Types of Cardio Exercises: रहना है फिट तो जानिए कितने प्रकार की होती हैं कार्डियो एक्सरसाइजेज

    Types of Cardio Exercises: रहना है फिट तो जानिए कितने प्रकार की होती हैं कार्डियो एक्सरसाइजेज

    एक्सरसाइज करने के फायदों की लिस्ट बहुत लंबी है। विभिन्न तरह के व्यायामों का इस्तेमाल वजन कम करने, स्ट्रेंथ को बढ़ाने आदि के लिए किया जाता है। इन्हीं में से एक है कार्डियो एक्सरसाइज। कार्डियो एक्सरसाइज को कई अन्य नामों से भी जाना जाता है जैसे एरोबिक एक्सरसाइज (Aerobic exercise) और एंड्यूरेंस एक्सरसाइज (Endurance exercise)। अधिकतर लोगों के दिमाग में कार्डियो एक्सरसाइज के नाम से केवल रनिंग, साइकिलिंग और स्विमिंग जैसी एक्टिविटीज ही आती हैं, लेकिन कार्डियो एक्सरसाइज के कई अन्य प्रकार भी हैं। आइए, जानें कार्डियो एक्सरसाइजेज के टाइप्स (Types of Cardio Exercises) के बारे में। कार्डियो एक्सरसाइजेज के टाइप्स (Types of Cardio Exercises) क्या हैं, इससे पहले जानिए कार्डियो एक्सरसाइजेज (Cardio Exercises) क्या होती हैं?

    कार्डियो एक्सरसाइजेज (Cardio Exercises) किन्हें कहा जाता है?

    कार्डियो एक्सरसाइज एक्टिविटी का कोई भी प्रकार हो सकता है, जिसमें एरोबिक मेटाबॉलिज्म (Aerobic Metabolism) का इस्तेमाल होता है। एक्टिविटीज के दौरान, सेलुलर रिएक्शंस में ऑक्सीजन अधिक शामिल होती है, जो एक्टिविटी को बनाए रखने के लिए आवश्यक ऊर्जा उत्पन्न करती हैं। इससे हार्ट रेट बढ़ जाती है। अगर आप अपने ब्लड में ऑक्सीजन की मात्रा को मैक्सिमम करने के लिए अधिक डीप ब्रीदिंग करते हैं, तो इससे ऑक्सीजन का कुशलतापूर्वक उपयोग करने में मदद मिलती है। इसलिए, आप अधिक ऊर्जावान महसूस करते हैं और जल्दी थकते नहीं हैं। कार्डियो एक्सरसाइज के कुछ फायदे इस प्रकार हैं:

    इसके अलावा भी इसके कई लाभ हैं। अब जानिए कार्डियो एक्सरसाइजेज के टाइप्स (Types of Cardio Exercises) के बारे में।

    और पढ़ें: वजन कम करने के लिए क्या बेहतर है – कार्डियो एक्सरसाइज या वेट लिफ्टिंग?

    कार्डियो एक्सरसाइजेज के टाइप्स (Types of Cardio Exercises)

    जैसे कि पहले ही बताया गया है कि कार्डियो एक्सरसाइज उन एक्टिविटीज का प्रकार है जिससे हार्ट रेट बढ़ता है और ब्रीदिंग तेज हो जाती है। यही नहीं, इसके कई लाभ भी हैं। इन तरह की एक्सरसाइजेज का फायदा यह है कि इसके लिए न तो आपको जिम जाने की जरूरत है और न ही आपको किसी खास इक्विपमेंट्स की आवश्यकता होती है। आइए जानें कार्डियो एक्सरसाइजेज के टाइप्स (Types of Cardio Exercises) के बारे में:

    वॉकिंग (Walking)

    कार्डियो एक्सरसाइजेज के टाइप्स (Types of Cardio Exercises) में वॉक यानि सैर करना सबसे आसान व्यायाम है। कई लोग वॉक करने को एक्सरसाइज नहीं मानते हैं। लेकिन, सच तो यह है कि वॉक करना कार्डियो एक्सरसाइजेज के टाइप्स (Types of Cardio Exercises) में से एक है। अगर आपने अभी-अभी एक्सरसाइज करना शुरू की है, तो शुरुआत वॉक से कर सकते हैं। आपको यह जान कर हैरानी होगी कि रोजाना दस से पंद्रह मिनट वॉक करने से हार्ट हेल्थ में सुधार हो सकता है। यही नहीं, जॉगिंग से भी आपको कई फायदे हो सकते हैं। जॉगिंग भी कार्डियो यानी एरोबिक एक्सरसाइज (Aerobic exercise) का एक प्रकार है।

    और पढ़ें: जानें कैसे वॉकिंग (Walking) है एक बेहतरीन एक्सरसाइज?

    डांसिंग (Dancing)

    अगर आपको डांस करना पसंद है, तो यह समझ लें कि आप डांस के रूप में एक्सरसाइज कर रहे हैं। यह भी कार्डियो का एक प्रकार है। इससे आपका वजन भी कम होगा, आप एक्सरसाइज भी कर लेंगे और आपको संपूर्ण रूप से हेल्दी रहने में भी मदद मिलेगी। आप डांसिंग के किसी भी प्रकार से एरोबिक एक्सरसाइज (Aerobic exercise) कर सकते हैं जैसे जुंबा, भंगड़ा, हिप हॉप आदि।

    कार्डियो एक्सरसाइजेज

    स्पोर्ट्स (Sports)

    हर व्यक्ति का किसी न किसी खेल यानी स्पोर्ट में इंटरेस्ट रहता ही है। यह भी कार्डियो एक्सरसाइजेज के टाइप्स (Types of Cardio Exercises) में से एक है। अगर आप कार्डियो एक्सरसाइज को अपने जीवन का हिस्सा बनाना चाहते हैं तो कोई भी खेल खेलें जैसे फुटबॉल, बास्केटबॉल, क्रिकेट, सॉकर आदि। लेकिन, याद रखें केवल आउटडोर स्पोर्ट्स को ही कार्डियो एक्सरसाइजेज (Cardio Exercises) में शामिल किया जा सकता है, इंडोर व्यायामों को नहीं।

    और पढ़ें: इस तरह के स्पोर्ट्स से आप रह सकते हैं फिट, जानें इन स्पोर्ट्स के बारे में

    साइकिलिंग (Cycling)

    पिछले कुछ समय से लोग अपनी सेहत को लेकर अधिक जागरूक हो गए हैं। इसलिए, लोग आजकल साइकिलिंग को अधिक प्राथमिकता दे रहे हैं। आप भी अपनी कार या स्कूटर को छोड़ें और अगली बार ग्रोसरी स्टोर तक अपनी साइकिल में जाएं। यही नहीं, जिम जाने के लिए भी आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर आपने साइकिल चलाना अभी-अभी शुरू किया है, तो जल्द ही आप खुद में परिवर्तन महसूस करेंगे।

    कार्डियो एक्सरसाइजेज

    कार्डियो एक्सरसाइजेज के टाइप्स (Types of Cardio Exercises): जंपिंग रोप (Jumping rope)

    जंपिंग रोप बच्चों में एक लोकप्रिय गेम है। इसके साथ ही यह उन लोगों के लिए बेहतरीन एक्सरसाइज ऑप्शन भी है, जो फिट रहने, वजन कम करने आदि की कोशिश कर रहे हैं। इसके लिए आपको किसी भी खास स्किल की जरूरत नहीं होती। सिर्फ एक जंपिंग रोप लें और हो जाएं तैयार। इसके कुछ हेल्थ बेनिफिट्स इस प्रकार हैं:

    और पढ़ें: जंपिंग जैक के 10 फायदे, जो हेल्दी हार्ट से लेकर वेट लॉस के लिए है बेहतरीन!

    जंपिंग जैक (Jumping jack)

    अगर आपको लगता है कि जंपिंग जैक के बारे में नहीं जानते हैं तो अपने बचपन को याद कर लें। कार्डियो एक्सरसाइजेज के टाइप्स (Types of Cardio Exercises) में इस एक्सरसाइज को करने के लिए आपको केवल किसी जगह पर खड़े हो कर ऊपर की तरफ हाथ उठा कर कूदना है और उसके बाद फिर से अपनी पहले स्थिति में आ जाना है। है न आसान? इस व्यायाम से भी हार्ट रेट में जल्दी बढ़ोतरी होती है। अगर आपको समय मिले तो सुबह इसे करना आपके लिए अधिक फायदेमंद होगा।

    कार्डियो एक्सरसाइजेज के टाइप्स,Types of Cardio Exercises

    कार्डियो एक्सरसाइजेज के टाइप्स (Types of Cardio Exercises): सीढ़ियां चढ़ना-उतरना (Climbing stairs)

    सीढ़ियां चढ़ना-उतरना अपने हार्ट को पंप करने और बॉडी स्वेटिंग का बेहतरीन तरीका है। अपनी बिल्डिंग या किसी ऐसी जगह का चुनाव करें, जहां आप आसानी से इसे कर सकें। इसके साथ ही आप ऑफिस में भी लिफ्ट की जगह सीढ़ियों का इस्तेमाल कर सकते हैं।

    और पढ़ें: एक्सरसाइज से वैस्कुलर एंडोथीलियल फंक्शन में क्या होता है सुधार, जानिए क्या कहती है स्टडी?

    कार्डियो एक्सरसाइजेज के टाइप्स (Types of Cardio Exercises): हाईकिंग (Hiking)

    क्या आपको हाईकिंग यानी पहाड़ों पर चढ़ना पसंद है? अगर हां, तो यह भी एक बेहतरीन कार्डियो एक्सरसाइज साबित हो सकती है। इसे करने से कार्डियोवैस्कुलर फिटनेस बढ़ती है। इसके साथ ही इमोशनल हेल्थ भी सुधरती है। यानी, आप इसे भी कार्डियो एक्सरसाइजेज (Cardio Exercises) में शामिल कर सकते हैं।

    हाईकिंग (Hiking)

    स्विमिंग (Swimming)

    स्विमिंग एक अन्य तरह की लो-इम्पैक्ट कार्डियो एक्सरसाइज है। इसका अर्थ है कि आप इस व्यायाम को नियमित रूप से बिना किसी स्ट्रेन को महसूस किए लगातार कर सकते हैं। ऐसा भी पाया गया है कि अधिकतर लोग इसे एक्सरसाइज के रूप में करना पसंद करते हैं। यह एक कम्पलीट बॉडी वर्कआउट है। जिससे हमारे शरीर के ऊपरी हिस्से, लोअर हिस्से और कोर सभी का व्यायाम होता है। इस व्यायाम को करने से पूरे शरीर में मसल्स टोंड होते हैं, स्ट्रेंथ बिल्ड होती है और स्ट्रेस से छुटकारा मिलता है।

    और पढ़ें: बच्चों को स्विमिंग क्लासेस भेजने से पहले रखें 4 बातों का ध्यान, साथ ही जानें बच्चों को स्विमिंग सिखाने के फायदे

    यह तो थी कार्डियो एक्सरसाइजेज के टाइप्स (Types of Cardio Exercises) के बारे में जानकारी। इसमें कोई संदेह नहीं है कि लंबी और हेल्दी लाइफ के लिए कार्डियो एक्सरसाइज बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। ऐसी बहुत सारी एक्टिविटीज हैं, जिन्हें आप होम वर्कआउट का हिस्सा बना सकते हैं और जिनसे आपको ढेरों लाभ मिलेंगे। ऊपर बताई गई किसी भी एक्टिविटी को आप चुन सकते हैं। लेकिन, अगर आपने अभी व्यायाम करना शुरू किया है तो इसकी शुरुआत धीरे-धीरे करें। अगर कोई व्यायाम करते हुए आपको कोई भी परेशानी हो, तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

    आप हमारे फेसबुक पेज पर अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    3 Kinds of Exercise That Boost Heart Health. https://www.hopkinsmedicine.org/health/wellness-and-prevention/3-kinds-of-exercise-that-boost-heart-health .Accessed on 23/4/22

    Aerobic Exercise. https://my.clevelandclinic.org/health/articles/7050-aerobic-exercise .Accessed on 23/4/22

    Mix up your cardio routine with 3 quick makeovers.https://www.mayoclinic.org/healthy-lifestyle/fitness/in-depth/vary-cardiovascular-workouts/art-20308360 .Accessed on 23/4/22

    How much physical activity do adults need?. https://www.cdc.gov/physicalactivity/basics/adults/index.htm .Accessed on 23/4/22

    Four Types of Exercise Can Improve Your Health and Physical Ability. https://www.nia.nih.gov/health/four-types-exercise-can-improve-your-health-and-physical-ability

    .Accessed on 23/4/22

    लेखक की तस्वीर badge
    AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 29/04/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड