आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Hard Lump Under The Skin: त्वचा के नीचे कठोर गांठ की समस्या है? जानिए इससे जुड़ी महत्वपूर्ण बातें।

    Hard Lump Under The Skin: त्वचा के नीचे कठोर गांठ की समस्या है? जानिए इससे जुड़ी महत्वपूर्ण बातें।

    त्वचा के ऊपरी हिस्से में होने वाले बदलाव या तकलीफों को आसानी से समझा जा सकता है, लेकिन अगर कोई भी परेशानी शरीर के अंदुरुनी हिस्से में शुरू हो जाए तो इसे देख तो नहीं सकते लेकिन महसूस कर सकते हैं। ऐसी ही एक समस्या है त्वचा के नीचे कठोर गांठ (Hard Lump Under The Skin) की। स्किन के अंदर कठोर गांठ की समस्या गंभीर नहीं हो सकती है, लेकिन इसे इग्नोर करना भी ठीक नहीं है। इसलिए आज इस आर्टिकल में त्वचा के नीचे कठोर गांठ (Hard Lump Under The Skin) की समस्या को समझेंगे।

    और पढ़ें : Skin Lesions: स्किन लीजन क्या है? जानिए स्किन लीजन का कारण, इलाज और घरेलू उपाय

    स्किन के अंदर कठोर गांठ की समस्या के कई कारण हो सकते हैं, लेकिन इसका इलाज किया जा सकता है। गांठ की समस्या को प्रायः कैंसरस माना जाता है, लेकिन स्किन में होने वाले हर गांठ कैंसरस नहीं होते हैं। इसलिए इससे घबराना नहीं चाहिए। वैसे अगर आप त्वचा के नीचे कठोर गांठ की समस्या महसूस कर रहें हैं, तो त्वचा के नीचे कठोर गांठ के कारणों को समझना चाहिए।

    • त्वचा के नीचे कठोर गांठ के कारण क्या हो सकते हैं?
    • त्वचा के नीचे कठोर गांठ के लक्षण क्या हो सकते हैं?
    • त्वचा के नीचे कठोर गांठ का निदान कैसे किया जाता है?
    • त्वचा के नीचे कठोर गांठ का इलाज कैसे किया जाता है?
    • त्वचा के नीचे कठोर गांठ की समस्या होने पर डॉक्टर से कब कंसल्ट करना जरूरी है?

    चलिए अब स्किन के नीचे हार्ड लम्प से जुड़े इन सवालों का जवाब जानते हैं।

    त्वचा के नीचे कठोर गांठ के कारण क्या हो सकते हैं? (Cause of Hard Lump Under The Skin)

    त्वचा के नीचे कठोर गांठ (Hard Lump Under The Skin)

    निम्नलिखित स्थिति त्वचा के नीचे कठोर गांठ के कारण बन सकते हैं। जैसे:

    • सिस्ट (Cysts)
    • डर्मेटोफिब्रोमा (Dermatofibroma)
    • स्वॉलेन लिम्फ नोड (Swollen lymph node)
    • लिपोमास (Lipomas)
    • फाइब्रोएडीनोमा (Fibroadenoma)
    • स्किन टैग (Skin Tag)
    • वार्ट्स (Wart)

    ये हैं त्वचा के नीचे कठोर गांठ के कारण। चलिए अब इसके लक्षणों को समझते हैं, जिससे इस तकलीफ को समझने में आसानी हो और इलाज भी जल्द से जल्द से जल्द करवाया जा सके।

    और पढ़ें : Hyaluronic Acid For Skin: जानिए शरीर एवं त्वचा के लिए हाईऐल्युरोनिक एसिड के 10 फायदे!

    त्वचा के नीचे कठोर गांठ के लक्षण क्या हो सकते हैं? (Symptoms of Hard Lump Under The Skin)

    त्वचा के नीचे कठोर गांठ के लक्षण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे:

    • गांठ का सॉफ्ट (Soft) या स्क्विशी (Squishy) होना।
    • गांठ का एक जगह से दूसरे जगह जाना।
    • कुछ गांठ का एक ही जगह पर फिक्स होना।
    • गांठ का हार्ड महसूस होना।
    • गांठ में सूजन (Swollen) आना।
    • लम्प में रेडनेस होना।
    • लम्प में दर्द (Pain) महसूस होना।
    • गांठ में छेद होना।
    • गांठ का त्वचा के अंदर साफ नजर आना।
    • लम्प का साइज (Size) बढ़ते जाना।

    अगर ऐसे लक्षण महसूस किये जा रहें हैं, तो उसे इग्नोर नहीं करना चाहिए। क्योंकि भले ही यह गांठ कैंसरस ना हों, लेकिन इसका इलाज जरूर करवाना चाहिए।

    और पढ़ें : Blind Pimple: ब्लाइंड पिंपल से छुटकारा पाने के लिए 7 घरेलू उपाय एवं 9 टिप्स कर सकते हैं फॉलो!

    त्वचा के नीचे कठोर गांठ का निदान कैसे किया जाता है? (Diagnosis of Hard Lump Under The Skin)

    त्वचा के नीचे कठोर गांठ के निदान के लिए डॉक्टर सबसे पहले लम्प को मॉनिटर करते हैं और पेशेंट से स्किन के अंदर गांठ के लक्षण को समझते हैं। इसके बाद पेशेंट की मेडिकल हिस्ट्री समझने के बाद निम्नलिखित टेस्ट करवाने की सलाह देते हैं। जैसे:

    • इमेजिंग टेस्ट (Imaging tests)- इस टेस्ट के अंतर्गत एमआरआई (MRIs), सीटी स्कैन (CT scans), एक्स-रे (X-rays) एवं अल्ट्रासाउंड (Ultrasounds) आता है, जिससे गांठ के आकार उससे जुड़ी जानकारियों को समझने में मदद मिलती है।
    • ब्लड टेस्ट (Blood test)- हॉर्मोनल इम्बैलेंस को समझने के लिए ब्लड टेस्ट की जाती है।
    • निडिल बायोप्सी (Needle biopsy)- लम्प के अंदर की टिशू की स्थिति को समझने के लिए निडिल बायोप्सी की जाती है।

    इन अलग-अलग तरहों से लम्प को पहले डायग्नोस किया जाता है और फिर त्वचा के नीचे कठोर गांठ का इलाज शुरू किया जाता है।

    और पढ़ें : हाइड्रोजन पेरोक्साइड और स्किन कंडिशन: क्यों स्किन के लिए हाइड्रोजन पेरोक्साइड का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए?

    त्वचा के नीचे कठोर गांठ का इलाज कैसे किया जाता है?

    त्वचा के नीचे कठोर गांठ का इलाज इसके कारणों को समझकर किया जाता है। जैसे:

    • स्किन टैग (Skin Tag)- अगर स्किन टैग के कारण त्वचा के नीचे कठोर गांठ की समस्या हुई है, तो ऐसी स्थिति में इसे हटाने की जरूरत नहीं पड़ती है। इसे स्निप एक्सिसन (Snip excision), कॉटरी (Cautery) या क्रायोसर्जरी (Cryosurgery) की सहायता से स्किन के नीचे हार्ड लम्प की समस्या दूर करते हैं। नैशनल कैंसर इंस्टिट्यूट (National Cancer Institute) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार क्रायोसर्जरी इस्तेमाल किये जाने वाले लिक्विड नाइट्रोजन का इस्तेमाल कभी भी खुद से नहीं करना चाहिए। यह प्रोसेस हमेशा डॉक्टर से ही करवाना चाहिए, क्योंकि इससे ब्लीडिंग की संभावना बनी रहती है।
    • सिस्ट (Cysts)- अगर स्किन के नीचे हार्ड लम्प की समस्या सिस्ट की वजह से हुई है तो इलाज के दौरान स्टेरॉयड इंजेक्शन (Steroid injection) का इस्तेमाल किया जाता है। सिस्ट वाले गांठ को रिमूव करने के लिए सर्जरी की भी मदद ली जा सकती है।
    • डर्मेटोफिब्रोमा (Dermatofibroma)- अगर स्किन के नीचे हार्ड लम्प का कारण डर्मैटोफिब्रोमा है, तो इसे भी सर्जरी की मदद से हटाया जाता है।
    • स्वॉलेन लिम्फ नोड (Swollen lymph node)- सर्जरी या रेडिएशन थेरिपी की सहायता से स्वॉलेन लिम्फ नोड को हटाया जाता है।
    • लिपोमास (Lipomas)- अगर स्किन के नीचे हार्ड लम्प का कारण लिपोमास है, तो इसे हटाने की जरूरत नहीं पड़ती है। सिर्फ दवाओं से इस गांठ को कम किया जा सकता है, लेकिन अगर लिपोमास ज्यादा हों, तो ऐसी स्थिति में सर्जरी की मदद ली जा सकती है।
    • फाइब्रोएडीनोमा (Fibroadenoma)- स्किन के नीचे हार्ड लम्प का कारण अगर फाइब्रोएडीनोमा है, तो सर्जरी से ही हटाया जाता है।
    • वार्ट्स (Wart)- डॉक्टर लिक्विड नाइट्रोजन की सहायता से वार्ट्स को हटा सकते हैं, लेकिन इसकी जरूरत कम ही पड़ती है। वार्ट्स को ओवर-दि-काउंटर मेडिसिन से हटाया जा सकता है।

    इन अलग-अलग तरहों से स्किन के नीचे हार्ड लम्प की समस्या को दूर किया जाता है।

    और पढ़ें : Natural Ways To Increase Glutathione: जानिए ग्लूटाथियोन के लिए नैचुरल तरीका और इसके फायदे!

    त्वचा के नीचे कठोर गांठ की समस्या होने पर डॉक्टर से कब कंसल्ट करना जरूरी है? (Consult Doctor if-)

    अगर त्वचा के नीचे कठोर गांठ के लक्षण महसूस हों, तो निम्नलिखित स्थिति में डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए। जैसे:

    • गांठ के आकार (Lump size) या किसी तरह का बदलाव आना।
    • त्वचा के नीचे कठोर गांठ का दर्द (Painful lump) करना।
    • स्किन के नीचे कठोर गांठ का लाल (Redness) होना या सूजन (Swollen) आना।
    • शरीर का वजन (Weight loss) अपने आप हम होना।
    • तेज बुखार (High fever) आना।
    • गांठ का आकार 1 cm से बड़ा होना।
    • अचानक से हार्ड लम्प (Hard lump) का होना।

    ऐसी स्थिति में डॉक्टर से कंसल्ट करना जरूरी है।

    हमें उम्मीद है कि इस आर्टिकल में त्वचा के नीचे कठोर गांठ (Hard Lump Under The Skin) से जुड़ी जानकारी आपके लिए लाभकारी होंगी। इसलिए अगर आप लंबे वक्त से त्वचा के नीचे कठोर गांठ की समस्या के शिकार हैं और यह परेशानी दूर नहीं हो रही है, तो ऐसी स्थिति में डॉक्टर से कंसल्ट करें। डॉक्टर लिप स्किन एवं कंडिशन को ध्यान में रखकर मेडिसिन, लिप क्रीम या लिप बाम प्रिस्क्राइब कर सकते हैं। स्किन प्रॉब्लेम (Skin problem) से जुड़ी किसी भी जानकारी के लिए आप हैलो स्वास्थ्य के त्वचा संबंधी समस्याओं पर क्लीक करें।

    आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज के बारे में जानें संपूर्ण जानकारी नीचे दिए इस वीडियो लिंक को क्लिक कर। आयुर्वेदिक ब्यूटी एक्सपर्ट पूजा नागदेव खास जानकारी साझा कर रहीं हैं आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज की, जिससे आप आसानी से अपना सकती हैं और चेहरे पर एक्ने के दाने या अन्य दाग-धब्बों को दूर करने के उपाय।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 10/05/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: