काफी कमी आई है। हालांकि, जबकि प्रतिभागियों ने ब्लोटिंग में कमी का अनुभव किया।

    दालचीनी के तेल में कई एंटी इंफ्लामेटरी कपाउंड होते हैं जो अपच के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकते हैं, लेकिन अभी अधिक शोध की आवश्यकता है।

    5.डायजेस्टिव एंजाइम्स (Digestive enzymes)

    पाचक एंजाइम उचित पाचन को बढ़ावा देने के लिए खाद्य पदार्थों में मौजूद पोषक तत्वों को छोटे यौगिकों में तोड़ने में मदद करते हैं। यद्यपि हमारा शरीर स्वाभाविक रूप से पाचन एंजाइमों का उत्पादन करता है, लेकिन कुछ मामलों में पाचक एंजाइम सप्लिमेंट्स का उपयोग करने से ब्लोटिंग को कम करने में मदद मिल सकती है।

    एनसीबीआई एक छोटे से अध्ययन से पता चला है कि पाचक एंजाइम सामान्य गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल परेशानियाें जैसे ब्लोटिंग, मतली और अपच के इलाज में एक चिकित्सकीय दवा के रूप में प्रभावी थे। कुछ पाचन एंजाइम्स, जैसे लैक्टेज, लैक्टोज इंटॉलरेंस वाले लोगों में लक्षणों को रोकने में भी मदद कर सकते हैं। ब्लोटिंग के लिए सप्लिमेंट्स के तौर पर डायजेस्टिव एंजाइम्स का यूज करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

    और पढ़ें: एब्डोमिनल ब्लोटिंग और पीठ दर्द में है गहरा कनेक्न, इसके उपचार के बारे में जानिए यहां

    6.ईसबगोल की भूसी (Psyllium husk)

    ईसबगोल प्लांटागो ओवाटा नामक पौधे से प्राप्त किया जाता है। अक्सर सप्लिमेंट्स के रूप में पाया जाता है, यह स्टूल को बल्की बनाकर कब्ज दूर करने में मदद करता है जो ब्लोटिंग का एक सामान्य कारण है। इसके अलावा, एनसीबीआई की एक एनिमल स्टडी से पता चला है कि ईसबगोल ने आंतों की सूजन को काफी कम कर दिया है, जो ब्लोटिंग और पाचन संबंधी मुद्दों को दूर करने में मदद कर सकता है। ब्लोटिंग के लिए सप्लिमेंट्स (Supplements for bloating) में ईसबगोल की भूसी को भी शामिल किया जा सकता है।

    7.विटामिन डी (Vitamin D)

    ब्लोटिंग के लिए सप्लिमेंट्स की लिस्ट में विटामिन डी का नाम पढ़कर आपको आश्चर्य हो सकता है, लेकिन आपको बता दें कि विटामिन डी और ब्लोटिंग का कनेक्शन पुराना है। यदि आप में विटामिन डी की कमी है, तो विटामिन डी सप्लिमेंट्स लेना विटामिन डी को बढ़ाने का एक आसान तरीका हो सकता है – और यह संभावित रूप से ब्लोटिंग को रोक सकता है। एनसीबीआई की एक स्टडी में सामने आया कि आईबीएस वाले 90 लोगों में 6 महीने तक हर दो सप्ताह में 50,000 आईयू विटामिन डी लेने से पेट दर्द, ब्लोटिंग, गैस और अन्य जठरांत्र संबंधी लक्षणों में महत्वपूर्ण सुधार हुआ। यह समझने के लिए अतिरिक्त अध्ययन की आवश्यकता है कि विटामिन डी का डोज ब्लोटिंग को कैसे प्रभावित कर सकता है, खासकर बिना कमी वाले लोगों में। ध्यान रखें किसी प्रकार के सप्लिमेंट का उपयोग डॉक्टर की सलाह के बिना न करें।

    और पढ़ें: गैस और ब्लोटिंग की समस्या से हैं परेशान, तो हो सकता है हाइपोक्लोरहाइड्रिया

    8.डैंडेलियन या केमोमाइल (Dandelion or chamomile)

    ब्लोटिंग के लिए सप्लिमेंट्स (Supplements for bloating) में डेंडेलियन या केमोमाइल टी को भी शामिल किया जा सकता है। कई बार डायट में नमक का अधिक मात्रा में उपयोग करने से फ्लूइड रिटेंशन और ब्लोटिंग की समस्या हो जाती है। सॉल्ट इंड्यूस्ड ब्लोटिंग होने पर एक कप डैंडेलियन या कैमोमाइल चाय जो कि जड़ी बूटी के रूप में भी उपलब्ध है पीने से आराम मिलता है। ये दोनों नैचुरल डायरेटिक्स की तरह काम करते हैं और सिस्टम में मौजूद पानी को निकालने में मदद करते हैं।

    9.सौंफ (Fennel)

    ब्लोटिंग के लिए सप्लिमेंट्स

    ब्लोटिंग के लिए सप्लिमेंट्स की लिस्ट में यदि आप सिर्फ नैचुरल चीजों का ही इस्तेमाल करना चाहते हैं तो सौंफ आपके लिए फायदेमंद हो सकती है। इसमें एंटी इंफ्लामेटरी प्रॉपर्टीज पाई जाती हैं जो इंटेस्टाइन मसल्स को रिलैक्स करके ट्रैप्ड गैस को निकलने में मदद करती हैं।

    और पढ़ें: ब्लोटिंग और प्रीबायोटिक्स: क्या है इनका आपस में तालमेल?

    ब्लोटिंग से बचने के टिप्स (Tips for preventing bloating)

    शुरुआत के लिए, सुनिश्चित करें कि आप धीरे-धीरे खाएं और अपने भोजन को अच्छी तरह चबाएं। यह गैस निर्माण का कारण बनने वाली आपके द्वारा निगली जाने वाली हवा की मात्रा को कम करने में मदद कर सकता है। यह पहचानने के लिए कि क्या कुछ खाद्य पदार्थ आपके पाचन संबंधी समस्याओं जैसे कि ब्लोटिंग और कब्ज का कारण बन रहे हैं भोजन के सेवन पर नजर रखनी होगी। उदाहरण के लिए, ऐसे खाद्य पदार्थ जिसमें फर्मेंटेड ओलिगोसेकेराइड, मोनोसेकेराइड और पॉलीओल्स (एफओडीएमएपी) अधिक मात्रा में पाया जाता है जैसे कि बीन्स, डेयरी उत्पाद और लहसुन – कुछ लोगों में गैस और ब्लोटिंग जैसे पाचन लक्षणों को ट्रिगर कर सकते हैं उनसे बचना होगा।

    • अन्य सामग्री जो आमतौर पर सूजन का कारण बनती हैं उनमें शुगरी एल्कोहॉल ड्रिंक्स, फूलगोभी पत्तागोभी, ब्रोकली जैसी सब्जियां, कार्बोनेटेड पेय और बीयर शामिल हैं।
    • भरपूर नींद और नियमित व्यायाम करना भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि अध्ययनों से पता चलता है कि नींद की कमी और शारीरिक निष्क्रियता दोनों ही पाचन स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकते हैं और ब्लोटिंग का कारण बन सकते हैं या इसको और बिगाड़ सकते हैं।

    उम्मीद करते हैं कि आपको ब्लोटिंग के लिए सप्लिमेंट्स (Supplements for bloating) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    health-tool-icon

    बीएमआर कैलक्युलेटर

    अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

    पुरुष

    महिला

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Effect of vitamin D on gastrointestinal symptoms and health-related quality of life in irritable bowel syndrome patients: a randomized double-blind clinical trial/
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/27154424/ Accessed on 9/05/2022

    Low FODMAP Diet: Evidence, Doubts, and Hopes/
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/31947991/Accessed on 9/05/2022

    Belching, gas and bloating: Tips for reducing them/
    https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/gas-and-gas-pains/in-depth/gas-and-gas-pains/art-20044739/Accessed on 9/05/2022

    Abdominal bloating/
    https://medlineplus.gov/ency/article/003123.htm/Accessed on 9/05/2022

    5 Foods to Improve Your Digestion/
    https://www.hopkinsmedicine.org/health/wellness-and-prevention/5-foods-to-improve-your-digestion/Accessed on 9/05/2022

    Probiotics/ https://my.clevelandclinic.org/health/articles/14598-probiotics/Accessed on 9/05/2022

     

    लेखक की तस्वीर badge
    Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 09/05/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: