आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

null

आय मेलेनोमा (Eye Melanoma) के बारे में कितना जानते हैं आप?

    आय मेलेनोमा (Eye Melanoma) के बारे में कितना जानते हैं आप?

    मेलेनोमा कैंसर का एक प्रकार है जो उन कोशिकाओं में विकसित होता है जो मेलानिन को प्रोड्यूस करती हैं। यह एक प्रकार का पिगमेंट है जो त्वचा का रंग प्रदान करता है। आंखों में भी ऐसी कोशिकाएं होती हैं जो मेलानिन को प्रोड्यूस करती हैं और मेलेनोमा विकसित कर सकती हैं। आय मेलेनोमा (Eye Melanoma) को ऑक्युलर मेलेनोमा भी कहते हैं।

    ज्यादातर आय मेलेनोमा आंख के अंदर के उस हिस्से में विकसित होते हैं जिन्हें व्यक्ति देख नहीं सकता। इसकी वजह से आय मेलेनोमा को डिटेक्ट करना मुश्किल हो जाता है। इसके साथ आई मेलेनोमा के शुरुआती लक्षण और संकेत दिखाई नहीं देते हैं। आय मेलेनोमा (Eye Melanoma) का इलाज उपलब्ध है। स्माल मेलेनोमा का ट्रीटमेंट विजन में किसी प्रकार का व्यवथान नहीं डालता। हालांकि बड़े मेलेनोमा का इलाज विजन लॉस का कारण बन सकता है।

    आय मेलेनोमा के लक्षण (Symptoms of eye melanoma)

    आय मेलेनोमा (Eye Melanoma) लक्षणों का कारण नहीं बनता। जब ये दिखाई देना शुरू होते हैं तो उनमें निम्न शामिल हो सकते हैं।

    • आईरिस में काले हिस्से का बढ़ना
    • आंखों के अंदर डार्क सर्कल जिसे प्यूलिप (Pupil) कहते हैं उसमें बदलाव होना
    • कम और धुंधला दिखाई देना (Poor or blurry vision in one eye)
    • पेरिफेरल विजन में कमी (Loss of peripheral vision)

    डॉक्टर से कब संपर्क करें?

    अगर आपको कोई लक्षण दिखाई देते हैं जिनके बारे में आप चिंतित हैं तो डॉक्टर से संपर्क करें। विजन में अचानक बदलाव होने पर इमरजेंसी में डॉक्टर से संपर्क करें।

    और पढ़ें: Stages of skin cancer: जानिए स्किन कैंसर के स्टेज और इलाज से जुड़ी महतपूर्ण जानकारी!

    आय मेलेनोमा के कारण (Eye Melanoma causes)

    आय मेलेनोमा के कारण के बारे में स्पष्ट जानकारी नहीं है। डॉक्टर्स के अनुसार आय मेलेनोमा (Eye Melanoma) जब डेवलप होता है जब आंख के हेल्दी डीएनए में कुछ खामियां होती हैं। ये डीनएए एरर कोशिकाओं की असामान्य वृद्धि के लिए जिम्मेदार होती है। इसलिए म्यूटेड कोशिकाएं जीवित रहती हैं जबकि वे सामान्य रूप से मर जाती हैं।

    आय मेलेनोमा (Eye Melanoma) कहां पर होता है?

    आय मेलेनोमा आमतौर पर आंख की मिडिल लेयर में डेवलप होते हैं। मिडिल लेयर में तीन हिस्से होते हैं और हर हिस्सा आय मेलेनोमा से प्रभावित हो सकता है।

    • आईरिस- यह आंख के सामने का कलर्ड पार्ट होता है।
    • कोरॉइड लेयर (Choroid layer) – ब्लड वेसल्स और कनेक्टिव टिशू की लेयर होती है जो रेटिना के बीच होती है।
    • सिलिअरी बॉडी (Ciliary body)- जो यूविया के सामने होता है और ट्रांसपेरेंट लिक्विड (एक्विअस ह्यूमर) को आंखों में सीक्रेट करता है।

    आय मेलेनोमा आंख के सामने (कंजंक्टिवा) पर सबसे बाहरी परत पर भी हो सकता है। हालांकि इस प्रकार के आय मेलेनोमा (Eye Melanoma) बहुत दुलर्भ है।

    आय मेलेनोमा के रिस्क फैक्टर्स क्या हैं? (Risk factors of eye melanoma)

    प्राइमरी मेलेनोमा के रिस्क फैक्टर्स में निम्न शामिल हैं।

    • ब्लू या ग्रीन आईज जिन लोगों की होती हैं उनमें मेलेनोमा कैंसर का रिस्क अधिक होता है।
    • श्वेत लोगों में आय मेलेनोमा का रिस्क अधिक होता है।
    • उम्र बढ़ने पर आय मेलेनोमा का रिस्क बढ़ जाता है।

    और पढ़ें: Fitzpatrick Skin Types : स्किन कैंसर के बारे में जानने का आसान तरीका है फिट्जपैट्रिक स्किन टाइप्स!

    कुछ स्किन डिसऑर्डर (Skin disorder)

    डिसप्लास्टिक नेवस सिंड्रोम (Dysplastic nevus syndrome) नामक एक स्थिति, जो असामान्य मोल का कारण बनती है, आपकी त्वचा और आपकी आंखों में मेलेनोमा के विकास के जोखिम को बढ़ा सकती है।

    इसके अलावा, असामान्य त्वचा रंजकता (Abnormal skin pigmentation) वाले लोगों में पलकें और आस-पास के ऊतक शामिल होते हैं और उनके यूविया पर बढ़े हुए रंजकता – ऑक्युलर मेलानोसाइटोसिस (Ocular melanocytosis) के रूप में जाना जाता है – में भी आंखों के मेलेनोमा के विकास का खतरा बढ़ जाता है।

    पराबैंगनी (यूवी) प्रकाश का संपर्क

    आय मेलेनोमा में पराबैंगनी जोखिम की भूमिका स्पष्ट नहीं है। कुछ सबूत हैं कि यूवी प्रकाश के संपर्क में, जैसे कि सूरज के प्रकाश में अधिक रहने से आंखों के मेलेनोमा के जोखिम को बढ़ा सकता है।

    कुछ आनुवंशिक उत्परिवर्तन

    माता-पिता से बच्चों में आने वाले कुछ जीन आंखों के मेलेनोमा के जोखिम को बढ़ा सकते हैं।

    और पढ़ें: Psoriasis And Skin Cancer: सोरायसिस और स्किन कैंसर से कैसे रहें दूर?

    कॉम्प्लिकेशन (Complication)

    आय मेलेनोमा के कॉम्प्लिकेशन्स में निम्न शामिल हैं।

    आंखों में प्रेशर बढ़ना (ग्लोकोमा)

    एक बढ़ता हुआ आय मेलेनोमा (Eye Melanoma) ग्लोकोमा का कारण बन सकता है। ग्लोकोमा के लक्षणों में आंखों में दर्द और लालिमा के साथ ही धुंधली दृष्टि शामिल है।

    दृष्टि खोना

    आय मेलेनोमा के कारण

    बड़े आय मेलेनोमा अक्सर प्रभावित आंख में दृष्टि हानि का कारण बनते हैं और जटिलताएं पैदा कर सकते हैं, जैसे कि रेटिना टुकड़ी, जिससे दृष्टि हानि भी हो सकती है। आंख के महत्वपूर्ण हिस्सों में होने पर छोटी आंखों के मेलेनोमा कुछ दृष्टि हानि का कारण बन सकते हैं। आपको अपनी दृष्टि के केंद्र में या बगल में देखने में कठिनाई हो सकती है। बहुत उन्नत आय मेलेनोमा पूर्ण दृष्टि हानि का कारण बन सकता है।

    दूसरे अंगों का प्रभावित होना

    आय मेलेनोमा (Eye Melanoma) आंख से बाहर फैल सकता है। नेत्र मेलेनोमा आंख के बाहर और शरीर के दूर के क्षेत्रों में फैल सकता है, जिसमें लिवर, फेफड़े और हड्डियां शामिल हैं।

    आय मेलेनोमा (Eye melanoma) का निदान कैसे किया जाता है?

    आय मेलेनोमा का निदान करने के लिए डॉक्टर निम्न टेस्ट रिकमंड कर सकते हैं।

    • आय एग्जाम
    • आय अल्ट्रासाउंड
    • ट्यूमर के चारों ओर ब्लड वेसल्स की इमेजिंग
    • ऑप्टिकल कोहेरेंस टोमोग्राफी
    • बायोप्सी

    कैंसर फैल चुका है या नहीं ये पता लगाने के लिए निम्न टेस्ट किए जा सकते हैं।

    • लिवर फंक्शन में ब्लड टेस्ट
    • चेस्ट एक्स – रे
    • कम्प्यूटरीकृत टोमोग्राफी (Computerized tomography) स्कैन
    • मेग्नेटिक रेसोनेंस इमेजिंग (Magnetic resonance imaging) स्कैन
    • पेट का अल्ट्रासाउंड
    • पॉजिट्रॉन एमिशन टोमोग्राफी (Positron emission tomography) स्कैन

    आय मेलेनोमा का इलाज (Eye Melanoma treatment)

    आय मेलेनोमा का इलाज कैंसर के साइज और लोकेशन पर निर्भर करेगा। साथ ही मरीज की ओवरऑल हेल्थ और वह किस प्रकार इलाज कराना चाहता है इस पर भी ट्रीटमेंट निर्भर करता है। ट्रीटमेंट ऑप्शन में निम्न शामिल हैं।

    और पढ़ें: सिर्फ क्रायोथेरेपी ही नहीं, बल्कि स्किन कैंसर के उपचार में यह तकनीकें भी हैं असरदार!

    रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy)

    रेडिएशन थेरिपी में कैंसर कोशिकाओं को मारने के लिए उच्च शक्ति वाली ऊर्जा, जैसे प्रोटॉन या गामा किरणों का उपयोग किया जाता है। विकिरण चिकित्सा आमतौर पर छोटे से मध्यम आकार के आंखों के मेलेनोमा के लिए उपयोग की जाती है।

    लेजर ट्रीटमेंट (Laser treatment)

    मेलेनोमा कोशिकाओं को मारने के लिए लेजर का उपयोग करना कुछ स्थितियों में विकल्प हो सकता है। एक प्रकार का लेजर ट्रीटमेंट जिसे थर्मोथेरिपी कहा जाता है और जिसमें इंफ्रारेड लेजर का उपयोग किया जाता है और कभी-कभी रेडिएशन थेरिपी के साथ इसका उपयोग किया जाता है।

    फोटोडायनमिक थेरिपी (Photodynamic therapy)

    फोटोडायनामिक थेरिपी में दवाओं के कॉब्निनेशन के लाइट की स्पेशल वेवलेंथ का उपयोग किया जाता है। दवा कैंसर कोशिकाओं को प्रकाश के प्रति संवेदनशील बनाती है। उपचार वेसल्स और कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाता है जो आंखों के मेलेनोमा को बनाते हैं। फोटोडायनामिक थेरेपी का उपयोग छोटे ट्यूमर में किया जाता है, क्योंकि यह बड़े कैंसर के लिए प्रभावी नहीं है।

    कोल्ड ट्रीटमेंट्स (Cold treatment)

    कुछ स्मॉल आय मेलेनोमा में मेलेनोमा कोशिकाओं को नष्ट करने के लिए अत्यधिक ठंड (क्रायोथेरेपी) का उपयोग किया जा सकता है, लेकिन इस उपचार का आमतौर पर उपयोग नहीं किया जाता है।

    सर्जरी (Surgery)

    आय मेलेनोमा (Eye Melanoma) के इलाज के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले ऑपरेशन में आंख के हिस्से को हटाने की प्रक्रिया या पूरी आंख को हटाने की प्रक्रिया शामिल है। मरीज किस प्रक्रिया से गुजरेंगे यह उसकी आंख मेलेनोमा के आकार और स्थान पर निर्भर करता है।

    दृष्टि परिवर्तन का सामना करना

    यदि आपके कैंसर के उपचार के कारण एक आंख की दृष्टि पूरी तरह से खत्म हो जाती है, जैसे कि जब एक आंख को हटा दिया जाता है, तब भी अधिकांश काम करना संभव हैं जो दो आंखों से कर सकते थे। लेकिन नई दृष्टि के साथ तालमेल बिठाने में कुछ महीने लग सकते हैं। केवल एक आंख होने से आपकी दूरी को समझने की क्षमता प्रभावित होती है। और अपने आस-पास की चीजों के बारे में जागरूक होना अधिक कठिन हो सकता है।

    एक सहायता समूह या एक व्यावसायिक चिकित्सक के रेफरल के लिए अपने डॉक्टर से पूछें, जो आपकी बदली हुई दृष्टि से निपटने और समायोजित करने के लिए रणनीति तैयार करने में मदद कर सकता है।

    उम्मीद करते हैं कि आपको आंखों के कैंसर से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 11/07/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड