मुंबई में लॉकडाउन 5.0 : कोरोना की मार झेल रहे मुंबई में लॉकडाउन बढ़ा! जानें कहां मिली रियायत

By

Update Date जून 2, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

लॉकडाउन 5.0 को लेकर सेंट्रल गवर्नमेंट ने शनिवार को नए दिशा-निर्देश जारी किए थे। केंद्र सरकार द्वारा COVID-19 के कंटेनमेंट क्षेत्रों में लॉकडाउन को 30 जून तक बढ़ाने का फैसला लिया गया। देश में 25 मार्च से जारी लॉकडाउन का चौथा चरण 31 मई को खत्म हुआ। महाराष्ट्र सरकार ने रविवार को पूरे राज्य में 30 जून तक लॉकडाउन को बढ़ा दिया, और ‘मिशन स्टार्ट अगेन’ के तहत प्रतिबंधों को कम करने और गतिविधियों को फिर से शुरू करने की घोषणा की। महाराष्ट्र सरकार ने प्रतिबंधों और छूट के बारे में संशोधित दिशानिर्देश जारी किए हैं।महाराष्‍ट्र में जरूरी कामों को छोड़कर पूरे राज्य में रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू जारी रहेगा। सभी बाजार और दुकानें, मॉल को छोड़कर, संशोधित दिशानिर्देशों के अनुसार ऑड-ईवन के आधार पर 5 जून से शुरू करने की अनुमति दी जाएगी। आइए जानते हैं महाराष्ट्र में कहां, कितनी छूट मिली है।

और पढ़ें  : क्या कोविड-19 के कारण समाज में धीरे-धीरे जन्म ले रही अकेलेपन की समस्या?

मुम्बई, पुणे, नागपुर, औरंगाबाद के नगर निगम क्षेत्रों में:

क्या खुला?

टैक्सी, कैब, रिक्शा, चार पहिया, दोपहिया (केवल मेडिकल इमरजेंसी, चिकित्सा, ओपीडी के लिए), उद्योग (आवश्यक), अर्बन-सीटू निर्माण, सामान की आपूर्ति, मार्केट और दुकानें (5 जून से), आवश्यक सामानों की दुकानें, ई-कॉमर्स। 8 जून से प्राइवेट ऑफिसेस सिर्फ 10 प्रतिशत एम्प्लाइज के साथ खुल सकेंगे। वहीं, सरकारी कार्यालयों के लिए, 15 प्रतिशत या 15 से अधिक कर्मचारियों के साथ कार्यालयों को चलाने की अनुमति दी गई है। सब रजिस्ट्रार, आरटीओ, बैंक और फाइनेंस, कोरियर, पोस्टल, बाहरी गतिविधियों, रेस्तरां, बिजली, प्लंबर, गैरेज, कार्यशालाओं से होम डिलीवरी की अनुमति भी दी गई है।

प्रतिबंधित : हवाई, ट्रेन, मेट्रो यात्रा; अंतरराज्यीय मूवमेंट, शिक्षण संस्थानों, होटल, पूजा स्थल और बड़े सभागार, शॉपिंग मॉल, स्पा, सैलून।

और पढ़ें : लॉकडाउन में एंट्रेंस एक्जाम (प्रतियोगी परीक्षा) की तैयारी? न मानें हार और इन 10 तरीकों से पाएं सफलता

कंटेनमेंट जोन में :

क्या खुला?

मेडिकल इमरजेंसी के लिए आवाजाही, वस्तुओं की आपूर्ति, आवश्यक सामानों की दुकानों के अलावा किसी और चीज के लिए छूट नहीं दी जाएगी।

और पढ़ें : क्या आप सही तरीके से फॉलो कर रहे हैं सोशल डिस्टेंसिंग, यहां पता करें

मुंबई में लॉकडाउन 5.0 : आउटडोर एक्टिविटीज

शाम 5 बजे से 7 बजे के बीच सैर-सपाटे, वॉकिंग, रनिंग, जॉगिंग, साइकिलिंग जैसी शारीरिक गतिविधियों के लिए सार्वजनिक स्थान (जैसे बीचेस, पब्लिक/प्राइवेट प्लेग्राउंड, गार्डन, सोसाइटी के ग्राउंड्स आदि खोलने की अनुमति तीन जून से दी जाएगी।

प्रतिबंधित : कोई समूह गतिविधि की अनुमति नहीं दी जाएगी। किसी अन्य गतिविधि की अनुमति नहीं दी जाएगी। लंबी दूरी की यात्रा की भी अनुमति नहीं होगी।

और पढ़ें : लॉकडाउन में आपकी भी हैं ऐसी आदतें, तो जानें किसी प्रकार के व्यक्ति हैं आप : खेलें क्विज

बाकी क्षेत्रों में :

मुंबई में लॉकडाउन 5.0 के अंतर्गत कंटेनमेंट जोन और मुंबई, पुणे, नागपुर के म्युनिसिपल एरियाज को छोड़कर बाकी जगहों में टैक्सी, कैब, रिक्शा, चार-पहिया (1 + 2) दोपहिया (1), इंट्रा डिस्ट्रिक्ट बस सर्विसेज, मेडिकल इमरजेंसी, मेडिकल, ओपीडी, एग्रीकल्चरल एक्टिविटीज, उद्योग (दोनों शहरी और ग्रामीण), अर्बन इन-सीटू कंस्ट्रक्शन, माल की आपूर्ति, बाजार/दुकानें खुलने की अनुमति 5 जून से होगी। आवश्यक सामान की दुकानें, ई-कॉमर्स सर्विसेज, निजी कार्यालय, सरकारी कार्यालय (100 प्रतिशत) , सब रजिस्ट्रार, आरटीओ, बैंकों और फाइनेंस, कोरियर, डाक, बिजली, प्लंबर, गैरेज, कार्यशालाओं से होम डिलीवरी की अनुमति भी लॉकडाउन 5.0 में मिलेगी।

प्रतिबंधित : हवाई, ट्रेन, मेट्रो यात्रा; अंतरराज्यीय और डिस्ट्रिक्ट मूवमेंट, बस, शैक्षणिक संस्थानों, होटलों, पूजा स्थलों और बड़े सभा, शॉपिंग मॉल, नाई की दुकानों, स्पा, सैलून के खुलने पर प्रतिबंधी ही रहेगी।

मुंबई में लॉकडाउन 5.0 : राहत मिली लेकिन, खतरा नहीं हुआ है खत्म

देशभर में अनलॉक 1.0 के चलते विभिन्न राज्यों में कई चीजों में छूट दी गई है। लेकिन, ऐसे में याद रखें कि कोरोना वायरस का संक्रमण फैलना और आसान हो जाएगा। इसलिए,सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सख्ती से करें। दो गज दूरी का ध्यान हमेशा रखें। कोरोना वैक्सीन जब तक नहीं मिल जाती है, तब तक इस महामारी से बचने का एकमात्र उपाय उचित दूरी बनाए रखना है। कोरोना का संक्रमण एक से दूसरे इंसान में इतनी तेजी से फैल जाता है। बेहतर होगा मुंबई में लॉकडाउन 5.0 के तहत नियमों का पालन करें। खुद की रक्षा करें और दूसरों की भी जिंदगी बचाएं।

और पढ़ें : इम्यूनिटी पासपोर्ट को लेकर WHO ने पूरी दुनिया को चेताया, तेज होगी कोरोना की रफ्तार

मुंबई में लॉकडाउन 5.0 : महाराष्‍ट्र की हालत सबसे खराब

वैसे देशभर में कोरोना संक्रमण ने आतंक मचा रखा है लेकिन, इसके सबसे ज्यादा मामले महाराष्‍ट्र में देखने को मिल रहे हैं। अभी तक करीबन 70,000 कोरोना पॉजिटिव लोग हैं। इसमें भी 60 प्रतिशत केसेस मुंबई के ही हैं। अकेले मुंबई में ही 38,442 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। लगभग 2,197 मरीजों की मौत का कारण कोरोना संक्रमण बन चूका है। वहीं, इस महामारी के इलाज से बचने वालों की संख्या जबकि 28,081 ही है। महाराष्ट्र राज्य में 3,169 कंटेनमेंट जोन हैं। लगभग 5 लाख, 51 हजार, 660 लोग होम क्‍वारंटीन हैं, जबकि 72,681 अलग जगहों पर क्‍वारंटीन में हैं। सिर्फ मुंबई में ही कोरोना से 1,227 लोगों की मौत हो चुकी है।

और पढ़ें : कोरोना वायरस का ड्रग : क्या सिर की जूं (लीख) की दवाई आइवरमेक्टिन कोविड-19 को खत्म कर सकती है?

छुपाए नहीं, उपचार करें

मुंबई में लॉकडाउन 5.0 के चलते महाराष्ट्र सरकार ने यह भी संदेश जारी किया है कि लोग कोरोना संक्रमण के मामलों को छिपाए नहीं। इससे देश और राज्य के लिए गंभीर खतरा पैदा हो सकता है। इससे कोविड-19 वायरस और तेजी से फ़ैल सकता और मृत्‍यु दर अचानक से बढ़ सकती है। इसलिए, कोरोना के लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। इसी में सब की भलाई है। सोशल डिस्टैन्सिंग के बारे में खुद और लोगों को भी ज्यादा से ज्यादा जानकारी दें।

और पढ़ें : कोविड-19 और अल्जाइमर मरीजः जानिए रोगी की देखभाल के लिए विशेषज्ञ डॉक्टरों के बताए हुए उपाय

रखें ध्यान इन बातों का

संक्रमित मरीजों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ी ही जा रही है। कोरोना संक्रमण से बचने का उपाय यही है कि ज्यादा से ज्यादा सावधानी बरती जाए। इसके लिए-

  • घर से बाहर निकलने से पहले अच्छी क्वालिटी का मास्क जरूर पहनें।
  • जरूरत पड़ने पर ही घर से बाहर निकलें।
  • हैंड सैनेटाइजर का इस्तेमाल करें।
  • बाहर से आने के बाद किसी भी चीज को हाथ न लगाएं और सबसे पहले कपड़े बदलकर हाथ धुलें।
  • बाजार से लाए गए सामान को भी सैनिटाइज करें।
  • दिन में कई बार हाथ धुलें।
  • ऑनलाइन मंगाए गये पार्सल को सैनिटाइज करें।
  • घर में किसी भी सदस्य में कोरोना वायरस के लक्षण नजर आने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

केंद्र सरकार के फैसले के बाद मुंबई में लॉकडाउन 5.0, 30 जून तक जारी रहेगा। ऐसे में कोरोना के लक्षणों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए और साथ ही कोरोना को लेकर सावधानी बरतना बहुत जरूरी है।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो, तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

क्या मॉनसून और कोरोना में संबंध है? बारिश में कोविड-19 हो सकता है चरम पर

मॉनसून और कोरोना में क्या संबंध है, मॉनसून और कोरोना से खुद को कैसे रखें सुरक्षित, बारिश में कोरोना से कैसे बचें, Monsoon spread corona easily.

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
कोरोना वायरस, कोविड-19 जून 23, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

कोरोना की पहली आयुर्वेदिक दवा “कोरोनिल” को पतंजलि करेगी लॉन्च

कोरोना की आयुर्वेदिक दवा कोरोनिल को बाबा रामदेव, पतंजलि संस्थान में लॉन्च करने जा रहे हैं। कोरोना के इलाज के लिए पहली आयुर्वेदिक दवा कोरोनिल से लगभग एक हजार कोरोना मरीज ठीक हो चुके हैं। ऐसा दावा पतंजलि कंपनी कर रही है। 

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shikha Patel
कोरोना वायरस, कोविड 19 उपचार जून 23, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

कैलिफोर्निया में बदल गया जिम का नजारा, महामारी के बाद आपका जिम भी दिख सकता है कुछ ऐसा

लॉकडाउन के बाद जिम कब खुलेंगे इसको लेकर जानकारी नहीं है, लेकिन अंदाजा लगाया जा सकता है कि लॉकडाउन के बाद जिम की सूरत बदल सकती है। जिम में यह सुनिश्चित करने के लिए कौन कोरोना संक्रमित है और कौन नहीं। gym after lockdown in hindi

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shikha Patel
कोरोना वायरस, कोविड-19 जून 19, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

कोरोना वायरस की दवा : डेक्सामेथासोन (dexamethasone) साबित हुई जान बचाने वाली पहली दवा

कोरोना की दवा के रूप में डेक्सामेथासोन का इस्तेमाल और प्रभावशीलता काफी अच्छे रिजल्ट्स दे रही है। कोरोना संक्रमित लोगों की जान बचाने के लिए तुरंत इस्तेमाल की जा सकती है। corona virus first medicine Dexamethasone in hindi

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shikha Patel
कोरोना वायरस, कोविड 19 उपचार जून 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें