home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

पुरुषों में डायबिटीज के लक्षण : सिर्फ अधिक प्यास और भूख लगना नहीं, सेक्शुअल हेल्थ से भी हो सकते हैं जुड़े!

पुरुषों में डायबिटीज के लक्षण : सिर्फ अधिक प्यास और भूख लगना नहीं, सेक्शुअल हेल्थ से भी हो सकते हैं जुड़े!

डायबिटीज (Diabetes) वह बीमारी है जिसमें आपकी बॉडी इंसुलिन का निमार्ण नहीं कर पाती या इंसुलिन का ठीक से उपयोग नहीं कर पाती। ये दोनों कंडिशन एक साथ भी हो सकती हैं। डायबिटीज में ब्लड में शुगर का लेवल बढ़ जाता है, अगर इस स्थिति का इलाज ना किया जाए तो यह कई कॉम्प्लिकेशन का कारण बन सकती है। इस बीमारी की पहचान इसके लक्षणों से की जाती है। महिला और पुरुष में लक्षणों में थोड़ा अंतर हो सकता है। इस आर्टिकल में पुरुषों में डायबिटीज के लक्षण (Symptoms of diabetes in men) के बारे में जानकारी दी जा रही है।

डायबिटीज के शुरुआती लक्षण अक्सर डिटेक्ट नहीं हो पाते हैं क्योंकि वे गंभीर नहीं दिखाई देते। डायबिटीज के शुरुआती लक्षणों में बार-बार यूरिन आना, असामान्य थकान, धुंधला दिखाई देना, डायटिंग के बिना वजन कम होना, हाथों और पैरों का सुन्न और नम होना शामिल हैं जो महिला और पुरुषों में समान रूप से दिखाई देते हैं, लेकिन पुरुषों में कुछ डायबिटीज के लक्षण अलग होते हैं।

पुरुषों में डायबिटीज के लक्षण (Diabetes symptoms in men)

डायबिटीज का समय पर इलाज ना किया जाए तो यह त्वचा, किडनी, आंखों और नर्व को डैमेज कर सकती है। पुरुषों में डायबिटीज उनकी सेक्शुअल हेल्थ को प्रभावित कर सकती है। इसके लक्षण निम्न प्रकार दिखाई दे सकते हैं।

और पढ़ें: इंसुलिन सेंसिटिविटी: क्या जानते हैं आप इसके फायदों के बारे में?

इरेक्टाइल डिसफंक्शन (Erectile dysfunction)

इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या होने पर पुरुष इरेक्शन को अचीव या मेंटेन नहीं रख पाते हैं। यह कई हेल्थ ईशूज का लक्षण हो सकता है जिसमें हाय ब्लड प्रेशर, किडनी डिजीज और सर्कुलेटरी या नर्वस सिस्टम कंडिशन शामिल हैं। ईडी स्ट्रेस, स्मोकिंग और मेडिकेशन के उपयोग के कारण भी हो सकता है। डायबिटीज से पीड़ित पुरुषों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन का रिस्क होता है। 145 स्टडीज के एक मेटाएनालिसिस के अनुसार डायबिटीज से पीड़ित 50 प्रतिशत पुरुषों में ईडी की समस्या होती है। यानी पुरुषों में डायबिटीज के लक्षण (Symptoms of diabetes in men) में इरेक्टाइल डिसफंक्शन शामिल हो सकता है।

पुरुषों में डायबिटीज के लक्षण: आटोनोमिक नर्वस सिस्टम को नुकसान (Damage to the autonomic nervous system)

डायबिटीज आटोनोमिक नर्वस सिस्टम को नुकसान पहुंचा सकती है जो भी सेक्शुअल प्रॉब्लम्स का कारण बन सकता है। पुरुषों में डायबिटीज के लक्षण (Symptoms of diabetes in men) में यह लक्षण भी है। आटोनोमिक नर्वस सिस्टम (Autonomic nervous system) ब्लड वेसल्स को चौड़ा या संकुचित करने पर नियंत्रण करता है। डायबिटीज के चलते ब्लड वेसल्स डैमेज हो सकती हैं जिससे पेनिस में ब्लड का फ्लो प्रभावित होता है जो सेक्शुअल समस्याओं का कारण बनता है।

और पढ़ें: एनपीएच इंसुलिन: ब्लड शुगर लेवल को तुरंत कर देता है कम, डायबिटीज टाइप 1 और टाइप 2 दोनों के लिए है उपयोगी

रेट्रोग्रेड इजैक्युलेशन (Retrograde ejaculation)

पुरुषों में डायबिटीज के लक्षणों (Symptoms of diabetes in men) में रेट्रोग्रेड इजैक्युलेशन भी शामिल है। जिसके परिणामस्वरूप सीमन ब्लैडर में रिलीज हो जाता है। लक्षणों में इजैक्युलेशन के दौरान कम मात्रा में सीमन रिलीज होना भी है।

यूरोलॉजिकल परेशानियां (Urologic issues)

पुरुषों में डायबिटिक नर्व डैमेज के चलते यूरोलॉजिकल परेशानियां भी दिखाई देती हैं। जिसमें ओवरएक्टिव ब्लैडर (Overactive bladder), यूरिनेशन पर कंट्रोल ना रहना, यूरिनरी ट्रेक्ट इंफेक्शन्स (Urinary tract infections) आदि शामिल हैं।

डायबिटीज के लक्षण पुरुषों और महिलाओं में अलग क्यों होते हैं?

पुरुषों में जिन्हें टाइप 2 डायबिटीज होती है उनमें जिन्हें डायबिटीज नहीं होती ऐसे पुरुषों की तुलना में टेस्टोस्टेरॉन लेवल काफी कम होता है। टेस्टोस्टेरॉन के लो लेवल के चलते पुरुषों में वे लक्षण दिखाई देते हैं जो महिलाओं में नहीं दिखाई देते। लो टेस्टोस्टेरॉन सेक्स ड्राइव में कमी, डिप्रेशन, एनर्जी में कमी और मसल मास मे कमी का कारण बनता है। इसके साथ ही इसकी वजह से पुरुषों से संबंधित सेक्शुअल प्रॉब्लम्स होती हैं।

पुरुषों में डायबिटीज के रिस्क फैक्टर्स क्या हैं? (Diabetes Risk factors in men)

कई फैक्टर्स हैं जो पुरुषों में डायबिटीज के रिस्क को बढ़ाने के साथ ही कॉम्प्लिकेशन का कारण बन सकते हैं।

  • स्मोकिंग
  • ओवरवेट होना
  • फिजिकल एक्टिविटी ना करना
  • हाय ब्लड प्रेशर या हाय कोलेस्ट्रॉल होना
  • 45 से अधिक उम्र का होना
  • एल्कोहॉल का अधिक सेवन
  • डायबिटीज की फैमिली हिस्ट्री होना
  • कमर के पास अधिक फैट जमा होना

डायबिटीज का पता कैसे लगाया जाता है? (Test for diabetes)

पुरुषों में डायबिटीज के लक्षण (Symptoms of diabetes in men) दिखाई देने पर डॉक्टर से कंसल्ट करना बेहद जरूरी होता है ताकि डायबिटीज का निदान करके उपचार शुरू किया जा सके। डॉक्टर डायबिटीज के पता लगाने के लिए यूरिन और ब्लड टेस्ट कराने के लिए कह सकता है। डायबिटीज का पता लगाने के लिए कई ब्लड टेस्ट किए जा सकते हैं। जिसमें निम्न शामिल हैं।

फास्टिंग ब्लड शुगर टेस्ट (Fasting blood sugar test)

इसमें 12 घंटे की फास्टिंग के बाद ब्लड में ग्लूकोज लेवल चेक किया जाता है। अगर यह हाय है तो डायबिटीज का संकेत हो सकता है।

और पढ़ें: एक्सरसाइज और इंसुलिन रेजिस्टेंस : डायबिटीज पेशेंट एक्सरसाइज से पहले इन बातों का रखें ध्यान

हेमोग्लोबिन ए1सी टेस्ट (Hemoglobin A1c test)

इस टेस्ट से पता चलता है कि पिछले 2-3 महीने आपका एवरेज ब्लड शुगर लेवल कितना है। HbA1c की सामान्य सीमा 5.7% से कम होती है।
HbA1c का स्तर जो 5.7% से 6.4% तक होता है, मधुमेह के बढ़ते जोखिम को इंगित करता है। 6.5% से अधिक एचबीए1सी का स्तर मधुमेह का संकेत देता है, जबकि उच्च प्रतिशत मधुमेह की बीमारी के बिगड़ने या मधुमेह के उपचार के प्रति खराब प्रतिक्रिया का संकेत देते हैं।

रेंडम ब्लड शुगर टेस्ट (Random blood sugar test)

इस टेस्ट के जरिए यह आपके ब्लड शुगर का एक रेंडम किया जाता , लेकिन यह संख्या इस आधार पर बहुत भिन्न हो सकती है कि आपने आखिरी बार कब खाया था।

पुरुषों में डायबिटीज को कैसे मैनेज किया जा सकता है? (How can diabetes in men be managed?)

पुरुषों में डायबिटीज के लक्षण

पुरुषों में डायबिटीज के लक्षण (Symptoms of diabetes in men) कितने अलग और लाइफ बुरी तरह प्रभावित करने वाले हैं ये तो आप जान ही चुके हैं। इसलिए हेल्दी लाइफ के लिए इस बीमारी को मैनेज करना और इस पर कंट्रोल करना जरूरी है। पुरुष कुछ बातों को ध्यान रखकर इसे मैनेज कर सकते हैं:

धूम्रपान छोड़ना या कम करना, नियमित रूप से व्यायाम करना और स्वस्थ वजन बनाए रखना मधुमेह की शुरुआत को रोकने के लिए अत्यधिक प्रभावी तरीके हैं। अपने रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रण में रखने से मूत्र संबंधी और अन्य मधुमेह संबंधी समस्याओं को रोकने में मदद मिल सकती है। यदि आप मधुमेह से संबंधित समस्याओं का विकास करते हैं, तो उनके इलाज में मदद के लिए दवाएं उपलब्ध हैं। उनका सहारा भी लिया जा सकता है।

मेडिकेशन (Medication)

डायबिटीज के कारण होने वाली ईडी की समस्या हो, यूरोलॉजिकल प्रॉब्लम हो या किसी भी अन्य प्रकार का डायबिटीज कॉम्प्लिकेशन सबके इलाज के लिए दवाएं उपलब्ध हैं। डॉक्टर की सलाह से उनका उपयोग कर इन समस्याओं से राहत प्राप्त की जा सकती है, लेकिन किसी प्रकार की दवा खुद से ना करें। साथ ही पहले से उपयोग की जा रही दवाओं के बारे में डॉक्टर को जानकारी अवश्य दें ताकि किसी भी प्रकार के ड्रग इंटरैक्शन को टाला जा सके।

लाइफस्टाइल में बदलाव (Lifestyle changes)

यदि आपको डायबिटीज है तो कुछ जीवनशैली विकल्प आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बहुत प्रभावित कर सकते हैं। अपने भोजन को संतुलित करने से आपके शारीरिक स्वास्थ्य में सुधार हो सकता है और मधुमेह के लक्षणों की शुरुआत में देरी हो सकती है। डायट में इसका एक समान मिश्रण प्राप्त करने का प्रयास करें:

  • स्टार्च (Starch)
  • फल और सब्जियां (Fruits and vegetables)
  • वसा (Fat)
  • प्रोटीन (Protein)
  • आपको अतिरिक्त शुगर से बचना चाहिए, विशेष रूप से कार्बोनेटेड पेय जैसे सोडा और कैंडी में।

एक नियमित एक्सरसाइज प्रोग्राम तैयार करें और अपने ब्लड शुगर को एक्सरसाइज के जरिए नियंत्रित रखने का प्रयास करें। इससे डायबिटीज को मैनेज करने में बहुत मदद मिलेगी।

और पढ़ें: टाइप 2 डायबिटीज मैनेजमेंट हो सकता है आसान, अगर आप रखेंगे इन 7 बातों का ध्यान

उम्मीद करते हैं कि आपको पुरुषों में डायबिटीज के लक्षण (Symptoms of diabetes in men) और उपचार से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Autonomic nervous system disorders/medlineplus.gov/autonomicnervoussystemdisorders.html/ Accessed on 10th November 2021

Complications/diabetes.org/living-with-diabetes/complications/Accessed on 10th November 2021

Diabetes, sexual and bladder problems/niddk.nih.gov/health-information/diabetes/overview/preventing-problems/sexual-urologic-problems/Accessed on 10th November 2021

Erectile dysfunction: What causes ED/diabetes.org/living-with-diabetes/treatment-and-care/men/erectile-dysfunction.html/Accessed on 10th November 2021

Diabetes management: How lifestyle, daily routine affect blood sugar/mayoclinic.org/diseases-conditions/diabetes/in-depth/diabetes-management/art-20047963/Accessed on 10th November 2021

Erectile dysfunction and diabetes/mayoclinic.org/diseases-conditions/erectile-dysfunction/in-depth/erectile-dysfunction/art-20043927?pg=2/Accessed on 10th November 2021

लेखक की तस्वीर badge
Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड