backup og meta

मुंबई में साइक्लोन ने दी दस्तक, कोरोनाकाल में कैसे रखें सेहत का ख्याल?

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. प्रणाली पाटील · फार्मेसी · Hello Swasthya


Shayali Rekha द्वारा लिखित · अपडेटेड 11/09/2020

मुंबई में साइक्लोन ने दी दस्तक, कोरोनाकाल में कैसे रखें सेहत का ख्याल?

भारत इस वक्त बहुत बुरे दौर से गुजर रहा है, जहां एक तरफ भारत में कोरोना महामारी का आंकड़ा दो लाख तक पहुंचने वाला है। वहीं, दूसरी तरफ चक्रवाती तूफानों ने भारत को और तंग कर दिया है। अभी 20 मई को ओडिशा और पश्चिम बंगाल में अम्फन साइक्लोन ने तबाही मचा दी, तब कर जून की शुरुआत में 3 जून को गुजरात और मुंबई में साइक्लोन दस्तक दे रहा है। इस चक्रवाती तूफान का नाम निसर्ग साइक्लोन है। 

[mc4wp_form id=’183492″]

निसर्ग साइक्लोन को लेकर मिनिस्ट्री ऑफ अर्थ साइंस की तरफ से चेतावनी भी घोषित कर दी गई है कि 100 से 110 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से मुंबई में साइक्लोन टकराएगा। निसर्ग साइक्लोन महाराष्ट्र के अलिबाग के तट पर टकराएगा। इस कोरोना काल में जब मुंबई में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले में ऐसे में मुंबई में साइक्लोन का आना बहुत भयावह है। इस आर्टिकल में आप जानेंगे कि साइक्लोन से पहले, साइक्लोन के दौरान और साइक्लोन के बाद अपना ध्यान कैसे रखें?

और पढ़ें – मुंबई में लॉकडाउन 5.0 : कोरोना की मार झेल रहे मुंबई में लॉकडाउन बढ़ा! जानें कहां मिली रियायत

मुंबई में साइक्लोन कोरोना को कैसे दे सकता है बढ़ावा?

हम आपोक पहले बता देना चाहते हैं कि इस बात का कोई आधिकारिक प्रमाण नहीं है कि पर्यावरण के फैक्टर्स कोरोना वायरस को फैलने में बढ़ावा दे सकते हैं या नहीं। हालांकि, कोरोना के साथ ही पूरी दुनिया में कई तरह की प्राकृतिक आपदाओं ने भी जनजीवन को अस्त व्यस्त कर रखा है। जिसे लेकर वैज्ञानिक कई तरह के अध्ययन कर रहे हैं। 

एक अध्ययन में कहा गया कि कोरोना वायरस हल्की हवा में खांसने या छिंकने पर 18 फीट की दूरी तक फैल सकते हैं। वहीं, अगर हवा तेज हो तो ये और दूर तक फैल सकता है। लेकिन घबराने की बात नहीं है, ऐसा तभी संभव है, जब कोरोना से पीड़ित व्यक्ति बिना मास्क के खुले में छींकता या खांसता है। फिलहाल ज्यादातर लोग घरों में हैं और क्वारंटाइन हैं तो ये रिस्क कम है।

और पढ़ें – कोविड 19 वैक्सीन लेटेस्ट अपडेट : सिनौवैक का दावा कोरोनावैक से हो सकता है महामारी का इलाज

मुंबई में साइक्लोन आने से पहले क्या करना चाहिए?

मुंबई में निसर्ग साइक्लोन आने से पहले आपको निम्न तैयारियां कर लेनी चाहिए :

  • आपको सबसे पहले अपना मेडिकल किट तैयार करना चाहिए। जिससे अगर तूफान के दौरान इंजरी हो तो आप फर्स्ट एड कर सकें।
  • खाने और पीने के सामानों तो सुरक्षित रख लें। इससे आपको तूफान के दौरान परेशानी का सामना ना करना पड़े।
  • अगर आपके घर के ऊपर या आसपास कोई पेड़ की डाल है तो उसे हटवा लें।
  • अपने मोबाइल फोन, इन्वर्टर आदि को चार्ज कर लें। ताकि, जरूरत पड़ने पर आप मदद के लिए संपर्क कर सकें।
  • अखबारों, टीवी और रेडियो पर निसर्ग साइक्लोन की खबरों की जानकारी लेते रहें। 
  • अफवाहों से बचें, किसी भी तरह की अनअधिकारिक बातों पर ध्यान न दें।
  • अपनी जरूरत के सभी सामानों को एक जगह पर एकत्र कर लें, ताकि इमरजेंसी में वो आपके काम आ सके।
  • जरूरी दवाइंयों का स्टॉक अपने पास रखें।
  • और पढ़ें – फ्लाइट में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए बीच वाली सीट रहेगी खाली, यात्रा के दौरान आप भी बरतें ये सावधानियां

    निसर्ग साइक्लोन के दौरान क्या करना चाहिए?

    मुंबई में साइक्लोन के दौरान आपको निम्न चीजों का ध्यान रखना चाहिए : 

    • जब तूफान आ जाए तो सभी इलेक्ट्रिक चीजों को डिसकनेक्ट कर दें। इस दौरान रेडियो से अपडेट लेती रहनी चाहिए।
    • घर के सभी दरवाजों और खिड़कियों को अच्छे से बंद कर देना चाहिए। 
    • अगर आपका घर सुरक्षित नहीं है तो आप घर से बाहर निकल कर सुरक्षित स्थान पर पहले ही चले जाएं। 
    • अगर आप ड्राइविंग कर रहे हैं तो आप गाड़ी को रोक दें और किसी सुरक्षित स्थान पर चले जाएं। 
    • इस दौरान उबले हुए पानी पीते रहें और बॉडी को हाइड्रेट रखें। 

    और पढ़ें – कैसे स्वस्थ भोजन की आदत कोरोना से लड़ने में मददगार हो सकती है? जानें एक्सपर्ट्स से

    निसर्ग साइक्लोन के बाद क्या करना चाहिए?

    मुंबई में साइक्लोन आपको निम्न चीजों का ध्यान रखना चाहिए :

    • तूफान आने के तुरंत बाद आप घरों से बाहर ना निकलें। अधिकारिक घोषणा का इंतजार करें। जब स्थिति सामान्य हो जाए तो ही घर से बाहर निकलें।
    • घर के सभी इलेक्ट्रॉनिक चीजों को चेक कर लें, तभी इलेक्ट्रिक पावर को ऑन करें। 
    • गैस की पाइप भी चेक कर लें, कहीं गैस लीक तो नहीं हो रही है। 
    • किसी भी तरह की स्वास्थ्य समस्या होने के बाद आप तुरंत डॉक्टर से मिलें। 

    और पढ़ें – लॉकडाउन में डॉग ट्रेनिंग कैसे करें, जानें आसान टिप्स

    कोरोना में साइक्लोन के दौरान क्या करना चाहिए? 

    कोरोना में साइक्लोन के दौरान आपको निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए :

    सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखना चाहिए

    मुंबई में साइक्लोन आने से पहले अगर आपको किसी राहत शिविर या किसी सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया है तो आपको वहां पर सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखें। किसी भी व्यक्ति के शारीरिक संपर्क में आने से बचें। 

    और पढ़ें – कोरोना वायरस कम्युनिटी स्प्रेड : आईएमए ने बताया भारत में कोरोना का सामुदायिक संक्रमण है भयावह

    मास्क और ग्लव्स पहने रखें

    कोरोना काल में सबसे जरूरी चीज है, मास्क और ग्लव्स। इसलिए किसी भी स्थिति में मास्क और ग्लव्स ना उतारें। क्योंकि इस दौरान कोरोना आसानी से फैल सकता है। इसके लिए आप खुद पर विशेष ध्यान दें। 

    साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखें

    कोरोना के समय में आपको साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखना जरूरी है। घर के सबी हिस्सों को डिसइंफेक्ट करते रहें और अगर आप आइसोलेट हैं तो खुद को घर के सभी सद्सयों से अलग रखें। वहीं, अगर साइक्लोन के साथ बारिश भी होती है तो आप घरों में पानी जमा ना होने दें। जिससे मलेरिया, डेंगू आदि के मच्छर पनप ना सकें।

    और पढ़ें – कोरोना वायरस के ट्रीटमेंट के लिए इस्तेमाल की जाएगी रेमडेसिवीर, जानें इसके बारे में

    निसर्ग साइक्लोन के बाद सेहत का ध्यान कैसे रखें?

    साइक्लोन के बाद आपको अपनी सेहत का ध्सान निम्न तरीकों से रखना चाहिए : 

    • सबसे पहले तो कोशिश करें कि खुद को हाइड्रेट रखेंपानी को प्यूरीफाई कर के पिएं, हो सके तो पानी को उबाल कर पिएं। इसके अलावा पानी में क्लोरीन मिला कर पानी की सफाई कर सकते हैं। 
    • लगातार 20 सेकेंड तक हाथों को धोते रहें। 
    • खाने की चीजों को अच्छे से पका कर खाएं। कुछ भी बनाने से पहले अच्छी तरह पानी से साफ कर लें। 
    • इस दौरान कोशिश करें कि पूरे शरीर को ढकने वाले कपड़े पहनें, जिससे मलेरिया या किसी भी प्रकार की वायरल बीमारी ना हो जाए। 
    • इम्यून सिस्टम को बढ़ाने वाले फूड्स का सेवन करें। इसके साथ ही आप विटामिन सी को खास कर के लें। 

    और पढ़ें – रूस ने कोरोना वायरस वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल किया पूरा, भारत में कोरोना की दवा लॉन्च करने की तैयारी

    मुंबई में साइक्लोन के दौरान प्रेग्नेंट महिलाएं कैसे रखें अपना ध्यान?

    इस संबंध में वाराणसी के काशी मेडिकेयर की गाइनेकोलॉजिस्ट डॉ. शिप्रा धर ने बताया कि कोरोना के वक्त में  मुंबई में साइक्लोन आना बेहद चिंताजनक बात है। ऐसे समय में प्रेग्नेंट महिला को सबसे ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है। प्रेग्नेंट महिला को निम्न बातों का ध्यान देने की जरूरत है –

    • प्रेग्नेंट महिलाएं संतुलित आहार लें और ज्यादा तरल चीजोंं का सेवन करें। 
    • घबराएं नहीं और ब्रीदिंग एक्सरसाइज से अपने स्ट्रेस को कम करें। 
    • पूरी नींद लें। इस दौरान पूरे शरीर को ढकने वाले कपड़े पहनें। क्योंकि मौसम में आए अचानक बदलाव से सर्दी-जुकाम और वायरल बुखार हो सकता है।  
    • प्रेग्नेंट महिला अगर किसी भी प्रकार की दवा का सेवन कर रही हैं तो उसका सेवन समय पर करें। 
    • जिस वक्त साइक्लोन आए उस वक्त प्रग्नेंट महिला को सुरक्षित स्थान पर रखें और उनका पूरा ध्यान रखें कि वो पैनिक ना हो।

    इस तरह से आप मुंबई में साइक्लोन के दौरान भी आप कोरोना के साथ आसानी से लड़ सकते हैं। अगर आपक किसी भी तरह की स्वास्थ्य समस्या होती है तो अपने डॉक्टर से तुरंत मिलें। 

    डिस्क्लेमर

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    डॉ. प्रणाली पाटील

    फार्मेसी · Hello Swasthya


    Shayali Rekha द्वारा लिखित · अपडेटेड 11/09/2020

    advertisement iconadvertisement

    Was this article helpful?

    advertisement iconadvertisement
    advertisement iconadvertisement