आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Episode-6 : प्रेग्नेंसी दौरान होने वाली जेस्टेशनल डायबिटीज के साथ बढ़ जाते हैं कॉम्प्लिकेशन

Episode-6 : प्रेग्नेंसी दौरान होने वाली जेस्टेशनल डायबिटीज के साथ बढ़ जाते हैं कॉम्प्लिकेशन

प्रेग्नेंसी की गुड न्यूज के साथ मुंह मीठा करना तो बनता ही है। लेकिन कई ऐसी प्रेग्नेंट महिलाएं भी होती हैं, जिनका प्रेग्नेंसी की गुड न्यूज के साथ मीठा खाना बिल्कुल बंद हो जाता है। हम बात कर रहे हैं, जेस्टेशनल डायबिटीज (Gestational diabetes) की, जो कि प्रेग्नेंट महिलाओं को होती है। इस प्रकार की डायबिटीज के साथ प्रेग्नेंसी में कई तरह के कॉम्पिलकेशन बढ़ जाते हैं। तो आइए, इस ‘वर्ल्ड डायबिटीज डे’ पर हमारे साथ जुड़िए हमारी सिरीज ‘स्वाद से मीठा गया है, जिंदगी से नहीं’ से। यह सीरीज खास उनके लिए है, जो डायबिटिक हैं और ये सोचते हैं कि अब डायबिटीज हो जाने के बाद वो पहले जैसी जिंदगी नहीं जी सकते हैं। तो इसमें हम जुड़ेंगे कुछ ऐसे ही डायबिटीक पेशेंट्स से, जिन्होंने हमारे साथ अपना लाइफस्टाइल और अनुभव शेयर किया है। जिसमें हम जानेंगे कि वो किस तरह से डायबिटिक होने के बाद भी अपनी लाइफ को अच्छे से जीते हैं और खुद को फिट रखने की कोशिश करते हैं। हमारे इस छठे एपिसोड में हैं, लखनऊ की रहने वाली शिखा शर्मा, जो कि एक हाउस वाइफ हैं। इन्होंने हमें बताया कि प्रेग्नेंसी के दौरान डायबिटीक मरीज होने के बाद इनकी लाइफ में क्या-क्या बदलाव आए हैं और किस तरह से वाे अपनी बीमारी को मैनेज करते हुए अपनी प्रेग्नेंसी को यादगार बना रही हैं। आइए जानें, इनकी कहानी, इन्हीं की जुबानी –

Q-1. चलिए, नाम से शुरू करते हैं!

जी बिल्कुल, मेरा नाम शिखा शर्मा है और मैं एक हाउस वाइफ हूं।

Q-2. आपकी उम्र क्या है?

सबसे मुश्किल सवाल पूछ लिया आपने, 😃 😃….मेरी उम्र 29 साल है।

Q-3. आपको डायबिटीज की समस्या कब से है?

प्रेग्नेंसी की गुड न्यूज के कुछ सप्ताह बाद ही मुझे पता चला कि मेरी बॉडी में शुगर का लेवल बढ़ गया है।

Q-4. आपको किस प्रकार की डायबिटीज है और क्या वो कंट्रोल में रहती है?

मुझे जेस्टेशनल डायबिटीज (Gestational diabetes) है। नहीं, जेस्टेशनल डायबिटीज (Gestational diabetes) में शुगर कभी-कभी बढ़ जाती है।

और भी पढें: Episode-1: डायबिटीज से ज्यादा उसके होने का स्ट्रेस इंसान को बीमार कर देता है, ऐसे बनाए डायबिटिक लाइफ को आसान

Q6. प्रेग्नेंसी की न्यूज के साथ कुछ मीठे की बात आती है, तो आप खुद को कैसे रोकती हैं?

जब प्रेग्नेंसी में मीठे की बात आती है, तो खुद को रोकना बहुत मुश्किल होता है, पर कोई रास्ता भी नहीं है। जेस्टेशनल डायबिटीज (Gestational diabetes) को कंट्रोल करना जरूरी है। बच्चे के अच्छे स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए खुद को रोक लेती हूं।

Q7. डायबिटीज का प्रभाव आपके बच्चे पर ना पड़े, इसके लिए आप किस प्रकार का लाइफस्टाइल फॉलो करती हैं?

मैं डॉक्टर द्वारा बताए गए लाइफस्टाइल को ही फॉलो कर रही हूं। जो योगा और डायट उन्होंने बताया है, मैं उसे स्ट्रिक्टली फॉलो करती हूं। सबुह उठकर खाली पेट 1 गिलास नारियल पानी पीती हूं। नाश्ते में पोहा, उपमा, ब्रेड-बटर या 2 परांठा और हरी सब्जी खाना पसंद करती हूं। दिन के खाने में 1 कटोरी दाल, 1 कटोरी चावल, 1 कटोरी सब्जी और 2 रोटी खाती हूं। जिस दिन चावल खाने का मन न हो, उस दिन मैं तीन रोटी खा लेती हूं। शाम को स्नैक्स में केले के चिप्स या टोस्ट और 1 कप चाय ले लेती हूं।

Q8. आपको कैसे पता चलता है कि आपकी शुगर बढ़ी हुई है?

जब मेरी डायबिटीज बढ़ी हुई होती है, तो मुझे पता चल जाता है, जैसे मुझे पसीना और चक्कर आने लगते हेैं। जेस्टेशनल डायबिटीज (Gestational diabetes) में ऐसा होता है।

Q9. जब मीठे की क्रेविंग होती है, तो खुद को कैसे रोकती हैं?

जिस समय मुझे मीठे की क्रेविंग होती है, उस समय गुड़ से बना हलवा या खीर खाती हूं। इससे किसी प्रकार का गंभीर नुकसान भी नहीं होता है।

और भी पढें: शुगर फ्री नहीं! अपनाएं टेंशन फ्री आहार; आयुर्वेद देगा इसका सही जवाब

Q-10. अच्छा कई बार ऐसा भी होता होगा कि घर में आपके सामने कोई मीठा खा रहा हाेता है, तो उस समय मन में क्या ख्याल आता है?

मन तो बहुत करता है, कई बार खुद को रोका भी नहीं जाता है। लेकिन बच्चे के अच्छे स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए नहीं खाती हूं। जो मेरे सामने खा रहा होता है, उसे देखकर गुस्सा आता है।

Q-11. मान लीजिए अगर आपके सामने आपकी पसंद की ये चार मिठाइयां हो और आप केवल एक ही चुन सकते हैं, तो क्या चुनेंगे-

A- रस से भरी जलेबी

B- गुलाब जामुन

C- कम मीठे वाली काजू कतली

D- गुड़ वाली मिठाई

अगर मुझे मौका मिलेगा, तो मैं रस से भरी जलेबी खाना पसंद करूंगी।

Q-12. क्या डॉक्टर ने आपको मेडिसिन लेने की सलाह दी है? अगर हां, तो कैसे लेती हैं आप उन्हें?

हां, डॉक्टर ने मुझे मेडिसिन लेने की सलाह दी है। जेस्टेशनल डायबिटीज (Gestational diabetes) में मुझे दिन में 2 बार, खाने से पहले मेडिसिन लेती हूं।

Q-13. आपको कैसे पता चलता है, जब आपके शरीर में शुगर का लेवल बढ़ता है? किस तरह के बदलाव और लक्षण आप महसूस करती हैं?

जब मेरी बॉडी में शुगर का लेवल बढ़ता है, तो मुझे पेशाब अधिक होने लगती है और प्यास भी ज्यादा लगती है। जब भी ऐसा होता है, तो मैं घर पर ग्लूकोमीटर से शुगर तुरंत चेक कर लेती हूं। ऐसा होने पर डॉक्टर द्वारा बतायी गई दवा लेती हूं।

Q-14. क्या आप डायबिटीज कंट्रोल के लिए नियमित रूप से एक्सरसाइज करती हैं? अगर आपका जवाब हां है, तो किस प्रकार की एक्सरसाइज करती हैं?

बहुत ज्यादा एक्सरसाइज नहीं कर पाती हूं। मेरा सातवां महीना चल रहा है।

डॉक्टर द्वारा बताए याेग आसानों को करती हूं। इस अवस्था में मुझसे ज्यादा एक्सरसाइज हो नहीं पाती है। कठिन एक्सरसाइज के लिए मुझे डॉक्टर ने भी मना किया है।

और भी पढें: सिंथेटिक दवाओं से छुड़ाना हो पीछा, तो थामें आयुर्वेद का दामन

Q-15. क्या डायबिटीज कभी आपकी मेंटल हेल्थ पर भारी पड़ती है? अगर आपका जवाब हां है, तो अपने आप को मेंटली फिट कैसे रखती हैं?

कई बार मानसिक रूप से परेशान हो जाती हूं। मुझे डर लगता है कि कहीं इसका असर मेरे बच्चे पर न पड़े। स्ट्रेस से बचने के लिए मैं मैडिटेशन करती हूं।

Q-16. डायबिटीज पेशेंट होने के तौर पर आपकी लाइफ का सबसे कठिन समय कौन सा रहा है?

सबसे कठिन ये प्रेग्नेंसी का समय है। इस दौरान मुझे कई हेल्थ प्रॉब्लम का सामना करना पड़ रहा है। बच्चे के अच्छे स्वास्थ्य के लिए मां को सब कुछ बर्दाश्त करना होता है।

Q-17. किसी काम को करते समय आपको ऐसा महसूस होता है क्या कि आप डायबिटिक हैं और आप इसे नहीं कर सकती?

इस समय मुझे उठने और बैठने में काफी समसया होती है। डायबिटीज और प्रेग्नेंसी दोनों के कारण थकान बहुत जल्दी होने लगती है।

Q-18 जिन्हें अभी-अभी डायबिटीज हुई है, उन्हें आप डायबिटीज कंट्रोल करने के लिए क्या मैसेज देना चाहेंगी?

मैं यही कहना चाहूंगी कि हेल्थ से समझौता करने से कहीं ज्यादा अच्छा हम अपने खानपान से समझौता कर लें। इससे हम अच्छे से रह सकते हैं। जेस्टेशनल डायबिटीज से बचा जा सकता है।

Q-19. डायबिटीज के साथ सबसे बड़ा चैलेंज क्या रहा है?

डायबिटीज के साथ प्रेग्नेंसी यानी जेस्टेशनल डायबिटीज सबसे बड़ा चैलेंज है। जिसमें हर पल एक डर बना रहता है। जब तक डिलिवरी अच्छे से हो नहीं जाती है, ये स्ट्रेस बना रहेगा।

Q-20. क्या आपको मालूम है कि डायबिटीज को पूरी तरह से रिवर्स किया जा सकता है?

नहीं, मुझे इसकी जानकारी नहीं है

Q-21. आप अपनी लाइफ का मोटो हमारे साथ शेयर करें।

मैं हेल्दी लाइफ पर ज्याद विश्वास करती हूं।

इस सीरीज के छठे इंटरव्यू में आपने जाना होगा कि बीमारी चाहे कोई भी हो, उससे निपटने के लिए आपके मेंटल हेल्थ का अच्छा होना जरूरी है। इससे बीमारी कभी भी आप पर हावी नहीं हो पाएगी। इसी के साथ ही आपने यह भी जाना होगा कि डायबिटीज के मरीज किस तरह से अपनी डायबिटिक लाइफ को असान बना सकते हैं।

health-tool-icon

गर्भावस्था में वजन बढ़ना

यह टूल विशेष रूप से उन महिलाओं के लिए तैयार किया गया है, जो यह जानना चाहती हैं कि गर्भावस्था के दौरान उनका स्वस्थ रूप से कितना वजन बढ़ना चाहिए, साथ ही उनके वजन के अनुरूप प्रेग्नेंसी के दौरान कितना वजन होना उचित है।

28

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Niharika Jaiswal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 28/10/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड