home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

एंटीबॉडी ड्रग कॉन्जुगेट्स (Antibody-drug conjugates): कैंसर सेल्स को मारने का करते हैं काम

एंटीबॉडी ड्रग कॉन्जुगेट्स (Antibody-drug conjugates): कैंसर सेल्स को मारने का करते हैं काम

एंटीबॉडी ड्रग कॉन्जुगेट्स (Antibody-drug conjugates) शक्तिशाली जैविक दवाओं का एक नया वर्ग है जो छोटे एंटीकैंसर मॉलिक्यूल को दवा या किसी अन्य चिकित्सीय एजेंट के साथ एंटीबॉडी को जोड़कर बनाया जाता है। अगर आसान भाषा में समझा जाए तो एडीसी (ADC) बायोफार्मास्युटिकल ड्रग्स हैं जिन्हें कैंसर के उपचार के लिए टार्गेड थेरिपी (Targeted Therapy) के रूप में डिजाइन किया जाता है। ये कैंसर सेल्स को मारकर हेल्दी सेल्स की ग्रोथ में मदद करते हैं। एंटीबॉडी ड्रग कॉन्जुगेट्स का उपयोग कई प्रकार के कैंसर के साथ ही ब्रेस्ट कैंसर के इलाज में किया जाता है।

एंटीबॉडी ड्रग कॉन्जुगेट्स कैसे कार्य करते हैं? (Antibody-drug conjugates)

एक एंटीकैंसर ड्रग (Anti Cancer Drug) एंटीबॉडी (Antibody) के साथ जुड़ जाता है। एंटीबॉडी निश्चित ट्यूमर्स के एंटीजन (प्रोटीन जो केवल ट्यूमर कोशिकाओं में पाया जाता है) को टार्गेट करता है। एंटीबॉडी कैंसर सेल्स के सरफेस पर एंटीजन से जुड़ता है। अब एंटीबॉडी और एंटीजन या कहें कि टार्गेट प्रोटीन के बीच होने वाला बायोकैमिकल रिएक्शन ट्यूमर सेल को ट्रिगर करता है और वह लिंक किए गए साइटोटॉक्सिक (Cytotoxic) के साथ एंटीबॉडी को अवशोषित करती है। एडीसी (ADC) के अवशोषण के बाद साइटोटॉक्सिक कैंसर सेल्स को मार देता है। यह बीमार कोशिकाओं के लिए उच्च विशिष्टता के साथ दवाओं को डिलिवर करता है। यह ड्रग के असर को बढ़ाता है और साइड इफेक्ट्स के रिस्क को कम करता है। कई ऐसे एंटीबॉडी ड्रग कॉन्जुगेट्स (Antibody-drug conjugates) हैं जो ब्रेस्ट कैंसर पर प्रभावी हैं।

और पढ़ें: कैंसर फैक्ट्स: लंबी महिलाओं में अधिक रहता है ब्रेस्ट कैंसर का खतरा

ब्रेस्ट कैंसर क्या है? (Breast Cancer)

एंटीबॉडी ड्रग कॉन्जुगेट्स (Antibody-drug conjugates)

वह कैंसर है जो ब्रेस्ट की कोशिकाओं में बनता उसे ब्रेस्ट कैंसर कहते हैं। कैंसर तब होता है जब कोशिकाएं बहुत तेजी ग्रो करना शुरू कर देती हैं। ब्रेस्ट कैंसर ट्यूमर के रूप में होता है जिसके बारे में एक्स रे से पता चल जाता है। कई बार लंप को हाथ से छूकर भी महसूस किया जा सकता है। ब्रेस्ट कैंसर स्किन कैंसर के बाद महिलाओं में डायग्नोस होने वाला सबसे आम कैंसर माना जाता है। ब्रेस्ट कैंसर महिला और पुरुष दोनों में हो सकता है, लेकिन यह महिलाओं में बहुत आम है। यहां ये बात समझना भी जरूरी है कि सभी प्रकार की ब्रेस्ट लंप कैंसरस नहीं होते। नॉन कैंसरस ब्रेस्ट ट्यूमर्स (Non cancerous breast tumors) एब्नॉर्मल ग्रोथ के कारण होते हैं जो ब्रेस्ट के बाहर नहीं फैलते। ब्रेस्ट कैंसर के इलाज से इससे होने वाली मौतों की संख्या में कमी आई है।

ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण

ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण (Breast Cancer Symptoms) निम्न हैं।

  • ब्रेस्ट में गांठ
  • ब्रेस्ट के आकार और रूप में बदलाव
  • ब्रेस्ट के ऊपर की स्किन में बदलाव
  • निप्पल के आकार, रंग या संचरना में बदलाव
  • ब्रेस्ट के ऊपर की त्वचा का लाल होना

ऐसे लक्षण दिखने में डॉक्टर से संपर्क करें।

ब्रेस्ट कैंसर के इलाज में उपयोग होने वाले एंटीबॉडी ड्रग कॉन्जुगेट्स (Antibody-drug conjugates for Breast Cancer)

आइए जानते हैं कुछ प्रमुख एंटी बॉडी ड्रग कॉन्जुगेट्स के बारे में। जिनका उपयोग ब्रेस्ट कैंसर के इलाज में किया जाता है।

1.कैडसिला (Kadcyla)

यह एक एंटीबॉडी ड्रग कॉन्जुगेट्स (Antibody-drug conjugates) है। इसका उपयोग ब्रेस्ट कैंसर के इलाज में किया जाता है। यह विशेष रूप से पॉजिटिव मेटलटेटिक ब्रेस्ट कैंसर (Positive metastatic breast cancer) के इलाज में उपयोगी है। यह अर्ली ब्रेस्ट कैंसर (Early breast cancer) जब हाय लेवल प्रोटीन जिसे ह्यूमन एपिडर्मल ग्रोथ फैक्टर रिसेप्टर 2 कहा जाता है के इलाज में दी जाती है। इसमें ट्रांस्टुजुंब (Trastuzumab) पाया जाता है जो कि एक एंटी नियोप्लास्टिक एजेंट (Anti neoplastic agent) है। इस दवा का उपयोग कीमोथेरिपी (Chemotherapy) के साथ या कीमोथेरिपी ट्रीटमेंट के सक्सेसफुल ना होने के बाद दिया जाता है। इसके उपयोग से सांस लेने में तकलीफ, पैर और हाथों में सूजन और असामान्य धड़कन जैसी समस्याएं हो सकती हैं। इसके साथ ही यह डायरिया, उल्टी और जी मिचलाने का कारण भी बन सकती है। ऐसा कोई साइड इफेक्ट होने पर डॉक्टर से संपर्क करें। यह दवा इंजेक्शन के रूप में उपलब्ध होती है।

और पढ़ें: रेड मीट बन सकता है ब्रेस्ट कैंसर का कारण, खाने से पहले इन बातों का ख्याल रखना जरूरी

2.ट्रोडेलवी (Trodelvy)

यह एक एंटीबॉडी ड्रग कॉन्जुगेट्स (Antibody-drug conjugates) है। इसका उपयोग मेटासटेटिक ट्रिपल निगेटिव ब्रेस्ट कैंसर के इलाज में किया जाता है। ऐसे मरीज जो मेटासटेटिक डिजीज के लिए दो थेरिपीज पहले से ले चुके हैं उनके लिए इस दवा का उपयोग किया जाता है। इस दवा के कॉमन साइड इफेक्ट्स में जी मिचलाना, डायरिया, थकान, एनीमिया, उल्टी, बालों का झड़ना, भूख में कमी, एब्डोमिनल पेन और त्वचा पर रैशेज आना है। कई बार यह दवा व्हाइट ब्लड सेल्स के असामान्य रूप से कम होने का कारण भी बन जाती है। यह नवजात शिशु् और भ्रूण के लिए बेहद नुकसानदायक है। महिलाएं इस दवा का सेवन करती हैं उन्हें इस दौरान ब्रेस्टफीडिंग न कराने की सलाह दी जाती है। यह दवा पाउडर और इंजेक्शन के रूप में उपलब्ध है।

एंटीबॉडी ड्रग कॉन्जुगेट्स (Antibody-drug conjugates)

3.उजविरा (Ujvira)

यह जायडस केडिला का एंटीबॉडी ड्रग कॉन्जुगेट्स (Antibody-drug conjugates) है। यह अर्ली और एडवांस्ड (HER2 positive) दोनों प्रकार के ब्रेस्ट कैंसर के इलाज में उपयोग किया जाता है। इस दवा को कंपनी ने मई 2021 में लॉन्च किया था। यह जल्द ही भारत में उपलब्ध होगी। यह दवा 100mg और 160 mg की स्ट्रेंथ में उपलब्ध होगी। इस दवा के सेवन से भी साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इनके बारे में डॉक्टर से पहले से ही जानकारी प्राप्त की जा सकती है। साथ ही दवा के इंटरैक्शन के बारे में समझना भी सही होगा।

और पढ़ें: अंडरवायर ब्रा पहनने से होता है ब्रेस्ट कैंसर का खतरा?

ब्रेस्ट कैंसर के बारे में अधिक जानने के लिए देखें ये 3डी मॉडल:

4.एनहेरतू (Enhertu)

एंटीबॉडी ड्रग कॉन्जुगेट्स (Antibody-drug conjugates) में शामिल एनहेरतू (Enhertu) HER2 में बदलाव को टार्गेट करती है जो कैंसर को ग्रो, डिवाइड और स्प्रेड होने में मदद करते हैं। इस दवा का उपयोग उस कैंसर के इलाज में किया जाता है जिसका इलाज सर्जरी से नहीं किया जा सकता और जो कैंसर बॉडी के दूसरे हिस्सों में फैल चुका होता है। इस दवा के कॉमन साइड इफेक्ट्स में जी मिचलाना, डायरिया, थकान, एनीमिया, उल्टी, बालों का झड़ना, भूख में कमी, एब्डोमिनल पेन और त्वचा पर रैशेज आना है। कई बार यह दवा व्हाइट ब्लड सेल्स के असामान्य रूप से कम होने का कारण भी बन जाती है। साथ ही इससे उपयोग से कफ और प्लेटलेट काउंट (Platelet count) भी कम हो सकता है। याद रखें दवा के साइड इफेक्ट्स सभी को नहीं होते और दवा के फायदे को देखते हुए डॉक्टर उसे प्रिस्क्राइब करते हैं। यह दवा भी इंजेक्शन के रूप में दी जाती है।

और पढ़ें: ब्रेस्ट कैंसर पेशेंट का ख्याल रखते वक्त इन बातों को ना भूलें

5.हरसेप्टिन (Herceptin)

हरसेप्टिन का उपयोग ब्रेस्ट कैंसर और गैस्ट्रिक कैंसर के इलाज में किया जाता है। इसका उपयोग अन्य दवाओं के साथ किया जाता है। यह दवा बच्चों के लिए सेफ है या नहीं इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। इसके उपयोग से हार्ट प्रॉब्लम्स, जी मिचलाना, डायरिया, वजन में कमी, सिर में दर्द, मुंह में छाले, फीवर, ठंड लगना, कफ, थकान आदि हो सकती है। ऐसे लक्षण नजर आने पर डॉक्टर से संपर्क करें। जरूरी नहीं है कि सभी को यही साइड इफेक्ट्स हों। कुछ असामान्य नजर आने पर इस बारे में डॉक्टर से बात करें।

नोट: ऊपर बताई गई सभी दवाओं का उपयोग डॉक्टर की सलाह पर ही करें। हैलो स्वास्थ का उद्देश्य इन ब्रांड्स का प्रचार करना नहीं है। यहां दी गई जानकारी को चिकित्सा विकल्प ना मानें।

उम्मीद है कि आपको ब्रेस्ट कैंसर के लिए उपयोगी एंटीबॉडी ड्रग कॉन्जुगेट्स (Antibody-drug conjugates for breast cancer) संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तोआप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कल को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड