गैस्ट्रोपैथी (Gastropathy) : पेट से संबंधित इन कंडिशन के बारे में कितना जानते हैं आप!

    गैस्ट्रोपैथी (Gastropathy) : पेट से संबंधित इन कंडिशन के बारे में कितना जानते हैं आप!

    गैस्ट्रोपैथी (Gastropathy) एक मेडिकल टर्म है जिसे स्टमक डिजीज (Stomach disease) के लिए उपयोग किया जाता है जो पेट की म्युकोसल लाइनिंग (Mucosal lining) को प्रभावित करती हैं। गैस्ट्रोपैथी के कई प्रकार हैं, कुछ से नुकसान नहीं होता तो कुछ गंभीर होते हैं। अगर आपको पहले से पेट से संबंधित कोई परेशानी है तो जरूरी है कि डॉक्टर से अपॉइटमेंट लें। वे अंतर्निहित कारण का पता लगाकर कंडिशन का इलाज करना शुरू करेंगे। इस आर्टिकल में गैस्ट्रोपैथी के लक्षण और प्रकार के बारे में बताया जा रहा है।

    गैस्ट्रोपैथी के लक्षण (Gastropathy Symptoms)

    गैस्ट्रोपैथी के लक्षण इसके कारण पर निर्भर करते हैं। कई प्रकार की कंडिशन्स अलग-अगल प्रकार के लक्षणों का कारण बन सकती हैं। जिसमें निम्न शामिल हैं।

    • जी मिचलाना
    • उल्टी
    • डायरिया
    • क्रैम्पिंग
    • एब्डोमिनल पेन
    • भूख की कमी
    • वजन कम होना
    • हार्टबर्न
    • खाना खाने के बाद पेट भारी होने का एहसास
    • गैस बनना
    • अपच होना
    • ब्लोटिंग
    • एसिड रिफ्लक्स
    • चेस्ट पेन

    गैस्ट्रोपैथी के विभिन्न प्रकार क्या हैं? (What are the different types of Gastropathy?)

    गैस्ट्रोपैथी के कई संभावित कारण हैं। कंडिशन्स जो गैस्ट्रोपैथी का कारण बन सकती हैं उनमें निम्न शामिल हैं।

    और पढ़ें: गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल परफोरेशन की समस्या इन कारणों से होती है, जानिए यहां….

    गैस्ट्राइटिस (Gastritis)

    गैस्ट्रोपैथी का कारण बनने वाली कंडिशन में सबसे पहले आती है गैस्ट्राइटिस। यह पेट की लाइनिंग में होने वाली सूजन है। यह अक्सर हेलिकोबैक्टर पाइलोरी (Helicobacter pylori) के संक्रमण के कारण होती है। हालांकि, यह अत्यधिक शराब के सेवन और कुछ दवाओं के कारण भी हो सकती है। यह अचानक से या धीरे-धीरे विकसित हो सकती है और जब अनुपचारित छोड़ दिया जाता है, तो यह पेट में अल्सर की वजह बन सकती है।

    गैस्ट्रोपेरिसिस (Gastroparesis)

    गैस्ट्रोपेरिसिस एक ऐसी स्थिति है जिसमें पेट की मांसपेशियां पाचन तंत्र के माध्यम से भोजन को ठीक से आगे पुश नहीं करती हैं। इसका मतलब है कि आपका पेट अपने आप खाली नहीं हो सकता, जो पाचन प्रक्रिया को धीमा या रोक भी सकता है। जब ऐसा होता है, तो व्यक्ति को पेट अत्यधिक भरा हुआ महसूस होता है और वह खुद को बीमार महसूस कर सकता है, भले ही उसने हाल ही में कुछ न खाया हो। गैस्ट्रोपेरेसिस अक्सर डायबिटीज (Diabetes) जैसी पुरानी स्थितियों के कारण होने वाले न्यूरोलॉजिकल डैमेज (Neurological damage) से जुड़ा होता है। यह भी गेस्ट्रोपैथी का कारण बन सकता है।

    गैस्ट्रोएंटेराइटिस (Gastroenteritis)

    गैस्ट्रोएंटेराइटिस पेट के कीड़े या पेट के फ्लू के लिए एक और शब्द है। यह आमतौर पर एक वायरल या जीवाणु संक्रमण के कारण होता है। यह आमतौर पर दूषित भोजन या इस स्थिति वाले किसी अन्य व्यक्ति के वायरस या बैक्टीरिया के संपर्क में आने से फैलता है।

    पेप्टिक अल्सर (Peptic ulcer)

    पेप्टिक अल्सर एक घाव है जो आपके पेट के म्यूकोसल लाइनिंग या छोटी आंत के ऊपरी भाग पर विकसित होता है, जिसे ड्यूडेनम (Duodenum) कहा जाता है। वे आमतौर पर एच. पाइलोरी संक्रमण (H. pylori infection) के कारण होते हैं। ओवर-द-काउंटर दवाएं, जैसे एस्पिरिन और आइबुप्रोफेन का अधिक उपयोग भी उन्हें पैदा कर सकता है। पेप्टिक अल्सर भी गैस्ट्रोपैथी को जन्म दे सकता है।

    पेट का कैंसर (Stomach cancer)

    पेट का कैंसर पेट के हिस्से में बढ़ने लगता है। अधिकांश पेट के कैंसर एडेनोकार्सिनोमा (Adenocarcinomas) होते हैं, जो आपके पेट की अंदरूनी परत में बनने लगते हैं।

    और पढ़ें: पेट दर्द और कब्ज: कैसे मिल सकती हैं इन दोनों कंडिशंस से निजात, जानिए

    पोर्टल हायपरटेंसिव गैस्ट्रोपैथी (Portal hypertensive gastropathy)

    पोर्टल हायपरटेंसिव गैस्ट्रोपैथी पोर्टल वेन्स में हाय ब्लड प्रेशर के कारण होने वाला कॉम्प्लिकेशन है। जो लिवर में ब्लड ले जाती हैं। स्टमक लाइनिंग के ब्लड फ्लो में रुकावट से यह क्षति की चपेट में आ सकता है। पोर्टल हायपरटेंसिव गैस्ट्रोपैथी कभी-कभी लिवर सिरोसिस से भी संबंधित हो सकती है।

    गैस्ट्रोपैथी का निदान कैसे किया जाता है? (Gastropathy diagnosis)

    यदि गैस्ट्रोपैथी के लक्षण दिखाई देते हैं, तो डॉक्टर कई परीक्षण कर सकते हैं जो अंतर्निहित कारण का पता लगाने में मदद कर सकते हैं। इसमें शामिल हैं :

    एंडोस्कोपी (Endoscopy)

    डॉक्टर आपके पाचन तंत्र के ऊपरी हिस्से की जांच करने के लिए एंडोस्कोप का उपयोग करेगा, जिसके आखिर में कैमरे के साथ एक लंबी ट्यूब होती है। एच. पाइलोरी परीक्षण (H pylori examination)। डॉक्टर एच. पाइलोरी बैक्टीरिया की जांच के लिए स्टूल और ब्रीद सैम्पल ले सकते हैं।

    अपर गेस्ट्रोइंटेस्टिनल सीरीज (Upper Gastrointestinal Series)

    इसमें बेरियम नामक पदार्थ पीने के बाद एक्स-रे लेना शामिल है, जो एक तरल है जो डॉक्टर को आपके ऊपरी जठरांत्र संबंधी मार्ग को देखने में मदद करता है।

    गैस्ट्रिक खाली करने का अध्ययन (Gastric emptying study)

    इसमें मरीज को एक छोटा मील दिया जाएगा जिसमें थोड़ी मात्रा में रेडियोधर्मी मटेरियल होगा। इसके बाद, वे उस गति को ट्रैक करने के लिए एक स्कैनर का उपयोग करेंगे जिस गति से रेडियोधर्मी सामग्री आपके पाचन तंत्र से गुजरती है।

    अल्ट्रासाउंड (Ultrasound)

    डॉक्टर पेट पर एक ट्रांसड्यूसर रखेगा। छड़ी ध्वनि तरंगें उत्पन्न करती है जिसे कंप्यूटर आपके पाचन तंत्र की छवियों में बदल देता है।

    और पढ़ें: बैक्टीरियल गैस्ट्रोएंटेराइटिस ट्रीटमेंट के बारे में यह जानकारी है महत्वपूर्ण

    एंडोस्कोपिक अल्ट्रासाउंड (Endoscopic ultrasound)

    इसमें एक ट्रांसड्यूसर वैंड को एंडोस्कोप से जोड़ना और इसे अपने मुंह के माध्यम से आपके पेट में फीड करना शामिल है। यह आपके पेट की परत की एक स्पष्ट छवि देता है।

    बायोप्सी (Biopsy)

    यदि डॉक्टर को संदेह है कि आपको कैंसर हो सकता है, तो वे एंडोस्कोपी के दौरान ऊतक का एक छोटा सा नमूना लेंगे और कैंसर कोशिकाओं के लिए इसकी जांच करेंगे।

    गैस्टोपैथी का इलाज (Gastropathy treatment)

    गैस्ट्रोपैथी उपचार इस बात पर निर्भर करता है कि मरीज की स्थिति का कारण क्या है। अधिकांश कारणों के लिए जीवनशैली में बदलाव, दवा, सर्जरी या इनमें से एक संयोजन की आवश्यकता होती है।

    जीवन शैली में परिवर्तन

    गैस्ट्रोपैथी (Gastropathy)

    अपनी कुछ दैनिक आदतों को बदलने से पेट की स्थिति के लक्षणों को प्रबंधित करने में मदद मिल सकती है। आपका डॉक्टर अनुशंसा कर सकता है कि आप:

    दवाई (Medicines)

    आपके गैस्ट्रोपैथी के कारण के आधार पर डॉक्टर प्रिस्क्रिप्शन या ओवर-द-काउंटर दवाओं की सिफारिश कर सकता है। कुछ दवाएं गैस्ट्रोपैथी के अंतर्निहित कारण का इलाज करने के लिए काम करती हैं, जबकि अन्य आपको लक्षणों को प्रबंधित करने में मदद करती हैं। गैस्ट्रोपैथी उपचार में शामिल दवाओं में शामिल हैं:

    • एंटासिड्स (Antacids)
    • प्रोटॉन पंप इंहिबिटर्स (Proton Pump inhibitors)
    • एंटीबायोटिक दवाएं (Antibiotics)
    • डायबिटीज की दवाएं (Diabetes medicines)
    • ब्लड प्रेशर की दवाएं (Blood Pressure medicines)
    • कीमोथेरपी (Chemotherapy)
    • हिस्टामाइन ब्लॉकर्स (Histamine blockers)
    • पेट की परत की रक्षा के लिए साइटोप्रोटेक्टिव एजेंट (Cytoprotective agents)
    • पेट की मांसपेशियों को उत्तेजित करने के लिए दवाएं
    • मतली विरोधी दवाएं (Anti-nausea medications)

    और पढ़ें: गैस्ट्रोइंटेराइटिस की समस्या को करना है बाय, तो फॉलो करें ये ड्रिंक्स एंड डायट

    सर्जरी (Surgery)

    अधिक गंभीर प्रकार की गैस्ट्रोपैथी (Gastropathy), जैसे कि कैंसर, के लिए सर्जरी की आवश्यकता होती है। यदि आपको पेट का कैंसर है, तो डॉक्टर शल्य चिकित्सा के द्वारा जितना संभव होगा उतने कैंसरयुक्त ऊतक को हटा सकते हैं। कुछ मामलों में, वे आपके पेट का पूरा या कुछ हिस्सा निकाल सकते हैं।

    उम्मीद करते हैं कि आपको गैस्ट्रोपैथी (Gastropathy) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Gastritis/my.clevelandclinic.org/health/diseases/10349-gastritis/ Accessed on 23/03/2022

     Gastropareses/ https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/gastroparesis/symptoms-causes/syc-20355787/Accessed on 23/03/2022

    Upper GI series/niddk.nih.gov/health-information/diagnostic-tests/upper-gi-series/Accessed on 23/03/2022

    What is stomach cancer?/cancer.org/cancer/stomach-cancer/about/what-is-stomach-cancer.html/Accessed on 23/03/2022

    Portal hypertensive gastropathy/ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3099324/Accessed on 23/03/2022

    लेखक की तस्वीर badge
    Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 23/03/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड