रमजान: कोविड-19 के खिलाफ वरदान साबित हो सकते हैं ये 7 ईटिंग हैक्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट मई 5, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

रमजान का पाक महीना शुरू हो चुका है। मुस्लिम समुदाय के लोग इस पूरे महीने रोजा रखते हैं। रोजे के दौरान वह कुछ खाते पीते नहीं है। रमजान का यह महीना इस बार लॉकडउन में मना रहा है। कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते न तो लोग नमाज के लिए मस्जिद जा रहे और न ही इफ्तार पार्टी के लिए दोस्तों और रिश्तेदारों को न्योता दे रहे। मुस्लिम धर्म के लोगों के लिए रोजा रखना अनिवार्य होता है। इस खतरनाक समय में रोजा रखने वालों के लिए डायट का ख्याल रखना भी बहुत जरूरी है। क्योंकि दिनभर कुछ न खाने पीने का असर इम्यूनिटी पर पड़ सकता है। आइए जानते हैं रमजान और कोरोना वायरस से लड़ने को लेकर एक्सपर्ट्स के टिप्स…

रमजान और कोरोना वायरस को लेकर क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स

एक्सपर्ट्स के अनुसार, देशभर में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। किसी भी संक्रमण से लड़ने के लिए ऊर्जा का होना बेहद जरूरी है। रोजे के दौरान लंबे समय तक भूखा रहना होता है, जिससे इम्यून सिस्टम कमजोर हो सकता है। इसलिए सहरी और इफ्तार के वक्त जब आप खाना खाएं तो उस समय डायट में अच्छी चीजों को शामिल करें। कोशिश करें जितना हो सके सब्जियां, फल, फलियां और दालों को डायट में शामिल करें। इसके अलावा ऑयली चीजों को एवॉइड करें और शरीर में पानी की कमी न होने दें।

यह भी पढ़ें: क्या डेटॉल और लाइजॉल पीने से नष्ट होगा कोरोना वायरस? ट्रंप के बयान के बाद हुआ ऐसा

रमजान और कोरोना वायरस: ये टिप्स करेंगे आपकी मदद

नमक में करें बदलाव (Change your salt)

खाने के लिए टेबल सॉल्ट का इस्तेमाल न करके पिंक सॉल्‍ट को प्रयोग में लाएं। पिंक सॉल्ट में टेबल सॉल्ट की तुलना में अधिक मिनिरल्स होते हैं। इसके अलावा इसमें कोई एडिटिव्स नहीं होते। साथ ही यह रिफाइन नहीं किया जाता है। यह शरीर के पीएच लेवल को बैलेंस करके रखता है। शरीर के पीएच लैवल बैलेंस होने पर डायजेशन और इम्यूनिटी में भी सुधार होता है। यदि लॉकडाउन में आपको पिंक सॉल्ट नहीं मिल पा रहा है तो आप समुद्री नमक (सी सॉल्ट) का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। यह भी मिनिरल्स से भरपूर  होता है। सिर्फ रमजान में ही नहीं आप वैसे भी इसे अपनी डायट में शामिल करें। पिंक सॉल्ट और सी सॉल्ट दोनों स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं।

शुगर को कहे बायबाय (Say bye Bye to Sugar)

दूसरी चीज जो आपको अपनी डायट में बदलनी है वो यह कि शुगर का सेवन एवॉइड करें। दिनभर कुछ न खाने से आपके शरीर में शुगर लेवल कम हो जाता है जिस वजह से थकान महसूस होती है। शाम होते होते मीठा खाने का मन होना लाजमी है, लेकिन अधिक मात्रा में मीठे का सेवन करने से ऊर्जा के स्तर में वृद्धि होती है, जिससे कई बार परेशानी हो जाती है। क्योंकि इससे एनर्जी साइकिल डिस्टर्ब होती है। बहुत सारे लोगों के लिए मीठा छोड़ना बेहद मुश्किल होता है। ऐसे में आप नैचुरल शुगर प्रोडक्ट्स का चयन कर सकते हैं। जैसे आप मीठे में जो बना रहे हैं उसमें चीनी की जगह शहद का इस्तेमाल करें। आप जैगरी यानी गुड़ का इस्तेमाल करके भी कुछ स्वीट डिश तैयार कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: कोरोना की वजह से अपनों को छूने से डर रहे लोग, जानें स्किन को एक टच की कितनी है जरूरत

डायट में गुड कार्ब्स को करें शामिल (Add good carbs in diet)

दिनभर भूखे प्यासे रहने के बाद इफ्तारी के वक्त खाने पर टूटकर पड़ते हैं। लेकिन आपको खाना खाते समय कार्ब्स पर नजर रखनी होगी। कोशिश करें गुड कार्ब्स को डायट में शामिल करने की क्योंकि ये अच्छे स्वास्थ्य को बढ़ावा देते हैं। आपने जो शुगर की कम मात्रा ली है यह उसे पूरा करने में भी मदद करता है। गुड कार्ब्स वाले खाद्य पदार्थ धीरे-धीरे पचते हैं। यह शरीर में शुगर के लेवल को कम किए बिना दिनभर एनर्जी प्रदान करने में मदद करते हैं। साथ ही आपको दिनभर भूख भी नहीं लगती है। गुड कार्ब्स के लिए आप डायट में स्वीट पोटेटो, ब्राउन राइस, क्विनोओ, होल ग्रेन, ओट्स, कॉर्न, केला आदि को डायट में शामिल कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: दो तरह की होती हैं इम्यूनिटी, कोरोना से बचाव के लिए दोनों कैसे करती हैं काम?

खुद को रखें हाड्रेट (Stay Hydrated)

सहरी और इफ्तारी के समय बहुत सारे लोग चाय या कॉफी पीते है। ऐसी गलती करने से बचें। इन दोनों ही ड्रिंक्स में उचित मात्रा में कैफीन होता है। इन ड्रींक के पीने से शरीर में पानी का स्तर कम होता है, जिससे प्यास लगने लगती है। दिनभर खुद को हाइड्रे रखने के लिए सहरी और इफ्तारी के समय नींबू पानी  जैसी चीजों को लें।

डीप फ्राई फूड को भूल जाएं (Avoid deep fry food)

अगर आपको डीप फ्राई फूड पसंद है तो कोशिश करें इसकी जगह बेक चीजों को डायट में शामिल करें। जैसे बहुत सारे लोगों को समोसे पसंद होते हैं। आप इन्हें ओवन में भी बेक कर सकते हैं। ओवन में बेक किए समोसे भी डीप फ्राई किए समोसे जितने ही टेस्टी होते हैं। इसलिए डायट में डीप फ्राई फूड को बेक फूड से बदलें।

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस डाइट प्लान : लॉकडाउन और क्वारंटाइन के दौरान क्या खाएं और क्या न खाएं?

डायट में एक अच्छे ऑयल को करें शामिल (Add good oil in your diet)

खाना बनाने के लिए अच्छे ऑयल को शामिल करें। आप ऑलिव ऑयल, एवोकैडो ऑयल या नारियल तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। खाना बनाने से पहले आपको यह मालूम होना चाहिए कि किस डिश के लिए कौनसे ऑयल का इस्तेमाल करना चाहिए। जैसे डीप फ्राई फूड के लिए किस ऑयल का इस्तेमाल करना बेहतर होगा या सब्जी बनाने के लिए किस ऑयल का प्रयोग करना चाहिए। सभी ऑयल का स्मोकिंग पोइंट अलग होता है। ऑयल के गलत तरीके से इस्तेमाल करने से उसके न्यूट्रिएंट्स खत्म हो जाते हैं और उसमें हानिकारक फ्री रेडिकल्स प्रोड्यूस हो जाते हैं। इसलिए सही ऑयल का सही तरीके से इस्तेमाल करना भी बेहद जरूरी होता है।

हरी चीजों को डायट में करें शामिल (Add green veggies in your diet)

दिन भर के बाद जब रोजा खोलने की बात हो तो क्यों न हेल्दी और टेस्टी सैलेड या साग को शामिल किया जाए। न्यूट्रिएंट्स से भरपूर ग्रीन वैजिटेबल के लिए आप पालक, लेट्यूस को अपनी प्लेट में शामिल कर सकते हैं।

रमजान के दौरान खानपान का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। यदि आप खानपान में लापरवाही बरतेंगे तो इसका सीधा असर आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता पर पड़ता है। इससे शरीर में पोषक तत्वों की कमी होती है। आपके शरीर का एनर्जी लेवल भी कमजोर होता है। कोरोना वायरस के इस दौर में दिल, दिमाग और पाचन तंत्र को तंदरुस्त रखना बेहद जरूरी है।

और पढ़ें:

दुनियाभर में कोरोना वायरस के प्रकोप से बचाव के लिए फार्मासिस्ट ने शेयर किए ये सुझाव

कोरोना वायरस संकट में डॉक्टर की मदद लेने के लिए अपनाएं टेलीमेडिसिन

कोरोना वायरस से बचना है तो सही रखें अपनी डायट, वरना पड़ सकता है पछताना

कोरोना महामारी के बाद मुसीबतों से निपटने के लिए इन नियमों पर ध्यान देना है जरूरी, आप भी जानिए

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

रूस ने कोरोनावायरस वैक्सीन ह्यूमन ट्रायल किया पूरा, भारत में कोरोना की दवा लॉन्च करने की तैयारी

कोरोनावायरस वैक्सीन ह्यूमन ट्रायल, इटोलिजुमाब, कोरोनावायरस की दवा, इंजेक्शन, कोरोना का इलाज, Itolizumab, Coronavirus vaccine human trail.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
कोरोना वायरस, कोविड 19 व्यवस्थापन जुलाई 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

अमिताभ बच्चन ने कोरोना से जीती जंग, बेटे अभिषेक ने ट्वीट करके दी जानकारी

अमिताभ बच्चन कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। अमिताभ बच्चन के साथ उनके बेटे अभिषेक बच्चन भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। ट्वीट करके दोनों बॉलीवुड एक्टर्स ने लोगों से अपील की है कि उनके आसपास के लोग भी कोरोना टेस्ट कराएं। Amitabh and Abhishek Bacchan tested corona positive in hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
कोरोना वायरस, कोविड-19 जुलाई 12, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

कोरोना से तो जीत ली जंग, लेकिन समाज में फैले भेदभाव से कैसे लड़ें?

कोरोना सर्वाइवर क्या होता है, कोरोना वायरस का इलाज क्या है, कोरोना वायरस और मेंटल हेल्थ, #NoToCOVIDShaming #COVIDShaming corona survivor

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
कोरोना वायरस, कोविड-19 जुलाई 10, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

कोरोना वायरस एयरबॉर्न : WHO कोविड-19 वायु जनित बीमारी होने पर कर रही विचार

क्या कोरोना वायरस एयरबॉर्न है, क्या कोरोना वायरस हवा से फैलने वाली बीमारी है, हवा से फैल रहे कोरोना वायरस को कैसे रोकें, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO), Corona virus airborne.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
कोरोना वायरस, कोविड-19 जुलाई 9, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

ई-बुक्स के फायदे और नुकसान

क्या ई-बुक्स सेहत के लिए फायदेमंद है, जानें इससे होने वाले फायदे और नुकसान

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Arvind Kumar
प्रकाशित हुआ अगस्त 9, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
कोरोना की वैक्सीन

COVID-19 वैक्सीन : क्या सच में रूस ने कोरोना वायरस की पहली वैक्सीन बना ली है?

के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ अगस्त 7, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
जिम और योगा सेंटर के लिए गाइडलाइन

स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किए जिम और योगा सेंटर के लिए गाइडलाइन

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ अगस्त 4, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
कोरोना वायरस कम्युनिटी स्प्रेड कोरोना का सामुदायिक संक्रमण

कोरोना वायरस कम्युनिटी स्प्रेड : आईएमए ने बताया भारत में कोरोना का सामुदायिक संक्रमण है भयावह

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ जुलाई 20, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें