सोरायसिस से बचाव के लिए इन लक्षणोंं को न करें अनदेखा...

    सोरायसिस से बचाव के लिए इन लक्षणोंं को न करें अनदेखा...

    सोरायसिस एक पुरानी त्वचा विकार है और सोरायसिस से बचाव (Psoriasis Prevention) के लिए समय रहते इसका उपचार भी बहुत जरूरी है। कुछ लोगों में सोरायसिस की समस्या का सामना भी करना पड़ सकता है। सोरायसिस का सबसे आम रूप प्लाक सोरायसिस है, जो त्वचा की कोशिकाओं को असामान्य रूप से तेजी से बढ़ने और त्वचा के ऊपर बनने का कारण बनता है। ये अतिरिक्त कोशिकाएं सूखे, खुजली वाले लाल पैच के साथ त्वचा में सूजन आने लगती है, जो कभी-कभी दर्दनाक होती हैं। यह पैच छोटे या बड़े हो सकते हैं और समय के साथ तीव्रता में भिन्न हो सकते हैं। इस समस्या को सोरियाटिक अर्थराइटिस (Psoriatic arthritis) भी कहा जाता है। यह प्रतिरक्षा प्रणाली से संबंधित समस्या है। सोरायसिस की समस्या को डायग्नोज करना मुश्किल होता है और सभी में इसके लक्षण भिन्न हो सकते हैं। सोरायसिस से बचाव (Psoriasis Prevention) के लिए जानें यहां।

    और पढ़ें : Psoriasis Triggers: सोरायसिस ट्रिगर, जिनसे बचना है बहुत जरूरी!

    सोरायसिस के लक्षण (Symptoms of Psoriasis)

    सोरायसिस के लक्षण हर व्यक्ति में अलग-अलग हो सकते हैं। अधिक सामान्य लक्षणों में से कुछ में शामिल हैं:

    और पढ़ें: क्लैमी स्किन की समस्या जब दे दस्तक, तो करें कौन से उपाय?

    सोरायसिस से बचाव के लिए इन बातों को लेकर रहें अलर्ट (Be alert about these things to prevent psoriasis)!

    सोरायसिस के लक्षण कभी भी नजर आ सकते हैं और जा सकते हैं, लेकिन इस स्थिति का कोई इलाज नहीं है। लक्षणों को रोकने का सबसे अच्छा तरीका इसके कारणों से बचना है। इसके लक्षणों की तरफ ध्यान देना जरूरी है। सोरायसिस ट्रिगर एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न हो सकता है। इसलिए उन विशिष्ट कारकों की पहचान करना महत्वपूर्ण है। सोरायसिस के प्रकोप को रोकने के लिए इन बातों का ध्यान रखना आवश्यक है:

    सोरायसिस से बचाव के लिए तनाव को कम करें (Reduce stress)

    तनाव किसी पर भी नकारात्मक प्रभाव डाल सकते हैं, लेकिन सोरायसिस वाले लोगों के लिए विशेष रूप से तनाव हानिकारक है। तनाव के लिए शरीर में कई तरह की दिक्कते होती है। जिसमें सोरायसिस की समस्या भी शामिल है।जितना हो सके अपने जीवन में तनाव शामिल होने दें। कोशिश करने के लिए यहां कुछ तरीके दिए गए हैं:

    • अपनी मेंटल हेल्थ अच्छी रखें। अधिक तनाव महसूस करने पर चिकित्सक से अपनी स्थिति और आपके जीवन में तनाव पैदा करने वाले अन्य कारकों के बारे में बात करें। इससे
    • डॉक्टर आपको उपचार बताएंगे और डॉक्टर से बात करने के बाद आप अधिक आराम महसूस कर सकते हैं।
    • योग मन और शरीर को आराम देता है, तनाव को दूर करने में मदद करता है।
    • ध्यान और विश्राम तकनीक। ध्यान करने, किसी मंत्र को दोहराने या गहरी सांस लेने के व्यायाम करने से तनाव कम करने में मदद मिल सकती है।

    और पढ़ें: Exfoliative Dermatitis: किस कारण से होती है स्किन संबंधी ये कंडीशन, जानिए यहां

    सोरायसिस से बचाव के लिए कुछ दवाओं से बचें (Avoid certain drugs)

    कुछ दवाएं शरीर की ऑटोइम्यून प्रतिक्रिया में हस्तक्षेप कर सकती हैं और सूजन का कारण बन सकती हैं, जो सोरायसिस को ट्रिगर कर सकती हैं। इन दवाओं में शामिल हैं:

    • मलेरिया की दवाएं, जैसे क्लोरोक्वीन (Chloroquine) और हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine), जिनका उपयोग मलेरिया के इलाज के लिए किया जाता है।
    • लिथियम (Lithium), जिसका उपयोग मानसिक विकारों के इलाज के लिए किया जाता है, जैसे कि डिप्रेशन के इलाज के लिए।
    • इंडरल (Inderal), जिसका उपयोग उच्च रक्तचाप के इलाज के लिए किया जाता है।
    • इंडोमेथेसिन (Indomethacin), जो गठिया के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दवा है।

    यह सभ दवा आप डॉक्टर के पर्चे में लिखने के बाद ही लें। कोई भी दवा अपने मन से न लें। पहले अपने डॉक्टर से बात किए बिना अपनी दवा लेना बंद न करें, भले ही आपको लगता हो कि अब आपको दवा की जरूरत नहीं है।

    और पढ़ें: सेलो स्किन क्या है? जानिए इन कारणों से होती है यह समस्या..

    सोरायसिस से बचाव के लिए स्किन डैमेज से बचें (Avoid skin damage)

    इस समस्या से बचाव के लिए स्किन डैमेज से बचना बहुत जरूरी है। त्वचा में किसी प्रकार की चोट कुछ लोगों में सोरायसिस को ट्रिगर कर सकती हैं। सोरायसिस को ट्रिगर करने वाली सामान्य त्वचा की चोटों में सनबर्न और खरोंच शामिल हैं। अपनी त्वचा की अच्छी देखभाल करने से इस प्रकार की स्किन डैमेज प्रॉब्लम को रोकने में मदद मिल सकती है। ऐसी गतिविधियाँ करते समय जो त्वचा को चोट पहुँचा सकती हैं, आपको हमेशा अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए, जिनमें शामिल हैं:

    यदि आप त्वचा की चोट के बाद सोरायसिस के लक्षण देखते हैं, तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें। जब इसे जल्दी पहचान लिया जाता है, तो इसका प्रभावी ढंग से इलाज किया जा सकता है।

    और पढ़ें: Skin Tag Removal: क्या स्किन टैग रिमूवल संभव है?

    सोरायसिस से बचाव के लिए संक्रमण से बचें (Avoid Infections to Prevent Psoriasis)

    सोरायसिस से बचाव के लिए किसी भी प्रकार के संक्रमण से बचें। जैसा कि सोरसासिस एक इम्यून डिजीज है, तो ऐसे में किसी भी प्रकार का इंफेक्शन सोरायसिस को ट्रिगर करने का काम कर सकता है, क्योंकि संक्रमण प्रतिरक्षा प्रणाली को प्रभावित करता है, जिससे सूजन प्रतिक्रिया होती है, खासकर बच्चों में। हालांकि, कान में दर्द या श्वसन या त्वचा संक्रमण के बाद सोरायसिस जटिल हो सकता है। यदि आपको संदेह है कि आपको कोई संक्रमण है, तो तुरंत उपचार प्राप्त करना महत्वपूर्ण है। यदि आपकी त्वचा पर कोई चोट है, जैसे कि कट या घाव है, तो उसमें हायजीन का पूरा ध्यान रखें। संक्रमण को रोकने के अन्य तरीकों में शामिल हैं:

    • दिन भर में बार-बार हाथ धोना
    • अन्य लोगों के साथ खाना, ड्रिंक या पर्सनल हायजीन वाली चीजें शामिल करने से बचें।
    • बीमार लोगों, विशेष रूप से बच्चों के संपर्क को सीमित करें।
    • शरीर में पानी की कमी न होने दें। इससे किसी भी प्रकार के इंफेक्शन को शरीर से बहार निकलने में मदद मिलती है।

    और पढ़ें : Canker sores: नासूर क्या है?

    इसके अलावा, अधिक वजन होने से सोरायसिस के लक्षण और भी बदतर हो जाते हैं। इसलिए व्यायाम और स्वस्थ आहार से आप अपने वजन को कंट्रोल में रख सकते हैं। यदि आपको बाद में परेशानी है, तो आप सहायता के लिए डायटिश्यिन की सलाद ले सकते हैं। एक पोषण विशेषज्ञ आपको यह पता लगाने में मदद करेगा कि वजन कम करने के लिए आपको हर दिन कितनी कैलोरी और कौन से विशेष खाद्य पदार्थ खाने चाहिए। कुछ खाद्य पदार्थ शरीर में सूजन का कारण बनते हैं, जो कुछ लोगों में सोरायसिस के लक्षणों को ट्रिगर कर सकते हैं। कुछ खाद्य पदार्थ जो सूजन पैदा कर सकते हैं उनमें शामिल हैं:

    • रेड मीट
    • उच्च वसा वाले खाद्य पदार्थ
    • प्रॉस्सेड फूड
    • टमाटर, आलू, और मिर्च
    • खट्टे फल

    खाद्य पदार्थ जो सूजन को कम कर सकते हैं उनमें शामिल हैं:

    • वसायुक्त मछली, जैसे सैल्मन और टूना
    • बीज, जैसे सन बीज और कद्दू के बीज
    • मेवा, विशेष रूप से अखरोट और बादाम
    • हरी पत्तेदार सब्जियां, जैसे पालक और केल

    सोरायसिस से बचाव के लिए हेल्दी डायट बहुत जरूरी है। यदि आपके आहार में कुछ पोषक तत्वों की कमी है, तो आपको विटामिन या सप्लिमेंट लेने से भी फायदा हो सकता है। लेकिन अपने आहार में विटामिन या सप्लिमेंट शामिल करने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें।

    और पढ़ें: Exfoliative Dermatitis: किस कारण से होती है स्किन संबंधी ये कंडीशन, जानिए यहां

    सोरायसिस के लक्षणों को कम करने और सोरायसिस से बचाव के लिए इसके लक्षणों को पहचाना अधिक महत्वपूर्ण है। सोरायसिस ट्रिगर या लक्षणों को रोकना हमेशा संभव नहीं हो सकता है। लेकिन अपनी उपचार योजना पर टिके रहने और ट्रिगर्स से बचने से आपके लक्षणों को कम से कम रखने में मदद मिल सकती है। सोरायसिस से बचाव के लिए अपने चिकित्सक से बात करें ।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Psoriasis. https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/psoriasis/symptoms-causes/syc  Accessed on 09 Feb,2022

    Psoriasis. https://my.clevelandclinic.org/health/diseases/6866-psoriasis  Accessed on 09 Feb,2022

    Psoriasis. https://medlineplus.gov/psoriasis.html  Accessed on 09 Feb,2022

    Psoriasis. psoriasis.org/causes Accessed on 09 Feb,2022

    Psoriasis niams.nih.gov/health-topics/psoriasis Accessed on 09 Feb,2022

    लेखक की तस्वीर badge
    डॉ. प्रणाली पाटील द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 11/02/2022 को