home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

महिलाओं में एनीमिया की समस्या को लेकर दिल्ली से मिले चौंकाने वाले आंकड़े

महिलाओं में एनीमिया की समस्या को लेकर दिल्ली से मिले चौंकाने वाले आंकड़े

हमारे शरीर में खून की अहमियत काफी ज्यादा है। यह खून ही है, जो शरीर के हरेक अंग तक ऑक्सीजन और पोषण पहुंचाने का कार्य करता है, ताकि वह प्रभावशाली रूप से क्रियान्वित रह सकें। इसके अलावा, खून या रक्त या ब्लड कोशिकाओं के उत्पादन व रिपेयर होने में भी अहम योगदान देता है। लेकिन, कुछ लोगों में किन्हीं कारणों की वजह से खून की कमी हो जाती है। यह खून की कमी कई सारी शारीरिक समस्याओं के लिए जिम्मेदार होती है। इस शारीरिक समस्या को मेडिकल भाषा में एनीमिया कहा जाता है। इसका दूसरा पहलू यह भी है कि, पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में एनीमिया की समस्या ज्यादा आम होती है। जिसके पीछे उनकी कई बायोलोजिकल वजहें होती हैं। महिलाएं इस समस्या को नजरअंदाज करती रहती हैं और यह दूसरी गंभीर बीमारियों का कारण बन जाती हैं। इसके अलावा, महिलाओं में एनीमिया की समस्या को लेकर दिल्ली से चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं। आइए, देखते हैं कि क्या कहती हैं यह नई रिपोर्ट और एनीमिया के बारे में पूरी जानकारी।

यह भी पढ़ें : इस साल ऑनलाइन गेम के चलते कई लोग हुए मौत के शिकार, पढ़ें पूरी रिपोर्ट

महिलाओं में एनीमिया को लेकर क्या कहती हैं रिपोर्ट

Anemia in Delhi- महिलाओं में एनीमिया
Anemia in women- महिलाओं में एनीमिया

हाल ही में मेट्रोपोलिस हेल्थकेयर की तरफ से की गई स्टडी में भारत के प्रमुख 36 शहरों की महिलाओं के ब्लड सैंपल लिए गए हैं। जिसमें पाया गया है कि, हर 10 में से 6 महिलाओं के शरीर में हेमोग्लोबिन लेवल कम है, जो कि उनमें आयरन की कमी से होने वाली एनीमिया की समस्या की ओर इशारा करता है। एनीमिया एक शारीरिक समस्या है, जो शरीर के खून में स्वस्थ रेड ब्लड सेल्स और हेमोग्लोबिन की कमी के कारण विकसित होती है। स्टडी में महिलाओं में एनीमिया की समस्या सबसे ज्यादा 20-50 वर्ष की उम्र की लड़कियों और महिलाओं में पाई गई। इस स्टडी के लिए मेट्रोपोलिस हेल्थकेयर ने दो साल की लंबी अवधि में 17,00,000 लड़कियों और महिलाओं के ब्लड सैंपल लिए थे।

यह भी पढ़ें: प्रोटीन सप्लीमेंट (Protein Supplement) क्या है? क्या यह सुरक्षित है?

महिलाओं में एनीमिया को लेकर दिल्ली से आए चौंकाने वाले आंकड़े

Anemia in Delhi- महिलाओं में एनीमिया
Anemia in Delhi- महिलाओं में एनीमिया

इस स्टडी में सबसे ज्यादा चौंकाने वाले देश की राजधानी दिल्ली से आए हैं, जो कि शहरों में भी जानकारी और शिक्षा के बावजूद महिलाओं के स्वास्थ्य में गिरावट की ओर इशारा करता है। शोध में पाया गया कि, दिल्ली में 10 में 6 महिलाएं एनीमिया की शिकार हैं। दिल्ली में यह समस्या 20 से 50 वर्ष की उम्र की लड़कियों और महिलाओं में उच्च पाई गई। स्टडी पर मेट्रोपोलिस हेल्थकेयर लिमिटेड के चीफ क्वालिटी ऑफिसर, डॉ. पुनीत कुमार निगम ने कहा कि, ‘एनीमिया के पीछे का सबसे आम कारण शरीर में आयरन की कमी होता है, जो कि उचित सप्लीमेंट और अच्छे पोषण के जरिए ठीक किया जा सकता है। लेकिन भारत में महिलाओं में एनीमिया की समस्या देखी जाती रही है। हर महीने मासिक धर्म की वजह से होने वाले ब्लड लोस के कारण महिलाओं में यह समस्या ज्यादा आम है। एनीमिया के सबसे आम संक्तों में सुस्ती, अकारण थकावट, त्वचा का पीला होना और आंखें पीली होना होता है। बच्चों में एनीमिया की समस्या पिका समस्या का भी कारण होता है, जिसमें बच्चे चॉल्क, मिट्टी या अन्य असामान्य चीजें खाने लगते हैं। यह समस्या ज्यादा खतरनाक नहीं होती और एनीमिया की समस्या ठीक होने पर अपने आप ठीक हो जाती है।’

यह भी पढ़ें- आखिरी सिगरेट पीने के बाद शरीर में शुरू हो जाते हैं ये बदलाव, जानकर रह जाएंगे हैरान

स्टडी के दौरान मेट्रोपोलिस ने पाया कि, एनीमिया समस्या के लक्षणों को स्ट्रेस या ओवरवर्क की वजह से मानने की गलती मान लिया जाता है। डॉ. निगम का कहना है कि, ‘कंप्लीट ब्लट सेल्स (सीबीसी) की तरह रुटीन ब्लड टेस्ट के द्वारा शरीर में हेमोग्लोबिन और रेड ब्लड सेल्स के स्तर के बारे में जानकारी मिल जाती है। लेकिन, इसके लिए पूरी जांच करवाना जरूरी है, जिससे एनीमिया के उचित कारण का पता लगाया जा सके। एनीमिया इंटरनल ब्लीडिंग और हमारे शरीर की आयरन अवशोषित न कर पाने की वजह से भी हो सकता है। महिलाओं में एनीमिया के पीछे चाहे कोई भी कारण हो, लेकिन इसकी जल्द जांच के बाद जल्द से जल्द उपचार करवाना चाहिए, ताकि इसकी वजह से भविष्य में गंभीर परिणाम न भुगतने पड़ें।’

उन्होंने आगे कहा कि, ‘आयरन की कमी से होने वाला एनीमिया और प्रेग्नेंसी माइल्ड से मोडरेट एनीमिया के सबसे बड़े कारण हैं। हालांकि, कुछ गंभीर एनीमिया के मामले अन्य स्थितियों की वजह से भी हो सकता है, जो कि व्यक्ति का जीवन प्रभावित कर सकते हैं। जिनमें बीटा थैलासिमिया, मैक्रोसाइटिक एनीमिया या अन्य क्रॉनिक डिजीज शामिल हैं।’

यह भी पढ़ें: बच्चाें में हेल्दी फूड हैबिट‌्स को डेवलप करने के टिप्स

एनीमिया के कारण और उसके प्रकार

मेट्रोपोलिस हेल्थकेयर ने विभिन्न प्रकार के एनीमिया और उसके कारणों के बारे में विस्तृत जानकारी दी है। आइए, जानते हैं…

  • बल्ड लॉस होने की वजह से एनीमिया के कारण अल्सर, हेमोरॉइड्स, गैस्ट्रिटिस और कैंसर जैसी गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल कंडीशन और महिलाओं में मासिक धर्म और चाइल्ड बर्थ।
  • रेड ब्लड सेल्स के उत्पादन में कमी या रुकावट की वजह से आयरन डेफिशियंसी एनीमिया, विटामिन डेफिशियंसी, बोन मैरो और स्टेम सेल्स प्रोब्लम्स।
  • अन्य कंडीशन से जुड़ी एनीमिया के कारण एडवांस किडनी डिजीज, हाइपोथाइरोडिज्म, अन्य क्रॉनिक डिजीज जैसे कैंसर, इंफेक्शन, ल्यूपस, डायबिटीज और आर्थराइटिस।
  • रेड ब्लड सेल्स डैमेज होने पर एनीमिया की वजह से सिकल सेल एनीमिया और थैलासीमिया आदि। एडवांस लिवर या किडनी डिजीज से होने वाले टॉक्सिन। इम्यून सिस्टम का गैरजरूरी हमला, वैस्कुलर ग्राफ्ट्स, प्रोस्थेटिक हार्ट वाल्व, ट्यूमर, सीवियर बर्न, कुछ खास कैमिकल से संपर्क, सीवियर हाइपरटेंशन और क्लॉटिंग डिसऑर्डर आदि।

यह भी पढ़ें- सबसे खतरनाक वायरस ने ली थी 5 करोड़ लोगों की जान, जानें 21वीं सदी के 5 जानलेवा वायरस

एनीमिया के लक्षण क्या है?

महिलाओं में एनीमिया के साथ सबसे बड़ी दिक्कत यह है कि, इसके लक्षणों को दूसरी समस्यों के लक्षण समझने की गलती की जाती है। जिससे यह समस्या बिगड़ जाती है और अन्य दिक्कतें पैदा करती है। आइए, एनीमिया के लक्षणों के बारे में जानते हैं।

  • थकान
  • त्वचा और आंखों में पीलापन
  • बेहोशी या चक्कर आना
  • बार-बार प्यास लगना
  • बहुत ज्यादा पसीना होना
  • कमजोरी महसूस होना
  • अनियमित पल्स रेट
  • सांस लेने में समस्या
  • पैर के निचले हिस्से में ऐंठन होना
  • दिल की धड़कनों का अनियमित होना
  • हाथ और पैरों का ठंड़ा होना
  • सिरदर्द होना
  • सीने में दर्द होना

महिलाओं में एनीमिया से बचाव के लिए फूड्स

  1. मीट, फलियां, दालें, हरी पत्तेदार सब्जियों, ड्राई फ्रूट्स और आयरन युक्त अनाज आदि का सेवन
  2. फल, फलों के जूस, हरी मटर, राजमा, मूंगफली और ब्रेड, अनाज, पास्ता और चावल
  3. विटामिन बी-12 युक्त मीट, डेयरी प्रोडक्ट्स और फोर्टिफाइड अनाज और सोया प्रोडक्ट्स
  4. विटामिन-सी युक्त सिट्रस फ्रूट्स और जूस, ब्रोकली, टमाटर, खरबूजा और स्ट्रॉबेरी

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

In Brief: Your Guide to Anemia – https://www.nhlbi.nih.gov/files/docs/public/blood/anemia-inbrief_yg.pdf – Accessed on 06/3/2020

What You Need to Know About Anemia – https://www.healthline.com/health/anemia – Accessed on 06/3/2020

10 Signs and Symptoms of Iron Deficiency – https://www.healthline.com/nutrition/iron-deficiency-signs-symptoms – Accessed on 06/3/2020

Anemia – https://medlineplus.gov/anemia.html – Accessed on 06/3/2020

Anemia – https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/anemia/symptoms-causes/syc-20351360 – Accessed on 06/3/2020

Rare Types of Anemia – https://www.webmd.com/a-to-z-guides/anemia-rare-types#1 – Accessed on 06/3/2020

6 in 10 women suffers from anaemia in Delhi: Metropolis Healthcare Study – https://www.biospectrumindia.com/news/77/15921/6-in-10-women-suffers-from-anaemia-in-delhi-metropolis-healthcare-study.html – Accessed on 06/3/2020

लेखक की तस्वीर badge
Surender aggarwal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 11/06/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x