home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Pruritus : खुजली क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

परिचय|लक्षण|कारण|निदान|रोकथाम और नियंत्रण|उपचार
Pruritus : खुजली क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

परिचय

खुजली क्या है?

हर किसी ने अपने शरीर पर खुजली महसूस की होगी, जिसके बाद न चाहते हुए भी आपका हाथ खुजली से प्रभावित जगह को खरोंचने के लिए पहुंच जाता है। कभी-कभी खुजली वाली जगह पर दर्द जैसा भी महसूस हो सकता है। आमतौर पर, शरीर के किसी एक भाग में खुजली शुरू होती है और कभी-कभी आपके पूरे शरीर में अलग-अलग हिस्से में खुजली होने लगती हैं। इसके साथ रैशेज या हाइव्स भी देखने को मिल सकते हैं। यह काफी असहज स्थिति होती है और आप परेशान होने लगते हैं। रूखी त्वचा वाले लोगों में यह समस्या ज्यादा परेशानी पैदा करती है। इस समस्या को चिकित्सीय भाषा में प्रूरीटस (Pruritus) कहा जाता है।

लक्षण

खुजली के लक्षण क्या होते हैं?

खुजली होने पर निम्नलिखित लक्षण दिख सकते हैं?

  • रूखी त्वचा
  • छाले या बंप
  • सूजन
  • हाइव्स
  • रैशेज होना
  • त्वचा का लाल होना
  • लेदरी या स्केली स्किन, आदि

यह जरूरी नहीं कि, सभी के शरीर में खुजली के समय एक जैसे और सभी लक्षण दिखाई दें। इन बताए गए लक्षणों में से किसी में कुछ लक्षण तो किसी में कुछ लक्षण देखने को मिल सकते हैं। वहीं, किसी में इन लक्षणों से अलग लक्षण भी देखने को मिल सकते हैं। अगर, आपको खुजली से संबंधित लक्षणों के बारे में कोई शंका है, तो अपने डॉक्टर से जरूर संपर्क करें।

और पढ़ें- Chest Pain : सीने में दर्द क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

कारण

खुजली के कारण क्या हो सकते हैं?

खुजली होने के पीछे निम्नलिखित कारण हो सकते हैं। जैसे-

इंटरनल डिजीज

त्वचा पर खुजली होने के पीछे कुछ इंटरनल डिजीज हो सकती हैं, जो कि बाहर से नहीं दिख रही हों या आपको उनके बारे में अभी न पता हो। इन बीमारियों में लिवर डिजीज, किडनी फेलियर, आयरन की कमी से होने वाला एनीमिया, थायरॉइड की समस्या और मायलोमा व लिंफोमा जैसे कुछ खास प्रकार के कैंसर भी हो सकते हैं।

साइकियाट्रिक डिजीज

खुजली के पीछे आपके मनोरोग भी हो सकते हैं, जिनकी वजह से शरीर में हार्मोन या एंजाइम का संतुलन बिगड़ने की वजह से यह समस्या हो सकती है। इनमें चिंता, डिप्रेशन और ऑब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर शामिल हो सकते हैं।

नर्व डिसऑर्ड्स

आपके नर्वस सिस्टम से जुड़ी स्वास्थ्य समस्याएं भी आपके शरीर पर हो रही खुजली का कारण हो सकती है। इसमें मल्टीपल स्केलेरोसिस, डायबिटीज की समस्या, पिंच्ड नर्व, शिंगल्स (हर्पीज जोस्टर) आदि शामिल हो सकते हैं।

और पढ़ें- Milia : मिलीया क्या है?

प्रेग्नेंसी

गर्भावस्था के दौरान भी कुछ महिलाएं शारीरिक त्वचा पर खुजली का सामना कर सकती हैं।

एलर्जी के कारण

एलर्जी की वजह से भी कई लोगों को खुजली का सामना करना पड़ता है। क्योंकि ऊन, केमिकल, साबुन या अन्य उत्पाद त्वचा के संपर्क में आने के बाद उसे प्रभावित कर सकती हैं, जिससे खुजली हो सकती है। इसके अलावा, कई बार कॉस्मेटिक, पैरासाइट, दवा, खाद्य पदार्थ आदि की वजह से भी एलर्जी का सामना करना पड़ सकता है।

कीड़े का काटना

कई बार कीड़े-मकोड़े के काटने पर भी खुजली हो सकती है। खुजली वाली जगह पर इस समस्या में सूजन, जलन, उभार या छाला भी हो सकता है।

ड्राई स्किन

ड्राई स्किन की वजह से त्वचा गर्मी या ठंड में संवेदनशील हो जाती है और उस पर खुजली होने लगती है। कई बार यह फट जाती है, जिससे दर्द का भी सामना करना पड़ सकता है।

हाइव्स

त्वचा पर लाल या गुलाबी रंग के स्पॉट्स हो सकते हैं, जिनपर काफी खुजली होती है। इन्हें हाइव्स कहा जाता है, जो कि छाती, पेट या कमर कहीं भी दिख सकते हैं और कुछ घंटों से लेकर 24 घंटों तक रह सकते हैं। यह एलर्जी के कारण होते हैं।

और पढ़ें- G6PD Deficiency : जी6पीडी डिफिसिएंसी या ग्लूकोस-6-फॉस्फेट डीहाड्रोजिनेस क्या है?

स्किन कंडीशन

स्किन कंडीशन की वजह से भी मरीज को खुजली की समस्या हो सकती है। आइए, कुछ आम त्वचा संबंधी समस्याओं के बारे में जानते हैं।

  1. हीट रैशेज की वजह से लाल या गुलाबी रंग के दाने या छाले हो सकते हैं, जो कि शरीर पर किसी भी जगह हो सकते हैं। इसके पीछे अत्यधिक गर्मी या सूरज की रोशनी हो सकती है।
  2. स्केबीज छोटे माइट के काटने की वजह से होता है, जिसे काफी गंभीर खुजली हो सकती है। इसमें शरीर पर धागे जैसे उभार या लाल लंप हो सकते हैं। यह समस्या आमतौर पर उंगलियों और पंजों के बीच, बगल, कलाई, पेट के आसपास, ग्रोइन एरिया या कूल्हों पर होती है।
  3. एक्जिमा की वजह से शरीर पर लाल, खुजली वाले, स्केली पैच बन सकते हैं। यह आमतौर पर, गाल, कोहनी, घुटनों के पीछे होते हैं, जो कि एलर्जी, हे फीवर या अस्थमा की वजह से होता है। इसे अटॉपिक डर्माटाइटिस भी कहा जाता है।
  4. सोरायसिस की वजह से त्वचा पर लाल, स्केली पैच बन जाते हैं, यह सिल्वरी व्हाइट कलर के हो सकते हैं। जो कि सिर की त्वचा, घुटने, कोहनी, नाभी और कूल्हों के बीच होता है।
  5. ऑब्सटेट्रिक कोलेस्टासिस एक असामान्य कंडीशन है, जो कि प्रेग्नेंसी के आखिरी चार महीने में हो सकती है। इससे रैशेज के बिना पूरे शरीर में सिर्फ खुजली की समस्या हो सकती है।

और पढ़ें- Pityriasis rosea: पिटिरियेसिस रोजिया क्या है?

निदान

खुजली का पता कैसे चलता है?

खुजली का पता निम्नलिखित तरीकों से किया जा सकता है। जैसे-

  • शारीरिक जांच की मदद से डॉक्टर यह पता लगाता है कि आपको कितने समय से खुजली हो रही है। यह शरीर के किस-किस हिस्से में होती है। यह दिखने में कैसी होती है। आपकी एलर्जी की स्थिति, मेडिकल हिस्ट्री और खुजली की गंभीरता को भी देखा जाता है।
  • ब्लड टेस्ट की मदद से भी आपकी इंटरनल डिजीज के बारे में पता लगाया जाता है।
  • स्किन टेस्ट की मदद से आपको एलर्जिक रिएक्शन की आशंका देखी जाती है।
  • थायरॉइड, लिवर और किडनी की समस्या के कारण भी खुजली हो सकती है। इसलिए, थायरॉइड, लिवर और किडनी टेस्ट भी किया जा सकता है।
  • इंफेक्शन का पता करने के लिए स्क्रेपिंग या बायोप्सी की मदद भी ली जा सकती है।

और पढ़ें- Marfan syndrome : मार्फन सिंड्रोम क्या है?

रोकथाम और नियंत्रण

खुजली को नियंत्रित कैसे किया जा सकता है?

खुजली को नियंत्रित करने के लिए निम्नलिखित तरीके अपनाएं। जैसे-

  1. रूखी त्वचा से निजात पाने के लिए नहाने के बाद मॉश्चराइजर का इस्तेमाल करें और ज्यादा गर्म पानी से न नहाएं।
  2. शरीर को हाइड्रेट रखने के लिए खूब पानी पीएं।
  3. केमिकल युक्त साबुन, परफ्यूम आदि का इस्तेमाल न करें।
  4. सनबर्न से बचने के लिए सनस्क्रीन लगाएं
  5. एलर्जी पैदा करने वाले कारणों का पता करके उनसे दूरी बनाएं।
  6. खुजली होने पर खरोंचने की बजाय ठंडा पानी में भींगा कपड़ा उसपर रखें।

और पढ़ें- Tachycardia : टायकिकार्डिया क्या है?

उपचार

खुजली का उपचार कैसे किया जाता है?

खुजली का इलाज उसके प्रकार पर निर्भर करता है। जिसमें डॉक्टर निम्नलिखित तरीकों को अपना सकता है। जैसे-

  1. कॉर्टिकोस्टेरॉइड क्रीम या ऑइंटमेंट को खुजली से प्रभावित जगह पर इस्तेमाल करवाया जा सकता है। जिसके बाद उसे कॉटन की मदद से कवर भी किया जा सकता है, जिससे क्रीम या ऑइंटमेंट में मौजूद दवा और कूलिंग इफेक्ट त्वचा द्वारा अवशोषित कर लिया जाए। इसके अलावा, अन्य क्रीम या ऑइंटमेंट, टॉपिकल एनेसथेटिक्स आदि की मदद भी ली जा सकती है।
  2. प्रोजैक या जोलोफ्ट जैसी एंटीडिप्रेसेंट दवा का सेवन भी क्रॉनिक इचिंग से राहत दिलाने में मदद कर सकता है।
  3. लाइटथेरिपी की मदद से खुजली की समस्या का इलाज करने की कोशिश की जा सकती है। जिसमें एक विशेष रोशनी का त्वचा पर संपर्क करवाया जाता है। इसके आपको एक से ज्यादा सेशन लेने पड़ सकते हैं।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Itching – https://medlineplus.gov/itching.html – Accessed on 5/6/2020

Pruritus – https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2924137/ – Accessed on 5/6/2020

Itchy skin – https://www.healthdirect.gov.au/itchy-skin – Accessed on 5/6/2020

Diagnosis and treatment of pruritus – https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5729138/ – Accessed on 5/6/2020

Itchy skin (pruritus) – https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/itchy-skin/symptoms-causes/syc-20355006 – Accessed on 5/6/2020

लेखक की तस्वीर badge
Surender aggarwal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 08/06/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x