Care after Bone cancer surgery: बोन कैंसर सर्जरी के बाद पेशेंट का कैसे रखें ध्यान?

    Care after Bone cancer surgery: बोन कैंसर सर्जरी के बाद पेशेंट का कैसे रखें ध्यान?

    बोन कैंसर अन्य कैंसर की तुलना में कम ही डायग्नोस किया जाता है। सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (Center for Disease Control and Prevention) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार बोन कैंसर की समस्या होने पर ट्यूमर अत्यधिक गंभीर होता है, क्योंकि ट्यूमर बोन सेल्स यानी हड्डियों की कोशिकाओं से विकसित होता है। इसलिए बोन कैंसर सर्जरी (Bone cancer surgery) की सहायता से ट्यूमर को अलग किया जाता है, लेकिन बोन कैंसर सर्जरी के बाद (Care after Bone cancer surgery) पेशेंट की सही देखभाल बेहद जरूरी है और आज इस आर्टिकल में बोन कैंसर सर्जरी के बाद कैसे उनका ध्यान रखना चाहिए इसे समझेंगे।

    और पढ़ें : Stages of Bone cancer: जानिए बोन कैंसर के स्टेज 1 से 4 तक की महत्वपूर्ण जानकारी और टेस्ट!

    बोन कैंसर सर्जरी के बाद पेशेंट की देखभाल क्यों है जरूरी?

    बोन कैंसर सर्जरी के बाद (Care after Bone cancer surgery)

    बोन कैंसर सर्जरी के बाद पेशेंट की देखभाल ठीक तरह से करने की जरूरत है, क्योंकि बोन कैंसर सर्जरी के बाद पेशेंट के शरीर में कई ऐसे बदलाव होते हैं जिनका असर बॉडी पर नेगेटिव पड़ता है। जैसे:

    • बाल झड़ना (Hair loss)।
    • मुंह में अल्सर (Mouth sores) की समस्या होना।
    • भूख नहीं (Loss of appetite) लगना।
    • जी मिचलाने (Nausea) की समस्या होना।
    • उल्टी (Vomiting) होना।
    • डायरिया (Diarrhea) की समस्या होना।
    • इंफेक्शन (Infections) की संभावना बढ़ना।
    • बॉडी में रेड ब्लड सेल्स कम (Low Red Blood Cell) होने की वजह से अत्यधिक थकान (Fatigue) महसूस होना।
    • ब्लड प्लेट्स-pronunciation कम (Low Blood Platelets) होने की वजह से हल्के चोट लगने पर भी ब्लीडिंग होना।

    बोन कैंसर सर्जरी के बाद पेशेंट को ऊपर बताई गई तकलीफें हो सकती हैं, जिसका शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इसलिए हड्डी के कैंसर सर्जरी के बाद पेशेंट की ठीक तरह से देखभाल करना बेहद जरूरी है।

    और पढ़ें : बोन कैंसर कीमोथेरिपी (Bone cancer chemotherapy): कब जरूरत पड़ती है बोन कैंसर के लिए कीमोथेरिपी!

    बोन कैंसर सर्जरी के बाद पेशेंट की देखभाल कैसे करें?

    बोन कैंसर सर्जरी के बाद पेशेंट की देखभाल करने के दौरान यह ध्यान रखना भी बेहद जरूरी है कि जो उनका ध्यान रख रहें हैं या रख रहीं हैं उन्हें भी परेशान नहीं होना चाहिए। इसलिए यहां आपके साथ कुछ ऐसी बाते शेयर करने जा रहें जो सामान्य तो है, लेकिन बोन कैंसर सर्जरी के बाद पेशेंट के लिए बेहद जरूरी है। जैसे:

    • बोन कैंसर सर्जरी के बाद पेशेंट का बेड ऐसा होना चाहिए जिससे पैर आसान से बेड से जमीन को स्पर्श कर सके।
    • हड्डी के कैंसर सर्जरी के बाद शुरू दिनों में बेहतर होगा कि फर्श पर ही पेशेंट का बेड यानी मेट्रेस लगाया जाए।
    • बाथरूम और पेशेंट का बेडरूम एक ही लेवल में होना चाहिए।
    • घर में टॉयलेट पेपर, सोप, शैम्पू एवं एंटीसेप्टिक लिक्विड स्टोर रखें।
    • अगर पेशेंट घर में अकेले रहते हैं या उन्हें कुछ वक्त अकेले बिताना पड़ता है, तो उनकी पहुंच एवं उनके पास ही जरूरत का सामान रखा हो। इसके साथ यह भी ध्यान रखें कि जो सामान पेशेंट की जरूरत की है वो ना ही ऊंची जगह पर रखी हो ना ही अत्यधिक नीचे। इसलिए सामान को वेस्ट लाइन या शोल्डर लेवल में रखें।
    • बोन कैंसर सर्जरी के बाद पेशेंट को वॉकर की जरूरत पड़ सकती है। इसलिए पेशेंट के पास वॉकर जरूर रखें।
    • पेशेंट के पास नोट पैड, पेन एवं फोन जरूर रखें, जिससे पेशेंट कुछ लिखना चाहें या कॉल करना चाहें तो कर सकें।

    नोट: यहां ऊपर दी गई जानकारियों के साथ-साथ बोन कैंसर सर्जरी के बाद पेशेंट के पास एक व्यक्ति जरूर होना चाहिए जो उन्हें टॉयलेट जाने, स्नान करने या फिर किसी अन्य काम में उनकी मदद कर सकें।

    और पढ़ें : Total Pancreatectomy: जानिए टोटल पैनक्रिएटेक्टॉमी सर्जरी की जरूरत कब पड़ती है!

    बोन कैंसर सर्जरी के बाद पेशेंट की देखभाल में उनके हेल्दी डायट का ध्यान अवश्य रखें, क्योंकि नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) एवं जॉन्स हॉपकिन्स हॉस्पिटल, और जॉन्स हॉपकिन्स ADD-HEALTH सिस्टम (The Johns Hopkins Hospital, and Johns Hopkins Health System) द्वारा पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार पेशेंट के डायट का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। इसलिए बोन कैंसर सर्जरी के बाद पेशेंट हेल्दी डायट से पेशेंट के शरीर में एनर्जी लेवल बढ़ती (Increase energy) है, मांसपेशियां टोन (Muscle tone) होती हैं, इम्यून सिस्टम अच्छा (Preserve immune function) बना रहता है एवं शरीर के अंदुरुनी सूजन (Reduce inflammation) को कम करने में भी मदद मिलती है।

    बोन कैंसर सर्जरी के बाद ऑन्कोलॉजिस्ट द्वारा दिए गए अपॉइंटमेंट के समय पर जरूर मिलें। डॉक्टर पेशेंट की हेल्थ कंडिशन एवं सर्जरी के बाद पेशेंट की कंडिशन को मॉनिटर करते हैं। इसके अलावा अगर डॉक्टर अपॉइंटमेंट से पहले पेशेंट को कोई परेशानी महसूस होती है, तो ऐसी स्थिति में भी डॉक्टर से संपर्क करना जरूरी है।

    और पढ़ें: Metastatic lung cancer: मेटास्टेटिक लंग कैंसर क्या हैं? जानिए मेटास्टेटिक लंग कैंसर के लक्षण और इलाज से जुड़ी प्रमुख जानकारियां!

    बोन कैंसर सर्जरी के बाद पेशेंट को किन-किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है?

    बोन कैंसर सर्जरी के बाद पेशेंट को निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना जरूरी है। जैसे:

    1. कोई भी परेशानी महसूस होने पर देखभाल कर रहे व्यक्ति या परिवार के लोगों से शेयर करें।
    2. स्मोकिंग (Smoking) ना करें और स्मोक कर रहें व्यक्ति के पास भी नहीं बैठें।
    3. एल्कोहॉल (Alcohol) का सेवन ना करें।
    4. रेड और प्रोसेस्ड मीट (Red and processed meats), ठीक तरह से ना पके (Uncooked) हुए फिश, चिकन, अंडे, शुगरी ड्रिंक्स (Sugary drinks), एवं
    5. हाइली प्रोसेस्ड फूड (Highly processed foods) का सेवन नहीं करना चाहिए।
    6. बिना धुले (Unwashed) फल एवं सब्जियों का सेवन नहीं करना चाहिए।

    इन छे बातों का ध्यान अवश्य रखना चाहिए।

    और पढ़ें: Photodynamic therapy for Skin Cancer: जानिए स्किन कैंसर के लिए फोटोडायनेमिक थेरिपी की प्रक्रिया और इससे होने वाले साइड इफेक्ट्स!

    बोन कैंसर सर्जरी के बाद पेशेंट के लिए जरूरी बातें, लेकिन कई बार लोग कैंसर के इलाज में देरी कर देते हैं जबकि ऐसा नहीं करना चाहिए। इंडियन जर्नल ऑफ मस्कुलोस्केलेटल रेडियोलॉजी (Indian Journal of Musculoskeletal Radiology) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार बोन ट्यूमर अन्य कैंसर के मुकाबले कम डायग्नोस किया जाता है, लेकिन अगर हड्डी के कैंसर का इलाज भी जल्द से जल्द शुरू किया जाए तो इस बीमारी से खुद को दूर किया जा सकता है। इसलिए बोन कैंसर या किसी भी अन्य कैंसर को इग्नोर ना करें और बेहतर होगा कि अगर शरीर में कोई बी=नेगेटिव चेंजेस दिखें तो डॉक्टर से इस बारे में सलाह जरूर लें। डॉक्टर आपके शरीर में हो रहे बदलाव को समझेंगे और आवश्यक टेस्ट की सलाह देंगे, जिससे शरीर में हो रही परेशानियों को समझने में मदद मिल सकती है और इसका इलाज भी किया जा सकता है।

    अगर आप बोन कैंसर (Bone cancer), बोन कैंसर सर्जरी (Bone cancer surgery) या बोन कैंसर सर्जरी के बाद पेशेंट की देखभाल से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर पूछ सकते हैं। हमारे हेल्थ एक्सपर्ट आपके सवालों के जवाब देने की कोशिश करेंगे। हालांकि अगर आप हड्डी के कैंसर (Bone Cancer) की समस्या से पीड़ित है, तो डॉक्टर से कंसल्टेशन करें और अगर बोन कैंसर सर्जरी हो चुकी है, तो ऑन्कोलॉजिस्ट द्वारा दिए गए सलाह का पालन करें क्योंकि ऐसी स्थिति में डॉक्टर आपके हेल्थ कंडिशन को ध्यान में रखकर सर्जरी करते हैं और सही सलाह देते हैं।

    स्वस्थ रहने के लिए अपने डेली रूटीन में योगासन शामिल करें। यहां हम आपके साथ योग महत्वपूर्ण जानकारी शेयर कर रहें हैं, जिसकी मदद से आप अपने दिनचर्या में योग को शामिल कर सकते हैं। नीचे दिए इस वीडियो लिंक पर क्लिक कर योगासन से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी जानिए।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Primary Bone Cancer/https://www.cancer.gov/types/bone/bone-fact-sheet/Accessed on 12/07/2022

    Bone cancer/https://medlineplus.gov/bonecancer.html/Accessed on 12/07/2022

    Bone cancer/https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/conditionsandtreatments/bone-cancer/Accessed on 12/07/2022

    Osteosarcoma/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK549868/Accessed on 12/07/2022

    Cancer Treatments/https://www.cdc.gov/cancer/survivors/patients/treatments.htm/Accessed on 12/07/2022

    Strong Bones During and After Cancer Treatment/https://www.health.ny.gov/publications/1983/index.htm/Accessed on 12/07/2022

    लेखक की तस्वीर badge
    Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 13/07/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड