आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Red Circle On the Skin: त्वचा पर लाल चकत्ते सिर्फ एक नहीं, बल्कि कई स्किन डिजीज की ओर इशारा कर सकते हैं!

    Red Circle On the Skin: त्वचा पर लाल चकत्ते सिर्फ एक नहीं, बल्कि कई स्किन डिजीज की ओर इशारा कर सकते हैं!

    त्वचा से जुड़ी कई अलग-अलग तरह की तकलीफें होते हैं, जो तकरीबन एक जैसे नजर आ सकते हैं जैसे त्वचा पर लाल चकत्ते (Red Circle On the Skin) होना। अब ऐसी स्थिति में हमसभी के लिए यह समझना मुश्किल होता है कि स्किन डिजीज कौन से है? इसलिए आज इस आर्टिकल में त्वचा पर लाल चकत्ते (Red Circle On the Skin) से जुड़ी परेशानियों को समझेंगे और उससे कैसे बचा जाये यह भी जानेंगे।

    और पढ़ें : Skin Lesions: स्किन लीजन क्या है? जानिए स्किन लीजन का कारण, इलाज और घरेलू उपाय

    • कौन-कौन सी स्किन डिजीज की हो सकती है संभावना?
    • फेस पर लाल चकत्ते का इलाज कैसे किया जाता है?
    • त्वचा पर लाल चकत्ते की समस्या होने पर डॉक्टर से कब कंसल्ट करना जरूरी है?

    चलिए अब त्वचा पर लाल चकत्ते से जुड़े इन सवालों का जवाब जानते हैं।

    और पढ़ें : Blind Pimple: ब्लाइंड पिंपल से छुटकारा पाने के लिए 7 घरेलू उपाय एवं 9 टिप्स कर सकते हैं फॉलो!

    त्वचा पर लाल चकत्ते (Red Circle On the Skin): कौन-कौन सी स्किन डिजीज की हो सकती है संभावना?

    त्वचा पर लाल चकत्ते (Red Circle On the Skin)

    स्किन पर लाल चकत्ते होने पर निम्नलिखित स्किन डिजीज का खतरा हो सकता है। जैसे :

    • पिटिरियेसिस रोजिया (Pityriasis rosea)- यह स्किन से जुड़ी समस्या है, जिसमें बॉडी पर रेड रैशेश नजर आते हैं। स्किन पर लाल चकत्ते धीरे-धीरे बॉडी के अन्य हिस्सों में फैलना शुरू हो जाती है। यह परेशानी सबसे ज्यादा चेस्ट, बैक या स्टमक पर सबसे ज्यादा देखी जा सकती है। ऐसा माना जाता है कि पिटिरियेसिस रोजिया (Pityriasis rosea) की समस्या महिलाओं के मुकाबले पुरुषों में ज्यादा देखे जाते हैं।
    • कॉन्टेक्ट डर्मेटाइटिस (Contact dermatitis)- कॉन्टेक्ट डर्माटाइटिस स्किन डिजीज है। इस स्किन डिजीज में त्वचा पर लाल चकत्ते के साथ-साथ खुजली और रैशेश की भी समस्या होती है। खुजली की समस्या की वजह से परेशानी महसूस हो सकती है। इसके होने का मुख्य कारण किसी चीज से एलर्जी का होना है। एलर्जी के लिए साबुन, कॉस्मेटिक्स, खूशबू, ज्वैलरी और पौधों से आदि शामिल हो सकते हैं। कॉन्टेक्ट डर्माटाइटिस का इलाज आसानी से किया जा सकता है। लेकिन, इसके इलाज के लिए ये जानना बेहद जरूरी होता है कि एलर्जी किस चीज से हुई है। अगर आप एलर्जी पैदा करने वाले वस्तु से दूरी बना लेंगे तो खुजली और रैशेश दो या चार हफ्ते में ठीक हो जाएंगे।
    • न्यूमुलर एक्जिमा (Nummular eczema)- न्यूमुलर एक्जिमा की समस्या को न्यूमुलर डर्मेटाइटिस (nummular dermatitis) या डिस्कॉइड एक्जिमा (Discoid eczema) भी कहते हैं। न्यूमुलर एक्जिमा की समस्या होने पर त्वचा पर लाल चकत्ते के साथ-साथ जलन जैसी समस्या भी महसूस हो सकती है। न्यूमुलर एक्जिमा की समस्या ह्यूमिड क्लाइमेट (Humid climates) में और ज्यादा बढ़ सकती है।
    • ग्रेन्युलोमा एन्युलारे (Granuloma annulare)- ग्रेन्युलोमा एन्युलारे रेयर स्किन कंडिशन (Skin condition) है, जिसमें त्वचा पर लाल निशान होने के साथ-साथ उभार भी आसानी से देखे जा सकते हैं। ग्रेन्युलोमा एन्युलारे लाल रंग के अलावा पीला, गुलाबी या पर्पल भी नजर आ सकता है। इस स्किन डिजीज में दर्द की समस्या तो महसूस नहीं होती है, लेकिन खुजली जरूर होती है।
    • सोरायसिस (Psoriasis)- सोरायसिस ऑटोइम्यून डिजीज है, जो एक त्वचा संबंधी समस्या है। इससे पीड़ित व्यक्ति को त्वचा में जलन के साथ त्वचा पर अलग तरह के चकत्ते और सूजन जैसे लक्षण नजर आते हैं, जिसका इलाज ठीक तरह से नहीं करवाया जाए तो तकलीफ बढ़ सकती है। तकलीफ बढ़ने पर त्वचा पर अत्यधिक खुजली होना, जोड़ों में जकड़न महसूस होना या स्किन का अत्यधिक ड्राय पड़ना महसूस किया जा सकता है।
    • लाइम डिजीज (Lyme disease)- लाइम डिजीज बैक्टीरिया के कारण होने वाली स्किन डिजीज है। यह बीमारी बोरेलिया बर्गडोरफेरी बैक्टीरिया या इन्फेक्टेड ब्लैकलेग्ड टिक के काटने की वजह से फैलती है। इसके लक्षण काटने के 3 दिनों से लेकर 30 दिनों तक नजर आ सकते हैं। वैसे लक्षण इंफेक्शन पर भी निर्भर करता है कि शरीर में कितना बैक्टीरिया फैला है। लाइम रोग की वजह से बुखार, सिरदर्द, कमजोरी, बदन दर्द, लिंफ नोड्स में सूजन जैसी समस्याएं होती हैं।
    • ल्यूपस (Lupus)- ल्यूपस इम्यून सिस्टम से जुड़ी समस्या है। इस बीमारी में हमारा इम्यून सिस्टम अपने शरीर के तत्व और बाहरी एंटीजन के बीच अंतर नहीं कर पाता। इसकी वजह से इम्यून सिस्टम अपने ही शरीर की कोशिकाओं के ऊपर आक्रमण करने लगेगा जिससे शरीर को आंतरिक रूप से हानि हो सकती है।

    फेस पर लाल चकत्ते होने पर ऊपर बताई गई स्किन डिजीज हो सकती है।

    फेस पर लाल चकत्ते का इलाज कैसे किया जाता है? (Treatment for Red Circle On the Skin)

    फेस पर लाल चकत्ते होने पर सबसे पहले इसके कारणों को ध्यान में रखकर इलाज किया जाता है और इलाज के दौरान निम्नलिखित दवाओं की मदद ली जा सकती है। जैसे:

    • एमोलिएंट्स (Emollients) मॉइस्चराइजिंग ट्रीटमेंट की तरह इस्तेमाल किया जाता है, जो त्वचा को शांत और हाइड्रेट करने, खुजली को कम करने और सूजन को रोकने में मदद करते हैं।
    • कॉर्टिकॉस्टेरॉइड्स (Corticosteroids) एवं एंटीबायोटिक (Antibiotics) मेडिसिन प्रिस्क्राइब की जा सकती है।
    • त्वचा पर लाल चकत्ते के इलाज के लिए लाइट थेरिपी (Light therapy) जैसे अल्ट्रावॉयलेट लाइट थेरिपी (Ultraviolet light therapy) एवं क्रायोथेरिपि (Cryotherapy) की भी मदद ली जा सकती है।

    इन्हीं अलग-अलग तरीकों से त्वचा पर लाल चकत्ते का इलाज किया जा सकता है।

    और पढ़ें : Hyaluronic Acid For Skin: जानिए शरीर एवं त्वचा के लिए हाईऐल्युरोनिक एसिड के 10 फायदे!

    त्वचा पर लाल चकत्ते की समस्या होने पर डॉक्टर से कब कंसल्ट करना जरूरी है? (Consult Doctor if-)

    निम्नलिखित स्थितियों में डॉक्टर से कंसल्ट करना जरूरी है। जैसे:

    • लाल चकत्ते का पूरे शरीर पर फैलना।
    • रैश की वजह से दर्द होना।
    • इंफेक्शन (Infection) होना।
    • लाल चकत्ते पर फफोले होना।
    • लाल चकत्ते का प्राइवेट ऑर्गन के आसपास होना।
    • थकान (Fatigue) महसूस होना।
    • जोड़ों में दर्द (Joint pain) की समस्या होना।

    इन ऊपर बताई गई स्थितियों के साथ-साथ अमेरिकन एकेडमी ऑफ डर्मेटोलॉजी (American Academy of Dermatology) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार अगर बुखार या सांस लेने में तकलीफ महसूस हो, तो जल्द से जल्द डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए।

    नोट: स्किन से जुड़ी समस्याओं के इलाज में वक्त लगता है। इसलिए ट्रीटमेंट के दौरान लापरवाही ना बरतें और डॉक्टर द्वारा दिए गए एडवाइस और दवाओं का सेवन समय पर करें। स्किन प्रॉब्लेम को दूर करने के लिए डॉक्टर क्रीम भी प्रिस्क्राइब कर सकते हैं, उन क्रीम्स का इस्तेमाल भी समय-समय पर करते हैं। इसके साथ ही डॉक्टर द्वारा दिए गए समय पर कंसल्टेशन रूटीन को भी फॉलो करें।

    हमें उम्मीद है कि इस आर्टिकल में त्वचा पर लाल चकत्ते (Red Circle On the Skin) से जुड़ी जानकारी आपके लिए लाभकारी होंगी। इसलिए अगर आप लंबे वक्त से त्वचा पर लाल चकत्ते (Red Circle On the Skin) के शिकार हैं और यह परेशानी दूर नहीं हो रही है, तो ऐसी स्थिति में डॉक्टर से कंसल्ट करें। डॉक्टर बीमरी की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए मेडिसिन प्रिस्क्राइब कर सकते हैं। स्किन प्रॉब्लेम (Skin problem) से जुड़ी किसी भी जानकारी के लिए आप हैलो स्वास्थ्य के त्वचा संबंधी समस्याओं पर क्लीक करें।

    आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज के बारे में जानें संपूर्ण जानकारी नीचे दिए इस वीडियो लिंक को क्लिक कर। आयुर्वेदिक ब्यूटी एक्सपर्ट पूजा नागदेव खास जानकारी साझा कर रहीं हैं आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज की, जिससे आप आसानी से अपना सकती हैं और चेहरे पर एक्ने के दाने या अन्य दाग-धब्बों को दूर करने के उपाय।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    RASH 101 IN ADULTS: WHEN TO SEEK MEDICAL TREATMENT/https://www.aad.org/public/everyday-care/itchy-skin/rash/rash-101/Accessed on 27/05/2022

    Rashes/https://medlineplus.gov/rashes.html/Accessed on 27/05/2022

    Ringworm/https://www.cdc.gov/fungal/diseases/ringworm/index.html/Accessed on 27/05/2022

    What’s that rash?: with pictures/https://www.health.qld.gov.au/news-events/news/whats-that-rash-with-pictures-eczema-dermatitis-hives-heat-rash-rosacea/Accessed on 27/05/2022

    Skin/https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/Accessed on 27/05/2022

    लेखक की तस्वीर badge
    Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 30/05/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: