home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Brown recluse spider: ब्राउन रिक्लुज स्पाइडर क्या है?

परिचय|परिचय|कारण|लक्षण|जोखिम|खतरे|घरेलू उपचार|कंसल्टेशन है जरूरी |निवारण
Brown recluse spider: ब्राउन रिक्लुज स्पाइडर क्या है?

परिचय

ब्राउन रिक्लुज स्पाइडर (Brown recluse spider) क्या है?

ब्राउन रिक्लुज मकड़ियों की कुछ प्रजातियों में से एक हैं, जो मनुष्यों के लिए कभी कभी खतरा पैदा कर सकती हैं। अकेले संयुक्त राज्य अमेरिका में मकड़ियों की 3,500 से अधिक ज्ञात प्रजातियां पायी जाती हैं, केवल दुनिया भर में मुख्य रूप से 5 प्रकार की मकड़ियाँ ही सबसे हानिकारक होती हैं जो मनुष्यों के लिए खतरे का कारण बन सकती हैं। अमेरिका में जहरीली मकड़ियों की दो अलग अलग प्रजातियाँ पायी जाती हैं : ब्राउन स्पाइडर और विडो स्पाइडर । ब्राउन मकड़ियाँ यानि कि (Brown recluse spider) भूरे मकड़ीयों के समूह में आती हैं और ‘विषैली काली मकड़ी’ (Black widow spider) विडो समूह से सम्बन्ध रखती हैं |
और पढ़ेंः Pompe Disease: जानें पोम्पे रोग क्या है?

परिचय

ब्राउन रिक्लुज मकड़ी (Brown recluse spider) क्या है?

भूरे रंग की रिक्लुज मकड़ी को वायलिन या फिडल-बैक स्पाइडर भी कहा जाता है । इस प्रजाति की मकड़ियाँ अमेरिका के मध्य-पश्चिमी और दक्षिण-पूर्वी हिस्सों में पायी जाती है। इस प्रकार की मकड़ी भूरे रंग की होती है और इसकी पीठ पर गहरा वायलिन के आकार का धब्बा होता है।अन्य मकड़ियों में आमतौर पर 8 आँखें होती हैं, लेकिन भूरे रंग की रिक्लुज मकड़ियों में केवल 6 होती हैं जो तीन जोड़ों में व्यवस्थित रहतें हैं, प्रत्येक जोड़ों में दो दो आँखे व्यवस्थित रहती हैं। एक भूरे रंग के रिक्लुज मकड़ी के पैर लंबे, पतले और छोटे बालों में ढंके होते हैं । इस मकड़ी का वैज्ञानिक नाम Loxosceles reclusa है, जिसका अनुवाद ग्रीक भाषा में “झुके हुए पैरों के साथ” है।ये मकड़ियां रात में सबसे ज्यादा सक्रिय रहती हैं और दिन में अँधेरी जगहों पर छिप कर आराम करती हैं । अगर वे घर के अंदर अपना ठिकाना बनाती है तो वे अलमारी, तहखाने और घर के अन्य अंधेरी जगहों पर छिपने के साथ साथ वे शुष्क (सूखे) जगहों में रहना पसंद करती हैं। ब्राउन रिक्लुज मकड़ियों की गिनती विषैली मकड़ियों में होती है , इनका विष अत्यधिक विषाक्त हो सकता है, लेकिन ये मकड़ियां जब किसी इंसान को काटती हैं तो एक बार में इंसान के शरीर के अन्दर जहर की थोड़ी ही मात्र ही जा सकती है । एक नर ब्राउन रिक्लुज मकड़ी में मादा मकड़ी की तुलना में आधा ही जहर मौजूद रहता है।

और पढ़ें : World Parkinson Day: पार्किंसन रोग से लड़ने में मदद कर सकता है योग और एक्यूपंक्चर

कारण

क्यों काटती हैं ब्राउन रिक्लुज स्पाइडर (Brown recluse spider)?

ब्राउन रिक्लुज मकड़ियाँ कभी भी आक्रामक नहीं रहती हैं, ये मकड़ियां कभी भी किसी इंसान को दौड़ा कर या उनपर हमला कर नहीं काटती है या हमला नही करती हैं | ये मकड़ियां जब किसी जगह (जूतों में या बहुत दिनों से जो कपडे इस्तेमाल ना किये गए हों ) फंस जाती है तो अपनी आत्मरक्षा में ही किसी को काटती हैं| जिन जगहों पर ये ब्राउन रिक्लुज मकड़ियाँ आम तौर पर पायी जाती है वहां पर लोगों को अपने कपड़ों, जूतों या अन्य किसी समान का जांच करने के बाद ही उपयोग करना चाहिए |

[mc4wp_form id=”183492″]

और पढ़ेंः Glycogen Storage Disease Type II: ग्लाइकोजन स्टोरेज रोग प्रकार II क्या है?

लक्षण

ब्राउन रिक्लुज स्पाइडर (Brown recluse spider) के काटने पर क्या लक्षण उत्त्पन्न होते हैं ?

वैसे तो ब्राउन रिक्लुज मकड़ी के काटने पर कई प्रकार के मिथक या भ्रम हैं –आमतौर पर लोगो में यह भ्रम रहता है कि इन मकड़ियों के काटने से हमेशा गंभीर घाव होते हैं और साथ ही साथ त्वचा के ऊतको को भी नुकशान पहुचता है। लेकिन हकीकत में इन मकड़ियों के काटने पर कभी कभी कुछ ही लक्षण दिखाई देते हैं, पर अधिकांशतः इनके काटने पर जल्दी कोई लक्षण नही दिखाई देते हैं| लेकिन इन ब्राउन रिक्लुज मकड़ियों के काटने पर इनके द्वारा छोड़े गए जहर की कुछ मात्रा अगर शरीर में पंहुच जाती है तो इससे पीड़ित व्यक्ति को तीव्र एनीमिया, रक्त के थक्के से सम्बन्धित समस्या और गुर्दे की विफलता सहित पूरे शरीर में और भी जटिलताएं शुरू हो सकती हैं।आम तौर पर शुरुआत में इन मकड़ियों के काटने पर दर्द नही होता है, लेकिन समय के साथ साथ रिक्लुज मकड़ियों के काटने का लक्षण दिखाई देने लगते हैं, रिक्लुज मकड़िया ज्यादातर जांघ, ऊपरी बांह और छाती पर ही काटती हैं।
यदि काटने के एक घंटे के अन्दर त्वचा में किसी प्रकार का कोई रिएक्शन होता है, तो पीड़ित व्यक्ति को निम्न तरह के लक्षण दिखाई दे सकतें हैं –लाली सूजन जलनरिक्लुज मकड़ियों के काटने के 2 से 6 घंटों के अन्दर काटने वाली जगह पर दर्द के साथ सूजन और छाले भी उभर जाते है । यदि काटने वाली जगह के आसपास 12 से 24 घंटो के बाद त्वचा का रंग अधिक बैंगनी हो जाता है, तो स्किन के डेथ होने संभावना बढ़ जाती है, इसे नेक्रोसिस भी कहतें है। यदि नेक्रोसिस होता है, तो घाव को पूरी तरह से ठीक होने में कई सप्ताह या महीने भी लग सकते हैं। हालांकि, फ्लोरिडा विश्वविद्यालय के मकड़ी विशेषज्ञों के अनुसार, अगर 48 से 96 घंटों के भीतर त्वचा में कोई बदलाव या लक्षण नहीं दिखाई देते हैं, तो घाव नेक्रोटिक नहीं बन पाता है और जल्दी ही ठीक हो जाता है |
और पढ़ेंः World Parkinson Day: पार्किंसन रोग से लड़ने में मदद कर सकता है योग और एक्यूपंक्चर

जोखिम

ब्राउन रिक्लुज स्पाइडर (Brown recluse spider) के काटने पर क्या जोखिम हैं ?

हालांकि ये मकड़ियां अक्सर इंसानों को नहीं काटती हैं, लेकिन जो लोग घर के अंदर या उन जगहों पर काम करते हैं जहाँ अँधेरा होता है तो ये ब्राउन रिक्लुज मकड़ियाँ उनके लिए थोड़ा जोखिम पैदा कर सकती हैं, जो लोग मशीनिस्ट, चौकीदार, और हाउसकीपर्स का काम करते है उन्हें भी कभी कभी इन ब्राउन रिक्लुज स्पाइडर का सामना करना पड़ सकता है। मिडवेस्ट या दक्षिणपूर्वी अमेरिका में रहने वाले लोगो को इन भूरी मकड़ियों का अक्सर सामना करना पड़ता है।
और पढ़ेंः Parkinson Disease: पार्किंसंस रोग क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और उपचार

खतरे

ब्राउन रिक्लुज स्पाइडर के काटने पर होने वाली (Complications) परेशानी?

ब्राउन रिक्लुज मकड़ियों के डरावने स्वभाव के कारण केवल 10 प्रतिशत मामलों में ही भूरी मकड़ियों के काटने से त्वचा में गंभीर जटिलताएं या परेशानीयाँ शुरू होती हैं। लेकिन कभी भी ब्राउन रिक्लुज मकड़ियों के काटने पर किसी व्यक्ति के मृत्यु का लिखित प्रमाण नही हैं।

घरेलू उपचार

ब्राउन रिक्लुज मकड़ियों के काटने पर घरेलू उपचार क्या है? (Home remedies for Brown recluse spider)

घर की नियमित सफाई नहीं होती है तो मकड़ी के जालें ​दिखने लगते हैं। सामान्य मकड़ी द्वारा काटा जाना हमारे लिए इतना घातक नहीं होता। लेकिन कुछ खास प्रकार की मकड़ियां जैसे ब्लैक विडो या ब्राउन स्पाइडर इनका काटना खतरनाक भी हो सकता है। ये मकड़ियां काफी जहरीली होती हैं। इन मकड़ियों के काटने पर जब यह अपना जहर काटे गए हिस्से में छोड़ देती है जिससे हमें कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है |

आमतौर पर हम घर पर ही ब्राउन रिक्लुज स्पाइडर के काटने का इलाज कर सकते हैं

सबसे पहले काटे गए स्थान को अच्छे से धो लें और फिर बर्फ से सिकाई करें। इस से न सिर्फ जलन और दर्द में राहत मिलेगी बल्कि सूजन भी कम होगी। याद रहे कि बर्फ को सीधे उस जगह पर न रखें नही तो जलन और तेज हो सकती है। बेकिंग सोडा एक या दो चम्मच लेकर पानी के साथ मिलकर पेस्ट बना लें और काटने के स्थान पर लगाएं। इस विधि से काटे गए स्थान पर जल्दी राहत मिल जाएगी। यदि एक बार में काम न चलें तो इस विधि को कुछ समय बाद दोबारा भी दोहराया जा सकता है। नमक मकड़ी के ज़हर को उतारने में बहुत उपयोगी औषधि है, यह मकड़ी ही नहीं अनेकों विषाक्त कीड़ों के काटने पर राहत दे सकता है। इसके लिए एक छोटे चम्मच नमक की लेकर इसे काटे गए स्थान पर किसी कपड़े की सहायता से बांध दें। इसे तब तक बंधा रहने देना चाहिए जब तक कि सूजन कम न होने लगे।

इसके साथ साथ यदि संभव हो तो जिस मकड़ी ने काटा है उसे खोज कर उसकी पहचान के हिसाब से घरेलू इलाज करना चाहिए |

कंसल्टेशन है जरूरी

डाक्टर से कब मिलें?

वैसे तो हमे हर उस घाव को जो दर्द देने वाले, लालिमा ली हुयी चमड़ी, पक कर बहने (रिसाव) वाले होते है उसे अपने डॉक्टर से दिखाकर उचित परामर्श ले लेना चाहिए। यदि ब्राउन रिक्लुज स्पाइडर के काटने पुष्टि हो जाती है, तो डॉक्टर एक टेटनस बूस्टर (Tetanus booster) की सुई लगा सकता है वो भी उस व्यक्ति को जिसे पिछले 5 वर्षों से टेटनस का सुई न लगा हो और काटने के 2 से 3 दिनों बाद डॉक्टर घाव की जांच भी कर सकता है, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि मकड़ी का जहर ऊतकों (Tissues) को नष्ट तो नहीं कर रहा है। यदि इसके बाद कोई चिंता की बात होती है तो डाक्टर आगे का उपचार जल्दी से शुरू कर सकता है, जो आगे के गंभीर समस्याओं के जोखिम को कम कर सकता है।

और पढ़ेंः कीड़े-मकौड़ों का डर कहलाता है एंटोमोफोबिया कहीं आपके बच्चे को तो नहीं

निवारण

ब्राउन रिक्लुज स्पाइडर (Brown recluse spider) के काटने पर निवारण क्या है?

हालांकि भूरे रंग के रिक्लुज मकड़ियों का काटना एक विचित्र बात है, लेकिन फिर इनके जोखिम को कम करना संभव है। ये उन क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के लिए महत्वपूर्ण हो जाता जहां रिक्लुज मकड़ियों का बसेरा हैं।इन रिक्लुज मकड़ियों से बचने का सबसे अच्छा तरीका उन क्षेत्रों में जाने से बचना है जहां ये मकड़ियाँ पायी जाती हैं- जैसे बाहर रखे लकड़ी या चट्टान के ढेर वाले सूखे क्षेत्र। अगर इन क्षेत्रो में काम करने वालो के लिए यह सम्भव नही है तो उन्हें दस्ताने पहन कर काम करना चाहिए। जब की घर के अंदर रहने वाले लोगो या काम करने वालों लोगों को कपड़े, जूते या बिस्तर को झाड़ या देख कर इस्तेमाल करना चाहिए, खासकर वह समान जो अटारी, तहखाने या अंधेरे कोठरी में रखा गया हो।
यह भी पढ़ेंः

ब्राउन रिक्लुज स्पाइडर को घरों में अपना घर बनाने से रोकने के लिए कुछ उपाय करना जरुरी है, जैसे कि अटारी, शेड, क्लोजेट और बेसमेंट को हमेशा साफ करते रहना चाहिए जिससे इन रिक्लुज मकड़ियों को छिपने और इनके विकास को रोका जा सकता है और और हम इनका शिकार होने से बच सकते हैं।

इस विषय पर अधिक जानकारी के लिए डाक्टरी सलाह लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Hey! A Brown Recluse Spider Bit Me!/https://kidshealth.org/en/kids/brown-recluse.html/Accessed on 17/05/2021

Brown Recluse Spider Bites/https://www.poison.org/articles/brown-recluse-spider-bites/Accessed on 17/05/2021

Brown Recluse Spider Bite/https://www.mottchildren.org/health-library/tm6499spec/Accessed on 17/05/2021

Spider bites/https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/spider-bites/symptoms-causes/syc-20352371/Accessed on 17/05/2021

Brown Recluse Spiders/https://www.pestworld.org/pest-guide/spiders/brown-recluse-spiders/Accessed on 17/05/2021

 

लेखक की तस्वीर badge
Siddharth srivastav द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 27/06/2021 को
डॉ. पूजा दाफळ के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड