home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

एचआईवी के लक्षणों से बचाती हैं ये दवाएं, जानिए क्या है इनका अहम रोल?

एचआईवी के लक्षणों से बचाती हैं ये दवाएं, जानिए क्या है इनका अहम रोल?

एचआईवी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में ब्लड, सीमन, ब्रेस्ट मिल्क या फिर अन्य बॉडी फ्लूड के माध्यम से फैलता है। एचआईवी व्यक्ति के इम्यून सिस्टम और टी कोशिकाओं पर हमला करता है। ये वायरस शरीर में सफेद रक्त कोशिकाओं को खत्म करने का काम करता है। वाइट ब्लड सेल्स शरीर में इंफेक्शन से लड़ने का काम करती हैं। इस तरह वायरस कोशिकाओं में हमला कर अपनी कॉपीज बनाता है और शरीर में फैलता जाता है। इस कारण से बॉडी ठीक तरह से काम नहीं कर पाती है और संक्रमण से लड़ने में असफल हो जाती है। एचआईवी को पूरी तरह से ठीक करने के लिए अभी तक कोई ट्रीटमेंट नहीं है। एचआईवी मेडिकेशन के जरिए बीमारी के लक्षणों को कम किया जा सकता है। एचआईवी मेडिकेशन के कारण व्यक्ति के शरीर में वायरस रेप्लीकेट नहीं कर पाता है। एचआईवी मेडिकेशन के लिए एंटीरेट्रोवाइरल (antiretrovirals) का इस्तेमाल किया जाता है, जो एफ डी ए (Food and Drug Administration) की ओर से एप्रूव हैं।

और पढ़ें: महिलाओं में एचआईवी इंफेक्शन होने पर दिखाई देते हैं ये 6 संकेत, इग्नोर करना हो सकता है जानलेवा

एचआईवी मेडिकेशन (HIV medication) का क्या होता है रोल?

एफडीए (FDA) ने एचआईवी संक्रमण के इलाज के लिए दो दर्जन से अधिक एंटीरेट्रोवाइरल दवाओं (Antiretroviral drugs) को मंजूरी दी है। डॉक्टर पेशेंट को उनमें से कम से कम दो के कंपोजिशन या “कॉकटेल” लेने की सलाह देते हैं। इसे एंटीरेट्रोवायरल थेरेपी, या एआरटी (ART) कहा जाता है। अगर किसी कारण से पेशेंट दवा को मिस कर देता है, तो धीरे- धीरे एचआईवी दवाओं का प्रभाव कम हो सकता है। जानिए एचआईवी की दवा लेने से क्या फायदा पहुंचा है।

  • वायरस की ग्रोथ को नियंत्रित करना।
  • प्रतिरक्षा प्रणाली के कार्य में सुधार करना।
  • एचाआईवी के लक्षणों में सुधार करना।
  • एचआईवी के ट्रांसमिशन को रोकने का काम करना।

न्यूक्लियोटाइड रिवर्स ट्रांस्क्रिप्टेज इनहिबिटर (NRTIs)

एनआरटीआई एचआईवी वायरस को बिल्डिंग ब्लॉक करने के लिए फॉल्टी वर्जन का इस्तेमाल करने का दबाव बनाता है। इस कारण से इंफेक्टेड सेल्स अधिक वायरस का निर्माण नहीं कर पाती हैं।

  • एबाकवीर(Abacavir)
  • एबाकवीर या वीडएक्स (Videx)
  • एमट्रिसिटाबाइन या एमट्रिवा (Emtriva)
  • एपिविर (Epivir)
  • जेरिट(Zerit)
  • टेनोफोविर या वेमलिडी (Vemlidy)
  • विरेड (Viread),
  • रेट्रोविर (Retrovir)

और पढ़ें: एचआईवी को रोकने के लिए वैक्सीन की जरूरत क्यों है?

नॉन एनआरटीआई (Non-nucleoside Reverse Transcriptase Inhibitors)

एचआईवी मेडिकेशन (HIV medication) के लिए नॉन एनआरटीआई का इस्तेमाल किया जाता है। नॉन एनआरटीआई एक स्पेसिफिक प्रोटीन से जुड़ जाते हैं, ताकि एचआईवी वायरस खुद को रेप्लीकेट कर संख्या न बढ़ा सके। जानिए नॉन एनआरटीआई ड्रग्स के बारे में।

  • कैबोटेग्रविर (Cabotegravir)
  • डेलाविरडाइन (Delavirdine)
  • डोरवीरिन (Doravirine)
  • एफाविरेंज (Efavirenz)
  • एटविरिन (Etravirine)
  • नेविरापाइन(Nevirapine)
  • रिलपिवरिन (Rilpivirine)

प्रोटिएज इनहिबिटर्स (Protease Inhibitors)

एचआईवी मेडिकेशन (HIV medication) में प्रोटिएज इनहिबिटर्स महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। ये दवाएं उन प्रोटीन को ब्लॉक करती हैं, जो संक्रमित कोशिकाओं को नए एचआईवी वायरस कणों को बनाने के लिए जरूरी होती हैं।

  • एटजानवीर (Atazanavir)
  • दारुनवीर (Darunavir)
  • फोसमप्रेंवीर (Fosamprenavir)
  • इंडिनावीर (Indinavir)
  • लोपिनाविर + रेटोनवीर (Lopinavir + ritonavir)
  • ट्रीपनवीर (Tipranavir)

और पढ़ें: WHO का डर: एचआईवी से होने वाली मौत का आंकड़ा न बढ़ा दे कोविड-19

इंटिग्रेस इनहिबिटर्स (Integrase Inhibitors)

इंटिग्रेस इनहिबिटर्स का इस्तेमाल उन की प्रोटीन को ब्लॉक करने में किया जाता है, जो वायरस के डीएनए को हेल्दी सेल्स में डीएनएस डालने के लिए काम करती हैं। इन्हें इंटीग्रेज स्ट्रैंड ट्रांसफर इनहिबिटर्स (INSTI) भी कहा जाता है।

  • बिक्टग्रेविर (Bictegravir)
  • डोलटेग्रेविर (Dolutegravir)
  • एलविटग्रेविर (Elvitegravir)
  • रेल्टेग्रेविर (Raltegravir)

फ्यूजन इनहिबिटर्स (Fusion Inhibitors)

एनआरटीआई (NRTIs), एनएनआरटीआई (NNRTIs), पीआई (PIs) और आईएनएसआई (INSTIs) मिलकर एचआईवी को हेल्दी सेल्स में जाने से रोकने का काम करती हैं।फ्यूजन इनहिबिटर्स के रूप में इन्फ्यूवर्टाइड (Enfuvirtide) का इस्तेमाल किया जाता है। डॉक्टर पेशेंट के लक्षणों के अनुसार ही उसे दवाएं देते हैं।

जानिए क्या है gp120 अटैचमेंट इनहिबिटर का काम? (gp120 Attachment Inhibitor)

ये नए क्लास का ड्रग है, जिसमें सिर्फ एक दवा फोस्टेमासवीर (fostemsavir) का इस्तेमाल किया जाता है। ये दवा उन वयस्क लोगों के लिए है, जो कई एचआईवी दवाओं को ले चुके हैं और साथ ही जिनका एचआईवी थेरिपी के प्रति प्रतिरोधी (resistant) है। ये दवा वायरस की सर्फिस पर ग्लाइकोप्रोटीन 120 को टारगेट करती है और वायरस को इम्यून सिस्टम की सीडी 4 टी-कोशिकाओं से जुड़ने से रोकने में मदद करती है।

और पढ़ें: एड्स का नहीं है कोई इलाज, सही जानकारी ही है एचआईवी से बचाव

जानिए क्या है CCR5 एंटागोनिस्ट (CCR5 Antagonist)

एचआईवी मेडिकेशन (HIV medication) के दौरान CCR5 एंटागोनिस्ट का इस्तेमाल सेल्स के स्पेसफिक हूक को ब्लॉक कर एचआईवी वायरस को हेल्दी सेल्स के अंदर आने से रोकने का होता है। इस तरह वायरस अन्य हेल्दी सेल्स में प्रवेश नहीं कर पाते हैं। CCR5 एंटागोनिस्ट के रूप में मराविरोक (Maraviroc) का इस्तेमाल किया जाता है।

पोस्ट-अटैचमेंट इनहिबिटर (Post-Attachment Inhibitor)

एचआईवी मेडिकेशन (HIV medication) में पोस्ट-अटैचमेंट इनहिबिटर नई प्रकार की एंटीवायरल दवा है। जो लोग एचआईवी संक्रमित व्यक्तियों के साथ रहते हैं, उन्हें संक्रमण से बचाने के लिए इस ड्रग का इस्तेमाल किया जाता है। एचआईवी थेरिपी के प्रतिरोधी (Resistant)के लिए पोस्ट-अटैचमेंट इनहिबिटर का इस्तेमाल किया जाता है।ट्रगार्जो (Trogarzo) संक्रमित व्यक्ति से स्वस्थ्य व्यक्ति में एचआईवी के संक्रमण को जाने से रोकने का काम करती है।

एचआईवी मेडिकेशन के दौरान फिक्स ड्रग्स कॉम्बिनेशन (Fixed-Dose Combinations)

एचआईवी मेडिकेशन (HIV medication) के दौरान डॉक्टर कई दवाओं को खाने की सलाह देते हैं। वहीं कुछ दवाओं को एक साथ मिलाकर उनका कॉम्बिनेशन तैयार किया जाता है, ताकि पेशेंट को एक दवा के माध्यम से ही कई दवाओं का मिश्रण दिया जा सके। ये पेशेंट के लिए आसान प्रक्रिया होती है।

  • डोलटेग्रेविर (Dolutegravir) + एबाकवीर(Abacavir)+ लामिवुडिन (lamivudine), या डीटीजी / एबीसी / 3 टीटीसी को बाइकरटवी(Biktarvy) के रूप में दिया जाता है।
  • डोलटेग्रेविर (Dolutegravir)+ एबाकवीर (Abacavir) + लामिवुडिन (lamivudine) या डीटीजी / एबीसी / 3 टीटीसी ट्रायम्स्क(Triumeq) के रूप में दिया जाता है।
  • एलविट्रेगविर (Elvitegravir ) + काबोनिस्टैट (Cobicistat) + टेनोफोविर एलाफेनमाइड ( Tenofovir alafenamide ) + इमीट्रिकिटाबाइन या ईवीजी / सी / टीएएफ / एफटीसी को जेनोवा (Genvoya) के रूप में दिया जाता है। आप अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से इस विषय में जानकारी ले सकते हैं।

उपरोक्त दी गई दवाएं कॉम्बिनेशन का उदाहरण मात्र है। डॉक्टर पेशेंट के लक्षणों के आधार पर अन्य दवाओं के कॉम्बिनेशन को लेने की सलाह दे सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

और पढ़ें: एड्स के कारण दूसरे STD होने के जोखिम को कम करने के लिए अपनाएं ये आसान टिप्स

एचआईवी की दवा के साइड इफेक्ट (HIV drug side effects)

जब पहली बार एचआईवी दवाओं का इस्तेमाल किया जाता है, तो कई दुष्प्रभाव देखने को मिल सकते हैं। दवा के दुष्प्रभाव इस बात पर निर्भर करते हैं कि आप किन दवाओं का इस्तेमाल कर रहे हैं। कई बार कुछ लोगों को अधिक परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता है। जानिए दवा का इस्तेमाल करने पर क्या समस्याएं पैदा हो सकती हैं।

ये दवाएं पहले कई हफ्तों तक साइड इफेक्ट पैदा कर सकती हैं। अगर आपको लगातार परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। डॉक्टर दुष्प्रभाव को देखते हुए नई दवाएं भी लिख सकते हैं। एचआईवी दवाओं का इस्तेमाल लंबे समय तक करने से गंभीर साइड इफेक्ट भी दिख सकते हैं। आप इस बारे में डॉक्टर से जानकारी जरूर लें।

जैसा कि हम आपको पहले ही बता चुके हैं कि एचआईवी का संक्रमण ब्लड, सीमन या अन्य बॉडी फ्लूड के माध्यम से आसानी से फैलता है, इसलिए सावधानी की अधिक आवश्यकता है। सुरक्षित सेक्स, निडिल इस्तेमाल करते समय सावधानी, टैटू बनवाते समय सावधानी आदि आपको इस बीमारी से बचाने का काम कर सकती है। अगर आपको संक्रमण है, तो बीमारी का इलाज कराएं।एचआईवी मेडिकेशन के माध्यम से बीमारी के लक्षणों को नियंत्रित करने में मदद मिलती है।हम उम्मीद करते हैं कि आपको एचआईवी मेडिकेशन (HIV medication) से संबंधित ये आर्टिकल पसंद आया होगा। आप स्वास्थ्य संबंधी अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है, तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं और अन्य लोगों के साथ साझा कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

HIV medication (Accessed on 23/3/2021)

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 23/03/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x