प्रेग्नेंसी के दौरान कोविड-19 वैक्सीन को लेकर पाएं कुछ जरूरी सवालों के जवाब

    प्रेग्नेंसी के दौरान कोविड-19 वैक्सीन को लेकर पाएं कुछ जरूरी सवालों के जवाब

    कोविड-19 यानी कोरोना वायरस (Corona virus) एक ऐसा नाम है, जिससे कोई भी देश या वहां के लोग अनजान या अछूते नहीं हैं। लेकिन, लगभग दो सालों के बाद धीरे-धीरे अब जीवन पटरी पर आने लगा है। इसका बड़ा कारण है वैक्सीनेशन। हमारे देश की आबादी के बड़े हिस्से का वैक्सीनेशन हो चुका है। लेकिन, अभी भी लोगों के दिमाग से इस वैक्सिनेशन को लेकर कई सवाल हैं। खासतौर पर गर्भवती, ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली महिलाएं और किसी खास कंडिशन से पीड़ित लोगों के लिए इसकी पूरी जानकारी होना जरूरी है। आज हम प्रेग्नेंसी के दौरान कोविड-19 वैक्सीन (COVID-19 Vaccine During Pregnancy) के बारे में बात करने वाले हैं। इस बारे में पूरी जानकारी के साथ ही प्रेग्नेंसी के दौरान कोविड-19 वैक्सीन (COVID-19 Vaccine During Pregnancy) से संबंधित पूछे जाने वाले सामान्य सवालों और उनके जवाबों के बारे में जानना न भूलें।

    कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 vaccine) के क्या हैं फायदे?

    जैसे कि आप जानते ही हैं कि यह वायरस बेहद संक्रामक है और यही कारण है कि इसे बेहद खतरनाक बीमारी माना गया है। कुछ लोगों जैसे बुजुर्गों और किसी अन्य रोगों से पीड़ित लोगों में इसके गंभीर लक्षणों का रिस्क अधिक है। इस वैक्सीन के कई फायदे हैं जैसे:

    • वायरस से बचाए। हालांकि, इस वैक्सिनेशन के बाद आप संक्रमित हो सकते हैं। लेकिन इसके गंभीर लक्षणों से सुरक्षा मिलती है। ऐसा इसलिए है कि यह वैक्सीन हमें बीमार किए बिना हमारे इम्यूनोलॉजिकल सिस्टम को एंटीबॉडीज बनाने के लिए प्रेरित करती है। अगर आप इंफेक्ट होते भी हैं, तो भी हमारा शरीर इस डिजीज से लड़ने के लिए तैयार होता है।
    • अगर आपने वैक्सिनेशन कराई है तो इससे आपके फैमिली और दोस्तों को भी सुरक्षा मिलती है। क्योंकि, आपके अन्य लोगों तक यह संक्रमण स्प्रेड होने की संभावना कम हो जाती है।
    • यह मेडिकेशन्स पूरी तरह से FDA-एप्रूव्ड और टेस्टेड हैं। इस वैक्सिनेशन के बाद बहुत हल्के साइड-इफेक्ट्स नोटिस किये गए हैं जैसे सिरदर्द, ठंड लगना, बुखार, थकावट आदि। यह साइड-इफेक्ट्स भी अस्थायी हैं, जो एक या दो दिनों में गायब हो जाते हैं। अब जानते हैं प्रेग्नेंसी के दौरान कोविड-19 वैक्सीन (COVID-19 Vaccine During Pregnancy) का इस्तेमाल करना चाहिए या नहीं।

    और पढ़ें: Covid-19 booster dose: कितनी और क्यों जरूरी है कोविड-19 की बूस्टर डोज?

    प्रेग्नेंसी के दौरान कोविड-19 वैक्सीन (COVID-19 Vaccine During Pregnancy) का इस्तेमाल करें या नहीं?

    एक्सपर्ट्स यह मानते हैं कि प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली माताएं कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19) का इस्तेमाल करने के लिए पूरी तरह से एलिजिबल हैं। यही नहीं, अभी तक कई गर्भवती महिलाएं वैक्सिनेशन का इस्तेमाल कर चुकी हैं और इस बात के पूरे सुबूत हैं कि उनमें वैक्सिनेशन पूरी तरह से सुरक्षित और प्रभावी है। लेकिन, एक्सपर्ट्स से यह भी नोट किया है कि प्रेग्नेंसी में कोविड-19 कांट्रेक्टिंग का जोखिम हो सकता है, जिसमें प्रीटर्म बर्थ आदि शामिल है। यही नहीं, उन महिलाओं की तुलना में जो गर्भवती नहीं हैं, गर्भवती महिलाओं में कोरोना वायरस (Corona virus) के कारण गंभीर समस्याओं यहां तक होस्पिटलिजेशन की संभावना भी बढ़ सकती है। ऐसे में उन्हें वैक्सीन गंभीर समस्याओं से सुरक्षा प्रदान करती है। यही नहीं, इस वैक्सीन के बाद गर्भवती महिलाएं संक्रमित होने के बाद उनमें माइल्ड सिम्पटम्स ही नजर आते हैं।

    स्टडीज से यह पता चला है कि गर्भवती महिलाएं जिन्होंने कोरोना वायरस (Corona virus) वैक्सीन्स लगाई है, उनमें वायरस के लिए एंटीबॉडीज क्रिएट हो जाती है और गर्भनाल के माध्यम से उनके अजन्में शिशु तक पास होती हैं। यह भी देखा गया है कि ब्रेस्टमिल्क के माध्यम से भी यह एंटीबॉडीज शिशु तक पहुंचती हैं। ऐसे में नवजात शिशु तक वायरस के लिए इम्युनिटी प्राप्त होती है, जो छोटे बच्चों के लिए बेहद महत्वपूर्ण है, जो वैक्सीन नहीं लगा सकते। यह तो थी जानकारी प्रेग्नेंसी के दौरान कोविड-19 वैक्सीन (COVID-19 Vaccine During Pregnancy) और इसके फायदों के बारे में जानकारी। अब पाते हैं इससे जुड़े कुछ आम पूछे जाने वाले सवालों के जवाब।

    और पढ़ें: कोविड-19 और हार्ट डैमेज : कोरोना के मरीज पहले से ही रहें अलर्ट!

    क्या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इस वैक्सीन को लगवाया जा सकता है?

    अगर आप एक मां हैं और शिशु को ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं, तो यह सवाल आपके मन में आना सामान्य है। इसका उत्तर यह है कि ब्रेस्टफीडिंग के दौरान यह वैक्सीन को लगवाना पूरी तरह से सेफ है। हालांकि, इसके बारे में पहले पर्याप्त स्टडी नहीं की गयी थी। लेकिन, अब हुए सर्वे और स्टडी के अनुसार ऐसा करना पूरी तरह से सुरक्षित है। इस वैक्सीन में लाइव वायरस नहीं है, ऐसे में इस वैक्सीनेशन से शिशु को किसी भी तरह का नुकसान नहीं होता है।

    क्या कोविड-19 वैक्सीन से फर्टिलिटी पर प्रभाव पड़ता है?

    प्रेग्नेंसी के दौरान कोविड-19 वैक्सीन (COVID-19 Vaccine During Pregnancy) के साथ ही यह सवाल मन में आना स्वभाविक है। कोविड-19 वैक्सीन का फर्टिलिटी पर कोई भी बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है। जो महिलाएं कंसीव करने की कोशिश कर रही हैं वो भी इस वैक्सीन का इस्तेमाल कर सकती हैं। अमेरिकन सोसाइटी फॉर रीप्रोडक्टिव मेडिसिन (American Society for Reproductive Medicine) के अनुसार वैक्सीन को रिसीव न करने से संबंधित फर्टिलिटी-रिलेटेड कोई जानकारी मौजूद नहीं हैं।

    प्रेग्नेंसी के दौरान कोविड-19 वैक्सीन, COVID-19 Vaccine During Pregnancy

    और पढ़ें: कोविड-19 के फर्टिलिटी पर प्रभाव और IVF ट्रीटमेंट से जुड़े सवालों के जवाब पाएं यहां!

    क्या कोविड-19 वैक्सीन प्रेग्नेंट महिलाओं के इम्यून सिस्टम पर असल डालती है?

    प्रेग्नेंसी के दौरान कोविड-19 वैक्सीन (COVID-19 Vaccine During Pregnancy) में यह सवाल बेहद महत्वपूर्ण है। यह वैक्सीन इम्यून सिस्टम को एक्टिवेट करती है ताकि रोगी को वायरल इंफेक्शन से लड़ने में मदद मिल सके।

    क्या प्रेग्नेंट महिलाएं इस वैक्सीन का बूस्टर ले सकती हैं?

    यह तो आप समझ गए होंगे कि प्रेग्नेंसी के दौरान कोविड-19 वैक्सीन (COVID-19 Vaccine During Pregnancy) लेना सुरक्षित है। ऐसा भी माना गया है कि लोग जो प्रेग्नेंट हैं या हाल ही में गर्भवती हुई हैं, उनके लिए भी बूस्टर डोज लेना बेहद जरूरी है। इसका भी कोई बुरा प्रभाव गर्भवती महिला पर नहीं पड़ता है। लेकिन, बूस्टर डोज लेने से पहले उनका इनिशियल कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19) डोज सीरीज पूरी होनी चाहिए। लेकिन, प्रेग्नेंसी के दौरान कोविड-19 वैक्सीन (COVID-19 Vaccine During Pregnancy) से पहले आप अपने डॉक्टर से अवश्य बात करें और सही सलाह लें। अब जानते हैं कि वैक्सीन के अलावा कौन से तरीकों को अपना कर आप कोरोना वायरस (Corona virus) के जोखिम को कम कर सकते हैं।

    और पढ़ें: कोविड-19 और बच्चों में डायबिटीज के लक्षण, जानिए इस बारे में क्या कहती हैं ये रिसर्च

    वैक्सिनेशन और पब्लिक हेल्थ सेफ्टी मेजर्स

    इसमें कोई संदेह नहीं है कि वैक्सीनेशन से हम इस वायरस के जोखिम की संभावना को कुछ हद तक कम कर सकते हैं। यही नहीं, प्रेग्नेंसी के दौरान कोविड-19 वैक्सीन (COVID-19 Vaccine During Pregnancy) के फायदों के बारे में भी जान गए होंगे। लेकिन, वैक्सीनेशन के साथ ही आपके लिए अन्य सेफ्टी मेजर्स को फॉलो करना बेहद जरूरी है। यह सेफ्टी मेजर इस प्रकार हैं:

    • गुड पर्सनल हाइजीन की प्रैक्टिस करें, जिसमें बार-बार हाथों को धोना शामिल है।
    • पब्लिक में हमेशा फेस मास्क पहनें।
    • सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें।
    • अधिक भीड़ में जानें से बचें।

    और पढ़ें: कोविड-19 और बच्चों में डायबिटीज के लक्षण, जानिए इस बारे में क्या कहती हैं ये रिसर्च

    अन्य लोगों को भी वैक्सिनेशन और अन्य सेफ्टी मेजर्स को फॉलो करने के लिए प्रोत्साहित करें। उम्मीद है कि प्रेग्नेंसी के दौरान कोविड-19 वैक्सीन (COVID-19 Vaccine During Pregnancy) के बारे में आप जान गए होंगे। अगर आपके मन में प्रेग्नेंसी में इस वैक्सीन को लेकर कोई भी सवाल या शंका है तो तुरंत अपने डॉक्टर से बात करें। यही नहीं, इस वैक्सीन से पहले डॉक्टर से एक बार राय अवश्य लें। हालांकि, डॉक्टर्स और एक्सपर्ट यह मानते हैं कि यह वैक्सीन प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग में यह वैक्सीन लगाना पूरी तरह से सुरक्षित है।

    आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र
    लेखक की तस्वीर badge
    AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 15/03/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड