home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

कैंसर सर्वाइवरः असल जिंदगी में भी ' हीरोइन ' बनीं ये अभिनेत्रियां

कैंसर सर्वाइवरः असल जिंदगी में भी ' हीरोइन ' बनीं ये अभिनेत्रियां

बॉलीवुड और कैंसर एक रिश्ता सा बन गया है। बॉलीवुड के बहुत से सितारे कैंसर से जूझ चुके हैं और अब अपनी जिंदगी सामान्य रूप से जी रहे हैं। कैंसर सर्वाइवर की भी बॉलीवुड की लंबी लिस्ट है। कैंसर ने सोनाली बेंद्रे, मनीषा कोइराला, राकेश रोशन, ताहिरा कश्यप जैसी बॉलीवुड हस्तियों को अपना शिकार बनाया है और ये सभी सफलतापूर्वक कैंसर सर्वाइवर कि लिस्ट में आते हैं। कैंसर के खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए उनकी कहानियां बीमारी से कहीं अधिक शक्तिशाली हैं।

बॉलीवुड और हॉलीवुड में कैंसर सर्वाइवर

भारत में कैंसर दूसरी सबसे आम बीमारी है। इंडिया अगेंस्ट कैंसर (IAC) के अनुसार 2.25 मिलियन लोग कैंसर से पीड़ित हैं। प्रतिवर्ष 11,57,294 कैंसर के नए मरीज रजिस्टर किए जाते हैं और तकरीबन 7,84,821 लोगों की मौत हर साल होती है। महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर की समस्या सबसे ज्यादा होती है। यह बीमारी किसी को भी हो सकती है। इस आर्टिकल में पढ़ें उन ब्रेस्ट कैंसर सर्वाइवर की कहानी जिन्होंने कैंसर जैसी बीमारी को भी हरा दिया।

और पढ़ेंः स्तन कैंसर की पहचान ही इससे बचाव, खेलिए क्विज जानिए टिप्स

कैंसर सर्वाइवर की लिस्ट में बहुत से सेलिब्रिटी हैं

यू तो बॉलीवुड और क्रिकेट जगत में कैंसर सर्वाइवर की अच्छी खासी संख्या है, लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसी सेलिब्रिटीज के बारे में बताएंगे जिन्होंने अलग-अलग तरह के कैंसर से लड़ाई की और उस पर जीत भी हासिल की।

कैंसर सर्वाइवर सोनाली बेंद्रे

  • बॉलीवुड अभिनेत्री सोनाली बेंद्रे बहल ने सोशल मीडिया पर यह घोषणा करते हुए सभी को चौंका दिया कि उन्हें एक ‘उच्च श्रेणी के कैंसर’ का पता चला है जो मेटास्टाइज्ड हो चुका है।
  • सोनाली के सोशल-मीडिया पोस्ट ने हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में सदमे की लहर पैदा कर दी थी सभी उनके जल्दी स्वस्थ होने की कामना करने लगे।
  • 43 वर्षीय अभिनेत्री के बयान में कहा गया है, “कभी-कभी, जब आप कम से कम इसकी उम्मीद करते हैं, तो जीवन आपको कुछ अलग देता है। मुझे हाल ही में एक उच्च श्रेणी के कैंसर का पता चला है जो मेटास्टेसिस हो गया है, जिसे हमने स्पष्ट रूप से नहीं देखा है। एक दर्द की वजह से हुए टेस्ट की वजह से कैंसर के बारे मे पता चला है। मेरे परिवार और करीबी दोस्तों ने मुझे हर तरह से सपोर्ट किया जितना मैं उम्मीद भी नहीं कर सकती थी। मैं उनमें से हर एक के लिए बहुत धन्य और आभारी हूं।
  • सोनाली बेंद्रे साल 2018 में ब्रेस्ट कैंसर से पीड़ित हुईं थी। सोनाली ने कैंसर की जानकारी सोशल मीडिया के माध्यम से शेयर किया था। बेहतर इलाज, हिम्मत और सकारात्मक सोच रखकर बीमरी से जंग जीत चुकी हैं। जुलाई 2018 में कैंसर की जानकारी देने के बाद सोनाली इसके इलाज में जुट गई और फरवरी 2019 में सोनाली कैंसर सर्वाइवर की तरह उभर कर सामने आईं।

और पढ़ेंः पैंक्रिएटिक कैंसर सेल्स को 90 फीसदी तक खत्म कर सकता है यह मॉलिक्यूल

कैंसर सर्वाइवर ताहिरा कश्यप खुराना

पार्टनर कोअभिनेता आयुष्मान खुराना की पत्नी ताहिरा कश्यप खुराना भी साल 2018 में ब्रेस्ट कैंसर की शिकार हो चुकी हैं, लेकिन अपनी सकारात्मकता के साथ उन्हें ने कैंसर को मात दिया और हाल ही में रैंप वॉक करते नजर आईं।

आयुष्मान खुराना की पत्नी ताहिरा कश्यप भी कैंसर सर्वाइवर की लिस्ट में से एक हैं। वह स्टेज 1 के ब्रेस्ट कैंसर से जूझ चुकी हैं और एक कैंसर सर्वाइवर के रूप में उभरी हैं।

कैंसर सर्वाइवर ताहिरा कश्यप अपनी इस बीमारी को लेकर काफी पॉजिटिव रही हैं। अपने अलग-अलग इंटरव्यू में वह सभी मुद्दों के बारे में खुलकर बात करती है चाहें वह कैंसर हो या उनकी पर्सनल लाइफ।

कैंसर सर्वाइवर मनीषा कोइराला

अभिनेत्री मनीषा कोइराला को साल 2012 में ऑवेरियन कैंसर (ovarian cancer) की जानकारी मिली। मनीषा ने भी अपनी सकारात्मक सोच के साथ इस जानलेवा बीमारी को मात दे चुकी हैं।

वह केवल 42 वर्ष की थी जब वर्ष 2012 में मनीषा को ओवरियन कैंसर का पता चला था। बीमारी से जूझने के लिए मनीषा ने जी जान लगा दी। वह अपने कीमोथेरेपी सत्रों के दौरान अपनी तस्वीरें साझा करने से नहीं कतराती थीं। अपने प्रशंसकों के लिए उन्होंने गंजे सिर और एक आकर्षक मुस्कान के साथ तस्वीर खिंचवाई। अपनी एक पोस्ट में उन्होंने कहा कि कैंसर ने उन्हें दयालु, सज्जन बना दिया था और उन्हें सिखाया था कि हम सभी आपस में जुड़े हुए हैं और आपस में मिले हुए हैं। उन्होंने कहा कि मैंने अपने स्वास्थ्य पर ध्यान नहीं दिया यही वजह है कि कैंसर एक शिक्षक के रूप में मेरे पास आया, यह मेरे लिए एक सबक के रूप में आया था। अब मैं अपने जीवन को अधिक महत्व देती हूं, अपने परिवार को प्यार करती हूं, अपने स्वास्थ्य को महत्व देता हूं क्योंकि मुझे अहसास हुआ कि अगर कोई स्वस्थ नहीं है, तो कोई भी जीवन जीने के किसी भी पहलू का आनंद नहीं ले सकता। मनीषा ने एक किताब Healed: How Cancer Gave Me a New Life भी लिखी है, जो मैं मरना नहीं चाहती वाक्य के साथ शुरू होता है।

और पढ़ें: ऐसे 5 स्टेज में बढ़ने लगता है ब्रेस्ट कैंसर

कैंसर सर्वाइवर लीजा रे

  • अभिनेत्री लीजा रे साल 2009 में मल्टीपल मायलोमा कैंसर (multiple Myeloma cancer) से पीड़ित हुईं थी। लीजा इस बीमारी से लंबे वक्त तक परेशान रहीं लेकिन, इन्होंने ने भी कैंसर को मात देकर वापस बॉलीवुड में फिल्मों में नजर आईं।
  • वह केवल 37 वर्ष की थी जब वर्ष 2009 में उसे मल्टीपल मायलोमा (रक्त कैंसर का एक रूप) का पता चला था। उन्हे हाई मेडिकेशन पर रखा गया था और वर्ष 2010 में कैंसर मुक्त घोषित किया गया था। लिसा ने अपने प्रेमी जेसन डेहनी से वर्ष 2012 में शादी की और यह उस समय था जब कैंसर से छुटकारा मिल गया और तब से वह कैंसर सर्वाइवर की तरह जी रही हैं।

और पढ़ेंः Colorectal Cancer: कोलोरेक्टल कैंसर क्या है?

कैंसर सर्वाइवर एंजेलिना जॉली

  • हॉलीवुड अभिनेत्री एंजेलिना जॉली भी ब्रेस्ट कैंसर को झेल चुकीं हैं। एंजेलिना ने अपने दोनों स्तनों को हटवा कर इंप्लांट करवाया था।

ये तो हुई बॉलीवुड और हॉलीवुड अभिनेत्रियों की बात जो कैंसर सर्वाइवर रह चुकी हैं। लेकिन इसके अलावा बहुत से सेलिब्रिटी और भी है जो कैंसर से अपनी जंग लड़ चुके है। इरफान खान और युवराज सिंह भी कैंसर सर्वाइवर की श्रेणी में आते हैं जिन्होंने कैंसर को मात देकर एक नई जिंदगी की शुरुआत की है। कैंसर से हर साल अनगिनत लोगों की मौत हो जाती है। कुछ लोगों को पता नहीं चलता कि उन्हें कैंसर हैं और कुछ के पास इलाज के लिए पर्याप्त पैसों की कमी होती है। जिस सरह से पहले हमारे आसपास वायरल फिवर के मरीज थे वैसे ही आजकल कैंसर के पेशेंट है।

इन महिलाओं ने भी कैंसर को मात देकर फिर से अपनी जिंदगी की शुरुआत की और कैंसर सर्वाइवर की श्रेणी में खुद को स्थापित किया। इसलिए बीमारी कोई भी हो लेकिन, इलाज करवाना बेहद जरूरी है।

नोट : नए संशोधन की डॉ. प्रणाली पाटिल द्वारा समीक्षा

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट a week ago को
और Admin Writer द्वारा फैक्ट चेक्ड
x