backup og meta

5 बातें जो मैंने मेन्स्ट्रुअल कप के इस्तेमाल के बाद सीखी

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. प्रणाली पाटील · फार्मेसी · Hello Swasthya


Kanchan Singh द्वारा लिखित · अपडेटेड 01/06/2020

5 बातें जो मैंने मेन्स्ट्रुअल कप के इस्तेमाल के बाद सीखी

एक शिक्षित और सामाजिक रूप से जागरुक लड़की होने के नाते मैं हमेशा नई चुनौतियों के लिए तैयार रहती हूं और बाज़ार में आई नई चीज़ों को ट्राई करती हूं। मेन्स्ट्रुअल कप ऐसी चीज़ थी जिसके बारे में मुझे अपनी एक सहेली से पता चला। इस कप का इस्तेमाल करने वाली महिलाओं के अनुभव जानने के लिए मैंने फेसबुक पर कई सस्टेनेबल मेन्स्ट्रुअल ग्रूप्स को जॉइन किया। मुझे पीरियड्स के दौरान इस छोटे से कप के इस्तेमाल को लेकर इंटरेस्ट था, लेकिन खुद इसके इस्तेमाल को लेकर श्योर नहीं हो पा रही थी। मैंने कई वेबसाइट पर इसके बारे में पढ़ा, लेकिन सब जगह इसके इस्तेमाल और स्टोरेज को लेकर अलग-अलग जानकारी थी।

करीब एक साल तक विचार करने के बाद, मैंने मेन्स्ट्रुअल हाइजीन पर एक वर्कशॉप अटेंड किया और महसूस किया कि कैसे सैनेटरी नैपकीन और टैम्पून पर्यावरण को नुकसान पहुंचा रहे हैं। साथ ही मैंने मेन्स्ट्रुअल कप के इस्तेमाल के फायदों के बारे में जाना और यह भी कि कैसे यह आपको पहले से कहीं ज़्यादा आज़ाद महसूस कराता है। मेन्स्ट्रुअल कप के इतने सारे फायदे जानने के बाद मैंने उस दिन इसे खरीदने का और अगले पीरियड में इस्तेमाल करने का निश्चय किया। मैंने एक अतिरिक्त कप अपनी सहेली के लिए भी लिया।

जिस दिन मेरे पीरियडस् आए, मैं बाथरूप में एक हाथ में मेन्स्ट्रुअल कप और दूसरे हाथ में मोबाइल लिए खड़ी थी। यूट्यूब पर मैं इसे इंसर्ट करने के तरीके ढूंढ़ रही थी। 200 से भी ज़्यादा ऐसे वीडियो देखने के बाद जिसमें महिलाएं कप का इस्तेमाल करने में असफल रही, मेरा डर कम नहीं हुआ, लेकिन मैंने दृढ़ निश्चय किया था, खुद से कहा कि हर चीज़ कभी न कभी पहली बार होती है और मुझे इसे ट्राई करना है। मैं जानती हूं कि जब दूसरी लड़कियां कर सकती हैं, तो मैं भी कर सकती हूं। मैंने पहली बार कप इंसर्ट करने की कोशिश की, लेकिन वह फिट नहीं हुआ। दूसरी बार कोशिश की और इस बार मुझे कप के आसपास वैक्यूम के वजह से एक पॉप की आवाज सुनाई दी। यकीन मानिए, मुझे इस बात का अफसोस रहा कि मुझे मेन्स्ट्रुअल कप को इंसर्ट करने में इतना समय लगा, जबकि सच तो यह है कि यह मेरी वजायना का बेस्ट फ्रेंड है।

और पढ़ें : पीरियड्स मिस होने के पहले ही मिल जाती है प्रेग्नेंसी की जानकारी!

मेन्स्ट्रुअल कप के इस्तेमाल के बाद मैंने 5 बातें सीखी-

भूल जाती हूं कि मुझे पीरियड्स आए हैं

मेन्स्ट्रुअल कप को बिना खाली किए 12 घंटों तक रखा जा सकता है। इसलिए आपको पूरे दिन में बस एक बार पीरियड्स के बारे में सोचना है। मैं सुबह नहाते समय कप इंसर्ट करती और पूरे दिन इसके बारे में भूल जाती। घर जाने के बाद मैं तुरंत बाथरूम में जाती और कप को खाली करके दोबारा इंसर्ट कर लेती। अब ऑफिस में मुझे पैड या टैम्पून को अपनी ब्रा या बैग में छुपाने की ज़रूरत नहीं पड़ती है। टैम्पून लीक होने या पैड खिसकने की टेंशन अब बीते दिनों की बात हो चुकी है।

  1. अपने शरीर को समझना

मेन्स्ट्रुअल कप को वजाइना में डालना होता है, इससे मैंने सीखा की मेरा शरीर कैसे काम करता है और मैं इसे अपने लिए कैसे और सरल प्रक्रिया बना सकती हूं। हर महिला साइज़ के हिसाब से कप को इंसर्ट करने के लिए अलग तरीके से फोल्ड करती है, मेन्स्ट्रुअल कप को इंसर्ट करने के लिए मैंने अपने वजाइना की साइज़, लंबाई और प्रकृति को समझा। अब पीरियड को लेकर मैं ज़्यादा तनाव नहीं लेती और अपने शरीर को लेकर खुश हूं। मैं अपने पीरियड साइकल को अच्छी तरह से समझती हूं, क्योंकि मुझे पता है कि इस दौरान शरीर से कितना रक्त निकला है।

[mc4wp_form id=’183492″]

और पढ़ें :  पीरियड्स क्रैंप की वजह से हैं परेशान? तो ये एक्सरसाइज हैं समाधान

  1. अब नहीं शर्माती

कप इस्तेमाल करने के पहले, पीरियड्स के दौरान में किसी और के घर पर नहीं रहना चाहती थी और न ही ट्रैवल करना चाहती थी। यदि कभी किसी दोस्त के घर रहने के दौरान या ट्रैवलिंग के दौरान पीरियड्स आ जाए तो मुझे इस्तेमाल किए हुए पैड या टैम्पून को एक बैग में छुपाना पड़ता था जिसे बाद में मैं कहीं फेंक सकूं। मैं अपने पीरियड्स के कचरे से किसी और का बाथरूम गंदा नहीं करना चाहती थी। कप के इस्तेमाल के बाद, मुझे इस बात की बिल्कुल चिंता नहीं रहती की किसी को मेरे पीरियड्स के बारे में पता चले। अब कोई लीकेज या कचरा नहीं होता। क्या आप जानते हैं कि हवा के संपर्क में आने के बाद ही पीरियड्स के ब्लड से अजीब दुर्गंध आती है? तो कप के इस्तेमाल का मतलब है दुर्गंध से भी छुटकारा।

खुश होकर सफर करती हूं

कई बार सिर्फ पीरियड्स की वजह से मुझे अपन सारा ट्रैवल प्लान कैंसल करना पड़ता था। कप के इस्तेमाल के बाद अब मुझे चिंता नहीं रहती कि मुझे कब और कहां ट्रैवल करना है। आप जहां भी जाए, बस कप को साथ ले जाएं। आप स्विम्मिंग, ट्रैकिंग, साइक्लिंग और बारिश में भीग भी सकती हैं, कप के इस्तेमाल से आप कुछ भी कर सकती हैं।

  1. पर्यावरण और पॉकेट दोनों के लिए फायदेमंद

अधिकांश महिलाएं पीरियड के हर साइकल में 10-15 पैड इस्तेमाल करती हैं, यानी हर साल करीब इस पर 10000 रुपए खर्च होते हैं। जबकि कप के इस्तेमाल से हर 5 साल में सिर्फ 2500 रुपए खर्च होते हैं। इस्तेमाल के आधार पर कप आमतौर पर 5-6 साल चलता है। कप के इस्तेमाल से जो आपके पैसे बचते हैं, उसे दान कर दीजिए या घूमने पर खर्च करें। पैसे बचाने के साथ ही यह पर्यावरण के लिए भी फायदेमंद है। जब मुझे पता चला कि पैड कचरे में 500 से 800 सालों तक रहता है और हर साल करीब 45 बिल्यन पैड और टैम्पून फेंके जाते हैं, तो मुझे लगा कि मेन्स्ट्रुअल हाइजीन के लिए दूसरे विकल्प तलाशने होंगे। मेन्स्ट्रुअल कप 5-6 साल चलते हैं और आपको बस एक ही कप की ज़रूरत पड़ती है, इससे आप अंदाज़ा लगा सकते हैं कि धरती पर कचरा कितना कम होता है।

और पढ़ें : इन 8 तरीकों से करें लड़कियों को उनके पहले पीरियड्स के लिए तैयार

मेन्स्ट्रुअल कप का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

मेन्स्ट्रुअल कप के साथ इसके प्रयोग का तरीका भी लिखा होता है। आपको टेंशन न लेते हुए कप के ऊपरी हिस्से को फोल्ड करना है फिर इसे वजायना से अंदर की ओर पुश करना है।

क्या मेन्स्ट्रुअल कप के इस्तेमाल से आपने कुछ और भी सीखा है? तो हमारे साथ अपने विचार ज़रूर शेयर करें।

फिलहाल में उन 91% महिलाओं में शामिल हूं जिन्होंने मेन्स्ट्रुअल कप का इस्तेमाल किया है और दूसरों को भी इसके इस्तेमाल की सलाह देती हैं। मेन्स्ट्रुअल कप का मतलब है आज़ादी और सुकून। इसका मतलब है कि अब आप ज़िंदगी की पूरा आनंद ले सकती हैं, बिना पीरियड्स की चिंता किए।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

डॉ. प्रणाली पाटील

फार्मेसी · Hello Swasthya


Kanchan Singh द्वारा लिखित · अपडेटेड 01/06/2020

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement