Farsightedness (presbyopia) : दूर दृष्टि दोष क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट मार्च 10, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

परिचय

दूर दृष्टि दोष (हाइपरोपिया HYPEROPIA) क्या है?

दूर दृष्टि दोष आंखों की एक सामान्य बीमारी है। दूर दृष्टि दोष में आपको पास की चीजें धुंधली दिखाई देती हैं। दूर दृष्टि दोष में आपको दूर की चीजें स्पष्ट दिखाई देती हैं। कुछ लोगों यह समस्या बचपन से होती है। दूर दृष्टि दोष को चश्मे या कॉन्टेक्ट लैंस से ठीक किया जा सकता है। इसका दूसरा उपाय सर्जरी भी है। 40 वर्ष की आयु में ज्यादातर लोगों को दूर दृष्टि दोष के प्रभाव नजर आने लगते हैं।

प्रिंट और फोन के मैसेज को करीब से देखने पर यह उन्हें धुंधले दिखाई देते हैं। यदि आपको कभी दूर दृष्टि दोष नहीं हुआ है तो आप इससे बच नहीं सकते हैं। जिन लोगों को दूर की चीजें स्पष्ट दिखाई नहीं देती हैं, उन्हें भी यह समस्या हो सकती है। उम्र के साथ आंख के लेंस सख्त हो जाते हैं और उनके फोकस करने की क्षमता घट जाती है। उम्र बढ़ने पर पास की चीजों पर फोकस करने में हमें समस्या आती है।

कितना सामान्य है दूर दृष्टि दोष होना?

दूर दृष्टि दोष एक सामान्य समस्या है। मार्केट स्कोप (Market Scope) के एक आंकड़े के मुताबिक, 2011 में दुनियाभर में 130 करोड़ लोगों को दूर दृष्टि दोष था। 2020 तक यह आंकड़ा 211 करोड़ तक पहुंच सकता है।

लक्षण

दूर दृष्टि दोष के क्या लक्षण है?

दूर दृष्टि दोष लक्षण निम्नलिखित हैं:

  • करीब की वस्तु धुंधली दिखना
  • करीब की वस्तु को स्पष्ट रूप से देखने के लिए नजर तिरछी करना
  • आंख पर जोर पड़ना जैसे आंखों में जलन और आंखों के आसपास दर्द होना
  • लंबे वक्त तक किसी वस्तु को करीब से देखने के बाद सिर दर्द या असहजता का अहसास होना। उदाहरण के लिए पढ़ने, लिखने, कंप्यूटर और ड्राइंग बनाने के कार्य के बाद समस्या होना।

मुझे डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

करीब की चीजें धुंधली दिखाई देती हैं और दिनचर्या को पूरा करने में समस्या आती है तो डॉक्टर से संपर्क करें। एक नेत्र विशेषज्ञ आपकी आंखों की जांच करेगा और दूर दृष्टि दोष का इलाज करेगा।

कारण

दूर दृष्टि दोष होने के कारण क्या है?

दूर दृष्टि दोष का कारण निम्नलिखित है:

  • आपकी आंखें लाइट किरणों पर फोकस करती हैं। इसके बाद जो आप देख रहे हैं, उसकी तस्वीर दिमाग को भेजती हैं। कॉर्निया (cornea) आंख की बाहर की स्पष्ट परत और लेंस रेटिना की सतह पर सीधे फोकस करते हैं, जो आंखों के पीछे की लाइन को दर्शाता है। यदि आपकी आंखें या रेटिना ज्यादा छोटे हैं तो रेटिना के पीछे बनने वाली तस्वीर गलत जगह पर बनेगी। इसकी वजह से आपको धुंधला दिखाई देता है।
  • कुछ लोगों में यह समस्या वंशानुगत आ सकती है।
  • दूर दृष्टि दोष उम्र बढ़ने के साथ भी होता है।
  • उम्र बढ़ने से आंख के अंदर मौजूद प्राकृतिक लेंस का लचीलापन कम हो जाता है और वह धीरे-धीरे मोटा होने लगता है।
  • उम्र के हिसाब से आंख के भीतरी लेंस के अंदर प्रोटीन्स में बदलाव आता है। इस स्थिति में लेंस समय के हिसाब से सख्त और कम लचीला बन जाता है।
  • उम्र बढ़ने से आंख के आसपास मौजूद मांसपेशियों के फाइबर में बदलाव आता है। लेंस के कम लचीला होने पर यह करीब की वस्तु पर फोकस नहीं कर पाते हैं। इसके चलते आपको दूर दृष्टि दोष की समस्या होती है।

जोखिम

दूर दृष्टि दोष के साथ मुझे क्या समस्याएं हो सकती हैं?

भैंगापन: दूर दृष्टि दोष होने पर कुछ बच्चों की आंखों में भैंगापन विकसित हो जाता है।

जीवन की गुणवत्ता होती है कम

दूर दृष्टि दोष का इलाज न करने पर यह जीवन की गुणवत्ता को कम कर देता है। दूर दृष्टि दोष होने पर आप किसी कार्य को ठीक से पूरा नहीं कर पाते हैं। दृष्टि सीमित होने पर आप रोजमर्रा की जिंदगी में किसी भी कार्य का मजा नहीं उठा पाते हैं।

आंखों पर जोर: दूर दृष्टि दोष का इलाज न होने पर आपको किसी भी वस्तु को तिरक्षा करके देखना पड़ता है। साथ ही, फोकस बनाए रखने के लिए आपकी आंखों पर दबाव पड़ता है। इससे आपको सिर दर्द की समस्या हो सकती है।

सुरक्षा को खतरा: यदि आपको दूर दृष्टि दोष है तो यह आपके जीवन को खतरे में डाल सकता है। यदि आप किसी मशीन या गाड़ी को चला रहे हैं तो यह आपके लिए जानलेवा हो सकता है। इस स्थिति में आपको पास की वस्तु धुंधली दिखाई देगी और दुर्घटना होने की संभावना ज्यादा रहेगी।

आर्थिक नुकसान: दूर दृष्टि दोष को ठीक करने के लिए करेक्टिव लेंस की कीमत ज्यादा हो सकती है। दूर दृष्टि दोष की जांच और चिकित्सा इलाज आपके लिए महंगा पड़ सकता है। यह आपकी जेब को अतिरिक्त रूप से नुकसान पहुंचा सकता है। यह एक ऐसा पहलु है, जिसे अनदेखा नहीं जा सकता।

यह भी पढ़ें: Bulging Eyes : कुछ लोगों की आंखें उभरी हुई क्यों होती है?

उपचार

यहां प्रदान की गई जानकारी को किसी भी मेडिकल सलाह के रूप ना समझें। अधिक जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

दूर दृष्टि दोष का निदान कैसे किया जाता है?

दूर दृष्टि दोष का निदान निम्नलिखित तरीके से किया जा सकता है:

  • डॉक्टर आंखों के एक चार्ट से अलग-अलग दूर से आपकी आंखों की दृष्टि की जांच कर सकता है।
  • जांच के नतीजों के हिसाब से डॉक्टर डाइलेटेड आई एग्जाम (dilated eye exam) की सलाह दे सकता है।
  • इस जांच के लिए नेत्र विशेषज्ञ आपकी आंखों की पुतली को चौड़ा करने के लिए ड्रॉप डालेगा।
  • पुतली के चौड़ा होने पर डॉक्टर आसानी से आंखों के पीछे स्पष्ट रूप से देखने में सक्षम होगा।
  • आंखों की करीब से जांच करने के लिए डॉक्टर आर्वधक लेंस (मैग्नीफायिंग लेंस) का इस्तेमाल कर सकता है।
  • डॉक्टर आपको कई प्रकार के लेंसों से देखने के लिए कह सकता है, जिससे करीब की वस्तु स्पष्ट रूप से नजर आये।
  • अक्सर स्कूलों में आंखों की जांच करते वक्त दूर दृष्टि दोष की जांच नहीं होती है। ज्यादातर मामलों में बच्चों को किसी चार्ट से दूर खड़ा करके जांच की जाती है।
  • यदि किसी बच्चो को दूर की वस्तु दिखाई नहीं देती है तो उसमें निकट दृष्टि दोष माना जाता है।
  • दूर दृष्टि या निकट दृष्टि दोष का पता लगाने के लिए निमयित रूप से नेत्र विशेषज्ञ से परामर्श लें।
  • यदि आपका बच्चा किसी वस्तु को तिरक्षा करके देखता है तो तत्काल चिकित्सा सहायता लें।
  • बच्चे के सिर दर्द या धुंधला दिखने की शिकायत करने पर तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।

यह भी पढ़ें: नेत्रहीन व्यक्ति भी सपनों की दुनिया में लगाता है गोते, लेकिन ऐसे

दूर दृष्टि दोष का इलाज कैसे होता है?

दूर दृष्टि दोष का इलाज निम्नलिखित तरीके से किया जाता है:

सामान्यतः डॉक्टर के सुझाए गए चश्मे या कॉन्टेक्ट लेंस से इसका इलाज किया जाता है। यह लेंस आंख में प्रवेश करने वाली रौशनी का रास्ता बदल देते हैं। इससे आपको बेहतर तरीके से फोकस करने में मदद मिलती है। युवाओं में दूर दृष्टि दोष को ठीक किया जा सकता है, चूंकि उनकी आंखों के लिए लेंस काफी लचीले होते हैं। हकीकत में बच्चों के कई मामलों में दूर दृष्टि दोष को ठीक करने की आवश्यकता नहीं पड़ती है।

यदि बच्चे को निम्नलिखित समस्याएं होती हैं तो नेत्र विशेषज्ञ उसे चश्मा लगाने की सलाह दे सकता है:

  • विजन और आंखों के बीच में एक बड़ा अंतर होना
  • बच्चे की आंख में भैंगापन विकसित होना
  • बच्चों की दृष्टि का बुरी तरह प्रभावित होना

यह भी पढ़ें: क्या माइग्रेन की समस्या सिर्फ घरेलू उपचार से ठीक हो सकता है?

रिफ्रेक्टिव सर्जरी

रिफ्रेक्टिव सर्जरी दूर दृष्टि दोष को ठीक कर सकती है। इस सर्जरी में लेजर-असिस्टेड सीटू केराटोमिलेउसिस (laser-assisted in-situ keratomileusis) (LASIK) की मदद ली जाती है। इस सर्जरी से कॉर्निया (Cornea) के आकार में बदलाव किया जाता है, जिससे रौशनी सही तरीके से अपवर्तित हो जाए और रेटिना पर एक केंद्रित छवि का निर्माण करे। रिफ्रेक्टिव सर्जरी चश्मा पहनने के बराबर सुरक्षित नहीं होती है। हालांकि, दुर्लभ मामलों में गंभीर समस्याएं नजर आती हैं। संभवतः यह आपकी दृष्टि को नुकसान पहुंचा सकता है।

इस सर्जरी के संभावित नुकसान निम्नलिखित हैं:

  • दृष्टि का कम या ज्यादा होना
  • संक्रमण
  • ड्राई आंखें

लेजर एपिथेलियल केराटोमिलेउसिस (Laser epithelial keratomileusis) (LASEK): इस सर्जरी में एक लेजर की मदद से कॉर्निया के बाहरी किनारों के आकार को रिशेप किया जाता है।

फोटोरिफ्रेक्टिव केराटेक्टोमी (Photorefractive keratectomy) (PRK): इस सर्जरी में डॉक्टर कॉर्निया की बाहरी परत को हटा देते हैं। यह सर्जरी लेसेक (LASEK) के समान होती है। करीब 10 दिनों के बाद यह बाहरी परत दोबारा विकसित हो जाती है।

निम्नलिखित स्थितियों में सर्जरी की सलाह नहीं दी जाती है:

घरेलू उपचार

जीवनशैली में होने वाले वदलाव क्या हैं, जो मुझे दूर दृष्टि दोष को ठीक करने में मदद कर सकते हैं?

  • दूर दृष्टि दोष के ज्यादातर मामलों में चिकित्सा निदान द्वारा इसका उपचार किया जाता है। हालांकि, कुछ घरेलू उपाय हैं, जिन्हें अपनाकर इसकी रोकथाम की जा सकती है।
  • आंखों की समस्या का समय पर पता लगाने के लिए नियमित आंखों की जांच कराएं।
  • यदि आपको कोई पुरानी बीमारी है तो जल्द से जल्द इसका इलाज कराएं।
  • हाई ब्लड प्रेशर या डायबिटीज जैसी बीमारियों सीधे आपकी आंखों को प्रभावित करती हैं। नियमित रूप से चिकित्सा जांच के साथ डॉक्टर की सलाह का पालन करें।
  • यदि आपको मौजूदा समय में आखों की समस्याएं जैसे ग्लूकोमा (Glaucoma) है तो डॉक्टर की सलाह का पालन करें।
  • यदि दृष्टि में परिवर्तन आता है या आंखों में दर्द होता है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।
  • आंखों के लाल होने या आंखों से डिस्चार्ज होने की स्थिति में तत्काल डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।
  • आंखों पर रौशनी के दबाव को कम करने के लिए घर और ऑफिस में अच्छी लाइटिंग व्यवस्था करें।
  • यदि आप दिन का एक लंबा समय कंप्यूटर या किताबें पढ़ने में गुजारते हैं तो आंखों को आराम अवश्य दें।
  • अंधेरे में किसी भी वस्तु को ज्यादा करीब से देखने का प्रयास न करें। इससे आपकी आंखों पर दबाव पड़ता है।

इस संबंध में आप अपने डॉक्टर से संपर्क करें। क्योंकि आपके स्वास्थ्य की स्थिति देख कर ही डॉक्टर आपको उपचार बता सकते हैं।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

और पढ़ें:-

Glaucoma surgery : ग्लॉकोमा सर्जरी क्या है?

घर पर आंखों की देखभाल कैसे करें? अपनाएं ये टिप्स

आंखों में खुजली या जलन (Eye Irritation) कम करने के घरेलू उपाय

आंख में कैंसर के लक्षण बताएगा क्रेडेल ऐप

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

संबंधित लेख:

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    ALS Dementia: एएलएस डेमेंशिया क्या है?

    जानिए एएलएस डेमेंशिया क्या है in hindi, एएलएस डेमेंशिया के कारण, जोखिम और उपचार क्या है, als dementia को ठीक करने के लिए आप इस तरह के घरेलू उपाय अपना सकते हैं।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
    के द्वारा लिखा गया Sunil Kumar
    हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z मार्च 25, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

    Male urinary incontinence: पुरुषों में यूरिनरी इनकॉन्टिनेंट क्या है?

    जानिए पुरुषों में यूरिनरी इनकॉन्टिनेंट क्या है in hindi, पुरुषों में यूरिनरी इनकॉन्टिनेंट के कारण, जोखिम और उपचार क्या है, urinary incontinence in male को ठीक करने के लिए आप इस तरह के घरेलू उपाय अपना सकते हैं।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Sunil Kumar
    हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z मार्च 19, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

    Alcohol Addiction: शराब की लत क्या है?

    जानिए शराब की लत क्या है in hindi, शराब की लत के कारण, जोखिम और उपचार क्या है, palcohol addiction को ठीक करने के लिए आप इस तरह के घरेलू उपाय अपना सकते हैं।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Sunil Kumar
    हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z मार्च 18, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

    Intracranial Hematoma: इंट्राक्रेनियल हेमाटोमा क्या है?

    जानिए इंट्राक्रेनियल हेमाटोमा क्या है in hindi, इंट्राक्रेनियल हेमाटोमा के कारण, जोखिम और उपचार क्या है, intracranial hematoma को ठीक करने के लिए आप इस तरह के घरेलू उपाय अपना सकते हैं।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
    के द्वारा लिखा गया Sunil Kumar
    हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z मार्च 18, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

    Recommended for you

    चश्में के प्रकार/types of specs

    जानें, चश्में के प्रकार क्या हैं, आपके लिए कौन सा बेस्ट है?

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
    के द्वारा लिखा गया shalu
    प्रकाशित हुआ मई 22, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
    इलेक्ट्रोनिस्टेग्मोग्राफी - Electronystagmography

    Electronystagmography: इलेक्ट्रोनिस्टेग्मोग्राफी क्या है?

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
    के द्वारा लिखा गया Anu sharma
    प्रकाशित हुआ मई 4, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
    प्रेग्नेंसी में विजन प्रॉब्लम होता है क्या? जाने इसके कारण

    प्रेग्नेंसी में विजन प्रॉब्लम होता है क्या? जाने इसके कारण

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shivam Rohatgi
    प्रकाशित हुआ अप्रैल 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
    जंपिंग फ्रेंचमैन ऑफ मेन-jumping frenchmen of maine

    Jumping Frenchmen of Maine: जंपिंग फ्रेंचमैन ऑफ मेन क्या है?

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Sunil Kumar
    प्रकाशित हुआ मार्च 26, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें