अब एक ही टेस्ट से चल जाएगा कई तरह के कैंसर का पता

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट July 20, 2020 . 2 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

हार्वर्ड मेडिकल स्कूल के डाना-फार्बर कैंसर मेडिकल इंस्टिट्यूट ने एक नया ब्लड टेस्ट विकसित किया है। इस ब्लड टेस्ट से अलग-अलग तरह के कैंसर का पता चल पाएगा। इस ब्लड टेस्ट की सटीकता काफी अच्छी है। यह टेस्ट GRAIL (Detecting Cancer Early, When It Can Be Cured) ने विकसित किया है। इससे शुरुआती चरण में कैंसर का पता लगाना संभव होगा, जिससे सरवाइवल की संभावना बढ़ेगी।

इस टेस्ट का ट्रायल (ESMO: European Society for Medical Oncology) यूरोपियन सोसायटी फोर मेडिकल ऑन्कोलॉजी (ईएसएमओ) 2019 कांग्रेस में प्रस्तुत किया गया। इस टेस्ट में नेकस्ट जनरेशन की सीक्वेंसिंग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया है। यह डीएनए में बारीक कैमिकल्स टैग्स (मिथायलेशन) की जांच करता है, जिससे यह प्रभावित होता है कि जीन एक्टिव हैं या इनएक्टिव।

इस टेस्ट को करीब 3,600 ब्लड सैंपल्स पर आजमाया गया। ब्लड सैंपल देने वाले कुछ लोग कैंसर के मरीज थे तो कुछ मरीजों का कैंसर का उपचार नहीं किया गया था। इस टेस्ट ने कैंसर के मरीजों के ब्लड से सफलता पूर्वक कैंसर के संकेतों को प्राप्त किया। इस टेस्ट ने कैंसर की शुरुआत होने वाले हिस्से (कोशिका के उत्तक) या ओरिजन का भी सटीकता से पता लगाया।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

और पढ़ें: जानें क्या है एचसीजी ब्लड टेस्ट?

ट्रायल में 20 तरह के कैंसर शामिल

शोधर्कताओं ने पाया कि यह टेस्ट सिर्फ व्यक्ति को कैंसर होने की सूरत में ही पॉजिटिव आता है। इसके साथ ही जिस ऊत्तक से कैंसर की शुरुआत हुई, उस हिस्से का भी पता चला। दाना-फार्बर के डॉक्टर जिओफ्री ऑक्सनार्ड और उनके सहयोगियों ने एक विश्लेषण किया। उन्होंने 3,583 ब्लड सैंपल्स में कोशिका मुक्त डीएनए (डीएनए जो सिर्फ कोशिकाओं तक सीमित था लेकिन, वह मृत कोशिका के ऊपर से ब्लडस्ट्रीम में प्रवेश कर गया) का विश्लेषण किया।

इसमें से 1,583 मरीजों के कैंसर का इलाज हुआ था और 2,053 लोगों का इलाज नहीं हुआ था। इन ब्लड सैंपल्स में 20 से ज्यादा तरह के कैंसर को शामिल किया गया। इसमें हॉरमोन रिसेप्टर-नेगेटिव ब्रेस्ट, कोलोरेक्टल, इसोफेजियल, गालब्लैडर, गैस्ट्रिक, सिर और नाक, फेफड़े, लिम्फाेइड, ल्यूकेमिया, मल्टिपल मायलोमा, ओवेरियन और पेनक्रियाटिक कैंसर शामिल थे।

और पढ़ें – Rectal Cancer: रेक्टल कैंसर क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपचार

मिथायलेशन पर केंद्रित है कैंसर टेस्ट

नया टेस्ट डीएनए में उन कैंसर कोशिकाओं की तलाश करता है, जो मृत होने के बाद ब्लडस्ट्रीम में छुप जाती हैं। यह टेस्ट ‘लिक्विड बायोपसीज’ के उलट जेनेटिक म्युटेशन या कैंसर से संबंधित अन्य बदलाव का पता लगाता है। यह टेक्नोलॉजी डीएनए के मोडिफिकेशन पर केंद्रित है, जो मिथायल ग्रुप्स के हैं। मिथायल ग्रुप्स कैमिकल्स यूनिट्स हैं, जो डीएनए से जुड़े होते हैं।

मिथायलेशन एक प्रक्रिया है, जो एक्टिव और इनएक्टिव जीन को कंट्रोल करती हैं। मिथायलेशन प्रक्रिया में असमानता सामने आने पर यह कई मामलों में कैंसर के संकेत और उसके प्रकार की सूचना देता है।

वहीं, जीनोम के कुछ हिस्सों पर नया ब्लड टेस्ट शून्य है, जहां पर कैंसर कोशिकाओं में असामान्य मिथायलेशन का पैटर्न सामने आता है। डॉक्टर ओक्सनार्ड ने कहा, ‘हमारे पिछले अध्ययनों में संकेत मिला कि मिथायलेशन पर आधारित डीएनए सीक्वेंसिंग तकनीक ब्लड सैंपल में कई तरह के कैंसर का पता लगाने के लिए बेहतर साबित हुई।’ उन्होंने कहा, ‘नए शोध के परिणाम से पता चलता है कि इस ब्लड टेस्ट से लोगों में कैंसर का पता आसानी से लगाया जा सकता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

रेडिएशन थेरिपी की डोज मॉनिटर करने के लिए नया तरीका, कैंसर का इलाज होगा आसान

रेडिएशन थेरिपी क्या है, radiation therapy in hindi, कैंसर का इलाज रेडिएशन थेरिपी, radiation therapy kaise hoti hai, cancer ka ilaaj kaise hota hai, कैंसर का इलाज कैसे होता है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal
हेल्थ न्यूज, स्वास्थ्य February 19, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Quiz : लंग कैंसर के उपचार से पहले जान लें उससे जुड़ी जरूरी बातें

जानिए लंग कैंसर के उपचार in Hindi, लंग कैंसर के उपचार क्या हैं, लंग कैंसर क्या है, फेफड़े का कैंसर, Lung Cancer के कारण।

के द्वारा लिखा गया Ankita mishra
कैंसर, फेफड़ों का कैंसर February 16, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

Lockjaw: लॉकजॉ क्या है?

जानिए लॉकजॉ क्या है in hindi, लॉकजॉ के कारण, जोखिम और लक्षण क्या है, lockjaw को ठीक करने के लिए क्या उपचार उपलब्ध है जानिए यहां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
ओरल हेल्थ, अन्य ओरल समस्याएं February 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Karyotype Test: कैरियोटाइप टेस्ट क्या है?

जानिए कैरियोटाइप टेस्ट (Karyotype Test) की जानकारी मूल बातें, टेस्ट कराने से पहले जानने योग्य बातें, Karyotype Test क्या होता है, कैरियोटाइप टेस्ट के रिजल्ट और परिणामों को समझें | Karyotype Test in Hindi

के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
स्वास्थ्य, मेडिकल टेस्ट December 27, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

cancer screening, कैंसर स्क्रीनिंग

कैंसर स्क्रीनिंग के बारे में हर किसी को होनी चाहिए यह जानकारी

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ May 8, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
Dance Therapy- कैंसर रोगियों के लिए डांस थेरिपी

कैंसर रोगियों के लिए डांस थेरिपी है फायदेमंद, तन और मन दोनों होंगे फिट

के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal
प्रकाशित हुआ April 30, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
एंटी-न्यूट्रोफिल-साइटोप्लाज्मिक-एंटीबॉडी

Antineutrophil Cytoplasmic Antibodies Test-एंटी-न्यूट्रोफिल साइटोप्लाज्मिक एंटीबॉडी (एएनसीए) टेस्ट क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shivam Rohatgi
प्रकाशित हुआ April 20, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Yuvraj Singh's Cancer- युवराज सिंह को कैंसर

युवराज सिंह ने कैंसर के दौरान क्या-क्या नहीं सहा, लेकिन कभी हार नहीं मानी

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal
प्रकाशित हुआ March 25, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें