home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

कोरोना वायरस और इम्यूनिटी पावरः एक चीज आपकी इम्यूनिटी पावर को कम कर सकती है

कोरोना वायरस और इम्यूनिटी पावरः एक चीज आपकी इम्यूनिटी पावर को कम कर सकती है

चीन से शुरू हुआ कोविड-19 का प्रकोप जब दुनिया भर में फैल रहा था, तभी से लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के तमाम तरीके बताए जा रहे थे। हर तरफ लोगों को सलाह दी जा रही थी कि कोरोना से बचने के लिए अपना इम्यूनिटी पावर बढ़ाएं । आप भी पूरी कोशिश कर रहे होंगे कि आपका इम्यूनिटी पावर बढ़ जाए और कोरोना वायरस की रोकथाम हो, लेकिन क्या आप इम्यूनिटी पावर को बढ़ाने के सभी तरीकों के बारे में जानते हैं? क्या आप कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए सभी उपाय कर रहे हैं? अगर नहीं! तो यहां हम आपको बताएंगे कि कैसे आप इम्यूनिटी पावर से कोरोना की रोकथाम कर सकते हैं। यह भी जानकारी देंगे कि आपकी किस गलती से इम्यूनिटी पावर कमजोर हो सकता है। जानें ये महत्वपूर्ण उपाय और कोरोना वायरस से बचने के लिए बढ़ाएं अपना इम्यूनिटी पावर।

कोरोना वायरस और इम्यूनिटी पावर : लोगों में चिंता और घबराहट

दुनिया भर में कोविड-19 महामारी का प्रकोप जब अपना कहर ढाने लगा, तो संसार भर के लोग चिंता करने लगे। लोगों में घबराहट होने लगी। विश्व स्वास्थ्य संगठन, भारत सरकार और अनेक स्वास्थ्य विशेषज्ञ द्वारा लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के तरीके बताए जाने लगे। लोग तनाव में उपायों पर जरूरत से ज्यादा ही अमल करने लगे। लोगों को बोला गया कि इस महामारी से बचने के लिए मास्क पहनें और सेनिटाइजर का इस्तेमाल करें, लेकिन बीमारी के कारण पैदा हुए तनाव और घबराहट का असर यह हुआ कि बाजार से मास्क और सेनिटाइजर के स्टॉक ही खत्म हो गए।

ये भी पढ़ेंः विश्व के किन देशों को कोरोना वायरस ने नहीं किया प्रभावित? क्या हैं इन देशों के कोविड-19 से बचने के उपाय?

कोरोना वायरस और इम्यूनिटी पावर : तनाव में लोगों ने स्टॉक किया सामान

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि किसी भी संकट की स्थिति में सुरक्षा संबंधी उपाय करना बहुत अच्छी बात है, लेकिन उपायों को आंख बंद करके मानना भी सही नहीं है। लोगों को जब मास्क और सेनिटाइजर संबंधी उपाय बताए गए थे, तब उसका मकसद केवल यही था कि एक व्यक्ति को दूसरे व्यक्ति से बात करते समय मास्क पहनना है।

बाहर से घर आने पर सेनिटाइजर का इस्तेमाल करना है। किसी संक्रमित वस्तु या स्थान को छूने पर सेनिटाइजर से हाथ साफ करना है, लेकिन लोग इतने तनाव में थे कि बीमारी घटने की बजाय बढ़ने की संभावना बन गई। कई लोगों को ये जरूरी सामान मिले ही नहीं और इससे कोरोना के संक्रमण के बढ़ने का खतरा हो गया।

ये भी पढ़ेंः क्या एक ही व्यक्ति को दोबारा हो सकता है कोरोना वायरस का संक्रमण?

कोरोना वायरस और इम्यूनिटी पावर : डर और तनाव से इम्यूनिटी पावर में कमी

डॉक्टरों का कहना है कि लोग जरूर कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के तरीके अपना रहे हैं और अपनी इम्यूनिटी पावर को बढ़ाने में लगे हैं, लेकिन अधिकांश लोगों को इस बात की जानकारी ही नहीं है कि डर और चिंता करने से इम्यूनिटी बढ़ने की बजाय कम होती है।

इससे इम्यूनिटी तेजी से कम होती है, जिससे कोरोना की रोकथाम में परेशानी आ सकती है। इसलिए लोगों को कोविड-19 से बचने के लिए हर तरह की कोशिश करनी चाहिए, लेकिन सबसे पहले उन्हें जितना हो सके तनाव और चिंता से बचना चाहिए।

ये भी पढ़ेंः कोविड-19 के इलाज के लिए 100 साल पुरानी पद्धति को अपना रहे हैं डॉक्टर, जानें क्या है प्लाज्मा थेरेपी

कोरोना वायरस और इम्यूनिटी पावर : पूरी नींद लें और तनाव से दूर रहें

डॉक्टरों का यह भी कहना है कि जब तक वैज्ञानिक कोविड-19 का सटीक इलाज नहीं ढूंढ़ लेते, तब तक कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए लोगों के पास कुछ ही तरीके हैं। आप स्वस्थ और पौष्टिक आहार का सेवन करके अपनी इम्यूनिटी पावर को बढ़ा सकते हैं। हाथों को नियमित रूप से साफ करके संक्रमण से बच सकते हैं। पूरी नींद लेकर तनाव और घबराहट को दूर कर सकते हैं।

बीमारी से बचने के इन उपायों के अलावा लोग कुछ नहीं कर सकते। इसलिए आपको यह समझने की जरूरत है कि आपके हाथों में कुछ नहीं है। आपको केवल इन्हीं सुरक्षा उपायों का नियमित रूप से पालन करना है।

COVID-19 Outbreak updates
Country: India
Data

1,435,453

Confirmed

917,568

Recovered

32,771

Death
Distribution Map

आप कितना भी चिंता करें या घबराएं, उससे आपकी परेशानी खत्म नहीं होगी, बल्कि आपकी इम्यूनिटी कम हो जाएगी और इससे आप कोविड-19 जैसे भयानक वायरस की चपेट में आ सकते हैं।

नीचे इम्यूनिटी सिस्टम से जुड़ी बहुत जरूरी जानकारी दी जा रही है, ताकि आपको आप कोरोना वायरस से बचने के लिए अपनी इम्यूनिटी को बढ़ाएं।

ये भी पढ़ेंः Corona Virus Fact Check: आखिर कैसे पहचानें कोरोना वायरस की फेक न्यूज को?

कोरोना वायरस और इम्यूनिटी पावर : समझें अपना इम्यूनिटी सिस्टम

इंसान का इम्यूनिटी सिस्टम अरबों कोशिकाओं का संग्रह होता है, जो खून के जरिए पूरी शरीर में पहुंचता है। ये कोशिकाएं टिश्यू, शरीर के विभिन्न अंगों के अंदर और बाहर मौजूद होती हैं। ये कोशिकाएं आपके शरीर को बैक्टीरिया, खतरनाक वायरस और कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाओं से बचाती हैं।

ये भी पढ़ेंः कोरोना वायरस की ग्लोसरी: आपने पहली बार सुने होंगे ऐसे-ऐसे शब्द

शरीर में होती हैं दो तरह की रोग प्रतिरोधक कोशिकाएं (लिम्फोसाइट्स)

इंसान के शरीर में बी और टी नामक दो तरह की इम्यूनी कोशिकाएं होती हैं, जिनका ये काम होता हैः-

बी कोशिकाएंः- बी कोशिकाएं एंटीबॉडी पैदा करती हैं, जो शरीर की कोशिकाओं के आसपास तरल पदार्थ में मौजूद होती हैं। जब किसी बाहरी बैक्टीरिया और वायरस द्वारा शरीर पर हमला किया जाता है, तो ये एंटीबॉडी उसे खत्म करने का काम करती हैं।

टी कोशिकाएंः- ये बी कोशिकाओं के विपरीत काम करती हैं। जब कोई बाहरी बैक्टीरिया या वायरस, कोशिकाओं में पहुंच जाता है, तो ये कोशिकाएं संक्रमित कोशिकाओं को घेर लेती हैं और अपनी संख्या बढ़ाकर उसे खत्म कर देती हैं।

कोरोना वायरस और इम्यूनिटीःcoronavirus aur immunity power me kami

ये भी पढ़ेंः कोरोना वायरस के लक्षण तेजी से बदल रहे हैं, जानिए कोरोना के अब तक विभिन्न लक्षणों के बारे में

कोरोना वायरस और इम्यूनिटी पावर : स्ट्रेस हार्मोन का काम क्या है?

स्ट्रेस हार्मोन का काम इम्यूनिटी पावर को कम करना है। कोविड-19 महामारी के समय में आप जितना तनाव लेते हैं, यह उतना ही आपकी इम्यूनिटी पावर (लिम्फोसाइटों की संख्या कम करता है) को कम करता है। अब आपकी समझ में आ रहा होगा कि आपकी इम्यूनिटी जितनी कमजोर होगी, आपके कोरोना वायरस से संक्रमित होने या बीमारी होने की संभावना उतनी ही बढ़ जाएगी।

ये भी पढ़ेंः फार्मा कंपनी ने डोनेट की 34 लाख हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन टैबलेट्स, ऐसे होगा इस्तेमाल

कोरोना वायरस और इम्यूनिटी पावर : एल्कोहॉल और धूम्रपान से इम्यूनिटी पावर में कमी

कई लोग सोचते हैं कि एल्कोहॉल का सेवन या धूम्रपान करने से तनाव और घबराहट को दूर किया जा सकता है, जबकि इसका लोगों के शरीर पर बहुत ही बुरा प्रभाव पड़ता है। एल्कोहॉल या धूम्रपान के कारण लोगों को लिवर से जुड़ी बीमारी या कैंसर जैसे रोग होने की संभावना तो बढ़ ही जाती है, साथ ही इम्यूनिटी भी कमजोर हो जाती है।

ये भी पढ़ेंः कोरोना से होने वाली फेफड़ों की समस्या डॉक्टर्स के लिए बन रही है पहेली

कोरोना वायरस और इम्यूनिटी पावर : चिंता और घबराहट से हो सकती हैं कई बीमारियां

इतना ही नहीं, अगर आप तनाव और घबराहट को अपने ऊपर हावी होने देंगे, तो इससे आपको सिर दर्द हो सकता है। आप फ्लू, कार्डियोवैस्कुलर रोग, डायबिटीज, अस्थमा और गैस्ट्रिक अल्सर जैसी बीमारियों से भी ग्रस्त हो सकते हैं। तनाव और घबराहट के कारण आपका ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है और इससे आपकी इम्यूनिटी कम हो सकती है।

ये भी पढ़ेंः कहीं सब्जियों के साथ आपके घर न पहुंच जाए कोरोना वायरस, बरतें ये सावधानियां

कोरोना वायरस और इम्यूनिटी पावर : चीनी और प्रोसेस्ड फूड से इम्यूनिटी पावर में कमी

डॉक्टर के अनुसार, अगर आप चीनी और प्रोसेस्ड फूड का अधिक सेवन करते हैं या पौष्टिक आहार का कम सेवन करते हैं तो इससे सूजन होने की संभावना बढ़ सकती है और आपकी इम्यूनिटी पावर में कमी आ सकती है।

कोरोना वायरस और इम्यूनिटीःcoronavirus aur immunity power me kami

ये भी पढ़ेंः कोरोना का प्रभाव: जानिए 14 दिनों में यह वायरस कैसे आपके अंगों को कर देता है बेकार

इसलिए अगर आप इम्यूनिटी पावर को बढ़ा कर कोरोना वायरस की रोकथाम करना चाहते हैं, तो आपको कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिए दिए गए सभी तरीके आजमाने होंगे। उम्मीद है कि यहां दी गई महत्वपूर्ण बातों से आपकी जानकारी बढ़ेगी और आप अपने आपको चिंता या तनाव और घबराहट दूर रखेंगे। अब आप कोरोना वायरस से बचने के लिए बढ़ाएं अपना इम्यूनिटी पावर।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

और पढ़ेंः

कोरोना वायरस फैक्ट चेक: कोरोना वायरस की इन खबरों पर भूलकर भी यकीन न करना, जानें हकीकत

कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने में भारत कितना है दूर? बाकी देशों का क्या है हाल, जानें यहां

कोरोना वायरस से लड़ने में देश के सामने ये है सबसे बड़ी बाधा, कोराेना फेक न्यूज से बचें

कोरोना लॉकडाउन : खेलें क्विज और जानिए कि आप हैं कितने जिम्मेदार नागरिक ?

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Suraj Kumar Das द्वारा लिखित
अपडेटेड 27/04/2020
x