कैंसर के अर्ली डिटेक्शन के फायदे : बढ़ सकता है सर्वाइवल रेट

    कैंसर के अर्ली डिटेक्शन के फायदे : बढ़ सकता है सर्वाइवल रेट

    ज्यादातर लोगों के लिए कैंसर एक भयानक सपने की तरह है, लेकिन आज कैंसर के कई रूप और प्रकारों का पूरी तरह से इलाज किया जा सकता है। गौरतलब है कि यूरोप और संयुक्त राज्य अमेरिका जैसे विकसित देशों में बड़ी संख्या में लोग कैंसर से बचे हैं। रिसर्च बताती है कि कैंसर के इलाज में साइंटिफिक एडवांसमेंट के कारण कैंसर रोगियों की मृत्यु दर में कमी आई है। यह सब कैंसर के अर्ली डिटेक्शन, टेक्नोलॉजी इम्प्रूवमेंट, डिटेक्शन/डायग्नोसिस इक्विपमेंट आदि के जरिए संभव हो पाया है। साथ ही जेनेटिक टेस्टिंग असामान्य कोशिकाओं के कैंसर सेल्स (Cancer cells) में बदलने से पहले उनका शीघ्र पता लगाने में योगदान करते हैं जिससे प्रभावी ट्रीटमेंट की संभावना बढ़ जाती है। कैंसर के अर्ली डिटेक्शन के फायदे (Benefits of Early Cancer Detection) की बात की जाए तो इससे कैंसर के बहुत दूर तक फैलने से पहले उसका इलाज करने से ट्रीटमेंट के सफल होने की संभावना ज्यादा बढ़ जाती है।

    आइए, इस आर्टिकल में जानते हैं कि कैंसर के अर्ली डिटेक्शन के फायदे मरीज को कैसे मिल सकते हैं।

    कैंसर के अर्ली डिटेक्शन के फायदे (Benefits of Early Cancer Detection) के बारे में क्या कहती है रिसर्च?

    एनसीबीआई (NCBI) में छपी स्टडी के अनुसार नॉन-लैटिनो वाइट वीमेन की तुलना में अफ्रीकन अमेरिकन वीमेन में कैंसर से बचने की दर 5 साल कम है। नस्लीय/जातीय (Racial/ethnic) समूहों के बीच कैंसर के अर्ली डिटेक्शन स्क्रीनिंग बेहवियर्स को प्रभावित कर सकता है। इस स्टडी ने 513 अफ्रीकी अमेरिकी महिलाओं के बीच अर्ली ब्रेस्ट कैंसर, सर्वाइकल और कोलोरेक्टल कैंसर के डिटेक्शन फायदों के बारे में को-रिलेट्स का आंकलन किया गया।

    कम्युनिटी-पार्टनर्ड पार्टिसिपेटरी रिसर्च एप्रोच का उपयोग करते हुए, दक्षिण लॉस एंजिल्स में 11 चर्चों में अफ्रीकी अमेरिकी पैरिशियन के बीच कैंसर स्क्रीनिंग, रिस्क बेहेवियर, और रिलेटेड नॉलेज और एटीट्यूड पर एक सर्वे किया गया। इस स्टडी में भाग लेने वाली अफ्रीकी अमेरिकी महिलाओं का मानना था कि कोलोरेक्टल (51%) और सर्वाइकल कैंसर (52%) का शीघ्र पता लगाने की तुलना में स्तन कैंसर (74%) का शीघ्र पता लगाने के बाद सर्वाइव करने की संभावना बहुत अच्छी है। मल्टीवेरिएंट एनालिसिस बताते हैं कि कैंसर के अर्ली डिटेक्शन के फायदे (Benefits of Early Cancer Detection) हायर कैंसर नॉलेज से जुड़ा है।

    और पढ़ें: Living with Liver Cancer: लिवर कैंसर के सर्वाइवर्स को किन चीजों का रखना चाहिए ध्यान, जानिए

    ये भी जान नें

    कैंसर के अर्ली स्टेज के ब्रेस्ट, सर्वाइकल और कोलोरेक्टल कैंसर के लिए 5 साल का सर्वाइवल रेट 84% से 93% तक है। डेटा बताता है कि दक्षिण लॉस एंजिल्स में अफ्रीकी अमेरिकी महिलाओं का एक बड़ा हिस्सा कैंसर के अर्ली डिटेक्शन के फायदे से अवेयर नहीं है। विशेष रूप से कोलोरेक्टल और सर्वाइकल कैंसर। प्रोग्राम्स जो कैंसर नॉलेज को बढ़ाते हैं और डॉक्टर के साथ व्यक्ति के कैंसर-रिस्क के डिस्कशन को प्रोत्साहित करते हैं, कैंसर के अर्ली डिटेक्शन के फायदे (Benefits of Early Cancer Detection) बढ़ाने में सक्षम हो सकते हैं।

    स्क्रीनिंग और कैंसर के अर्ली डिटेक्शन में अंतर (Difference between screening and early detection of cancer)

    अर्ली डिटेक्शन की तुलना में स्क्रीनिंग एक अलग स्ट्रेटजी है। एक स्क्रीनिंग प्रोग्राम में स्क्रीनिंग प्रोसेस में टार्गेटेड पॉपुलेशन को इन्वाइट करने से लेकर बीमारी से पीड़ित लोगों के लिए प्रभावी ट्रीटमेंट तक पहुंचने तक सभी मुख्य कंपोनेंट्स शामिल होते हैं। अर्ली डिटेक्शन की तुलना में कैंसर स्क्रीनिंग एक स्पेसिफिक और अधिक कॉम्प्लेक्स पब्लिक हेल्थ स्ट्रेटजी है जो एक्स्ट्रा रिसोर्सेज, इंफ्रा और कोऑर्डिनेशन को अनिवार्य करती है। डब्ल्यूएचओ (WHO) अनुशंसा करता है कि स्क्रीनिंग प्रोग्राम केवल तभी शुरू किए जाएं जब उनकी इफेक्टिवनेस को डेमोंस्ट्रेट किया गया हो, जब रिसोर्स टारगेट ग्रुप को कवर करने के लिए पर्याप्त हों, जब डायग्नोसिस की पुष्टि करने और ट्रीटमेंट सुनिश्चित करने के लिए सुविधाएं मौजूद हों।

    और पढ़ें: Lip cancer: लिप कैंसर का कैसे किया जाता है डायग्नोसिस और ट्रीटमेंट?

    कैंसर के अर्ली डिटेक्शन के फायदे: सर्वाइवल में हो सकता है सुधार?

    जब कैंसर को पहले स्टेज में डायग्नोस किया जाता है, तब यह बहुत ज्यादा फैला हुआ नहीं होता है, और उस समय इसके सफलतापूर्वक ट्रीटमेंट की संभावना अधिक होती है। नीचे कुछ उदाहरण दिए गए हैं कि कैसे कैंसर का जल्द पता लगाना कैंसर पेशेंट्स के लिए फायदेमंद हो सकता है।

    • बोएल कैंसर (Bowel cancer) का अर्ली डिटेक्शन: इंग्लैंड में, 10 में से 9 से अधिक बोएल कैंसर के रोगी इस बीमारी से 5 साल या उससे अधिक समय तक सर्वाइव करते हैं, यदि अर्ली स्टेज में इसे डायग्नोस किया जाता है।
    • स्तन कैंसर (Breast cancer) का अर्ली डिटेक्शन: शुरुआती स्टेज में ब्रेस्ट कैंसर से पीड़ित लगभग सभी महिलाएं कम से कम 5 वर्षों तक अपनी बीमारी से सर्वाइव करती हैं।
    • ओवेरियन कैंसर (Ovarian cancer) का अर्ली डिटेक्शन: 10 में से 9 से अधिक महिलाएं ओवेरियन कैंसर के अर्ली डिटेक्शन से कम से कम 5 साल तक सर्वाइव करती हैं।
    • फेफड़ों के कैंसर (Lungs cancer) का अर्ली डायग्नोसिस: लंग कैंसर के लगभग 9 से 10 रोगी अर्ली डायग्नोसिस से कम से कम एक वर्ष तक सर्वाइव कर सकते हैं। अमेरिकन कैंसर सोसाइटी का सुझाव है कि हैवी स्मोकर्स और या जो अभी भी स्मोकिंग कर रहे हैं या पिछले 15 वर्षों के भीतर स्मोकिंग छोड़ चुके हैं, उन्हें लो-डोज चेस्ट सीटी स्कैन (Low-dose CT scan of the chest) के साथ फेफड़ों के कैंसर के लिए टेस्ट कराना चाहिए।
    • प्रोस्टेट कैंसर (Prostate cancer) : अमेरिकन कैंसर सोसायटी 45 ​​वर्ष की आयु के बाद से या जिनके पिता या भाई 65 वर्ष से पहले प्रोस्टेट कैंसर था, ऐसी पुरुषों को सलाह देती है कि उन्हें पीएसए ब्लड टेस्ट (रेक्टल टेस्ट के साथ या बिना) करवाना चाहिए।

    और पढ़ें: कौन से हैं कैंसर की वजह बनने वाले मुख्य रिस्क फैक्टर?

    कुछ कैंसर्स का डिटेक्शन देर से क्यों हो पाता है? (Why are some cancers detected late?)

    कैंसर के डायग्नोसिस में देरी के कई कारण हो सकते हैं:

    डब्ल्यूएचओ (WHO) मेंबर स्टेट्स को कैंसर के अर्ली डिटेक्शन और स्क्रीनिंग प्रोग्राम को डेवलप करने और इम्प्लिमेंट करने के लिए सपोर्ट करता है। 2017 में, डब्ल्यूएचओ ने “गाइड टू कैंसर अर्ली डायग्नोसिस” लॉन्च किया, जिसका उद्देश्य पॉलिसी मेकर्स और प्रोग्राम मैनेजर्स को समय पर डिटेक्शन की सुविधा प्रदान करना और सभी के लिए कैंसर के ट्रीटमेंट तक पहुंच में सुधार करना है। कैंसर के अर्ली डिटेक्शन के लिए इफेक्टिव स्ट्रेटजी डेवलप करके, लोगों की जान बचाई जा सकती है।

    जब आपके शरीर की बात आती है, तो याद रखें कि यदि आप कुछ भी अपनी बॉडी में असामान्य पाते हैं, तो उसे टालें नहीं। तुरंत अपने डॉक्टर से बात करें। ज्यादातर मामलों में यह कैंसर नहीं होगा, लेकिन अगर ऐसा है, तो इसका जल्द पता लगाना आपके लिए कई मायनों में अच्छा साबित हो सकता है और कैंसर के अर्ली डिटेक्शन के फायदे मिल सकते हैं।

    और पढ़ें: ओरल कैविटी कैंसर का जीवन की गुणवत्ता पर कैसा होता है असर?

    उम्मीद करते हैं कि आपको कैंसर के अर्ली डिटेक्शन के फायदे (Benefits of Early Cancer Detection) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Why is early diagnosis important?/https://www.cancerresearchuk.org/about-cancer/cancer-symptoms/why-is-early-diagnosis-important/ Accessed on 21/01/2022

    Promoting Cancer Early Diagnosis
    https://www.who.int/activities/promoting-cancer-early-diagnosis/Accessed on 21/01/2022

    Understanding Perceived Benefit of Early Cancer Detection: Community-Partnered Research with African American Women in South Los Angeles/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4589099/Accessed on 21/01/2022

    Cancer screening/
    https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/cancer/diagnosis-treatment/drc-20370594/Accessed on 21/01/2022

    Screening Tests/
    https://www.cdc.gov/cancer/dcpc/prevention/screening.htm/Accessed on 21/01/2022

    लेखक की तस्वीर badge
    Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 21/01/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड