आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Mucus plug discharge: क्या हानिकारक है प्रेग्नेंसी में होने वाला यह डिस्चार्ज?

    Mucus plug discharge: क्या हानिकारक है प्रेग्नेंसी में होने वाला यह डिस्चार्ज?

    म्यूकस प्लग, म्यूकस का कलेक्शन है जो अर्ली प्रेग्नेंसी में सर्वाइकल कैनाल (Cervical canal) में बनता है। यह बैक्टीरिया या संक्रमण को आपके गर्भाशय में प्रवेश करने और आपके बच्चे तक पहुंचने से रोकता है। जैसा ही गर्भवती महिला का सर्विक्स लेबर के लिए तैयार होता है, तो गर्भवती महिलाएं म्यूकस प्लग को लूज करती हैं। यह लेट प्रेग्नेंसी का सामान्य लक्षण है। हालांकि, जब आप प्रेग्नेंट हैं, तो यह बात समझ लें कि म्यूकस प्लग डिस्चार्ज (Mucus plug discharge) हर महिला में एक जैसा नहीं होता है। आज हम बात करने वाले हैं म्यूकस प्लग डिस्चार्ज (Mucus plug discharge) के बारे में। लेकिन, सबसे पहले म्यूकस प्लग के बारे में जान लेते हैं।

    किसे कहा जाता है म्यूकस प्लग (Mucus plug)?

    म्यूकस प्लग एक कॉर्क बैरियर है जो प्रेग्नेंसी के दौरान सर्विक्स को सील करता है, जो यूट्रस की ऑपनिंग है। जब तक आप डिलीवरी के लिए तैयार नहीं हो जाती, म्यूकस प्लग शिशु को बाहर की दुनिया से भी सुरक्षित रखने मदद करती है। अन्य शब्दों में कहा जाए तो म्यूकस प्लग, म्यूकस का एक थिक पीस है जो गर्भावस्था में सर्विक्स की ऑपनिंग को ब्लॉक करता है।

    अब यह जान लेते हैं कि प्रेग्नेंट महिलाएं म्यूकस प्लग क्यों लूज करती हैं? तो इसका उत्तर यह है कि जैसे ही शरीर लेबर के लिए तैयार होता है तो गर्भावस्था में सर्विक्स सॉफ्ट, थिन और ओपन होना शुरू हो जाता है। यह आपके सर्विक्स से म्यूकस प्लग को हटाने का कारण बनता है और म्यूकस को वजाइना में पुश कर दिया जाता है। इसे म्यूकस प्लग को लूज करने के लिए कंसीडर किया जाता है। अब जान लेते हैं कि म्यूकस प्लग डिस्चार्ज (Mucus plug discharge) कब होता है?

    और पढ़ें: Twin pregnancy timetable: जानिए ट्विन प्रेग्नेंसी एवं ट्विन प्रेग्नेंसी टाइमटेबल से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें!

    म्यूकस प्लग डिस्चार्ज (Mucus plug discharge) कब होता है?

    अधिकतर महिलाएं इस समस्या का अनुभव प्रेग्नेंसी के 37वें वीक्स तक नहीं करती हैं। कुछ मामलों में वो शिशु की डीयू डेट के कुछ दिन या हफ्तों पहले म्यूकस प्लग डिस्चार्ज (Mucus plug discharge) का अनुभव कर सकती हैं। कुछ महिलाएं इसे तब तक लूज नहीं करती हैं, जब तक वो लेबर में न हों। अगर आप इस समस्या को 37वें हफ्ते से पहले महसूस करें तो अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लें। अब जानिए कि म्यूकस प्लग डिस्चार्ज कैसा होता है?

    और पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान ऑर्गेज्म हासिल करने से क्या बच्चे को हो सकता है नुकसान?

    म्यूकस प्लग डिस्चार्ज (Mucus plug discharge) कैसा दिखता है?

    प्रेग्नेंसी में वजाइनल डिस्चार्ज का बढ़ना सामान्य है। वजाइनल डिस्चार्ज आमतौर पर थिन और रंग में लाइट येलो व सफेद होता है। लेकिन, म्यूकस प्लग डिस्चार्ज (Mucus plug discharge) थिक होता है। हालांकि, हर महिला के लिए इस डिस्चार्ज का टेक्सचर अलग हो सकता है। लेकिन, म्यूकस प्लग डिस्चार्ज आमतौर पर:

    • रंग में क्लियर, ऑफ-वाइट या ब्लडी हो सकता है।
    • इसका टेक्सचर जैली की तरह स्टिकी हो सकता है।
    • लेंथ में एक से दो इंच तक हो सकती है।
    • वॉल्यूम में यह एक से दो टेबलस्पून हो सकता है।
    • आमतौर पर यह दुर्गंध रहित होता है।

    ऐसा भी हो सकता है कि आप यह डिस्चार्ज हो रहा हो और कभी इसे नोटिस न करें। इसमें कम मात्रा में ब्लड होना भी सामान्य है, लेकिन अधिक मात्रा में ब्लीडिंग हानिकारक हो सकती है। प्रेग्नेंसी में हैवी ब्लीडिंग की स्थिति में डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। अब जानिए इस डिस्चार्ज के लक्षणों के बारे में।

    म्यूकस प्लग डिस्चार्ज , Mucus plug discharge

    और पढ़ें: प्रेग्नेंसी ब्लड टेस्ट (Pregnancy Blood test) कब होता है जरूरी?

    म्यूकस प्लग डिस्चार्ज (Mucus plug discharge) के क्या हैं लक्षण?

    म्यूकस प्लग डिस्चार्ज का आमतौर पर मतलब यह है कि आपके गर्भाशय ग्रीवा का फैलाव, थिन और ओपन या यह सब कुछ होना शुरू हो गया है। इसका अर्थ है कि अब प्रसव नजदीक है, लेकिन प्रसव के अन्य लक्षण कितनी जल्दी शुरू होंगे, इसका कोई सटीक समय नहीं है। कुछ मामलों में, जब म्यूकस प्लग डिस्चार्ज (Mucus plug discharge) होता हैं, तो आपको पहले से ही प्रसव पीड़ा शुरू हो सकती है। म्यूकस प्लस को लूज करने और लेबर के समय की लेंथ अलग-अलग हो सकती है। इसका सबसे नोटिस किया जाने वाला लक्षण है म्यूकस का दिखना। आप अपनी अंडरवियर या टॉयलेट पेपर में म्यूकस को नोटिस कर सकते हैं। अधिकतर महिलाएं इस डिस्चार्ज को नोटिस नहीं कर पाती हैं। क्योंकि, यह समस्या धीरे-धीरे होती है। अब जानते हैं इसके कारणों के बारे में।

    और पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान वजन ना बढ़ने के क्या कारण हैं?

    क्या हैं म्यूकस प्लग डिस्चार्ज (Mucus plug discharge) के कारण?

    कई ऐसी चीजें हैं जो म्यूकस प्लग के लूज होने का कारण बन सकती हैं। यह कारण इस प्रकार हैं:

    • सर्विक्स का सॉफ्ट और ओपन होना (Soft and open cervix): जैसे ही सर्विक्स डिलीवरी की तैयारी में सॉफ्ट, थिन और डायलेट होना शुरू हो जाती है, तो इससे म्यूकस प्लग वजाइना में बाहर आ सकता है।
    • सेक्स (Sex): हालांकि, प्रेग्नेंसी में सेक्स करना हानिकारक नहीं होता है। लेकिन, गर्भावस्था के अंतिम हफ्तों में सेक्शुअल इंटरकोर्स म्यूकस प्लग को लूज कर सकता है। यदि, आप 37वें हफ्ते से अधिक गर्भवती हैं, तो यह ठीक है। लेकिन, बहुत जल्द म्यूकस प्लग को खोने से कुछ जोखिम भी हो सकते हैं।
    • सर्वाइकल एग्जाम (Cervical exam): प्रीनेटल अपॉइंटमेंट के दौरान, डॉक्टर सर्विक्स की जांच कर सकते हैं। इसमें सर्विक्स स्ट्रेच या इर्रिटेट हो सकता है। यह म्यूकस प्लग के लूज होने का कारण भी हो सकता है।

    अगर आपको लगता है कि आप प्रेग्नेंसी में 37वें हफ्ते से कम समय में म्यूकस प्लस को लूज कर रहे हैं तो डॉक्टर से अवश्य सलाह लें। आप बिना म्यूकस प्लग डिस्चार्ज (Mucus plug discharge) के भी लेबर का अनुभव कर सकते हैं लेबर और म्यूकस प्लग डिस्चार्ज की टाइमिंग अलग अलग हो सकती है। कई महिलाएं लेबर के लक्षणों का अनुभव करने के बाद म्यूकस प्लग का अनुभव करती हैं। जबकि, कुछ मामलों में म्यूकस प्लग लूज करना इसका पहला लक्षण होता है।

    और पढ़ें: Urine Tests During Pregnancy: प्रेग्नेंसी में यूरिन टेस्ट से घबराएं नहीं, क्योंकि यह गर्भवती महिला एवं गर्भ में पल रहे शिशु दोनों के लिए है जरूरी!

    क्या म्यूकस प्लग को लूज करना लेबर का संकेत है?

    म्यूकस प्लग को लूज करना इस बात का संकेत हो सकता है कि आपकी डिलीवरी नजदीक है। हालांकि, इसके कई अन्य लक्षण भी हो सकते हैं। आपको इस दौरान इन अन्य लक्षणों को भी मॉनिटर करना चाहिए, जैसे:

    • क्रैम्पिंग (Cramping): पीरियड जैसी क्रैम्पिंग जो आती-जाती है। इसके साथ ही पेट और लोअर बेक में भी इन आप क्रैम्प्स महसूस कर सकते हैं। यह भी प्रसव के संकेत हैं।
    • पेल्विक प्रेशर (Pelvic pressure): इस दौरान आप पेल्विस में प्रेशर का अनुभव कर सकते हैं, इसे लाइटेनिंग (Lightening) कहा जाता है।
    • कॉन्ट्रैक्शंस (Contractions): यह यूट्रस की रेगुलर लाइटेनिंग है जो स्ट्रांग और अधिक बार-बार होती है।
    • मेमब्रेन रप्चर (Membrane rupture): शिशु के वॉटर बैग यानी एमनियॉटिक सैक का ब्रेक होना भी लेबर का एक लक्षण हो सकता है। इस स्थिति में तुरंत डॉक्टरों की सलाह लें। अब जानिए म्यूकस प्लग डिस्चार्ज (Mucus plug discharge) के साइड इफेक्ट्स के बारे में।

    और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में ब्रेस्ट पेन और टेंडरनेस को दूर करने के लिए क्या हैं आसान तरीके, जानिए!

    इस डिस्चार्ज के साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

    म्यूकस प्लग डिस्चार्ज (Mucus plug discharge) का कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं है। यह प्री-लेबर का सामान्य पार्ट है। म्यूकस प्लग को लूज करने के साथ ही आपको लेबर के अन्य लक्षण भी नजर आ सकते हैं। जैसा कि पहले ही बताया गया है कि अगर यह परेशानी प्रेग्नेंसी में जल्दी हो, तो यह चिंता का विषय हो सकती है। ऐसी स्थिति में भी मेडिकल हेल्प लेनी जरूरी है।

    म्यूकस प्लग के लूज होने के बाद क्या होता है?

    इस बात का ध्यान रखें कि म्यूकस प्लग डिस्चार्ज (Mucus plug discharge) कैसा दिखता है? यानी इसके रंग, साइज और कंसिस्टेंसी के बारे में आपको पता होना चाहिए। इससे डॉक्टर को म्यूकस प्लग के बारे में जानने में मदद मिल सकती है। अगर आप 37वें हफ्ते की गर्भवती हैं और आपको लेबर के कोई भी लक्षण नजर नहीं आ रहे हैं, तो यह चिंता का विषय नहीं है। लेकिन, इससे कम समय में कॉन्ट्रैक्शंस होना चिंता का विषय हो सकता है। अगर आप इस चीज को लेकर स्पष्ट न हों कि आपको होने वाला डिस्चार्ज म्यूकस प्लग है, तो डॉक्टर से बात करें। यह आमतौर पर हानिकारक होता है लेकिन अगर इसके साथ आपको कुछ अन्य लक्षण भी नजर आएं, तो डॉक्टर की सलाह अवश्य लें, जैसे:

    और पढ़ें: क्या आपको भी सेक्स के बाद व्हाइट डिस्चार्ज होता है? इसे न करें नजरअंदाज

    अगर आपको अधिक ब्लीडिंग हो रही हो, तो देर न करें और मेडिकल हेल्प लें। इसका अर्थ यह हो सकता है कि लेबर को कुछ ही समय बाकी है। लेकिन अगर यह म्यूकस प्लग डिस्चार्ज (Mucus plug discharge) है तो चिंता न करें। उम्मीद है कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। अगर आपके मन में इस बारे में कोई भी सवाल है तो डॉक्टर से उसे अवश्य पूछें। आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

    अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

    ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

    ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

    अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

    ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

    सायकल की लेंथ

    (दिन)

    28

    ऑब्जेक्टिव्स

    (दिन)

    7

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र
    लेखक की तस्वीर badge
    AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 17/05/2022 को
    और Hello Swasthya Medical Panel द्वारा फैक्ट चेक्ड
    Next article: