आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

पैर की उंगलियों के बीच की त्वचा का छिलना : क्या आप भी है इस समस्या से परेशान?

    पैर की उंगलियों के बीच की त्वचा का छिलना : क्या आप भी है इस समस्या से परेशान?

    पैरों में अक्सर चोट लगती रहती है, जिससे पैर की उंगलियों की बीच की त्वचा कभी-कभी छिल सकती है। हालांकि, पैर की उंगलियों के बीच की त्वचा का छिलना (Skin peeling between the toes) कभी-कभी संक्रमण या स्किन कंडिशन का संकेत हो सकता है। जिसमें एलर्जिक रिएक्शन्स, बैक्टीरियल और फंगल इंफेक्शन शामिल हैं। कई बार ये नर्व डैमेज का संकेत भी हो सकता है। इस आर्टिकल में पैरों की उंगलियों के बीच की त्वचा का छिलना और इसके कारण और इलाज के बारे में बताया जा रहा है।

    पैर की उंगलियों के बीच की त्वचा का छिलना (Skin peeling between the toes) और उसके कारण

    पैर की उंगलियों के बीच की त्वचा छिलने के कारण निम्न हैं।

    जूते के कारण होने वाली डर्मेटाइटिस (Shoe contact dermatitis)

    पैर की उंगलियों के बीच की त्वचा का छिलना (Skin peeling between the toes) अक्सर शूज कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस के कारण होता है। कई लोग बहुत अधिक समय जूते पहने हुए बिताते हैं जो कई प्रकार के मटेरियल्स के बने होते हैं। जिसमें रबर, डाई आदि शामिल है। कई बार शूज का मटेरियल पैरों को इर्रिटेट कर सकता है और एलर्जिक रिएक्शन का कारण बन सकता है। इर्रिटेटेड स्किन में पीलिंग हो सकती है। कई बार शू कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस शू के प्रकार और स्टाइल पर निर्भर करता है और उंगलियों के बीच की त्वचा का छिलना शुरू हो जाता है। यह स्थिति संक्रामक नहीं होती है। इसके लक्षणों में निम्न शामिल हैं।

    • लालिमा
    • जलन
    • खुजली
    • ब्लिस्टर्स

    और पढ़ें: लाइकेन प्लानस : इस स्किन कंडिशन के बारे में जानते हैं आप? इसको ठीक होने लग जाते हैं वर्षों

    एथलीट फुट (Athlete’s foot)

    पैर की उंगलियों के बीच की त्वचा का छिलना (Skin peeling between the toes) एथलीट फुट स्किन कंडिशन के कारण भी हो सकता है। इसके नाम से स्पष्ट है कि यह स्किन कंडिशन एथलीट्स को होती है, लेकिन इसके साथ ही ये अन्य किसी को भी हो सकती है जो बहुत ज्यादा एक्सरसाइज नहीं करते उन्हें भी। यह एक फंगस के कारण होती है जिसे ट्रिकोफायटन (Trichophyton) कहा जाता है। यह फंगस अक्सर स्किन में रहते हैं, लेकिन नुकसान नहीं पहुंचाते।

    ये आमतौर पर नमी वाले वातावरण में रहते हैं जैसे कि लॉकर रूम्स, शॉवर्स और पब्लिक स्विम पूल। यहां का वातावरण उन्हें वृद्धि करने मदद करता है। गीले और नमी वाले जूते भी इन फंगस को ग्रो करने में मदद करते हैं। यह कंडिशन एक या दोनों पैरों को प्रभावित कर सकती है। पैर की उंगलियों के बीच त्वचा का छिलना अक्सर फैलने से पहले पैर की छोटी उंगलियों से शुरू होता है। यह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को हो सकती है। कई दूसरे लक्षणों में त्वचा का क्रेक होना, खुजली, लालिमा और रूखापन शामिल है।

    ट्रेंच फुट (Trench foot)

    ट्रेंच फूट की स्थिति तब पैदा होती है जब पैर बहुत देर तक गीले या ठंडे रहते हैं। जिसकी वजह से टिशूज डैमेज हो सकते हैं। नर्व, ब्लड वेसल्स और स्किन के डैमेज होने पर स्किन पीलिंग की समस्या होती है। इसकी वजह से भी पैर की उंगलियों के बीच की त्वचा का छिलना (Skin peeling between the toes) संभव है। इसके लक्षणों में निम्न शामिल हैं।

    • खुजली
    • दर्द
    • फोड़ा
    • झुनझुनी होना

    और पढ़ें: स्किन के लिए कोको बटर (Cocoa butter for skin) हो सकता है बेहद फायदेमंद!

    सेल्युलाइटिस (Cellulitis)

    पैर की उंगलियों के बीच की त्वचा का छिलना (Skin peeling between the toes) सेल्युलाइटिस के कारण भी हो सकता है। सेल्युलाइटिस एक बैक्टीरियल इंफेक्शन है जो स्किन के अंडर के टिशूज में होता है। विभिन्न प्रकार के बैक्टीरिया अक्सर त्वचा पर हानिरहित रहते हैं। हालांकि, कुछ बैक्टीरिया खरोंच और कट के माध्यम से त्वचा में प्रवेश कर सकते हैं और त्वचा गहरी परतों में संक्रमण का कारण बन सकते हैं। सेल्युलाइटिस त्वचा पर कहीं भी विकसित हो सकता है, लेकिन पैर के पंजों में सबसे आम है और पैरों तक फैल सकता है। सेल्युलाइटिस संक्रामक नहीं है। लक्षणों में शामिल हैं:

    • सूजन
    • दर्द
    • त्वचा गर्म महसूस होना
    • लालिमा
    • फफोले विकसित और छिल सकते हैं

    और पढ़ें: Red Circle On the Skin: त्वचा पर लाल चकत्ते सिर्फ एक नहीं, बल्कि कई स्किन डिजीज की ओर इशारा कर सकते हैं!

    डायसहिड्रोटिक एक्जिमा (Dyshidrotic eczema)

    पैर की उंगलियों के बीच की त्वचा का छिलना (Skin peeling between the toes) डायसहिड्रोटिक एक्जिमा के कारण हो सकता है। इस स्किन कंडिशन की वजह से हाथ की उंगलियों, पैर की उंगलियों और पैरों तलवों में खुजलीदार फफोले हो सकते हें। यह कंडिशन हर व्यक्ति में अलग तरह से होती है और कई हफ्तों तक चल सकती है।

    इस प्रकार का एक्जिमा मौसमी एलर्जी और उच्च तनाव के स्तर से जुड़ा होता है। यह स्प्रिंग सीजन के दौरान अधिक बार विकसित होता है। Dyshidrotic एक्जिमा एक से दूसरों में नहीं फैलता। पैर की उंगलियों पर डिहाइड्रोटिक एक्जिमा के अतिरिक्त लक्षणों में शामिल हो सकते हैं:

    • दर्द
    • लालिमा
    • खुजली

    पैर की उंगलियों के बीच की त्वचा का छिलना (Skin peeling between the toes) और इसका इलाज

    पैर के उंगलियों के बीच की स्किन का छिलना

    पैर की उंगलियों के बीच त्वचा छीलने का उपचार अंतर्निहित कारण पर निर्भर करेगा। उदाहरण के लिए, यदि किसी संक्रमण के कारण त्वचा छिल जाती है, तो डॉक्टर एंटीबायोटिक्स लिखेंगे। अन्य उपचार रिकमंडेशन में शामिल हैं:

    टॉपिकल मेडिसिन (Topical Medicine) का उपयोग करना

    पैर की उंगलियों और पैरों के बीच की त्वचा पर औषधीय क्रीम और मलहम लगाने से मदद मिल सकती है। हाइड्रोकार्टिसोन युक्त दवाएं सूजन और खुजली को कम कर सकती हैं।

    यदि एक फंगस इंफेक्शन का कारण बनता है, जैसा कि एथलीट फुट के मामले में होता है, तो व्यक्ति को अपनी इलाज के लिए एंटीफंगल क्रीम का उपयोग करना चाहिए। एंटीफंगल क्रीम ओवर-द-काउंटर उपलब्ध हैं, लेकिन यदि जरूरत हो तो स्ट्रॉन्ग दवाएं डॉक्टर प्रिस्क्रिप्शन पर उपलब्ध हैं।

    एलर्जन (Allergen) से बचना

    यदि कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस पैर की उंगलियों के बीच की त्वचा के छिलने का कारण बन रही है, तो जिम्मेदार एलर्जेन को पहचानने और उससे बचने से लक्षणों को विकसित होने से रोकने में मदद मिल सकती है। पैर की उंगलियों के बीच की त्वचा पर बैरियर क्रीम लगाने से जूतों के घर्षण को कम करने में मदद मिल सकती है।

    कूल कंप्रेस (Cool compress) का उपयोग करना

    खुजली और जलन को कम करने के लिए, लोग दिन में चार बार लगभग 15 से 20 मिनट के लिए एक ठंडा सेक कर सकते हैं।

    और पढ़ें: पतली और मोटी त्वचा के कार्य जानें

    पैर की उंगलियों की बीच की स्किन पीलिंग से बचा जा सकता है? (Can peeling of the skin between the toes be avoided?)

    पैर की उंगलियों के बीच की त्वचा का छिलना कुछ टिप्स अपनाकर कम किया जा सकता है या रोका जा सकता है। हर किसी के पैर कभी-कभी अपने जूतों से रगड़ सकते हैं और थोड़ी जलन पैदा कर सकते हैं, लेकिन कुछ चीजें हैं जो एक व्यक्ति कर सकता है जो पैर की उंगलियों के बीच की त्वचा को छीलने से रोक सकती है, जिसमें शामिल हैं:

    • सर्दियों में मोटे मोजे और उपयुक्त जूते पहनना
    • लॉकर रूम या सार्वजनिक पूल एरियाज में घूमते समय सैंडल पहनना।
    • ऐसे कपड़े से बने मोजे पहनना जो त्वचा से नमी को दूर करते हैं।
    • पैर की उंगलियों को जितना हो सके सूखा रखें।
    • ऐसे जूतों से परहेज करें जो बहुत टाइट हों।
    • अन्य लोगों के साथ जूते या मोजे शेयर नहीं करना।
    • पैरों को सूखने देने के लिए जब भी संभव हो थोड़ी देर नंगे पैर रहें।
    • जूतों को फिर से पहनने से पहले उन्हें सूखने का समय दें।

    डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

    पैर की उंगलियों के बीच की त्वचा का छिलना ज्यादातर लोगों के लिए समस्या का कारण नहीं बनता वे इसका इलाज घर पर ही कर सकते हैं। हालांकि, कभी-कभी डॉक्टर को दिखाना आवश्यक हो सकता है। एक व्यक्ति को डॉक्टर से बात करनी चाहिए यदि प्रारंभिक उपचार काम नहीं करता है या यदि निम्नलिखित लक्षण विकसित होते हैं:

    • पैर की उंगलियों के बीच की त्वचा काली हो जाती है
    • पैरों पर लाल धारियां दिखाई देती हैं
    • पैर छूने से गर्म रहते हैं
    • बुखार या ठंड लगना
    • पैर की उंगलियों के बीच एक दाने से द्रव का रिसाव होने लगता है

    उम्मीद करते हैं कि आपको पैर की उंगलियों के बीच की त्वचा का छिलना (Skin peeling between the toes), इसके कारण और इलाज से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 31/05/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: