home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

स्क्रब के कारण स्किन कैंसर का खतरा बढ़ सकता है, इस्तेमाल से पहले फॉलो करें एक्सपर्ट के टिप्स

स्क्रब के कारण स्किन कैंसर का खतरा बढ़ सकता है, इस्तेमाल से पहले फॉलो करें एक्सपर्ट के टिप्स

हेल्दी और क्लीन स्किन (Healthy and Clean Skin) के लिए आधिकतर लोग स्क्रब (Scrub) का इस्तेमाल करते हैं। लकिन, क्या आपको पता है कि स्क्रब के इस्तेमाल के भी कई नुकसान हो सकते हैं। क्या आपको पता है कि स्क्रब के कारण स्किन कैंसर(Skin Cancer Caused By Scrubs) हो सकता है? हां, यह सही है। कैमिकल युक्त स्क्रब के अधिक इस्तेमाल स्किन डैमेज (Skin Damage) और स्किन कैंसर दोनों का ही खतरा बढ़ सकता है। यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप कैसे और कितना केमिकल युक्त प्रोडक्ट का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसके अलावा, स्किन टाइप भी बहुत महत्वूपर्ण रखता है। सेंसिटिव स्किन (Sensitive Skin) वालों काे स्क्रब का इस्तेमाल और भी सोच समझकर करना चाहिए। तो आइए जानते हैं कि किस तरह से स्क्रब के कारण स्किन कैंसर (Skin cancer caused by scrubs) का खतरा बढ़ जाता है।

और पढ़ें: आपकी ब्यूटी को बढ़ा सकते हैं ये स्किन के लिए टॉप फैटी एसिड सप्लिमेंट!

स्क्रब के कारण स्किन कैंसर(Skin Cancer Caused By Scrubs) का खतरा

स्क्रब (Scrub) का इस्तेमाल डेड स्किन (Dead skin) को हटाने के लिए किया जाता है। अगर स्क्रब के कारण स्किन कैंसर की बात करें, तो स्क्रब में कई प्रकार के खनिज तेल (Mineral oil), सिंथेटिक्स (Synthetics) और रसायन (Chemicals) होते हैं, जो त्वचा के संपर्क में अधिक आने के कारण उसे नुकसान पहुचाने लगते हैं। जब यह घाव के रूप में बदलने लगता है, तो कई बार स्किन कैंसर (Skin Cancer) या दूसरे स्किन डिजीज (Skin Disease) का कारण भी बन सकता है। त्वचा के संवेदनशील होने पर स्क्रब का इस्तेमाल हानिकारक हो सकते हैं। यदि त्वचा कट जाए या उस पर खरोंच आ जाए, तो सॉल्ट बॉडी स्क्रब (Salt Body Scrub)का उपयोग करने से बचें, क्योंकि यह स्थिति को और भी गंभीर कर सकता है।
इसके अलावा बहुत अधिक स्क्रबिंग से स्किन डैमेज होने ही लगती है, साथ में यूवीए किरणों (UVA Rays) से त्वचा बहुत जल्दी प्रभावित होने लगती है, जो स्किन कैंसर का एक बड़ा कारण बन सकता है। डैमेज हुई त्वचा में आसानी से टैनिंग (Tanning), रैशेज (Rashes) और सनबर्न (Sunburn) हो सकते हैं। इसके अलावा, स्क्रब के लिए इस्तेमाल की जाने वाली क्रीम रोम छिद्रों (Pores) को बंद कर सकती हैं। अधिक स्क्रबिंग से त्वचा को कई तरह के नुकसान हो सकते हैं। गलत स्क्रब का चुनाव, ताे आपकी त्वचा की हेल्थ (Skin Health) को सबसे ज्यादा प्रभावित कर सकता है। इसलिए स्क्रब का इस्तेमाल बहुत जल्दी-जल्दी नहीं करना चाहिए। इन कई कारणों से भी स्क्रब के कारण स्किन कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।

स्क्रब के अलावा, कई अन्य कॉस्मेंटिक (Cosmetic) के इस्तेमाल से भी स्किन डैमेज या स्किन कैंसर (Skin Cancer) का खतरा बढ़ जाता है। जिनमें शामिल हैं, कैमिकल युक्त क्लींजर (Cleanser), क्रीम (Cream), फेस मास्क (Face Mask) और अन्य कई मेकअप प्रोडक्ट भी। यह इस बात पर निर्भर करता है कि किस प्रोडक्ट में कौन सा और कितना कैमिकल शामिल है।

और पढ़ें: आपकी ब्यूटी को बढ़ा सकते हैं ये स्किन के लिए टॉप फैटी एसिड सप्लिमेंट!

स्क्रब के कारण स्किन कैंसर:अन्य कॉस्मेटिक में पाए जाने वाले कैमिकल

स्क्रब के कारण स्किन कैंसर की बात करें, तो स्क्रब या कई कॉस्मेटिक में ऐसे कई तरह के कैमिकल शामिल होते हैं, जो हमारी त्वचा काे नुकान पहुंचा सकते हैं। फिर धीरे-धीरे कर के यह हमारी त्वचा को किसी गंभीर रोग (Serious skin disease)का शिकार बना देते हैं। जानिए उन केमिकल के बारे में:

बेन्जोल पैरॉक्साइड (Benzoyl peroxide)

यह कैमिकल त्वचा काे नुकसान पहुंचा सकते हैं। यह कैमिकल अधिकतर उन प्रोडक्ट में पाया जाता है, जो मुहसों के इलाज के लिए होते हैं। जो त्वचा को धीरे-धीरे डैमेज कर सकते हैं। इसीलिए कई बार त्वचा में खुजली जैसी समस्या भी हाे सकती है।

फाॅर्मलडीहाइड (Formaldehyde)

यह कैमिलक फेस वॉश, शॉवर जैल, शैम्पू और कंडिशनर में पाया जाता है। यह कैमिकल एंटीबैक्टीरियल ग्रोथ रोकता है, जिससे आपको कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है।

और पढ़ें: बिनाइन स्किन कैंसर क्या है, जानिए इसके बारे में अहम जानकारी

ट्राइक्लोसन (Triclosan)

इस कैमिलक का उपयोग साबुन और अन्य ब्यूटी प्रोडक्ट्स में किया जाता है। जिसकी वजह से कई तरह की स्किन प्रॉब्लम होने के साथ हाॅर्मोन की भी दिक्कत हो सकती है।

पैराबेन (Paraben)

स्क्रब के कारण स्किन कैंसर की बात करें, तो कई केमिकल युक्त प्रोडक्ट इसके खतरे को और अधिक बढ़ा देते हैं यह कैमिकल शैंपू (Shampoo), बॉडीवॉश (Body Wash), फेस वॉश (Face Wash) और क्लिंजर्स (Cleanser) में पाया जाता है, जिसके कारण महिलाओ में ब्रेस्ट कैंसर का खतरा (Breast Cancer) बढ़ सकता है।

और पढ़ें: स्किन कैंसर के संकेत देते हैं ये लक्षण, भूलकर भी न करें नजरअंदाज

स्किन कैंसर के लक्षण (Skin cancer symptoms)

स्क्रब के कारण स्किन कैंसर का खतरा बढ़ जाता है, लेकिन क्या आपको यह पता है कि स्किन कैंसर के होने पर किस तरह के लक्षण नजर अआने लगते हैं, अगर नहीं पता है, तो जानिए यहां:

पिंपल के साइज का बढ़ना: अगर आपके चेहरे के पिंपल का आकार (Pimple size)बढ़ता जा रहा है और उसका रंग भी बदल रहा है, तो स्किन कैंसर होने की आशंका हो सकती है।

त्वचा के रंग में बदलाव: आपकी स्किन पर तिल (Mole) है, उसके आकार या रंग में किसी प्रकार का बदलाव आ रहा है, तो इसे हल्के में लेने की गलती न करें। यह भी ध्यान दें कि त्वचा में और क्या बदलाव आ रहा है, यह सभी स्किन कैंसर का लक्षण हो सकता है।

एक्जिमा होना- एक्जिमा भी स्किन कैंसर का लक्षण हो सकता है। यह समस्या खासतौर पर कोहनी (Elbow), हथेली या घुटनों पर दिखे तो इसे लेकर लापरवाही न बरतें और तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।

त्वचा में जलन होना: स्किन कैंसर होने पर त्वचा में जलन (Burn), चेहरे के माथे, गाल और आंखों के आसपास के हिस्से में जलन महसूस होना स्किन कैंसर का संकेत हो सकता है।

खुजली महसूस होना: त्वचा में हर बार खुजली होना, आम नहीं है, बल्कि यह स्किन कैंसर (Risk of Skin Cancer) के खतरे का संकेत भी हो सकता है। जिसे अनदेखान नहीं करना चाहिए। यदि आपको शरीर के किसी हिस्से में लंबे समय से खुजली की समस्या बनी हुई है, तो ऐसे में आपको डॉक्टर से मिलने की जरूरत है।

और पढ़ें: स्टेज 4 कोलोरेक्टल कैंसर : जानिए कैंसर की इस अडवांस्ड स्टेज के बारे में!

स्क्रब के कारण स्किन कैंसर: करें नैचुरल स्क्रबर (Natural Scrub) का इस्तेमाल

स्किन क्लीनिंग के लिए अगर आपको स्क्रब का इस्तेमाल करना है, तो आप नैचुरल क्लींजर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप इसके घर पर किचन में पाए जाने वाले नैचुरल प्रोडक्ट का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। जिनमें शामिल हैं:

शुगर : चीनी का स्क्रब के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। इसस त्वचा कोमल और चिकनी बनती है। इसी के साथ ही त्वचा का डैड स्किन (Dead skin) निकल जाती है।

खुबानी: इसमें विटामिन ए (Vitamin A) की मात्रा अधिक पायी जाती है, जो स्वस्थ त्वचा के लिए महत्वपूर्ण है। इसे आप हाथ, हाथों की कोहनी, पीठ (Back), एड़ी (Foot) और त्वचा के दूसरे हिस्सों में भी लगा सकते हैं। इससे त्वचा को और भी कई तरह के पोषक तत्व प्राप्त होता है।

शहद: इसका उपयोंग त्वचा को कोमल बनाने के साथ नमी भी प्रदान करता है। और त्वचा को पोषण भी देता है ।

औटमील: इसमें त्वचा के लिए सबसे अच्छा नैचुरल स्क्रब माना जाता है। यह त्वचा को मॉइस्चराइज भी करता है। यह संवेदनशील त्वचा के लिए प्रभावकारी है।

और पढ़ें: गर्मी में बढ़ सकती है, मास्क पहनने से स्किन प्रॉब्लम : एक्सपर्ट से जानें बचाव के टिप्स

इस तरह से आप घर पर और भी कई नैचुरल स्क्रब बना सकता हैं। ये नैचुरल स्क्रब कैमिकल फ्री होने की वजह से त्वचा को नुकसान नहीं पहुचाते हैं। जिसे त्चचा क्लीन और मुलायम भी बनी रहती है। यदि आपको इनमें से किसी प्रकार की एलर्जी है, तो इसका इस्तेमाल डॉक्टर से पूछकर करें। अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
रेनू माहेश्वरी द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 21/06/2021 को