home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

ये घरेलू उपाय बचाएंगे ब्लीच के साइड इफेक्ट्स से

ये घरेलू उपाय बचाएंगे ब्लीच के साइड इफेक्ट्स से

ब्लीच के साइड इफेक्ट क्या हैं?

मेरे भाई की शादी होने वाली थी। एक महीने पहले ही मैंने अपने लिए तैयारियां शुरू कर दी। मैंने सोचा कि मेकअप के लिए एक हफ्ते पहले ही पार्लर जाउंगी। पार्लर वाली आंटी ने भी कहा कि चेहरे पर ब्लीच और फेशियल के बिना तो बात नहीं बन पाएगी। तो फिर क्या था, मैं चली गई पार्लर फेस को मेंटेन कराने। मैंने गलती यहां सिर्फ ये कर दी कि अपनी सेंसिटिव स्किन के बारे में एक बार भी नहीं सोचा। चेहरे में ब्लीचिंग के दौरान मुझे जलन महसूस हुई। पहले तो मैंने कोई रिएक्शन नहीं दिया पार्लर वाली आंटी को लोकिन बाद में जरूर कहा कि कैसी ब्लीचिंग की है आपने। चेहरे में जलन क्यों हो रही है? बेचारी वो भी क्या करें। मैं आपको अपनी कहानी सिर्फ इसलिए बता रही हूं क्योंकि ब्लीचिंग कराने से पहले आपको अपनी सेंसिटिव स्किन के बारे में जरूर जानकारी होनी चाहिए। अगर आप बिना जांचे-परखे फेस में कई बार ब्लीचिंग कराएंगी तो हो सकता है कि आपको दिक्कतों का सामना करना पड़ जाए। इस आर्टिकल के माध्यम से आप ब्लीच के साइड इफेक्ट के साथ ही उन घरेलू उपाय के बारें में भी पढ़ेंगी जो ब्लीचिंग के लिए यूज किए जाते हैं।

यह भी पढ़ें: क्यों जरूरी है सोने से पहले मेकअप उतारना?

क्या समस्या होती है ब्लीचिंग के दौरान ?

हम ब्लीच करने के लिए कॉस्मेटिक ब्लीच का इस्तेमाल करते हैं । जरूरत से ज्यादा ब्लीच करना सेंसिटिव स्किन के लिए हानिकारक हो सकता है और ब्लीच के साइड इफेक्ट हो सकते हैं। अगर आप अक्सर ब्लीच का इस्तेमाल करते हैं तो इससे आपकी स्किन को काफी नुकसान पहुंच सकता है। स्किन टैनिंग और डलनेस को दूर करने के लिए की जाने वाली ब्लीचिंग आपके काले बालों को तो रंग देती है लेकिन ब्लीच के साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं और आपके सामने एक नई समस्या भी खड़ी कर सकती है। अक्सर लोग चेहरे के दाग धब्बों को छिपाने के लिए भी इसका यूज करते हैं। केमिकल की अधिकता के कारण इसका ज्यादा यूज स्किन में रेडनेस के साथ ही जलन पैदा करता है और शुरू हो जाती है ब्लीच के साइड इफेक्ट। इसकी गंध बहुत तेज होती है जो कि आपकी आंखों को भी नुकसान पहुंचा सकती है।

क्या-क्या हो सकते हैं ब्लीच के साइड इफेक्ट?

ब्लीच के साइड इफेक्ट निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे:-

ब्लीच के साइड इफेक्ट 1: त्वचा पर जलन होना

चेहरे को आकर्षक बनाने की चाह में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट के साथ-साथ ब्लीच का भी इस्तेमाल करने लगते हैं। ब्लीच की वजह से चेहरे के बालों का रंग गोल्डन कलर तो हो जाता है लेकिन, ब्लीच में मौजूद केमिकल्स की वजह से चेहरे पर जलन होने लगती है। ब्लीच की वजह से स्किन लाल भी हो जाती है। अगर किसी की स्किन सेंसेटिव है तो उन्हें और ज्यादा परेशानी हो सकती है। पुणे की रहने वाली पिंकी शर्मा कहते हैं की ब्लीच करवाने के दौरान मेरी आंखें लाल हो गई और आंखों से पानी आने लगा। इस दौरान उन्हें काफी परेशानी हुई। हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है की ब्लीच में मौजूद केमिकल्स के कारण ऐसी परेशानी होती है।

[mc4wp_form id=”183492″]

ब्लीच के साइड इफेक्ट 2: स्किन होती है खराब

ब्लीच बार-बार करवाने से स्किन खराब होने लगती है या स्किन पर इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ने लगता है। ऐसी स्थिति में त्वचा बेजान होने लगती है और चेहरे का रंग भी बिगड़ने लगता है। इसमें मौजूद केमिकल्स चेहरे को जरूरत से ज्यादा सफेद करने में सक्षम तो है लेकिन, यह धीरे-धीरे चेहरे को नुकसान पहुंचती है और नेचुरल कलर खराब होने लगते हैं।

ब्लीच के साइड इफेक्ट 3: रिएक्शन का डर

ब्लीच करने या करवाने के पहले हमेशा अच्छी कंपनी और क्वॉलिटी का ही इस्तेमाल करें। ब्लीच के साइड के साइड एफ्फेक्ट्स से बचने के लिए इसमें मौजूद तत्वों को अच्छी तरह से पढ़ें या ब्यूटी एक्सपर्ट से समझें। क्योंकि ब्लीच की वजह से स्किन पर रैशेज और खुजली भी शुरू जाती है।

यह भी पढ़ें: ब्यूटी टिप्स : घर पर इस तरह बनाएं ब्लैकहेड मास्क

ब्लीच के साइड इफेक्ट से बचने के क्या हैं उपाय?

ब्लीच के साइड इफेक्ट से बचने के निम्नलिखित उपाय किये जा सकते हैं। इसलिए इन ऑप्शंन को अपनायें

ब्लीच के साइड इफेक्ट से बचने के टिप्स 1: टमाटर

स्किन को ब्लीच करने के लिए अपने चेहरे पर टमाटर के रस को लगा कर हल्के हाथों से मसाज करिएं। बाद में अपने चेहरे को ठंडे पानी से धोएं। चेहरे के दाग धब्बों के हल्का करने के लिए टमाटर का रस उपयोग किया जाता है।टमाटर में लाइकोपीन होता है जो त्वचा के लिए फायदेमंद होता है। ये अतिरिक्‍त तेल के साथ ही ब्‍लैकहेड्स को भी दूर करता है।

यह भी पढ़ें: स्किन और मेकअप से जुड़े अहम सवाल के जवाब जानने के लिए खेलें क्विज

ब्लीच के साइड इफेक्ट से बचने के टिप्स 2: मसूर की दाल

मसूर की दाल का यूज हम खाने में करते है। ये दाल स्किन के लिए बहुत ही लाभकारी होती है। मसूर की दाल के पेस्ट में नींबू का रस मिलाकर अपने चेहरे पर लगाएं। ऐसा करने से आपकी त्वचा में नेचुरल निखार आएगा

ब्लीच के साइड इफेक्ट से बचने के टिप्स 3: दही का प्रयोग

आप दही का यूज भी कर सकते हैं। दही भी एक अच्छे ब्लीच के रूप में काम करता है। दही को अपने चेहरे पर लगाकर 15 मिनट तक मसाज करें। अब इसे थोड़ी देर ऐसे ही छोड़ने के बाद अपने चेहरे को साफ पानी से धो लें। आप हफ्ते में दो से तीन बार ऐसा कर सकती हैं। आपको खुद ही निखार महसूस होगा।

यह भी पढ़ें: स्किन केयर की चिंता इन्हें भी होती है, पढ़ें पुरुष त्वचा की देखभाल से जुड़े फैक्ट्स

4. संतरे के रस में हल्दी मिलाकर अपने चेहरे पर लगाएं। जब यह सूख जाए तो इसे साफ पानी से धो लें।

5.स्किन को ब्लीच के साइड इफेक्ट्स से बचाने के लिए पपीते के पेस्ट को चेहरे में लगा सकते है। आप चाहें तो करीब दो मिनट तक इससे मसाज करें। फिर स्किन को धो लें।

ब्लीच या किसी भी कॉस्मेटिक प्रोडक्ट के इस्तेमाल से पहले उसे समझें उसके बारे में पढ़ें। इसके साथ ही यह सबसे ज्यादा जरूरी है की अपनी स्किन को अच्छी तरह से समझें। आपकी स्किन ड्राई, ऑयली या फिर सेंसेटिव है। हेल्दी स्किन के लिए हेल्दी डायट भी फॉलो करना जरूरी है। इसके साथ ही एक दिन में दो से तीन लीटर पानी का सेवन रोजाना करें।

अगर आप चेहरे पर ब्लीच इस्तेमाल करती हैं तो पहले अपनी स्किन टाइप को समझे। ब्लीच के साइड इफेक्ट से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहती हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

 

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

When skin bleaching goes wrong/https://wellcomecollection.org/articles/XJ3y1BAAAJwJXE7c/Accessed on 16/05/2020

Bleaching cream/https://dermnetnz.org/topics/bleaching-agents/Accessed on 16/05/2020

Sample records for skin lightening effect/https://worldwidescience.org/topicpages/s/skin+lightening+effect.html/Accessed on 16/05/2020

Skin Bleaching and Dermatologic Health of African and Afro-Caribbean Populations in the US: New Directions for Methodologically Rigorous, Multidisciplinary, and Culturally Sensitive Research/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5120641/Accessed on 16/05/2020

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 31/12/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड